ग्राउंड जीरो इत्ये योगी:, वाराणस्यां जलप्लावन् ग्रस्त क्षेत्राणां नौकाया कृतः भ्रमणम्, मुख्यमंत्री असि तर्हि इदृशं ! ग्राउंड जीरो पर योगी, वाराणसी में बाढ़ग्रस्‍त क्षेत्रों का बोट से किया दौरा, मुख्यमंत्री हो तो ऐसा !

0
475

उत्तरप्रदेशस्य मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ: गुरूवासरम् वाराणसी प्राप्त: ग्राउंड जीरो इत्ये च् अवतरित्वा जलप्लावन् ग्रस्त क्षेत्राणां भ्रमणित्वा जलप्लावन् पीड़ितान् सर्वकारम् प्रति उप्लब्धम् कारीतम् राहत कार्यानां निरीक्षणम् कृतः !

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को वाराणसी पहुंचे और ग्राउंड जीरो पर उतर कर बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा कर बाढ़ पीड़ितों को सरकार की ओर से उपलब्ध कराये जा रहे राहत कार्यों का जायजा लिया !

मुख्यमंत्री राजघाटतः एनडीआरएफ इतस्य कृत्रिम नौकाया पुरातन सेतु: एव भ्रमणित्वा गंगायाः एवं वरुणायाः बर्धिते जलस्तरम् दर्शित: ! सीएम योगी आदित्यनाथ: सरैया क्षेत्रस्थितं आलिया उपवने निर्मितं राहत केंद्रे आश्रय नीत: जलप्लावन् पीड़ितै: मेलित्वा तान् सर्वकारेण ळब्धितानि सुविधान् प्रति ज्ञात: !

मुख्यमंत्री ने राजघाट से एनडीआरएफ के मोटर बोट से पुराना पुल तक दौरा कर गंगा एवं वरुणा के बढ़े जल स्तर को देखा ! सीएम योगी आदित्यनाथ सरैया क्षेत्र स्थित आलिया गार्डन में बनाए गए राहत केंद्र में शरण लिए बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात कर उनको सरकार द्वारा मिल रही सुविधाओं के बारे में जाना !

सहैव विश्वासम् दत्तं तत इति आपातकाले सर्वकारः तै: सह स्थितमस्ति ! अन्य कश्चितापि जलप्लावन् प्रभावितान् चिंता कृतस्य आवश्यकताम् नास्ति ! सर्वकारः तेषां प्रत्येक संभव सहाय्य करिष्यति !

साथ ही भरोसा दिलाया कि इस आपदा में सरकार उनके साथ खड़ी है ! और किसी भी बाढ़ प्रभावित को चिंता करने की जरुरत नहीं है ! सरकार उनकी हर संभव मदद करेगी !

सीएम अवसरे अधिकारिभिः राहत कार्यान् प्रति पूर्ण अभिज्ञानम् नीत: निर्देशित: च् तत जलप्लावन् पीड़ितानां सहाय्ये कश्चित प्रकारस्य कश्चितापि न्यूनता न भवनीयम् !

सीएम ने मौके पर अधिकारियों से राहत कार्यों के बारे में पूरी जानकारी लिए और निर्देशित किया कि बाढ़ पीड़ितों की मदद में किसी प्रकार की कोई भी कमी नहीं होनी चाहिए !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ: जेपी मेहता इंटर कालेज इति राहत केंद्रे प्राप्त: अत्रे च् न्यवसितानि ६० तः अधिकम् जलप्लावन् प्रभावितं कुटुंबानां जनै: मेलित्वा तेषां स्थितिम् ज्ञात: !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जेपी मेहता इंटर कॉलेज राहत केंद्र पर पहुंचे और यहां पर रह रहे 60 से अधिक बाढ़ प्रभावित परिवारों के लोगों से मुलाकात कर उनका हाल जाना !

सीएम योगी आदित्यनाथ: तै: ळब्धितानि राहत सुविधान् प्रत्यापि अभिज्ञानम् नीत: ! इति काळम् सः लगभगम् ३७ जनान् राहत सामग्री इतस्य पैकेट इति एवं अल्लुकेण, प्लांडु तः परिपूर्ण प्रसवेकरपि वितरित: !

सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन्हें मिल रहे राहत सुविधाओं बारे में भी जानकारी ली ! इस दौरान उन्होंने लगभग 37 लोगों को राहत सामग्री का पैकेट एवं आलू, प्याज से भरा झोला भी बांटा !

राहत सामग्री रषनस्य शाकानां च् मात्राधिकं भवे बहु जलप्लावन् पीड़िता: जनाः येन उत्थित्वा नयतेषू असमर्था: दर्शितानि तर्हि मुख्यमंत्री तेषां सहाय्य कृतस्य भावेणापृच्छत् बहु भारयुक्तम् प्रसवेकमस्ति, माता कीदृशं गमिष्यति !

राहत सामग्री राशन और सब्जियों की मात्रा अधिक होने पर कई बाढ़ पीड़ित लोग इसे उठा कर ले जाने में असमर्थ दिखे तो मुख्यमंत्री ने उनकी मदद करने के भाव से पूछा की बहुत वजनी बैग है, माता कैसे जाएगा।

जलप्लावन् पीड़ितै: सह स्थित: बालक: तया सह भवस्य वार्ता कथित: ! अन्य राहत सामग्री नयस्य सहाय्यस्य वार्ता कथित: ! सः जेपी मेहता इंटर कॉलेज इति परिसरे जलप्लावन् प्रभावित क्षेत्राणां पशुभ्यः निर्मितानि आश्रय स्थलस्यापि निरीक्षणं कृतः !

बाढ़ पीड़ित के साथ खड़े लड़के ने उनके साथ होने की बात कहीं ! और राहत सामग्री ले जाने मदद की बात कही ! उन्होंने जेपी मेहता इंटर कॉलेज परिसर में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के मवेशियों के लिए बनाए गए आश्रय स्थल का भी निरीक्षण किया !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ: २० लघु एवं त्रय वृहद फागिंग यन्त्र कर्मिनां दळमादिशत्वा गतस्य कथित: ! उत्तरप्रदेशस्य मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ: गुरूवासरम् सर्किट गृहस्य सभागारे जनपदे जल प्लावन् स्थितिम् एवं राहत सुरक्षा कार्यानां वा समीक्षा कृतः !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 20 मिनी पोर्टेबल एवं तीन बड़े फागिंग मशीन कर्मियों के ग्रुप को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया ! उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को सर्किट हाउस के सभागार में जनपद में बाढ़ की स्थिति एवं राहत व बचाव कार्यों की समीक्षा की !

अत्रात् सः चलचित्रवार्तायाः माध्यमेण मिर्जापुरे, भदोह्याम्, चंदौल्याम् जनपदे वा जलप्लावनस्य स्थिति एवं राहत कार्यानां समीक्षा कृतः ! जल प्लावन् तः सर्वाधिकम् मिर्जापुर जनपदम् प्रभावितं ! वाराणस्याम् वृहद जनसंख्या यस्य आभ्यंतरे आगतानि !

यहीं से उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मिर्जापुर, भदोही व चंदौली जनपद में बाढ़ की स्थिति एवं राहत कार्यों की समीक्षा की ! बाढ़ से सर्वाधिक मिर्जापुर जनपद प्रभावित हुआ है ! वाराणसी में बड़ी आबादी इसकी चपेट में आई है !

मिर्जापुरे १४१ ग्राम प्रभावितमस्ति, यस्मिन् जनसंख्याधिकम् प्रभावितं ! मुख्यमंत्री कथित: तत कोरोना काले कमांड कंट्रोल कक्षस्य सम्यकोपयोगं अभवत् स्म, येन जलप्लावन् राहत, सूचनायाः आदाने-प्रदाने उपयोगम् कर्तुम् शक्नोति !

मिर्जापुर में 141 गांव प्रभावित हैं, जिसमें आबादी ज्यादा प्रभावित हुई है ! मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में कमांड कंट्रोल रूम का अच्छा उपयोग हुआ था, इसे बाढ़ राहत, सूचना के आदान-प्रदान में उपयोग कर सकते हैं !

चत्वारि जनपदान् संबोधितमानः मुख्यमंत्री निर्देशित: तत प्रत्येक जलप्लावन् प्रभावित ग्रामेभ्यः भिन्न नोडल अधिकारी नियुक्तम् कुर्वन्तु ! राहत कार्यं तत्क्षणोप्लब्धम् कारयन्तु ! जलप्लावन् क्षेत्रेषु नौकायाः समुचित संख्यायाम् व्यवस्थाम् धृन्तु !

चारों जिलों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देशित किया कि हर बाढ़ प्रभावित गांव के लिए अलग नोडल अधिकारी नियुक्त करें ! राहत कार्य तत्काल उपलब्ध कराएं ! बाढ़ क्षेत्रों में नावों की समुचित संख्या में व्यवस्था रखें !

मुख्यमंत्री कथित: तत उत्तराखंड, राजस्थान, बुंदेलखंड इत्यादयः क्षेत्रे बहु वर्षाम् भवति, तर्हि तस्य प्रभाव गंगा नद्यामागच्छति यत् वाराणस्याम् प्रभावम् करिष्यति अतएव संपूर्ण सितंबरैव जलप्लावनस्य संकटेन सूचनाम् रमन्तु !

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड, राजस्थान, बुंदेलखंड क्षेत्र आदि में भारी वर्षा होती है, तो उसका प्रभाव गंगा नदी में आता है जो वाराणसी पर असर डालेगा इसलिए पूरे सितंबर तक बाढ़ के खतरे से अलर्ट रहें !

सः कथित: तत राहत सामग्री वितरणे जनप्रतिनिधिनां सहयोगम् नयन्तु ! यानि गृहेषु जल परिपूर्णमस्ति, तत्र भोजनस्य पैकेट इति, पेयजल व्यवस्थाम् कुर्वन्तु ! यै: आवश्यकतामसि एलपीजी सिलेंडर इति प्रेषयन्तु !

उन्होंने कहा कि राहत सामग्री वितरण में जनप्रतिनिधियों का सहयोग ले ! जिन घरों में पानी भरा है, वहां खाने का पैकेट, पेयजल व्यवस्था करें ! जिन्हें जरूरत हो एलपीजी सिलेंडर भिजवाए !

जलप्लावन् ग्रस्त क्षेत्रे जनानोष्ण जलस्य सेवनाय जागरूकम् कुर्वन्तु ! प्रकाशाय पेट्रोमैक्स अन्य साधनाणां वा व्यवस्थां कुर्वन्तु ! यदा जलप्लावनस्य जलम् अधो अवतरिष्यति तदा स्वास्थ्य, पंचायत नगर विकासम् वा सतर्क रमितुम् भविष्यति !

बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में लोगों को गर्म पानी के सेवन के लिए जागरूक करें। प्रकाश के लिए पेट्रोमैक्स व अन्य साधनों की व्यवस्था करें। जब बाढ़ का पानी नीचे उतरेगा तब स्वास्थ्य, पंचायत व नगर विकास को सतर्क रहना होगा।

तत्र स्वच्छता, सैनिटाइजेशन, स्वच्छपेयजलम् उपलब्धत: कार्यम् कर्तुम् भविष्यति ! जलप्लावनेण विषतन्तु:, श्वानानां संकटस्य दृष्टिगत एंटी स्नेक, एंटी रेबीज सुरक्षौषधि क्षत्रेषु तत्परम् धृन्तु ! जलप्लावन् चौकी, राहत शिविरम् २४ घटकानि सक्रिय रमन्तु !

वहां स्वच्छता, सैनिटाइजेशन, स्वच्छ पेयजल उपलब्धता का कार्य करना होगा ! बाढ़ से जहरीले कीड़े, कुत्तों की समस्या के दृष्टिगत एंटी स्नेक, एंटी रेबीज वैक्सीन क्षेत्रों में तैयार रखें ! बाढ़ चौकी, राहत शिविर 24 घंटे सक्रिय रहे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here