12.1 C
New Delhi

कथायाः शक्तिम् इदमस्ति, पठन्तु ! नैरेटिव की ताकत ये है, पढ़ो !

Date:

Share post:

डासनायाः मंदिरस्य निर्माण बॉलीवुड प्रसिद्धानि भीमवादिनः मौलाना: मेलित्वा कारितानि ! येन कारणम् तेभ्यः मंदिर प्याऊ इत्यास्ति, श्वम् कथिष्यन्ति शौचालयमस्ति !

डासना के मंदिर का निर्माण बॉलीवुड सेलेब्रिटियों, भीमवादियों और मौलानाओं ने मिल कर करवाया है ! इसीलिए उनके लिए मंदिर प्याऊ है, कल को कहेंगे शौचालय है !

इसके बारे में बताएं

एतानि सर्वाणि पणा: दत्वा मंदिरेण दासता लेखयानि, अरे तदापि तदा तत्र जलम् पिबतुम् कश्चितापि म्लेच्छ: कदापि प्रवेशित्वा केचनापि कर्तुम् शक्नोति ! जलम् पेयः तदा द्रुतस्य वार्ता, आसिफम् तत्र मूत्र त्यागनस्य अधिकारमपि प्राप्यन् !

इन सबने पैसे देकर मंदिर से गुलामी लिखवा ली है, अरे तभी तो वहाँ पानी पीने के लिए कोई भी म्लेच्छ कभी भी घुस कर कुछ भी कर सकता है ! पानी पीना तो दूर की बात, आसिफ को वहाँ पेशाब करने का अधिकार भी मिला हुआ है !

कुत्रचित हिंदू तदा तस्य पितृणाम्-पितामहानाम् दासः अभवत्त, यै: मंदिर निर्मितरैव येन कारणं अस्ति तत कश्चित गजनवी: आगत्वा तेन ध्वस्तं कृत्वा पुनः वा कश्चित आसिफ: आगत्वा जलम् पिबत: !

क्योंकि हिन्दू तो उसके बाप-दादाओं के गुलाम ठहरे, जिन्होंने मंदिर बनवाया ही इसीलिए है कि कोई गजनवी आकर उसे ध्वस्त करके या फिर कोई आसिफ आकर पानी पिए !

एकम् मुस्लिम बहुल प्रांतम् ! तत्र अवशेष मात्र एकम् यथाक्षेम् मंदिरमस्ति ! मंदिरमस्ति, कुत्र चित महंत: तै: चत्वारः पगम् अग्रमस्ति ! श्वम् तः महंत: न रमित: तदा मंदिरम् रमिष्यति न वा तस्यापि पर्यनुयोज्यता नास्ति !

एक मुस्लिम बहुल इलाका ! वहाँ रह-सह कर एक ठीक-ठाक मंदिर है ! मंदिर है, क्योंकि महंत उनसे चार कदम आगे है ! कल को वो महंत न रहा तो मंदिर रहेगा या नहीं उसकी भी गारंटी नहीं है !

तत्र कश्चित आसिफ: जलम् पिबतुमागच्छति ! १५ वर्षस्य बालक: प्रायः दशमस्य छात्र तदा भवतैव ! तत्र स्पष्ट फलक: स्थापितन् तत मुस्लिमानां प्रवेश तं परिसरे वर्जितमस्ति ! बदिता: तः अशिक्षितरस्ति, न पठित: !

वहाँ कोई आसिफ पानी पीने आ जाता है ! 15 साल का लड़का अमूमन मैट्रिक का विद्यार्थी तो होता ही है ! वहाँ स्पष्ट बोर्ड लगा हुआ है कि मुस्लिमों का प्रवेश उस परिसर में वर्जित है ! बताया गया वो अनपढ़ है, नहीं पढ़ पाया !

तस्य कुटुंब जनाः वर्तुलाकारं श्वेत शिरस्त्राणे बहु नेतृभिः सह चित्राणि अंकनम् कारयति ! दृष्ट्वा न परिलक्षितः निर्धनमस्ति ! आसिफमजनयत् केवलं जनसंख्या जिहादाय तु पाठित: न !

उसके परिवार वाले गोल सफेद टोपी में तमाम नेताओं के साथ तस्वीरें क्लिक करवा रहे हैं ! देख कर लगता नहीं गरीब हैं ! आसिफ को पैदा कर दिया सिर्फ जनसंख्या जिहाद के लिए लेकिन पढ़ाया नहीं !

प्रथम वार्ता तदा इदम् तत अत्र जलम् पानकः तर्कसंगतं नास्ति ! केचनैव मासा: पूर्व तत्र एकस्य भाजपा नेतु: हननम् अभवत्, यत् चिकित्सकरपि आसीत् ! तं हनन घटनायामपि अवयस्कस्य नामागतम् स्म ! सर्वा: परित्यक्तु !

पहली बात तो ये कि यहाँ पानी पीने वाला तर्क ही वाजिब नहीं है ! कुछ ही महीनों पहले वहाँ एक भाजपा नेता की हत्या हुई है, जो डॉक्टर भी थे ! उस हत्याकांड में भी नाबालिग का नाम आया था। सब कुछ छोड़ दीजिए !

निर्भया घटनायाम् तेन सह सर्वात् बीभत्स कार्य कर्ता अवयस्कैवास्ति यत् मुस्लिम भवस्य कारणम् सुरक्षितं इन्द्रप्रस्थ सर्वकारेण वस्त्र सिव्यतायंत्रम् गृहित्वा कुत्रैवानंदम् कर्तुम् भविष्यति !

निर्भया काण्ड में उसके साथ सबसे वीभत्स हरकत करने वाला नाबालिग ही है जो मुसलमान होने के कारण बच गया और दिल्ली सरकार से सिलाई मशीन लेकर कहीं मौज कर रहा होगा !

किं १५ वर्षस्य बालक: अतिमूर्ख: भवति ? तस्य गृहवासिन: तेन किं न शिक्षित: तत मंदिरम् तस्य पितु: गृहम् नास्ति तत कश्चित यदा इच्छित: प्रवेशित: यत् च् हृदयम् भवितः कारित: !

क्या 15 साल का लड़का इतना मूर्ख होता है ?
उसके घरवालों ने उसे क्यों नहीं सिखाया कि मंदिर उसके बाप का घर नहीं है कि कोई जब चाहे घुस जाए और जो मन हो कर दे !

सबरीमालायाम् कश्चित नास्तिक महिला प्रवेशयति ! मथुरायाम् कश्चित नमाज इति पठितुम् प्रवेशयति ! किं अवगम्यितम् ? सरकार तदा प्रत्येक स्थानम् प्रवेशितरेव कुत्रचित तेन मंदिरै: रूप्यकाणि वाञ्छित: !

सबरीमाला में कोई नास्तिक महिला घुस जाती है ! मथुरा में कोई नमाज पढ़ने घुस जाता है ! समझ क्या रखा है ? सरकार तो हर जगह घुसी ही हुई है क्योंकि उसे मंदिरों से रुपए चाहिए !

लक्षाणि मन्दिराणि क्षतिग्रस्त: जातः, कश्चित पृच्छकाः न ! पूजनकर्मिणाम् बालका: बुभुक्षितं मरन्ति ! अजान नमाज च् पाठकान् सहस्राणि लब्धन्ति ! बहु मन्दिरणां अस्तित्वैव निर्मूल भवितम् ! यत् सन्ति, एकम्-द्वयम् त्याजतु तदा तेन कश्चित पश्यका: न !

लाखों मंदिर बर्बाद हो गए, कोई पूछने वाला नहीं ! पुजारियों के बच्चे भूखे मर रहे हैं ! अजान और नमाज पढ़ने वालों को हजारों मिल रहे हैं ! कई मंदिरों का अस्तित्व ही ख़त्म हो गया ! जो हैं, इक्के-दुक्के को छोड़ दें तो उन्हें कोई देखना वाला नहीं !

बीएचयू इत्ये यदा एकम् मुस्लिमं कर्मकांड पाठितुम् प्रेषितम् स्म तदा प्रश्नम् पृच्छते स्म तत किं एकः मुस्लिम: संस्कृतं न पाठितुम् शक्नुत:, यदि तः ज्ञान्यासि ?

BHU में जब एक मुस्लिम को कर्मकांड पढ़ाने भेज दिया गया था तो सवाल पूछे जा रहे थे कि क्या एक मुसलमान संस्कृत नहीं पढ़ा सकता, अगर वो ज्ञानी हो ?

एतान् मूर्खान् कः विवेकम् दत्त: तत सनातन एकम् जीवनम् जीवनस्य प्रकारमप्यास्ति ! गां भक्षित्वा यज्ञ कृतम् शिक्षतुम् न शक्नुतं ! यज्ञोपवीतं न धारक: कर्मकांडं शिक्षितुम् न शक्नुतं !

इन मूर्खों को कौन समझाए कि सनातन एक जीवन जीने का तरीका भी है ! गाय खा कर हवन करना नहीं सिखाया जा सकता ! यज्ञोपवीत न धारण करने वाला कर्मकांड नहीं सिखा सकता !

सम्यकं एतदृशैव, आसिफस्य कुटुंबकान् अवगम्यनीयं स्म तेन किं पुत्र इदम् मंदिरमस्ति, युष्माकम् पितु:-पितामहानाम् प्याऊ न तत यस्मिन् जलम् पिबतु कुतल करोतु !

ठीक ऐसे ही, आसिफ के परिवार वालों को समझाना चाहिए था उसे कि बेटा ये मंदिर है, तुम्हारे बाप-दादाओं का प्याऊ नहीं कि इसमें पानी पी लो और कुल्ला कर दो !

शतदा जनाः कथितैति तत तत्र बाह्य नालास्ति, मार्ग पारम् याते नालास्ति पार्श्वैव च् सार्वजनिक जलम् पिबस्य व्यवस्थामस्ति ! अस्य अर्थमस्ति आसिफ: तत्र जलम् पिबतुम् न गतः स्म !

100 बार लोगों ने कह दिया कि वहाँ बाहर नल है, सड़क पार करने पर नल है और पास में ही सार्वजनिक पानी पीने की व्यवस्था है ! इसका मतलब है आसिफ वहाँ पानी पीने नहीं गया था !

वास्तविकता इदमस्ति तत श्रद्धालुसु बहु बध्व:-पुत्र्य: आगच्छन्ति, यै: कोपयाय मुस्लिम युवक: तत्रागच्छन्ति ! अस्यैव कारणे एकस्य विधायकस्य पुत्रस्यापि ताडनं अभवत् स्म !

सच्चाई ये है कि वहाँ श्रद्धालुओं में कई बहू-बेटियाँ आती हैं, जिनसे छेड़खानी करने के लिए मुस्लिम युवक वहाँ आ धमकते हैं ! इसी चक्कर में एक विधायक के बेटे की भी पिटाई हुई थी !

महंत यतिम् हननस्य कुचक्रं वर्षभिः चरित: ! प्रकरण जलस्य नास्ति ! यस्मात् कुत्रैव बहु वृहद अस्ति ! निरीक्षणाय शिशून्/महिला: एव प्रेषितम् सरलं रमति !

महंत यति को मारने की साजिश सालों से चल रही ! मामला पानी का नहीं है ! इससे कहीं बहुत बड़ा है ! रेकी के लिए बच्चों/महिलाओं को ही भेजना आसान रहता है !

किं एकम् मुस्लिम: बहुल प्रान्तरे आसिफम् जलम् पेयक: कश्चित तस्य स्व नासीत् ? किं एकानाम् मुस्लिमानाम् प्रभाविता प्रान्ते कश्चितैव मस्जिदे जलम् पिबस्य व्यवस्थाम् नासीत् ? हिंदू इमानि सर्वाणि नावगमिष्यन्ति !

क्या एक मुस्लिम बहुल इलाके में आसिफ को पानी पिलाने वाला कोई उसका अपना नहीं था ? क्या एक मुस्लिमों का प्रभाव वाले इलाके में किसी मस्जिद में पानी पीने की व्यवस्था नहीं थी ? हिन्दू ये सब नहीं समझेंगे !

केचन मासानि पूर्व तमेव प्रान्ते यादव: गुर्जर: च् परस्परं रणयत: कर्तयत: स्म ! बहु परिश्रमेण सहमतिम् कारितं स्म बोधित्वा तत यूयाम् हिंदूवौ स्थ: !

कुछ महीनों पहले उसी इलाके में यादव और गुर्जर आपस में लड़-कट रहे थे ! बड़ी मशक्कत से समझौता कराया गया था समझा-बुझा कर कि तुम दोनों हिन्दू हो !

जात्या: राजनीति कर्तानि अपि आरोपित: श्रृंगी नारायण यादवस्य समर्थनं न कृताः ! अखिलेश यादव: तेजस्वी यादव: च् यथा: मंदिरम् दुर्नाम कृताः अस्य प्रकरणे ! यत् धर्मस्य नाभवत्, ताः जात्या: कीदृशं भविष्यति ?

जाति की राजनीति करने वालों ने भी आरोपित श्रृंगी नारायण यादव का समर्थन नहीं किया ! अखिलेश यादव और तेजस्वी यादव जैसों ने मंदिर को बदनाम किया इस मामले में ! जो धर्म का न हुआ, वो जाति का कैसे होगा ?

येन देशे आगतदिवसं कदा हंप्या: प्राचीन मंदिराणाम् अवशेषान् ध्वस्तम् कर्तुम् दीयते, कदा शिवलिंगे पगौ धृत्वा चित्रम् अंकायते, कदापि सोमनाथ मंदिरस्य संमुखम् चलचित्रम् निर्मित्वा गजनविम् प्रशंसयते !

जिस देश में आए दिन कभी हंपी के प्राचीन मंदिरों के अवशेषों को ध्वस्त कर दिया जाता है, कभी शिवलिंग पर पाँव रख कर फोटो क्लिक करवाया जाता है, कभी सोमनाथ मंदिर के सामने वीडियो बना कर गजनवी को सराहा जाता है !

कदा मंदिरेषु प्रवेशित्वा नमाज पठ्यते ! तं देशे यदि कश्चित आसिफ: कश्चितैव मंदिरे प्रवेशयति तदा कारणम् जलम् नास्ति ! मंदिरस्य स्थानम् चिकित्सालय इति निर्माणस्य वार्ता कर्तानि इमानि न पचिष्यति तत आर्श्वस्य पार्श्वस्य निर्धनाः हिन्दव: रुग्ण: भवति तदा इदमेव मंदिरं सहाय्य करोति !

कभी मंदिरों में घुस कर नमाज पढ़ दिया जाता है ! उस देश में अगर कोई आसिफ किसी मंदिर में घुसता है तो कारण पानी नहीं है ! मंदिर की जगह अस्पताल बनवाने की बात करने वालों को ये नहीं पचेगा कि आसपास के गरीब हिन्दू बीमार होते हैं तो यही मंदिर सहायता करता है !

कथानकस्य शक्तिम् इदमस्ति तत कमलेश तिवारिण: शनैः-शनैः ग्रीवा कर्तित्वा मुखे गोलिकम् हनित्वा पीड़ायुक्तम् मृत्यु दत्तम् एकम् लघु प्रकरणमस्ति कश्चितैव आसिफम् कराघातं वॄहद !

नैरेटिव की ताकत ये है कि कमलेश तिवारी का धीरे-धीरे गला रेत कर चेहरे पर गोली मार के दर्दनाक मौत देना एक छोटा मुद्दा है और किसी आसिफ को थप्पड़ लग जाना बड़ा !

कथानकस्य शक्तिम् इदमस्ति तत तेलंगानायाः भैंसायाम् कश्चितैव अव्यस्कायाः शीलमर्दने कश्चित मीडिया संस्थानम् तत्र न गच्छति तु वार्ता मंदिरम् दुर्नाम कृतस्यासि तदा ताः डासनायामागत्वा तिष्ठन्ति !

नैरेटिव की ताकत ये है कि तेलंगाना के भैंसा में किसी नाबालिग का रेप जाने पर कोई मीडिया संस्थान वहाँ नहीं जाता है लेकिन बात मंदिर को बदनाम करने की हो तो वो डासना में आकर बैठ जाते हैं !

आम् च्, भैंसास्थानम् घटनायामपि आरोपितं सद्दाम: अवयस्करस्ति ! शाहीन बागे महिला: अग्रम् कृत: स्म, अधुना शिशून् कुर्वन्ति ! हजारी बागे एतादृशैव द्वादशम् शिशून् उपविशित्वा मार्गम् घटकानि अवरुद्धितुम् धृतानि !

और हाँ,भैंसा वाली घटना में भी आरोपित सद्दाम नाबालिग है ! शाहीन बाग में महिलाओं को आगे किया था, अब बच्चों को कर रहे हैं ! हजारीबाग में ऐसे ही एक दर्जन बच्चों को बिठा कर सड़क को घंटों जाम रखा गया !

आरक्षकः कार्यवाहिम् त्वरितं कृतः ! शिशून् तत्र प्रेषकानामपेक्षा तस्य चित्राणि प्रस्तुत कर्तानेव कारागारे न्यक्षिपत: !

पुलिस ने कार्रवाई बड़ी जल्दी की ! बच्चों को वहाँ भेजने वालों की बजाए उसकी तस्वीरें अपलोड करने वालों को ही जेल में डाल दिया गया !

वयं वृहदैव गम्भीर्य युगे जीवाम: ! अत्र जनसंख्या नियंत्रण विधेयकं कालस्यावश्यकतां निर्मितानि ! अत्र यूनिफॉर्म सिविल कोड इत्यस्य विना भविष्य अंधकारयुक्तम् भविष्यते !

हम बड़े ही क्रिटिकल युग में जी रहे हैं ! यहाँ जनसंख्या नियंत्रण कानून समय की जरूरत बन चुकी है ! यहाँ यूनिफॉर्म सिविल कोड के बिना भविष्य अंधकारमय हो जाएगा !

यत्यापि आसिफ: भारते सन्ति, तस्य मातु पितु तै: शिक्षयन्तु तत मंदिरम् तस्य पितु: संपत्ति नास्ति ! कठुआ तः गृहित्वा डासनैव, मंदिरान् दुर्नाम कृतस्य कुचक्रम् नव नास्ति !

जितने भी आसिफ भारत में हैं, उनके अम्मी अब्बू उन्हें सिखाएँ कि मंदिर उनके बाप की जागीर नहीं है ! कठुआ से लेकर डासना तक, मंदिरों को बदनाम करने की साजिश नई नहीं है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया

मध्यप्रदेशे इस्लामनगरम् ३०८ वर्षाणि अनंतरम् पुनः कथिष्यते जगदीशपुरम् ! मध्यप्रदेश में इस्लाम नगर 308 साल बाद फिर से कहलाएगा जगदीशपुर !

मध्यप्रदेशस्य भोपालतः १४ महानल्वम् अंतरे एकं ग्रामम् इस्लामनगरमधुना जगदीशपुर नाम्ना ज्ञाष्यते ! केंद्र सर्वकार: ग्रामस्य नाम परिवर्तनस्याज्ञा दत्तवान्...