27.9 C
New Delhi

असदुद्दीन ओवैसी, मदनी यथा जनाः बालकान् उद्दताः, हिंसाम् गृहीत्वा जमात ए उलेमा हिंदस्य वृहत् कथनम् ! असदुद्दीन ओवैसी, मदनी जैसे लोगों ने बच्चों को भड़काया, हिंसा को लेकर जमात ए उलेमा हिंद का बड़ा बयान !

Date:

Share post:

नूपुर शर्मायाः विवादित टिप्पणिकाम् गृहीत्वा शुक्रवासरस्य नमाजस्यानंतरम् देशस्य विभिन्नक्षेत्रेषु अभवत् हिंसाम् गृहीत्वा जमात-ए-उलेमा हिंदम् असदुद्दीन ओवैसिनौ मौलाना मदनी इत्यां वृहत् प्रहारम् कृतं !

नुपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी को लेकर जुमे की नमाज के बाद देश के विभिन्न इलाकों में हुई हिंसा को लेकर जमात-ए-उलेमा हिंद ने असदुद्दीन ओवैसी और मौलाना मदनी पर बड़ा हमला किया !

उलेमा हिंदस्याध्यक्ष: सुहैब कासमी मीडिया इत्या कथित: तर ओवैसी मदनी यथा जनाः बालकान् उद्दताः ! २० वर्षस्य बालकान् उद्दत्वा मार्गे क्षिपताः एकमेव दृष्टे प्रदर्शनस्य एजेंडा परिलक्ष्यति !

उलेमा हिंद के अध्यक्ष सुहैब कासमी ने मीडिया से कहा कि ओवैसी और मदनी जैसे लोगों ने बच्चों को भड़काया ! 20 साल के बच्चों को भड़का कर सड़क पर छोड़ा ! एक ही अंदाज में प्रदर्शन का एजेंडा लगता है !

ओवैसी मुस्लिमस्य नामनि मिष्ठान्नं खादन्ति, वर्तमान सर्वकारे तस्यायम् न भवति ! यस्मिन् देशम् त्रोटनस्य कुचक्रम् कर्तानां हस्तानि सन्ति ! द्वयो विरुद्धम् फतवा प्रस्तुतम् करिष्यति !

ओवैसी मुस्लिम के नाम पर मलाई खा रहे हैं, मौजूदा सरकार में उनकी कमाई नहीं हो रही है ! इसमें देश को तोड़ने की साजिश करने वालों का हाथ है ! दोनों के खिलाफ फतवा जारी करेंगे !

संपूर्णदेशे शुक्रवासरस्य दिवसं अभवत् हिंसायाः अनंतरमारोपिषु कार्यवाहिम् चरितमस्ति तु प्रयागराजतः गृहीत्वा रांची एवाभवन् हिंसायाः एकं प्रारूपम् संमुखमागतमस्ति ! हिंसायां बालकानग्रम् कृतवान ! तान् ढालम् कृतवान !

देशभर में जुमे के दिन हुई हिंसा के बाद आरोपियों पर एक्शन जारी है लेकिन प्रयागराज से लेकर रांची तक हुई हिंसा का एक मॉड्यूल सामने आया है ! हिंसा में बच्चों को आगे किया गया ! उनको ढाल बनाया गया !

गुरिल्ला तकनीकेण सुनियोजितं हिंसाभवन् ! यूपी आरक्षकः स्पष्टम् कथित: यत् प्रस्तरम् चरितं, यत् उत्पातं अभवन्, यत् लूंठनकार्यम् अभवन् स्म, येषु ताः जनाः अपि सम्मिलिता: आसन् यत् बिरयानी इत्या: आपणस्य पार्श्व स्थिताः आसन् !

गुरिल्ला तकनीक से सुनियोजित हिंसा हुई ! यूपी पुलिस ने साफ कहा जो पत्थर चले, जो हंगामा हुआ, जो लूटपाट मची थी, इसमें वो लोग भी शामिल थे जो बिरयानी के ठेले के पास खड़े थे !

तावत् सहारनपुर हिंसाम् गृहीत्वारक्षकः सूत्रा: वृहत् दृढ़कथनम् कृतमस्ति ! आरक्षकस्य दृढ़कथनमस्ति तत हिंसायाः पश्च मुजम्मिल: सन्ति ! यस्मिन् सम्मिलिता: जनानां उम्रम् १८ वर्षमस्ति ! इयतेव न मुजम्मिल: हिंसाया पूर्वम् उद्दतकं भाषणमपि दत्तवान स्म !

उधर सहारनपुर हिंसा को लेकर पुलिस सूत्रों ने बड़ा दावा किया है ! पुलिस का दावा है कि हिंसा के पीछे मुजम्मिल हैं ! इसमें शामिल लोगों की उम्र 18 साल है ! इतना ही नहीं मुजम्मिल ने हिंसा से पहले भड़काऊ भाषण भी दिया था !

तत्रैव हिंसाया पूर्वम् प्ररोचकम् मुद्रक: आरोपिन् सलमानमपि बंधनम् कृतमस्ति ! सलमान: ५० प्ररोचकानि मुद्रणेन सह-सह तै: स्थापिता: अपि आसीत् !

वहीं हिंसा से पहले पोस्टर छपवाने वाले आरोपी सलमान को भी गिरफ्तार कर लिया है ! सलमान ने 50 पोस्टर छपवाने के साथ-साथ उन्हें चिपकाया भी था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

अवयस्का हिंदू बालिकामताडयत्, अलिहत् स्व ष्ठीव्, मोहम्मद मुश्ताक: बंधनम् ! नाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार !

बिहारस्य पूर्णियायां एकावयस्का हिंदू बालिकां ष्ठीव् लिहस्य प्रकरणम् संमुखमगच्छत् ! आरोपं अस्ति तत बालिकया: स्तंम्भे निबध्य ताडनमपि अकरोत्...

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...