बीएचयू इत्यां इफ्तार पार्टी इत्यां कलहस्य मध्य भित्तिषु अलिखत् विद्वेष: उद्घोषानि, जेएनयू यथैव कुचक्रस्याभवत् उद्घाटनम् ! बीएचयू में इफ्तार पार्टी पर बवाल के बीच दीवारों पर लिखे नफरती नारे, जेएनयू जैसी साजिश का हुआ खुलासा !

0
135

देवी सरस्वत्याः चित्रस्य संमुखम् इफ्तार पार्टी इत्या: आयोजनम् कृत्वा रोजा संपादक: विश्वस्य प्रथम कुलपति बनारस हिंदू विश्वविद्यालयस्य कुलपति सुधीर जैन: अभवत् ! प्रसिद्ध बनारस हिंदू विश्वविद्यालयं एकदा पुनः वार्तासु अस्ति ! बीएचयू इत्यां एकदा पुनः जेएनयू यथैव कुचक्रस्य उद्घाटनम् अभवत् !

देवी सरस्वती के चित्र के सामने इफ्तार पार्टी का आयोजन करके रोजा खुलवाने वाले विश्व के पहले कुलपति बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति सुधीर जैन हुए ! प्रसिद्ध बनारस हिंदू विश्वविद्यालय एक बार फिर सुर्खियों में है ! बीएचयू में एक बार फिर जेएनयू जैसी साजिश का खुलासा हुआ है !

विश्वविद्यालये इफ्तार पार्टी इत्या: कृतं तर्हि छात्रा: उद्दता: हनुमान चालीसा च् गृहीत्वा विरोधप्रदर्शनम् कर्तुमारंभिष्यन्ति ! छात्रा: बहूद्घोषकानि कृता: ! यस्मात् पूर्वबीएचयू इत्या: भित्तिषु विद्वेष: उद्घोषानि अलिखन् यान् अनंतरे अपकर्षितं ! प्रश्नमिदमस्ति तत अंततः बीएचयू इत्यां कलहं कं कारीतुमिच्छति !

यूनिवर्सिटी में इफ्तार पार्टी की गई तो छात्र भड़क गए और हनुमान चालीसा लेकर विरोध प्रदर्शन करने लगे ! छात्रों ने जमकर नारेबाजी की ! इससे पहले बीएचयू की दीवारों पर नफरती नारे लिखे गए जिनको बाद में मिटा दिया गया ! सवाल ये है कि आखिर बीएचयू में बवाल कौन कराना चाह रहा है !

गुरूवासरम् अतिसायंतः प्रदर्शनकारिण: छात्रा: महिला महाविद्यालयस्य संमुखं धरना इत्यारंभिताः ! बुधवासरमभवत् इफ्तार पार्टी इत्या: विरुद्धम् छात्रा: महाविद्यालयस्य संमुखम् हनुमान चालीसायाः पाठम् कर्तुं तिष्ठा: ! छात्राणां याचनामस्ति तत बीएचयू इत्या: कुलपति क्षमायाचिष्यति तदापि ताः स्वविरोध प्रदर्शनम् संपादितुं करिष्यन्ति !

गुरुवार की देर शाम से प्रदर्शनकारी छात्रों ने महिला महाविद्यालय के सामने धरना शुरू कर दिया ! बुधवार को हुई इफ्तार पार्टी के खिलाफ छात्र महिला महाविद्यालय के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करने बैठ गए ! छात्रों की मांग है कि बीएचयू के कुलपति माफी मांगे तभी वो अपना विरोध प्रदर्शन खत्म करेंगे !

वस्तुतः पूर्णकलहम् बुधवासरम् बीएचयू परिसरे एकं रोजा इफ्तार पार्टी धृतं यस्य चित्राणि प्रसृतमभवत् ! चित्रेषु मध्यासंदिकायां विश्वविद्यालयस्य उपकुलपति प्रो वीके शुक्ल: तिष्ठितुं दर्शितं तेन सह च् महिला महाविद्यालयस्य रोजाकर्ता: अध्यापका: छात्रा: चपि आसन् !

दरअसल पूरा विवाद बुधवार को बीएचयू कैंपस में एक रोजा इफ्तार पार्टी रखी गई जिसकी तस्वीरें वायरल हो गईं ! तस्वीरों में बीच वाली कुर्सी पर विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रो वीके शुक्ला बैठे दिखे और उनके साथ महिला महाविद्यालय के रोजेदार टीचर्स और छात्राएं भी थीं !

चित्राणि सोशल मीडिया इत्यां यथैव प्रस्तुतं कृतं ! परिसरे कलहमभवत् ! केचन छात्रसंगठनानि वीसी इत्या: विरुद्धम् उद्घोषानि आरंभिताः ! विरोधप्रदर्शनं अभवत् ! इयतैव न कुलपत्या: प्रतिचित्रमपि दग्धं ! सम्प्रति प्रश्नमुत्थयति तत अंततः छात्रान् इति इफ्तार पार्टी इत्या का पीड़ामस्ति ?

तस्वीर सोशल मीडिया पर जैसे ही पोस्ट की गई ! कैंपस में बवाल हो गया ! कुछ छात्र संगठनों ने वीसी के खिलाफ नारेबाजी शुरु कर दिया ! विरोध प्रदर्शन हुआ ! इतना ही नहीं कुलपति का पुतला भी फूंका गया ! अब सवाल उठता है कि आखिर छात्रों को इस इफ्तार पार्टी से क्या दिक्कत है ?

छात्रान् वीसी तः का पीड़ामस्ति पुनः वा छात्रान् वीसी इत्या: इफ्तार पार्टी इत्यां गमनेण पीड़ामस्ति ? इफ्तार इत्यां भवितं कलहस्य मध्य बीएचयू परिसरे एकं नव कलहमुत्पादितं ! यस्य कारणमस्ति भित्तिषु अलिखन् इमानि विद्वेष: उद्घोषानि, भित्तिषु अलिखत् येषु उद्घोषेषु आरएसएस इतमह्वेयता दत्तं ब्राह्मण विरोधिन् च् उद्घोषानि अलिखन् !

छात्रों को वीसी से क्या दिक्कत है या फिर छात्रों को वीसी के इफ्तार पार्टी में जाने से दिक्कत है ? इफ्तार पर हो रहे हंगामे के बीच बीएचयू कैंपस में एक नया विवाद पैदा हो गया ! जिसकी वजह हैं दीवारों पर लिखे ये नफरती नारे, दीवारों पर लिखे इन नारों में आरएसएस को चुनौती दी गई है और ब्राह्मण विरोधी नारे लिखे गए हैं !

येन सहैव कश्मीरस्योल्लेखम् कृतवान ! भित्तिषु यत् अलिखन् तस्मात् कलहं भवितुं तर्हि निश्चितमासीत् ! सम्प्रति प्रश्नमुत्थिति तत इमानि उद्घोषानि लिखितुं किं गतं अलिखत् कः ! प्रत्येकोद्घोषस्याधो लिखितं अस्ति बीसीएम इति ! यस्यार्थमस्ति भगत सिंह मोर्चा यत् बीएचयू इत्या: एकं छात्र संगठनमस्ति !

इसके साथ ही कश्मीर का जिक्र किया गया है ! दीवारों पर जो लिखा गया है उससे बवाल होना तो तय था ! अब सवाल उठता है कि ये नारे लिखे क्यों गए और लिखे किसने ! हर नारे के नीचे लिखा है बीसीएम ! इसका मतलब है भगत सिंह मोर्चा जो बीएचयू का एक छात्र संगठन है !

यद्यपि बीएचयू प्रशासनस्य दृढ़कथनमस्ति तत स्थितिं असाधु कर्तानां परिचयं अभवन् ! पूर्व केचन वर्षभिः बीएचयू लेफ्ट राइट च् दलस्य मध्य प्रयोगशाला निर्मितुं अभवत् ! इति रणे बर्धितं-बर्धितं वार्ताधुना जातिविरोधिन् कश्मीर एव च् प्राप्ते ! पुनः- पुनः प्रकरणम् हलस्य प्रयत्ने संलग्नम् प्रशासनम् इतिदा इति कलहस्य वृहत् अनुसंधानकृतस्य तत्परतायां अस्ति !

हालांकि बीएचयू प्रशासन का दावा है कि माहौल खराब करने वालों की पहचान हो गई है ! पिछले कुछ सालों से बीएचयू लेफ्ट और राइट बिंग के बीच प्रयोगशाला जैसा बना हुआ है ! इस लड़ाई में बढ़ते-बढ़ते बात अब जाति विरोधी और कश्मीर तक पहुंच गई है ! बार-बार मामले को सुलझाने की कोशिश में जुटा प्रशासन इस बार इस विवाद की बड़ी सर्जरी करने की तैयारी में है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here