उत्तरप्रदेशे कांग्रेसम् ळब्धुम् शक्नोति एकमन्य वृहत् घातम्, सपायां गृहागमनम् कर्तुम् शक्नोति राज बब्बर: ! यूपी में कांग्रेस को लग सकता है एक और बड़ा झटका, सपा में घर वापसी कर सकते हैं राज बब्बर !

0
116

पंचराज्येषु निर्वाचनेण पूर्वम् कांग्रेसदळम् घातेषुघातं ळब्धन्ति ! वरिष्ठ नेता दळम् त्यक्त्वा कुत्रैवान्यत्र स्वस्मै राजनीतिक संभावनानि अन्वेषणति ! उत्तर प्रदेशे कांग्रेसम् एकमन्य वृहत्घातं ळब्धुम् दर्शयति !

पांच राज्यों में चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को झटके पर झटके लग रहे हैं ! दिग्गज नेता पार्टी छोड़कर कहीं और अपने लिए राजनीतिक संभावनाएं तलाश रहे हैं ! यूपी में कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगता दिख रहा है !

आरपीएन सिंहस्यानंतरम् कांग्रेसस्य वरिष्ठ नेता राज बब्बर: समाजवादी दले सम्मिलितं भवितुं शक्नोति ! सपा प्रवक्ता फकरूल चांद हुसैनस्य दृढ़कथनमस्ति तत राज बब्बर: सपायाः वृहत् नेतृभि: सह संपर्के सन्ति सः च् कांग्रेसम् त्यक्त्वा सपायां सम्मिलितं भवितुं शक्नोति !

आरपीएन सिंह के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता राज बब्बर समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं ! सपा प्रवक्ता फकरूल चांद हुसैन का दावा है कि राज बब्बर सपा के बड़े नेताओं के साथ संपर्क में हैं और वह कांग्रेस छोड़कर सपा में शामिल हो सकते हैं !

सपा प्रवक्ता कथित: तत राज बब्बरस्य गृहागमनम् भवति तु सः विधानसभा निर्वाचनम् न रणिष्यति ! राज बब्बर: यदि कांग्रेसम् त्यजति तर्हि उत्तर प्रदेश विधानसभा निर्वाचनस्य समाघातम् कुर्येत् कांग्रेसाय इदमेकमन्य वृहत्घातम् भविष्यति !

सपा प्रवक्ता ने कहा कि राज बब्बर की घर वापसी हो रही है लेकिन वह विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे ! राज बब्बर यदि कांग्रेस को छोड़ते हैं तो यूपी विधानसभा चुनाव का सामना कर रही कांग्रेस के लिए यह एक और बड़ा झटका होगा !

गत भौमवासरं आरपीएन सिंह: भाजपायां सम्मिलित: ! आरपीएन सिंह: गांधी कुटुंबं निकषा आसीत् तस्य च् परिचयं पूर्वांचलस्य एकस्य वृहत् नेतु: रूपे अस्ति ! उत्तरप्रदेशे जितिन प्रसाद:, अदिति सिंह यथा बहु वरिष्ठ नेतारः पूर्वमेव कांग्रेसम् त्यक्त्वा अन्येषु दलेषु सम्मिलितुं अभवन् !

गत मंगलवार को आरपीएन सिंह भाजपा में शामिल हो गए ! आरपीएन सिंह गांधी परिवार के करीबी थे और उनकी पहचान पूर्वांचल के एक बड़े नेता के रूप में है ! यूपी में जितिन प्रसाद, अदिति सिंह जैसे कई दिग्गज नेता पहले ही कांग्रेस छोड़कर अन्य दलों में शामिल हो चुके हैं !

इमे नेता दलीय नेतृत्वेण निराशम् ज्ञाप्यन्ते ! राज बब्बरम् प्रत्ये कथ्यते तत सः अपि दीर्घकालेण अंतिम पदे सन्ति, तस्य वार्ता न शृणुते यस्य कारणम् सः स्वम् दले उपेक्षितं अनुभवति ! सपाया सह राज बब्बरस्य सहाय्य पुरातनम् रमति !

ये नेता पार्टी नेतृत्व से निराश बताए जाते हैं ! राज बब्बर के बारे में कहा जा रहा है कि वह भी लंबे समय से हाशिए पर हैं, उनकी बात नहीं सुनी जा रही है जिसके चलते वह खुद को पार्टी में उपेक्षित महूसस कर रहे हैं ! सपा के साथ राज बब्बर का साथ पुराना रहा है !

सः दीर्घकालैवेति दलेण सह रमित: तु वर्ष २००८ तमे सः कांग्रेसे सम्मिलित: ! २००९ तमस्य लोक सभा निर्वाचने राज बब्बर: अखिलेश यादवस्य भार्या डिंपल यादवम् परजित: स्म !

वह लंबे समय तक इस पार्टी के साथ रहे लेकिन साल 2008 में वह कांग्रेस में शामिल हो गए ! 2009 के लोकसभा चुनाव में राज बब्बर ने अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को हराया था !

सपा प्रवक्तायाः कथनमस्ति तत विगत दिवसेषु समाजवादिन् विचारका: याः जनाः दळम् त्यक्त्वा अन्येषु दलेषु गताः तै: पुनः दलेण संयुक्ताय प्रयासम् कारयते ! राज बब्बर: अपि समाजवादिन् नेतास्ति ! तस्य यथान्य जनाः अपि सन्ति यै: पुनः दले आनयस्य प्रयासम् कारयते !

सपा प्रवक्ता का कहना है कि बीते दिनों में समाजवादी विचारधारा वाले जो लोग पार्टी छोड़कर अन्य दलों में चले गए हैं उन्हें दोबारा पार्टी से जोड़ने के लिए प्रयास किया जा रहा है ! राज बब्बर भी समाजवादी नेता हैं ! उनके जैसे और लोग भी हैं जिन्हें दोबारा पार्टी में लाने का प्रयास किया जा रहा है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here