31.1 C
New Delhi
Thursday, May 26, 2022

निर्वाचनेण पूर्वकांग्रेसम् वृहदाघातं, महिला प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष सरितार्या भाजपायां सम्मिलिता ! चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, महिला प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सरिता आर्या भाजपा में शामिल !

Must read

उत्तराखंडे कांग्रेसम् वृहदाघातम्, सरितार्या स्वीकृता भाजपायाः सदस्यता, उत्तरप्रदेशस्यानंतरम् सम्प्रति उत्तराखंडे नेतृणाम् दलपरिवर्तनस्य क्रम चरितं ! भाजपाम् यत्र पूर्व हरक सिंहम् दलतः निःसृतं तर्हि सः अधुना कांग्रेसे सम्मिलितस्य तत्परता करोति !

उत्तराखंड में कांग्रेस को बड़ा झटका, सरिता आर्या ने थामा बीजेपी का दामन, उत्तर प्रदेश के बाद अब उत्तराखंड में नेताओं का पाला बदलने का सिलसिला जारी हो गया है ! बीजेपी ने जहां पहले हरक सिंह को पार्टी से निकाला तो वह अब कांग्रेस में शामिल होने की तैयारी कर रहे हैं !

द्वितीयम्प्रति महिलाकांग्रेसस्य प्रदेशाध्यक्ष सरितार्या अद्य भाजपायां सम्मिलिता ! सरितार्याम् भाजपायां सम्मिलितेन लगभगमेकं घटकं पूर्व कांग्रेसम् दलतः निःसृतं स्म ! सरितार्याम् सीएम पुष्कर सिंह धामी प्रदेश भाजपाध्यक्ष: मदन कौशिक: च् भाजपायाः सदस्यता ददाते !

दूसरी तरफ महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्या आज बीजेपी में शामिल हो गई हैं ! सरिता आर्या को बीजेपी में शामिल होने से करीब एक घंटा पहले कांग्रेस ने पार्टी से बर्खास्त कर दिया था !सरिता आर्या को सीएम पुष्कर सिंह धामी और प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मदन कौशिक ने बीजेपी की सदस्यता दिलाई !

इति काळम् सरितार्या कथिता तत यत्र मम सम्मानम् भविष्यति अहम् तत्र गमिष्यामि भाजपायां च् मम सम्मानमभवत् ! यस्मात् पूर्वं कांग्रेसं ज्ञातमभवत् स्म तत सरितार्या दल परिवर्तितुं शक्नोति तर्हि प्रदेश अध्यक्ष: त्वरितमेव सरितार्याम् षड वर्षाय दलतः निष्कासितं स्म !

इस दौरान सरिता आर्या ने कहा कि जहां मेरा सम्मान होगा मैं वहां जाऊंगी और बीजेपी में मेरा सम्मान हुआ है ! इससे पहले कांग्रेस को पता चल गया था कि सरिता आर्या पाला बदल सकती हैं तो प्रदेश अध्यक्ष ने तुरंत ही सरिता आर्या को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया था !

सरितार्यायाः पूर्वदीर्घकालात् भाजपायांसम्मिलितस्य पूर्वानुमान कुर्वन्ति ! वस्तुतः यथैव यशपालार्या तस्य पुत्र च् संजीवार्या भाजपा त्यक्त्वा कांग्रेसे आगतौ तर्हि तदातः सरितार्ये राजनीतिक स्थितिं संकटागतम् स्म !

सरिता आर्या के पिछले लंबे समय से बीजेपी में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे हैं ! दरअसल जैसे ही यशपाल आर्या और उनके बेटे संजीव आर्या बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में आए तो तभी से सरिता आर्या के लिए राजनीतिक हालत मुश्किल बन गए थे !

संजीवार्या येन नैनीतालासनेण विधायक: अस्ति तत्र तः सरितार्या तेन पूर्वदा कांग्रेसस्य निर्वाचनपत्रे आहवः दत्तमासीत् तु पराजिता स्म ! इतिदापि सा कांग्रेसेण निर्वाचनपत्रस्य प्रबल दावेदारासीत् तु संजीवार्यायाः आगमनेण तया निर्वाचनपत्रम् ळब्धुम् कठिनमभवत् स्मेदमेव च् कारणमस्ति तत भाजपायां सा सम्मिलता !

संजीव आर्या जिस नैनीताल सीट से विधायक हैं वहां से सरिता आर्या ने उन्हें पिछली बार कांग्रेस के टिकट पर चुनौती दी थी लेकिन हार गई थी ! इस बार भी वह कांग्रेस से टिकट की प्रबल दावेदार थी लेकिन संजीव आर्या के आने से उन्हें टिकट मिलना मुश्किल हो गया था और यही कारण है कि बीजेपी में वह शामिल हो गईं !

नैनीतालेण निर्वाचनपत्रम् ळब्धुम् सरितार्ये सरलम् नास्ति यदि च् निर्वाचनपत्रम् ळब्धुमपि गतं तर्हि तया आंतरिकाहवेणापि रणितुं भविष्यति ! केचन काळम् पूर्वमेव कांग्रेस नेता हेमार्यायाः दले पुनः आगमनम् अभवत् स्म तैव च् इति आसनाय प्रबलताया स्व दावेदारिम् करोति !

नैनीताल से टिकट पाना सरिता आर्या के लिए आसान नहीं है और अगर टिकट मिल भी गया तो उन्हें आंतरिक चुनौती से भी जूझना पड़ेगा ! कुछ समय पहले ही कांग्रेस नेता हेम आर्या की पार्टी में वापसी हुई थी और वो भी इस सीट के लिए प्रबलता से दावा ठोक रहे हैं !

हेमार्या २०१७ तमे भाजपाया निर्वाचनपत्रम् न ळब्धे कांग्रेसे सम्मिलितं अभवत् स्म ! हेमार्या २०१२ तमे भाजपाम् प्रत्येन नैनीतालासनेण निर्वाचनम् रणित: स्म ! सः ५००० मतै: सरितार्याया पराजित: स्म ! इदृशं दर्शितं मनोरमम् भविष्यति तत भाजपास्व आंतरिक कळहम् केन प्रकारेणावरोधयति !

हेम आर्या 2017 में भाजपा से टिकट न मिलने पर कांग्रेस में शामिल हुए थे ! हेम आर्या ने 2012 में भाजपा की ओर से नैनीताल सीट से चुनाव लड़ा था ! वह 5000 वोटों से सरिता आर्य से पराजित हुए थे ! ऐसे देखना दिलचस्प होगा कि बीजेपी अपनी आंतरिक बगावत को किस तरह से रोकती है !

Disclaimer The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carry the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text. The opinions, facts and any media content in them are presented solely by the authors, and neither Trunicle.com nor its partners assume any responsibility for them. Please contact us in case of abuse at Trunicle[At]gmail.com

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article

This is AWS!!!