ममतायाः बर्धिष्यति संकटम् !निर्वाचनमनंतरम् हिंसायाः भविष्यति सीबीआई अन्वेषणम्, न्यायालयम् करिष्यति निरीक्षणम् ! ममता की बढ़ेगी मुश्किल ! चुनाव बाद हिंसा की होगी CBI जांच, कोर्ट करेगा निगरानी !

0
263

पश्चिमबङ्गे विधानसभा निर्वाचनपरिणामाणामनंतरम् अभवत् हिंसा प्रकरणे कलिकता उच्च न्यायालयम् गुरूवासरम् महत्वपूर्ण निर्णयम् कृतं ! न्यायालयम् स्वाज्ञायाम् कथितं तत निर्वाचनानंतरमभवत् हिंसायाः अन्वेषणम् केंद्रीयान्वेषणम् संस्थानम् करिष्यति !

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद हुई हिंसा मामले में कलकत्ता हाई कोर्ट ने गुरुवार को अहम फैसला सुनाया ! कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि चुनाव बाद हुई हिंसा की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो करेगी !

हिंसा प्रकरणे इत्यान्वेषणस्य निरीक्षणं न्यायालयं करिष्यति ! यस्यातिरिक्त उच्च न्यायालयमन्वेषणाय एसआईटी गठितस्याज्ञाम् दत्तम् ! इति दले पश्चिम बङ्गकालस्य वरिष्ठाधिकारी सम्मिलितुम् भविष्यन्ति !

हिंसा मामले में इस जांच की निगरानी कोर्ट करेगा ! इसके अलावा हाई कोर्ट ने जांच के लिए एसआईटी गठित करने का आदेश दिया है ! इस टीम में पश्चिम बंगाल कैडर के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे !

न्यायालयस्य इति निर्णये हर्षम् व्यक्तमानः भाजप: महासचिव कैलाश विजयवर्गीय: कथित: तत राज्य सर्वकारस्य संरक्षणे बङ्ग निर्वाचनस्यानंतरम् हिंसा अभवत् ! कलिकातौच्चन्यायालयं राज्य सर्वकारस्य असत्यस्योद्घाटनम् कृतं !

कोर्ट के इस फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि राज्य सरकार के संरक्षण में बंगाल चुनाव के बाद हिंसा हुई ! कलकत्ता हाई कोर्ट ने राज्य सरकार के झूठ का पर्दाफाश कर दिया है !

ज्ञापयन्तु तत उच्च न्यायालयम् एनएचआरसी इतम् इति हिंसा प्रकरणस्य अन्वेषणस्याज्ञाम् दत्तं स्म ! एनएचआरसी स्वसूचनापत्रम् प्रदत्तम् स्म ! न्यायालयस्य इति निर्णयस्यानंतरम् ममता सर्वकारः प्रश्नानामावृत्ते आगतम् !

बता दें कि हाई कोर्ट ने एनएचआरसी को इस हिंसा मामले की जांच करने का आदेश दिया था ! एनएचआरसी ने अपनी रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी थी ! कोर्ट के इस फैसले के बाद ममता सरकार सवालों के घेरे में आ गई है !

कुत्रचित हिंसाप्रकरणे सा विधि-व्यवस्थायाः असाफल्यस्यारोपाणां निरस्तं कर्तुमागता ! न्यायालयं अनुभूतं तत हिंसाप्रकरणे आरक्षकम् येन प्रकारेण अन्वेषणम् करणीयम् स्म तादृशैवान्वेषणं तं न कृता !

क्योंकि हिंसा मामले में वह कानून-व्यवस्था की असफलता के आरोपों को खारिज करती आई है ! कोर्ट को लगा है कि हिंसा मामले में पुलिस को जिस तरह से जांच करनी चाहिए थी वैसी जांच उसने नहीं की !

न्यायालयं स्वाज्ञायां स्वच्छम् कृतवान तत हिंसाया संलग्नानि सर्वाणि प्रकरणानामन्वेषणम् सीबीआई एसआईटी च् करिष्यति ! सीबीआई एसआईटी इतम् च् षड् सप्ताहानि अनंतरम् स्वसूचनापत्रम् प्रदत्तुम् कथितवान ! न्यायालयं इति प्रकरणस्याग्रिम् शृणुनम् सम्प्रति ४ अक्टूबर इतम् करिष्यति !

कोर्ट ने अपने आदेश में साफ कर दिया है कि हिंसा से जुड़े सभी मामलों की जांच सीबीआई और एसआईटी करेगी ! सीबीआई और एसआईटी को छह सप्ताह बाद अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है ! कोर्ट इस मामले की अगली सुनवाई अब चार अक्टूबर को करेगा !

न्यायालयं राज्यसर्वकारम् सर्वान् हिंसा पीड़ितान् अर्थदंड दत्तस्याज्ञामपि दत्तं ! मीडियातः वार्तालापे बङ्गस्य नेता प्रतिपक्ष नंदीग्रामतः भाजपा विधायक: च् सुवेंदु अधिकारी: कथित: ततेदम् राजनीत्या: प्रकरणम् नापितु मानवत: प्रश्नमस्ति !

कोर्ट ने राज्य सरकार को सभी हिंसा पीड़ितों को मुआवजा देने का आदेश भी दिया है ! मीडिया से बातचीत में बंगाल के नेता प्रतिपक्ष और नंदीग्राम से भाजपा विधायक सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि ये राजनीति का मुद्दा नहीं बल्कि मानवता का सवाल है !

बङ्गे यत् केचनाभवत्, तादृशैव राजनीतिक हिंसा स्वतंत्रत: अनंतरम् नाभवत् ! न्यायालयस्याद्यस्य निर्णयम् मानवत: रक्षार्थमस्ति ! मीडिया इत्येन सह वार्तालापे भाजपा सांसद रूपा गांगुली कथिता तत हिंस: घटनानि राज्यसर्वकारः स्वीकृतुम् तत्पर: नासीत् !

बंगाल में जो कुछ हुआ, वैसी राजनीतिक हिंसा स्वतंत्रता के बाद नहीं हुई ! कोर्ट का आज का फैसला मानवता की रक्षा के लिए है ! मीडिया के साथ बातचीत में भाजपा सांसद रूपा गांगुली ने कहा कि हिंसा की घटनाओं को राज्य सरकार स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं थी !

न्यायालयस्य इत्याज्ञ: अनंतरम् तेन हिंसायाः वार्ता मानितुम् भविष्यति ! गांगुली कथिता तत निर्वाचनम् अनंतरम् एतेषु जनेषु घतानि अभवन् ते बङ्गस्यैव नागरिका: आसन् ! पश्चिम बङ्गे आरक्षकः राज्य सर्वकारस्याज्ञ: पालनम् करोति ! आरक्षकः यदि निष्पक्षम् भूत्वान्वेषणं कर्तुम् भवित: कार्यवाहिम् कर्तुम् भवित: वा तर्हि न्यायालयमस्य प्रकारस्य निर्णयम् न दत्तम् !

कोर्ट के इस आदेश के बाद उन्हें हिंसा की बात माननी पड़ेगी ! गांगुली ने कहा कि चुनाव बाद जिन लोगों पर हमले हुए वे बंगाल के ही नागरिक थे ! पश्चिम बंगाल में पुलिस राज्य सरकार के आदेश का पालन करती है ! पुलिस अगर निष्पक्ष होकर जांच की होती या कार्रवाई की होती तो कोर्ट इस तरह का फैसला नहीं देता !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here