बहुमंजिला भवनस्यावैध निर्माण प्रगत्यां, दावत ए इस्लामिण: इति भवनम् एकं वीथिम् अवरुद्धं कृतं अस्ति, उत्तरदायिण: अनुभूति: न ! बहुमंजिला इमारत का अवैध निर्माण जारी, दावत इस्लामी की इस बिल्डिंग ने एक गली को बंद कर दिया है, जिम्मेदारों को एहसास नहीं !

0
126

केवल प्रतीक चित्र

उत्तर प्रदेशस्य योगी सर्वकारः सततं अवैध निर्माणे दृढ़ेच्छा कृतमस्ति ! अवैध निर्माणम् धराभीमतः पातयते ! अवैध निर्माणकर्ता: न्यायालयस्य शरण्ये गच्छति तु तै: तत्रापि सुखम् न लब्धते !

सूबे की योगी सरकार लगातार अवैध निर्माण पर सख्त रवैया अपनाये हुए है ! अवैध निर्माण बुलडोजर से ढहाये तक जा रहे है ! अवैध निर्माणकर्ता न्यायालय की शरण में जा रहे है लेकिन उन्हें वहां भी चैन नही मिल पा रहा है !

योगी सर्वकारः अधिकारिभिः स्पष्टम् कथितमस्ति तत प्रदेशे विध्या: राज स्थापितं यत् पगम् उत्थितुं शक्नोति उत्थिष्यते ! इयत् सर्वम् भवस्यानंतरमपि अवैध निर्माणकर्ताषु भयं दृश्यते ! अवैध निर्माणकर्ता: अकर्मण्य भूत्वावैध निर्माणम् कारीते !

योगी सरकार ने अफसरों से दो टूक कह दिया है कि सूबे में कानून का राज स्थापित करने को जो कदम उठाये जा सकते है उठाये जाएंगे ! इतना सब होने के बाद भी अवैध निर्माण करने वालों में खौफ नजर नही आ रहा है ! अवैध निर्माण करने वाले बेपरवाह होकर अवैध निर्माण करवा रहे है !

इदम् यत् बहुमंजिला धार्मिकस्थलस्यावैध निर्माणम् कारिते ! इदम् बहुमंजिलावैध धार्मिक स्थळं दावत ए इस्लामिण: ज्ञापिते ! दावत ए इस्लामी मूलरूपेण पकिस्तानस्य संगठनम् ज्ञापिते ! इयत् सर्वम् स्पष्टम् प्रशासनस्य नासिकायाः अधो संचालिते !

यह जो बहुमंजिला धार्मिक स्थल का अवैध निर्माण कराया जा रहा है ! यह बहुमंजिला अवैध धार्मिक स्थल दावत ए इस्लामी का बताया जा रह है ! दावत ए इस्लामी मूल रूप से पाकिस्तान का संगठन बताया जाता है ! इतना सब खुल्लम खुल्ला प्रशासन की नाक के नीचे संचालित हो रहा है !

जनपदस्य लोकल गोपितं संस्थामपि संभवतः भंग इति खादित्वा तिष्ठम् ! क्षेत्रीयारक्षकः अपि यं प्रति ध्यानम् न ददाति ! इदमेव कारणमस्ति ततावैध निर्माणम् निर्बाध गत्या चरति ! स्थितिमिदमस्ति तत प्रकरणस्य सूचनां जनपदैवं आरक्षकम् दत्तस्यानंतरं अपि कश्चित कार्यवाहिम् क्रियान्वयने नानीतमस्ति !

जिले की लोकल इंटेलिजेंस एजेंसी भी शायद भांग खाकर बैठी हुई है ! इलाकाई पुलिस भी इस ओर ध्यान नही दे रही है ! यही कारण है कि अवैध निर्माण बेरोक टोक निर्बाध गति से जारी है ! हालात यह है कि मामले की सूचना जिला एवं पुलिस प्रशासन को दिये जाने के बाद भी कोई कार्यवाही अमल में नही लाई गई है !

आश्चर्यमिति वार्तायाः अस्ति तत जनपदस्यैवं आरक्षकस्योत्तरदायिन् अधिकारिण: धूमयानपत्तने आगतुं गन्तुं रमति तु तै: धूमयान पत्तनम् गेट क्रमांक २ इत्या: संमुखमिदम् अवैध निर्माणम् संभवतः न दर्शितुं भविष्यति ! अंततः द्रक्ष्यते कीदृशं !

हैरत इस बात की है कि जिला एवं पुलिस प्रशासन के जिम्मेदार अफसर रेलवे स्टेशन पर आते जाते रहते है लेकिन उन्हें रेलवे स्टेशन गेट संख्या 2 के ठीक सामने यह अवैध निर्माण शायद दिखाई नही दिया होगा ! आखिरकार दिखाई देगा कैसे !

ज्ञापयति तत इंटेलिजेंस स्थानीयारक्षकतः गृहीत्वा अन्याधिकारिभिः अस्यैव धार्मिक स्थलस्य संचालकेण सम्यक् चाय नाश्ता इति कारिते ! इदम् इव कारणमस्ति तै: इदमवैध निर्माणम् कश्चितैव दृष्टे न दृश्यते !

बताते है कि इंटेलिजेंस और स्थानीय पुलिस से लेकर अन्य अफसरानों के द्धारा इसी धार्मिक स्थल के संचालक के द्वारा बेहतरीन चाय नास्ता कराया जाता है ! यही कारण है उन्हें यह अवैध निर्माण किसी सूरत में नजर नही आ रहा है !

इदमवैध निर्माणम् अस्यैव प्रकारम् चरितुं रमितं तर्हि एकम् दिवसं जनपदेण एवं आरक्षकेण गृहीत्वा सर्वकारमेव संकटाभिः रणितुं शक्नोति ! कथनम् इदम् दावत ए इस्लामिण: धार्मिक स्थलस्य निर्माणम् कारिते !

यह अवैध निर्माण इसी तरह चलता रहा तो एक न एक दिन जिला एवं पुलिस से लेकर सरकार तक को मुसीबतों से दो चार होना पड़ सकता है ! कहने को यह दावत ए इस्लामी की धार्मिक स्थल का निर्माण कराया जा रहा है !

यद्यपि वास्तविकतां तर्हीदमस्ति तत पश्च पूर्ण वीथिम् अधिगृहीत्वा लिंटर इति स्थापितं ! यति वृहत् रूपे यस्य निर्माणम् कारिते इदम् धार्मिक स्थलम् भवितुं इव न शक्नोति ! काळमागते इदम् अस्माभिः संकटस्य कारणम् भवितुं शक्नोति !

जबकि हकीकत तो यह है कि पीछे पूरी गली को पाटकर लिंटर डाल दिया गया है ! जितने बड़े पैमाने पर इसका निर्माण कराया जा रहा है यह धार्मिक स्थल हो ही नही सकता है ! वक्त आने पर यह हम सभी के लिए मुसीबत का सबब बन सकता है !

साभार- समर सहारा (शाहजहांपुर उत्तर प्रदेश)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here