असमे कश्चित मिया इति संग्रहालयम् न निर्मिष्यति-हेमंत बिस्वा सरमा: ! असम में कोई मिया म्यूजियम नहीं बनेगा-हेमंत बिस्वा सरमा !

0
243

असम सर्कारम् राज्ये मुस्लिमानां संस्कृति धरोहरं च् प्रदर्शनाय गुवाहाटीयाम् एकम् भिन्नम् मिया इति संग्रहालयस्य निर्माणम् कृतस्य कांग्रेस विधायक: शरमन अली अहमदस्य याचनाम् प्रतिषेधयते !

असम सरकार ने राज्य में मुस्लिमों की संस्कृति एवं विरासत को दर्शाने के लिए गुवाहाटी में एक अलग मिया म्यूजियम का निर्माण करने की कांग्रेस विधायक शरमन अली अहमद की मांग ठुकरा दी है !

राज्य सरकारे मंत्री: हेमंत बिस्वा सरमा: कांग्रेस विधायकस्य याचनाम् प्रतिषेधतः अकथयत् तत बंग्लादेश घुसपैठिनां संस्कृति प्रदर्शयन् कश्चित संग्रहालयम् न निर्मिष्यति ! सरमाया: कथनं अस्ति तत इति क्षेत्रे निवासिन् बहैव जनाः बंग्लादेशात् आगतवन्तः !

राज्य सरकार में मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने कांग्रेस विधायक की मांग ठुकराते हुए कहा है कि बांग्लादेश घुसपैठियों की संस्कृति दर्शाने वाले कोई संग्रहालय नहीं बनेगा ! सरमा का कहना है कि इस क्षेत्र में रहने वाले ज्यादातर लोग बांग्लादेश से आए हुए हैं !

कांग्रेस विधायक: अहमद: राज्यस्य नदी तटस्य प्रान्तराणि चार-चपोरी इत्ये निवासिन् जनानां संस्कृतिम् धरोहरम् च् रक्षणाय गुवाहाटीयाम् एकम् भिन्नात् संग्रहालयम् निर्माणस्य याचनाम् राज्य सरकारेण कृतमस्ति !

कांग्रेस विधायक अहमद ने राज्य के नदी तट के इलाकों चार-चपोरी में रहने वाले लोगों की संस्कृति एवं विरासत को सहेजने के लिए गुवाहाटी में एक अलग से संग्रहालय बनाने की मांग राज्य सरकार से की है !

इति प्रान्तरे बहैव मिया समुदाय इत्यस्य जनाः निवसन्ति ! मिया इति नाम राज्यस्य बांग्लाभाषी मुस्लिम मिया इति शब्दस्य प्रयोगम् बंग्लादेशात् आगतवान अनाधिकृत प्रवासिभ्यः कुर्वन्ति !

इस इलाके में ज्यादातर मिया समुदाय के लोग रहते हैं ! मिया नाम राज्य के बांग्लाभाषी मुस्लिमों का दिया हुआ है ! बांग्लाभाषी मुस्लिम मिया शब्द का इस्तेमाल बांग्लादेश से आए अवैध प्रवासियों के लिए करते हैं !

सरमा: स्व एकम् ट्विते अकथयत् यत्रैव मम ज्ञानमस्ति, असमस्य चत्वारः अंचलस्य भिन्नात् कश्चित भावम् या संस्कृतिम् नास्ति कुत्रचित अत्र निवासिन् बहैव जनाः बंग्लादेशात् आगतवान ! स्पष्टमस्ति तत श्रीमंता संकरदेवा इति कलाक्षेत्रे वयं कश्चित प्रकारस्य छेड़खनिस्य आज्ञाम् न दाशक्नोति !

सरमा ने अपने एक ट्वीट में कहा जहां तक मेरी जानकारी है, असम के चार अंचल की अलग से कोई पहचान अथवा संस्कृति नहीं है क्योंकि यहां रहने वाले ज्यादातर लोग बांग्लादेश से आए हैं ! जाहिर है कि श्रीमंता संकरदेवा कलाक्षेत्र में हम किसी तरह की छेड़छाड़ की अनुमति नहीं दे सकते !

बाघबार निर्वाचन क्षेत्रात् कांग्रेस विधायक: शरमन अली अहमद: चार चपोरी इत्ये निवासिन् जनानां संस्कृति संरक्षित कृतमिच्छति इत्याय च् सः एकम् संग्रहालयस्य निर्माण कृताय राज्यस्य संग्रहालय निदेशकम् एकम् पत्रम् लिखितवान !

बाघबार निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस विधायक शरमन अली अहमद चार चपोरी में रहने वाले लोगों की संस्कृति संरक्षित करना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने एक संग्रहालय का निर्माण करने के लिए राज्य के म्यूजियम निदेशक को एक पत्र लिखा है !

संग्रहालयम् शंकरदेव कलाक्षेत्रे निर्मयस्य याचनाम् स्व पत्रम् कांग्रेस विधायकः अलिखत् चार चोपरी इति प्रान्तरेषु निवासिन् जनेभ्यः येन मुख्य रूपे मिया इत्यस्य रूपे ज्ञायते !

म्यूजियम शंकरदेव कलाक्षेत्र में बनाने की मांग अपने पत्र कांग्रेस विधायक ने लिखा है चार चोपरी इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए जिन्हें आम तौर पर मिया के रूप में जाना जाता है !

तेभ्यः अहम् सरकारेण एकम् संग्रहालयम् निर्मयस्य एकम् प्रस्ताव कृतवान ! इयम् संग्रहालयम् मिया इति जनानां संस्कृतिम् धरोहरं च् प्रमुखताया प्रदर्शयिष्यति !

उनके लिए मैंने सरकार से एक म्यूजियम बनाने का एक प्रस्ताव किया है ! यह म्यूजियम शंकरदेव कलाक्षेत्र में बनना चाहिए ! यह संग्रहालय मिया लोगों की संस्कृति एवं विरासत को प्रमुखता से दर्शाएगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here