मृत्यु इत्यस्य क्रीड़ा लोकतन्त्रे न चरशक्नोति- पीएम नरेंद्र मोदी: ! मौत का खेल लोकतंत्र में नहीं चल सकता – पीएम नरेंद्र मोदी !

0
403

बिहारे प्राप्यत् विजयस्य भारतीय जनता दलम् हस्तिनापुरे भव्य उत्सवम् मान्यते ! कार्यकर्ताभि: गृहित्वा दलस्य शीर्ष नेतारैव भाजपा मुख्यालये एकत्रित अभवत् ! प्रधानमंत्री: नरेंद्र मोदी: अपि अत्र अप्राप्तम् सः च् सम्बोधितमपि कृतवान !

बिहार में मिली जीत का भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने दिल्ली में भव्य जश्न मनाया ! कार्यकर्ताओं से लेकर पार्टी के शीर्ष नेता तक भाजपा मुख्यालय में जुटे ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी यहां पहुंचे और उन्होंने संबोधित भी किया !

पीएम मोदी: बिहारस्य जनानां तर्हि धन्यवादम् ज्ञापयतु एव सहैव अबदतु तत अंतम् किं देशस्य जनाः सम्प्रति भाजपाम् चिनोति ! ताः परिवारवादम् बर्धनम् दलेषु लक्ष्यम् अलक्ष्यत् सहैव देशस्य युवाभि: याचनाम् कृतं तत ते भाजपाया संलग्न्यत् देशस्य सेवां कुर्यातु !

पीएम मोदी ने बिहार की जनता का तो धन्यवाद किया ही, साथ ही बताया कि आखिर क्यों देश की जनता अब बीजेपी को ही चुन रही है ! उन्होंने परिवारवाद को बढ़ावा देने पार्टियों पर निशाना साधा साथ ही देश के युवाओं से अपील की कि वे भाजपा से जुड़ देश की सेवा करें !

पीएम मोदी: स्व सम्बोधने अकथयत् एकविंशतीनि सदियाः भारतस्य नागरिकम्,पुनः -पुनः स्व सन्देशम् स्पष्टम् कुर्वन्ति ! सम्प्रति सेवायाः अवसरम् तेनैव प्राप्यिष्यति, यत् देशस्य विकासस्य लक्ष्येन सह निष्ठावानेन कार्यम् करिष्यति !

पीएम मोदी ने अपने सम्बोधन में कहा 21वीं सदी के भारत के नागरिक, बार-बार अपना संदेश स्पष्ट कर रहे हैं ! अब सेवा का मौका उसी को मिलेगा, जो देश के विकास के लक्ष्य के साथ ईमानदारी से काम करेगा !

प्रत्येक राजनीतिक दलेन देशस्य जनानां इयमेव अपेक्षामस्ति तत देशाय कार्यम् कुर्यात्, देशस्य कार्येण सम्बंधम् धारयतु ! अद्य भाजपा एव देशस्य एकमात्र राष्ट्रीय दलमस्ति, यस्मिन् निर्धन पीड़ित,शोषित,वंचित इत्यानि स्व प्रतिनिधित्वम् पश्यन्ति !

हर राजनीतिक दल से देश के लोगों की यही अपेक्षा है कि देश के लिए काम करो, देश के काम से मतलब रखो ! आज भाजपा ही देश की एकमात्र राष्ट्रीय पार्टी है, जिसमें गरीब, दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित, अपना प्रतिनिधित्व देखते हैं !

अद्य भाजपा एव देशस्य एकमात्र राष्ट्रीय दलमस्ति, यत् समाजस्य प्रत्येक वर्गस्य आवश्यकतानि ज्ञायति, तेभ्यः कार्यम् करोति ! अद्य भाजपा एव एकमात्र दलमस्ति यत् राष्ट्रीय इच्छेभ्यः सहैव प्रत्येक क्षेत्रस्य गौरवमपि तैव गर्वेण सह स्व सह गृहित्वा चलति !

आज भाजपा ही देश की एकमात्र राष्ट्रीय पार्टी है, जो समाज के हर वर्ग की आवश्यकताओं को समझती है, उनके लिए काम कर रही है ! आज भाजपा ही एकमात्र पार्टी है जो राष्ट्रीय आकांक्षाओं के साथ ही हर क्षेत्र के गौरव को भी उतने ही गर्व के साथ अपने साथ लेकर चलती है !

देशस्य युवानि सर्वात् अधिकम् विश्वासम् कश्चिताषु अस्ति तर्हि तत भाजपास्ति ! दलितानां,पीड़ितानां,शोषितानां यदि कश्चित स्वरमस्ति,तर्हि तत भाजपास्ति ! अहम् बिहारस्य स्व भ्रातानि भागिन्या च् कथयिष्यामि, भवान् एकदा पुनः सिद्धम् कृतवान तत बिहार किं लोकतंत्रस्य भूमिम् कथ्यते !

देश के नौजवानों को सबसे ज्यादा भरोसा किसी पर है तो वो भाजपा है ! दलितों,पीड़ितों शोषितों की अगर कोई आवाज है, तो वो भाजपा है ! मैं बिहार के अपने भाइयों और बहनों से कहूंगा, आपने एक बार फिर सिद्ध किया है कि बिहार क्यों लोकतंत्र की जमीन कहा जाता है !

भवान् पुनः सिद्धम् कृतवान तत वास्तव,बिहार निवासिन् ज्ञानवानमपि सन्ति जागरूकमपि च् !देशस्य युवाभिः मम आह्वानमस्ति,ताः अग्रम् आगच्छतु भाजपाया: च् माध्यमेन देशस्य सेवायाम् संलग्न्यते ! स्व स्वप्नानि साकाराय,स्व संकल्पानि सिद्धाय,कमलं हस्ताषु गृहित्वा चलयतु !

आपने फिर सिद्ध किया है कि वाकई, बिहारवासी पारखी भी हैं और जागरूक भी ! देश के युवाओं से मेरा आह्वान है, वो आगे आएं और बीजेपी के माध्यम से देश की सेवा में जुट जाएं ! अपने सपनों को साकार करने के लिए, अपने संकल्पों को सिद्ध करने के लिए, कमल को हाथ में लेकर चल पड़ें !

दुर्भाग्येन कश्मीरात् कन्याकुमारी एव परिवार वादिन् दलानां जालम् लोकतंत्राय संकटम् निर्मयते ! इयम् देशस्य युवा पूर्ण रूपम् ज्ञायति ! कुटुंबानां दलानि परिवार वादिन् दलानि वा, लोकतंत्राय वृहद संकटम् सन्ति ! इदृशेषु भारतीय जनता दलस्य दायित्वम् अति बर्ध्यते !

दुर्भाग्य से कश्मीर से कन्याकुमारी तक परिवारवादी पार्टियों का जाल लोकतंत्र के लिए खतरा बनता जा रहा है ! ये देश का युवा भली – भांति जानता है ! परिवारों की पार्टियां या परिवारवादी पार्टियां, लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं ! ऐसे में भारतीय जनता पार्टी का दायित्व और बढ़ जाता है !

वयं स्व दले अभ्यांतरस्य लोकतंत्रम् सख्त निर्मयतु धारयते ! वयं स्व दलम् जीवंत लोकतंत्रस्य जीवंत उदाहरणम् निर्मीम् ! दलम् प्रत्येक कार्यकर्ताय प्रत्येक नागरिकाय अवसरानि एकम् उत्तम् स्थानम् अनिर्मयते ! भाजपाया: पार्श्व साइलेंट वोटर्स इत्यस्य एकम् वृहद समूहमस्ति यत् तेन पुनः-पुनः मतम् ददाति !

हमें अपनी पार्टी में भीतर के लोकतंत्र को मजबूत बनाएं रखना है ! हमें अपनी पार्टी को जीवंत लोकतंत्र का जीता-जागता उदाहरण बनाना है ! पार्टी हर कार्यकर्ता और हर नागरिक के लिए अवसरों का एक बेहतरीन मंच बने ! भाजपा के पास साइलेंट वोटर्स का एक बड़ा समूह है जो उसे बार-बार वोट दे रहा है !

अस्माकं देशस्य नार्याः, नारी शक्ति ममाय साइलेंट वोटर इत्यास्ति ! ग्रामीणात् नगरैव, नार्याः ममाय साइलेंट वोटर्स इत्यस्य सर्वात् वृहद समूहम् निर्मयते ! यदि अद्य भवान् मह्यं बिहारस्य निर्वाचन परिणामदा पृच्छष्यति तर्हि मम उत्तरमपि जनस्य जनादेशस्य इव स्वच्छमस्ति !

हमारे देश की महिलाएं, नारी शक्ति हमारे लिए साइलेंट वोटर है ! ग्रामीण से शहरी तक, महिलाएं हमारे लिए साइलेंट वोटर्स का सबसे बड़ा समूह बन गई हैं ! अगर आज आप मुझे बिहार के चुनाव नतीजों के बारे में पूछेंगे तो मेरा जवाब भी जनता के जनादेश की तरह साफ है !

बिहारे सर्वानां सहयोगम्-सर्वानां विकासम्, सर्वानां विश्वासस्य मन्त्रस्य विजयम् भव्यते !बिहारे विकासस्य कार्यानां विजयम् भव्यते ! बिहारे सद विजयति,विश्वासम् विजयति ! बिहारस्य युवा विजयति, मातरः-भगिन्या:- पुत्रिया: विजयन्ति ! बिहारस्य निर्धनम् विजयति,कृषकः विजयति !

बिहार में सबका साथ-सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र की जीत हुई है ! बिहार में विकास के कार्यों की जीत हुई है ! बिहार में सच जीता है, विश्वास जीता है ! बिहार का युवा जीता है, माताएं-बहनें-बेटियां जीती हैं ! बिहार का गरीब जीता है, किसान जीता है !

इयम् बिहारस्य इच्छानां विजयमस्ति, बिहारस्य गौरवस्य विजयमस्ति ! येन प्रकारेण वयं जनता कर्फ्यू इत्येन अद्यैव इति महामारियाः साम्नां कृतवान तः इति निर्वाचन परिणामेषु परिलक्षित अभवत् ! कोविड इत्येन अरक्षयत् प्रत्येक जीवनम् भारताय एकम् सफलतायाः गाथामस्ति !

ये बिहार की आकांक्षाओं की जीत है, बिहार के गौरव की जीत है ! जिस तरह से हमने जनता कर्फ्यू से आज तक इस महामारी का मुकाबला किया है वह इन चुनाव परिणामों में परिलक्षित हुआ है ! कोविड से बचाया गया हर जीवन भारत के लिए एक सफलता की कहानी है !

देशस्य केचन अंशेषु तानि लगति तत भाजपाया: कार्यकर्तानि मृत्युस्य घट्टम् अवतृत्वा ते स्व इच्छाम् पूर्णम् करिष्यते ! अहम् तै: सर्वै: आग्रह पूर्वकम् मान्यस्य प्रयासमपि कुर्यामि !

देश के कुछ हिस्सों में उनको लगता है कि भाजपा के कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार कर वे अपने मनसूबे पूरे कर लेंगे ! मैं उन सभी से आग्रह पूर्वक समझाने का प्रयास भी करता हूँ !

मह्यं चेतम् दास्य आवश्यकतां नास्ति, तत कार्यम् जनता-जनार्दन इति करिष्यति ! निर्वाचन आगच्छन्ति,गच्छन्ति ! जयस्य- पराजयस्य क्रीड़ा भव्यते ! कदायम् तिष्ठष्यति, कदा तत् तिष्ठष्यति ! तु इयम् मृत्युस्य क्रीड़ा लोकतन्त्रे कदापि न चरशक्नोति !

मुझे चेतावनी देने की जरूरत नहीं है, वो काम जनता-जर्नादन करेगी ! चुनाव आते हैं, जाते हैं ! जय-पराजय का खेल होता रहा है ! कभी ये बैठैगा, कभी वो बैठेगा ! लेकिन ये मौत का खेल लोकतंत्र में कभी नहीं चल सकता है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here