12.1 C
New Delhi

हाथरस प्रकरणम् – सीएम योगी: अबदत् कश्चितापि षड्यंत्रम् अमोघम् भवम् न दाष्यति, मॉरीशसात् अभवत् स्म धनागम ! हाथरस प्रकरण – सीएम योगी बोले किसी भी साजिश को सफल होने नहीं देंगे, मॉरीशस से हुई थी फंडिंग !

Date:

Share post:

वार्तास्य अनुरूपम् हाथरस घटनाया: अन्वेषण करोति प्रवर्तन निदेशालयस्य (ED) अन्वेषणे बद्यते तत मॉरीशसात् धनागम अक्रियते स्म प्रदेशम् च् कलहेषु प्रतारयस्य व्यवस्थायाम् असीत् !

खबरों के अनुसार हाथरस कांड की जांच कर रही प्रवर्तन निदेशालय (ED) की जांच में बताया जा रहा है कि मॉरिशस से फंडिंग की गई थी और प्रदेश को दंगों में झोंकने की तैयारी थी !

इतम् गृहित्वा प्रान्तस्य अग्रगामी प्रदेशस्य सीएम योगी आदित्यनाथ: सख्त शब्देषु चेतम् दीयत: अकथयत् तत प्रदेशस्य कश्चितापि षड्यंत्रम् अमोघम् भवम् न दाष्यते अस्य विरुद्धम् च् सख्त पगम् उद्तिष्ठयते ! मुख्यमंत्री: अकथयत् तत अहं कश्चितस्य आशाया सह कश्चितमपि आनन्दक्रीड़ा कृतस्य आज्ञाम् न दाष्यामि !

इसको लेकर सूबे के मुखिया प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा है कि प्रदेश में किसी भी साजिश को सफल होने नही दिया जाएगा और इसके खिलाफ कड़े कदम उठाए जायेंगे ! सीएम ने कहा कि हम किसी के भरोसे के साथ किसी को भी खिलवाड़ करने की इजाजत नहीं देंगे !

सीएम योगी: अकथयत् तत अहम् इदृशं जनेषु सख्तात् सख्त कार्यवाहिम् करिष्यामि, यत् समाजे विद्वेषम् उत्पन्न कृत्वा विकासम् अवरोधम् इच्छन्ति ! सम्प्रति उत्तर प्रदेश तीव्रेण अग्रम् बर्ध्यति ! स्वतंत्रताया: उपरांत केवलं द्वय एक्सप्रेसवे इति अनिर्मयते स्म, तु त्रय वर्षेषु त्रय नव एक्सप्रेसवे इति निर्मयति ! २०१४ तमेव उत्तर प्रदेशे केवलं द्वय एयरपोर्ट इति कार्यम् करोति स्म, सम्प्रति सप्त एयरपोर्ट इति कार्यम् करोति, द्वादश नव एयरपोर्ट इत्यस्य कार्यम् प्रारम्भयते !

सीएम योगी ने कहा कि हम ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करेंगे, जो समाज में विद्वेष पैदा करके विकास को रोकना चाहते हैं ! अब उत्तर प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है ! आजादी के बाद सिर्फ दो एक्सप्रेसवे बन पाया था, लेकिन तीन सालों में तीन नए एक्सप्रेसवे बन रहे हैं ! 2014 तक यूपी में सिर्फ दो एयरपोर्ट काम कर रहे थे, अब सात एयरपोर्ट काम कर रहे हैं, बारह नए एयरपोर्ट का काम शुरू हो गया है !

हाथरस प्रकरणे एकम् नव वार्ताम् उद्घट्य अभवत् स्म यदा सुरक्षा संस्थानां हस्तम् इति वार्तास्य साक्ष्यम् आगतवान स्म येषु कथ्यते तत हाथरसस्य घटनाया: प्रयोगम् कृत्वा उत्तर प्रदेशस्य मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ: सर्कारम् जातिगत आधारे गर्हित कृतस्य षड्यंत्रम् अरचयत् स्म !

हाथरस मामले में एक नया खुलासा हुआ था जब सुरक्षा एजेंसियों के हाथ इस बात के सबूत लगे थे जिसमें कहा जा रहा है कि हाथरस की घटना का इस्तेमाल करके उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार को जातिगत आधार पर बदनाम करने की साजिश रची गई थी !

इति कारणात् कलहम् उत्तेजनस्य अपि प्रयत्नम् अक्रियते स्म, इति प्रकरणस्य सम्मुखम् आगतस्य उपरांत सम्प्रति कथ्यते तत येन वेबसाइट इत्यस्य आधारम् गृहित्वा सम्पूर्ण प्रदेशे जातीय कलहम् प्रसारस्य प्रयत्नम् अक्रियते, तस्य धनागमस्य अन्वेषणम् प्रवर्तन निदेशालयम् करोति यस्मिन् इयम् वार्ताम् सम्मुखम् आगच्छति तत कलहम् उत्तेजनाय मॉरीशसात् धनागमम् अक्रियते !

इसी बहाने दंगे भड़काने की भी कोशिश की गई थी,इस मामले के सामने आने के बाद अब कहा जा रहा है कि जिस वेबसाइट का सहारा लेकर प्रदेश भर में जातीय दंगा फैलाने की कोशिश की गई, उसकी फंडिंग की जांच प्रवर्तन निदेशालय कर रहा है जिसमें ये बात सामने आ रही है कि दंगा भड़काने के लिए मॉरिशस से फंडिंग की गई है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया

मध्यप्रदेशे इस्लामनगरम् ३०८ वर्षाणि अनंतरम् पुनः कथिष्यते जगदीशपुरम् ! मध्यप्रदेश में इस्लाम नगर 308 साल बाद फिर से कहलाएगा जगदीशपुर !

मध्यप्रदेशस्य भोपालतः १४ महानल्वम् अंतरे एकं ग्रामम् इस्लामनगरमधुना जगदीशपुर नाम्ना ज्ञाष्यते ! केंद्र सर्वकार: ग्रामस्य नाम परिवर्तनस्याज्ञा दत्तवान्...