32.1 C
New Delhi

बिहारे भयातंकस्य च् द्वितीय नाम पप्पू यादव: ! बिहार में भय और आतंक का दूसरा नाम पप्पू यादव !

Date:

Share post:

पप्पू यादवस्य जन्म मधेपुरा जनपदे १९६७ तमे अभवत् स्म, १९९० तमे निर्दलीय विधायक: भूत्वागतवान् स्म ! पप्पू यादवस्य भय सीमांचले इयतासीत् तत जनाः तस्य नाम नयेणापि विभ्यति स्म ! हनन, अपहरण, समाघात, बूथ कैप्चरिंग, आर्म्स एक्ट यथा बहूनि प्रकरणानि पृथकेषु-पृथकेषु आरक्षिस्थानेषु पंजीकृतं अभवन् स्म !

पप्पू यादव का जन्म मधेपुरा जिले में 1967 में हुआ था, 1990 में निर्दलीय विधायक चुनकर आए थे ! पप्पू यादव का भय सीमांचल में इस कदर था कि लोग उनका नाम लेने से भी डरते थे, हत्या, किडनैपिंग, मारपीट, बूथ कैपचरिंग, आर्म्स एक्ट जैसे कई मामले अलग-अलग थानों में दर्ज हुए हैं !

तु पप्पू यादवम् एमसीपी इत्या: विधायक: अजीत सरकारस्य हनस्य प्रकरणे १७ वर्षाणि कारागारे रमितुं अभवत् ! अजीत सरकारस्य उदयतः पूर्ण पूर्णिया जनपदस्य पूँजीवादीनः सामंतिनः जनाः च् पीड़िता: आसन्, १४ जून १९९८ तमस्य सायं पूर्णिया नगरस्य अभ्यांतरम् भ्रमति स्म !

लेकिन पप्पू यादव को MCP के विधायक अजीत सरकार की हत्या के मामले में 17 साल जेल में रहना पड़ा ! अजीत सरकार के उदय से पूरे पूर्णिया जिले के पूंजीवादी और सामंती लोग परेशान थे, 14 जून 1998 की शाम को पूर्णिया शहर के अंदर घूम रहे थे !

कथ्यते तदा पप्पू यादवस्य गुंडका: तं परितः अवरुद्धयत् तस्मिन् च् सततं गुलिका घातम् अरभन्, मृत्युकारणपरीक्षण सूचनापत्रे ज्ञातम् अभवत् तत अजीत सरकारम् १०७ गुलिका अहनत् स्म ! अस्य हनन प्रकरणस्यानंतरम् अजीत सरकारस्य पुत्र अमित सरकार: प्राण संकटम् ज्ञापन् ऑस्ट्रिया वसितुं अरभत् !

कहा जाता हैं तभी पप्पू यादव के गुंडों ने उन्हें घेर लिया और उनपर लगातार फायरिंग शुरू कर दी, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि अजीत सरकार को 107 गोलियां मारी गई थी ! इस हत्याकांड के बाद अजीत सरकार के बेटे अमित सरकार जान का खतरा बताते हुए आस्ट्रिया में रहने लगे !

पप्पू यादवे आनंद मोहने चपि सदैव भवति वर्चस्वस्य रणम्, एकदा विधानसभा पंचदा च् लोकसभा गतवान् पप्पू यादव: ! द्वितीय घटना पूर्णियायाः भांगड़ायां अभवत् स्म, अत्रापि बहवः जनाः हतवन्तः स्म ! यद्यपि तत काळम् द्वौ वर्चस्व रणम् रणतः स्म !

पप्पू यादव और आनंद मोहन में भी अक्सर होती थी वर्चस्व की लड़ाई, एक बार विधानसभा और 5 बार लोकसभा गए पप्पू यादव ! दूसरी घटना पूर्णिया के भांगड़ा में हुई थी, यहां भी कई लोग मारे गए थे, हालांकि उस वक्त दोनों वर्चस्व की लड़ाई लड़ते थे !

पप्पू यादव: स्व यादव समाजम् एकत्रितुं मतस्य राजनीति करोति स्म तु आनंद मोहन: अगड़ी जात्या: नेतु: रूपे प्रसिद्ध: भवति स्म ! बिहारस्य जनाः इदृशमेव द्वादशानि अन्यानि हननानि प्रति मूकजिह्वायासु वार्ता कुर्वन्ति, तेषां आरोपम् पप्पू यादवे तस्मात् च् संलग्ना: जनेषु ज्ञाप्यन्ते !

पप्पू यादव अपने यादव समाज को एकजुट करने के लिए वोट की राजनीति कर रहे थे तो आनंद मोहन अगड़ी जाति के नेता के रूप में उभर रहे थे ! बिहार के लोग ऐसे ही दर्जनों और हत्याओं के बारे में दबी जुबान में बात करते हैं, उनका आरोप पप्पू यादव और उनसे जुड़े लोगों पर बताया जाता हैं !

0

तस्य समाजस्य केचन युवका: एकः बगुला भगत नौटँकी बाज नेतारम् तस्य कृष्णकृत्यानि रक्तरंजितेतिहासम् विस्मृत्य महिमामंडने दिवारात्रि एके कृतवन्तः, यः द्वादशानि मातु: रिक्त कुक्षि:, भगिनी: रिक्त मंगलचिह्नानि, स्व आदर:-मान:, लज्जा, अपमानतः कश्चितार्थम् न, यः सर्वे उत्थाय निर्लज्जतायापिबत् !

उनके समाज के कुछ युवक एक बगुला भगत नौटंकी बाज नेता को उसके काले करतूतों और खून से रंगे इतिहास को भूलकर महिमा मंडन में रात-दिन एक किए हुए हैं, जिसने दर्जनों माँ की उजड़ी कोख, बहनों की सूनी मांगों, अपनी इज्जत-अस्मत, लाज-शर्म, अपमान से कोई वास्ता नहीं, जो सब उठाकर बेशर्मी से पी गया है !

९० दशकस्य तानि भयावह दिवसानि विस्मृतवान्, यदा कोशी-पूर्णिया प्रमंडले यस्य निरंकुश गुंडककार्यस्य कारणम् मातु:-भगिन्याः मान:, गृहम्, कृषिक्षेत्रम् शस्यानि अलुंठन्, बसयानै:-धूमयानै: निर्दोषान् कर्षित्वा जाति पृष्ट्वाताडयन्, पंडानां-पुरोहितानां ष्ठीवतः तिलकानि विमर्दवन्तः, यज्ञोपवीतानि कर्तवन्तः ?

90 दशक के उन खौफनाक दिनों को भूल गए, जब कोशी-पूर्णिया प्रमंडल में इसके बेलगाम गुंडागर्दी के कारण माँ-बहनो की इज्जत, घर, खेत-खलिहान और फसलें लूटी गईं, बसों-ट्रेनों से निर्दोषों को खींच कर जाति पूछकर पीटा गया, पंडों-पुरोहितों के थूक से टीके मिटाए गए, जनेऊ काटें गए ?

अस्य कथित ख्रीस्तस्य अन्याय भोक्ता: सर्वाणि जात्या:-धर्मस्य जनाः आसन्, तु यस्य हननस्य अपमानस्य बहवः लक्ष्य सवर्णा: आसन्, याः अद्य निर्लज्जताया यस्य सर्वाणि कृष्णकृत्यान् विस्मृतवन्तः ? एकदा पप्पू यादव: जेट एयरवेज इत्या: फ्लाइट इत्या पटनातः देहली आगच्छति स्म !

इस कथित मसीहा के अन्याय भोगने वाले सभी जाति-धर्म के लोग थे, पर इनके कत्ल और अपमान के ज्यादातर शिकार सवर्ण थे, जो आज बेहयाई से इसके सभी काले कारनामों को भूल गए हैं ? एक बार पप्पू यादव जेट एयरवेज की फ्लाइट से पटना से दिल्ली आ रहे थे !

अस्मिनेव काळम् एयरहोस्टेस तेनावश्यकी सुरक्षा नियमानि पालितुं अकथयत्, यस्मिन् खिन्न: पप्पू यादव: तया पदत्राणतः ताडनस्य भर्त्सकः दत्तवान् ! बहु इदृशमेव घटना: सन्ति यत् भवतम् वार्तापत्रे न ळब्धिष्यते केवलं अत्रस्य वासिन् जनाः ज्ञायन्ति, केचन च् इदृशमेव घटनापि अस्ति अत्र यत् लिखितुं उचित: न परिलक्ष्यति !

इसी दौरान एयरहोस्टेस ने उन्हें जरूरी सुरक्षा नियमों को पालन करने के लिए कहा, इस पर भड़के पप्पू यादव ने उन्हें चप्पल से पीटने की धमकी दी ! बहुत सी ऐसी घटनाएं हैं जो आपको अखबार में नहीं मिलेगा सिर्फ यहां के लोकल लोग जानते हैं, और कुछ ऐसी घटनाएं भी है यहां जो लिखना उचित नहीं लग रहा है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रोहिंग्या-मुस्लिम्-जनाः ५००० हिन्दु-बौद्धानां गृहाणि दग्धवन्तः, तेषां दृष्टेः पुरतः सर्वं लुण्ठितवन्तः ! रोहिंग्या मुस्लिमों ने 5000 हिंदुओं-बौद्धों के घर जलाए, आँखों के सामने सब कुछ...

म्यान्मार्-देशस्य राखैन्-राज्ये सैन्य-नेतृत्वस्य जुण्टा-जातीय-विद्रोहि-समूहयोः मध्ये सङ्घर्षाः तीव्रतां प्राप्य साम्प्रदायिक-हिंसा प्रारब्धा। तत्र अस्य तनावस्य कारणात्, रोहिंज्या-जनाः हिन्दूनां बौद्धानां च...

धर्मपरिवर्तनं कारित्वा त्वया एव विवाहं करिष्यामि-मुस्लिम युवकः जुनैद: ! धर्म परिवर्तन कराकर तुमसे ही करेंगे निकाह-मुस्लिम युवक जुनैद !

उत्तरप्रदेशस्य अलीगढ-मण्डले, मुस्लिम्-युवकाः परीक्षार्थं उपस्थितां हिन्दु-बालिकाम् अनुधावन्, तां मार्गे चालयितुं प्रयतन्ते स्म। न केवलं, अभियुक्तः अपि पीडितस्य गृहं...

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...