रवि किशनः जया बच्चनम् अददात् उत्तरम्, किं अभवत् इति प्रकरणस्य राजनीतिकरणम् ! रवि किशन ने जया बच्चन को दिया उत्तर, क्यों हो गया इस मुद्दे का राजनीतिकरण !

0
232

साभार टाइम्स नाऊ !

सुशांत सिंह राजपूत: प्रकरणे अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थानस्य फोरेंसिक उत्तरस्य आगमनस्य सम्भावनाम् शुक्रवासरेव अस्ति ! तु तस्मात् पूर्व ड्रग्स बॉलीवुड च् सम्बन्धे विवादम् तीव्र अभवत् ! इयम् अकथयत् तत सम्प्रति इयम् प्रकरण राजनीतियुक्तम् भव्यते तर्हि असाधु न भविष्यति !

सुशांत सिंह राजपूत केस में एम्स के फोरेंसिक रिपोर्ट के आने की संभावना शुक्रवार तक है ! लेकिन उससे पहले ड्रग्स और बॉलीवुड कनेक्शन पर तकरार तेज हो गई है ! यह कहें कि अब यह मामला सियासी हो चला है तो गलत न होगा !

केचन जनानाम् कथनमस्ति तत इयम् प्रकरण तम् स्थितेव राजनीतियुक्त न भवति यदि रवि किशन: जया बच्चनया: च् सम्बन्ध राजनीतेन न भवति तु द्वयो सांसद चित्रपट संसारेण च् सम्बंधितास्ति तर्हि विवाद अवश्यसम्भावी अस्ति !


कुछ लोगों का कहना है कि यह मुद्दा उस हद तक सियासी न होता अगर रवि किशन और जया बच्चन का जुड़ाव राजनीति से न होता ! लेकिन दोनों सांसद और फिल्म जगत से जुड़े हैं तो टकराव लाजिमी है

येन स्थालिके खादन्ति तस्मिन् कुर्वन्ति छिद्रे
कलहम् !


जिस थाली में खाते हैं उसी में करते हैं छेद पर विवाद !

येन स्थालिके खादन्ति तस्मिन् छिद्रम् कुर्वन्ति, इयम् कथनम् सम्प्रति पूर्ण रूपेण कलहस्य केंद्रे अस्ति ! एतत सर्वस्य मध्य रवि किशन: अकथयत् तत सः तर्हि उम्मीदमासीत् तत जया महोदया तेन सह स्थितम् भविष्यति ! तु यदि इदृशं नापि अस्ति तर्हि अपि तस्य युद्धम् निरन्तर्ष्यति, साधु वार्ता इयमस्ति तत इति विषये देशस्य जनाः तेन सहास्ति !

जिस थाली में खाते हैं उसी में छेद करते हैं, यह बयान अब पूरी तरह से विवाद के केंद्र में है ! इन सबके बीच रवि किशन ने कहा कि उन्हें तो उम्मीद थी कि जया जी उनके साथ खड़ी होंगी। लेकिन यदि ऐसा नहीं भी है तो भी उनकी लड़ाई जारी रहेगी, अच्छी बात यह है कि इस विषय पर देश की जनता उनके साथ है !

रवि किशनः कथयति तत तस्य ज्ञानस्य बाह्य अस्ति तत जना: इति प्रकरणे राजनीतिम् किं कुर्वन्ति ! प्रकरण केवलं इयमस्ति तत स्व युवानां ड्रग्स इत्यस्य जालेन कीदृशं अरक्षयते ! देशम् कीदृशं इति प्रकारस्य जालेन अरक्षयते !

रवि किशन कहते हैं कि यह उनकी समझ के बाहर है कि लोग इस मुद्दे पर राजनीति क्यों कर रहे हैं ! मुद्दा सिर्फ यह है कि अपने युवाओं को ड्रग्स की जाल से कैसे बचाया जाए, देश को कैसे इस तरह के जाल से बचाया जाए !

यत् तेन अपृच्छयत् तत बॉलीवुडस्य २५०० जनाः कथ्यन्ति तत केवलं चित्रपट संस्थानम् कलंकित कृतस्य षड्यंत्रम् क्रियते ! इति प्रश्नस्य उत्तरे सः अकथयत् तत समाजवादी दलस्य एका सांसद एतस्य राजनीतिकरणं कृतवान ! वस्तुतः भाजपास्य एकम् सांसदेन प्रत्येन प्रश्नम् अक्रियते, अतएव एतानि राजनीति रूपम् अदीयते !

जब उनसे पूछा गया कि बॉलीवुड के 2500 लोग कह रहे हैं कि सिर्फ फिल्म इंडस्ट्री को बदनाम करने की साजिश की जा रही है ! इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की एक सांसद ने इसका राजनीतिककरण कर दिया ! दरअसल बीजेपी के एक सांसद की तरफ से सवाल किया गया, लिहाजा इसे राजनीतिक रंग दे दिया गया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here