ईसाई इत्यानां लव जिहाद इदृशं, हिंदू बालिकाम् ४ मासानां अभ्यांतरम् आशीषतः द्वयदा कर्तुं भविता पाणिग्रहणम् पुनः अपि न धर्म रक्षिता, न ळब्धा कुटुंबम् ! ईसाइयों का लव जिहाद ऐसे, हिंदू लड़की को 4 महीने के भीतर आशीष से 2 बार करनी पड़ी शादी, फिर भी न धर्म बचा, न मिला परिवार !

0
426

त्वत् वयं गृहस्य वधु न मान्याम: ! त्वम् यदैव ईसाई न भविष्यसि त्वया वयं यस्य गृहस्य वधु न मान्यिष्यामः ! इदं कथानकमस्ति आभा मिरे इत्या: ! आभा छत्तीसगढ़स्य बिलासपुरस्य वासिनास्ति ! लव जिहादस्य पीड़ितास्ति ! बिलासपुरस्येव आशीष पात्रे हिंदू भूत्वा तस्या: संपर्के आगतवान !

तुझे हम लोग घर की बहू नहीं मानते हैं ! तू जब तक ईसाई नहीं बनेगी तुझे हम इस घर की बहू नहीं मानेंगे ! यह कहानी है आभा मिरे की ! आभा छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली है ! लव जिहाद की पीड़िता है ! बिलासपुर का ही आशीष पात्रे हिंदू बनकर उसके संपर्क में आया !

मंदिरे पाणिग्रहणम् कृतवान ! पुनः बलाताभायाः धर्म परिवर्तनम् कारितवान ! चर्चे पुनः पाणिग्रहण कृतः, तु यस्मातपि आभाम् ताडनम् कर्तुं न विरमितवान ! अद्य सा १० मासानां बालिकाया सह स्वपितुः गृहे न्यवसति ! रणति यस्मिनाशायां ततैकं दिवसं विधि तया न्यायं दाष्यति !

मंदिर में शादी की ! फिर जबरन आभा का धर्म परिवर्तन करवाया ! चर्च में दोबारा शादी की, लेकिन इससे भी आभा को टॉर्चर किया जाना नहीं रुका ! आज वह 10 महीने की बच्ची के साथ अपने पिता के घर में रह रही है ! लड़ रही है इस उम्मीद में कि एक दिन कानून उसे न्याय देगा !

तु छत्तीसगढ़ारक्षकः तस्या: कथानकेण धर्मांतरणस्य तस्या: नामनि प्रताड़नायाः च् अंशमेव गोपितं कृतः ! येन योगेशम् इति याचनस्य सामान्याभियोगम् कृतवान ! आभायाः दृढ़कथनमस्ति तत यस्मिन् प्रकरणे अपि आरोपिसु अधुनैव कश्चित कार्यवाहिम् नाभवत् !

लेकिन छत्तीसगढ़ पुलिस ने उसकी कहानी से धर्मांतरण और उसके नाम पर प्रताड़ना का चैप्टर ही गायब कर दिया है ! इसे दहेज माँगने का सामान्य केस बना दिया है ! आभा का दावा है कि इस मामले में भी आरोपितों पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है !

आभा ऑप इंडिया इतम् ज्ञापितवती आशीष: फेसबुक इत्या मम संपर्के आगतवान ! अहम् हिंदू अस्मि ! तमपि स्वयं हिंदू ज्ञापित: आसीत् ! १३ फरवरी २०१९ तमम् रायपुरस्य बैजनाथपारा स्थितं आर्य समाज मंदिरे अस्माकं हिंदू परंपरानां अनुसारं पाणिग्रहणाभवत् ! पाणिग्रहणानंतरमहं स्व श्वसुराळं गतवती !

आभा ने ऑपइंडिया को बताया आशीष फेसबुक के जरिए मेरे संपर्क में आया ! मैं हिंदू हूँ ! उसने भी खुद को हिंदू बताया था ! 13 फरवरी 2019 को रायपुर के बैजनाथपारा स्थित आर्य समाज मंदिर में हमारी हिंदू परंपराओं के अनुसार शादी हुई ! शादी के बाद मैं अपने ससुराल चली गई !

तत्र गत्वा मयानुभूता तत मम श्वसुरलकाः ईसाई अभवन् ! पुनः ईसाई भूताय ते मया प्रताड़ितुं आरंभिष्यते ! प्रथमदा आर्य समाज मंदिरं द्वितीयदा च् चर्चे अभवत् पाणिग्रहणस्य चित्राणि चलचित्राणि च् ऑपइंडिया इत्या: पार्श्वोपलब्धानि सन्ति ! आभायाः बलात् धर्मपरिवर्तनम् कृतवान !

वहाँ जाकर मुझे पता चला कि मेरे ससुराल वाले ईसाई बन चुके हैं ! फिर ईसाई बनने के लिए वे मुझे प्रताड़ित करने लगे ! पहली बार आर्य समाज मंदिर और दूसरी बार चर्च में हुई शादी की तस्वीरें और वीडियो ऑपइंडिया के पास उपलब्ध हैं ! आभा का जबर्दस्ती धर्म परिवर्तन किया गया !

चर्चे आशीषेण सह तस्या: पुनः पाणिग्रहणमपि कारितवान ! तु यस्यानंतरमपि श्वसुरलका: तया प्रताड़ितं कर्तुमवरुध्दम् न कृतवान ! आभा ऑप इंडिया इतम् ज्ञापिता धर्मपरिवर्तनस्यानंतरम् मया चर्चगन्तुं ताडिते स्म ! दुर्वचनम् ददाते स्म ! मया पितराभ्यां पणम् याचित्वानीतुं कथ्यते स्म !

चर्च में आशीष के साथ उसकी दुबारा शादी भी करवाई गई ! लेकिन इसके बाद भी ससुराल वालों ने उसे प्रताड़ित करना बंद नहीं किया ! आभा ने ऑपइंडिया को बताया धर्म परिवर्तन करने के बाद मुझे चर्च जाने के लिए मारा-पीटा जाता था ! गाली दी जाती थी ! मुझे माँ-बाप से पैसे माँगकर लाने के लिए कहा जाता था !

मयातः ८ लक्ष रूप्यकस्य याचना क्रियते स्म, सा कथ्यति, मया सह इमानि अतएवाभवत् कुत्रचितहम् हिंदू अस्मि ! आभा बिलासपुरस्य आईजी इत्यां सिविल लाइन आरक्षिस्थाने च् २२ दिसंबर २०२१ तममेकमावेदनम् दत्तवती स्म ! यस्मिन् स्वस्य धर्मांतरणम् प्रताड़नाम् प्रति विस्तारेण ज्ञापितवती !

मेरे से 8 लाख रुपए की डिमांड की जा रही थी, वह कहती है, मेरे साथ ये सब इसलिए हुआ क्योंकि मैं हिंदू हूँ ! आभा ने बिलासपुर के आईजी और सिविल लाइन थाने में 22 दिसंबर 2021 को एक आवेदन दिया था ! इसमें खुद के धर्मांतरण और प्रताड़ना के बारे में विस्तार से बताया है !

यस्यानुरूपमार्य समाज मंदिरे पाणिग्रहणस्य एकं सप्ताहानंतरम् २६ फरवरी २०१९ तमम् तस्या: श्वास विमला पात्रे तया कथिता त्वया वयं गृहस्य बधु न मान्यामः ! त्वम् यदैव ईसाई धर्मम् न स्वीकरिष्यति त्वया वयं गृहस्य बधु न मान्यिष्यामः !

इसके मुताबिक आर्य समाज मंदिर में शादी के एक सप्ताह बाद 26 फरवरी 2019 को उसकी सास विमला पात्रे ने उससे कहा तुझे हम लोग घर की बहू नहीं मानते हैं ! तू जब तक ईसाई धर्म नहीं अपनाएगी तुझे हम घर की बहू नहीं मानेंगे !

आभायाः अनुसारम् यस्यानंतरम् परिवर्तनाय तस्याम् श्वसुर: लक्ष्मण दास पात्रे, श्वास, भर्ता नानंदा: च् भारं भारिष्यन्ते ! तया सह समाघातस्य क्रियते स्म ! तया दुर्वचनानि ददाते स्म ! २०१९ तमस्य २३ मार्चम् तया बलात् निपनिया नामकस्थाने नीतवान !

आभा के अनुसार इसके बाद धर्म परिवर्तन के लिए उस पर ससुर लक्ष्मण दास पात्रे, सास, पति और ननदें दबाव डालने लगीं ! उसके साथ मारपीट की जाती थी ! उसे गालियाँ दी जाती थी ! 2019 के 23 मार्च को उसे जबर्दस्ती निपनिया नामक जगह पर ले जाया गया !

तत्र सुनील डेविड: नाम्न: एकस्य पास्टरस्य गृहे तया त्रीणि दिवसानि एव बंधनं कृत्वा धृतवान ! तया बलात् ईसाइयततः संलग्नम् प्रार्थना कारिते स्म ! तस्या: इच्छाम् विनैव निपनियायाः गॉड फॉरगिवनेस चर्चे तस्या: बपतिस्मा कारितवान !

वहाँ सुनील डेविड नाम के एक पास्टर के घर में उसे तीन दिनों तक बंधक बनाकर रखा गया ! उससे जबर्दस्ती ईसाइयत से जुड़ी प्रार्थना करवाई जाती थी ! उसकी मर्जी के बगैर ही निपनिया के गॉड्स फॉरगिवनेस चर्च में उसका बपतिस्मा कराया गया !

यस्यानंतरम् १५ मई २०१९ तमम् जरहाभाठायाः ओमनगर स्थितं आईपीसी चर्चे तस्या: आशीषेण सह पुनः पाणिग्रहण कारितवान ! आभायाः अनुसारं येषां अनंतरमपि यदा प्रताड़नाम् नावरुद्धं अभवत् तदा सा २०२० तमे पितृगृहे आगतवती ! जनवरी २०२१ तमे आशीष: एकदा पुनः तया कपटे नीतवान !

इसके बाद 15 मई 2019 को जरहाभाठा के ओमनगर स्थित आईपीसी चर्च में उसकी आशीष के साथ दोबारा शादी करवाई गई ! आभा के अनुसार इन सबके बाद भी जब प्रताड़ना बंद नहीं हुई तो वह 2020 में अपने मायके आ गई ! जनवरी 2021 में आशीष ने एक बार फिर उसे अपने झाँसे में लिया !

येन सह यत् केचनाभवत् तस्मै क्षमा यचिष्यति शीघ्रं इव च् गृहनयस्य दृढ़कथनम् कृतवान ! इति काळम् तया सह शारीरिकसंबंध क्रियेत् ! मार्च २०२१ तमे यदाभायाः गर्भवती भूतस्य ज्ञानमभवत् तर्हि तं पुनः तटे कृतवान ! आभायाः अनुसारमाशीष: कथित: अहम् त्वत् शिशो: पिता नास्मि !

उसके साथ जो कुछ हुआ उसके लिए माफी माँगी और जल्द ही घर ले जाने का वादा किया ! इस दौरान उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए ! मार्च 2021 में जब आभा के गर्भवती होने का पता चला तो उसने फिर से पल्ला झाड़ लिया ! आभा के अनुसार आशीष ने कहा मैं तेरे बच्चे का पिता नहीं हूँ !

अहम् तर्हि त्वत् पूर्वमेवात्यजम् ! आभायाः दृढ़कथनं अस्ति तताशीषस्य केचनान्यै: बालिकाभिः संबंधम् अस्ति ! तं अनंतरे महिलारक्षिस्थाने ११ जून २०२२ तममपि एकं अपवादम् दत्तमासीत्, यस्याधारे योगेश प्रकरणस्य प्राथमिकी पंजीकृतमस्ति ! आभाया आरक्षकाधिकारिनः दत्तन् सर्वानां आवेदनानां प्राथमिक्यां च् कॉपी ऑपइंडिया इत्या: पार्श्व सन्ति !

मैं तो तुझे पहले ही छोड़ चुका हूँ ! आभा का दावा है कि आशीष के कुछ और लड़कियों से भी संबंध है ! उसने बाद में महिला थाना में 11 जून 2022 को भी एक शिकायत दी थी, जिसके आधार पर दहेज मामले की एफआईआर दर्ज की गई है ! आभा द्वारा पुलिस अधिकारियों को दिए गए सभी आवेदनों और एफआईआर की कॉपी ऑपइंडिया के पास हैं !

तां ऑपइंडिया इत्या कथिता, अहम् स्वकथानकं विश्वमतएव ज्ञापितुं इच्छामि तत हिंदू बालिका: सतर्कं रमन्तु ! तेन ज्ञातुं अभवत् तत ता कस्मिन् संकटे जीवति ! तया लक्ष्यितुं कीदृशमेव कुचक्रानि भवति ! अहम् शिक्षिता भूत्वापि मूर्खमभवत् !

उसने ऑपइंडिया से कहा, मैं अपनी कहानी दुनिया को इसलिए बताना चाहती हूँ कि हिंदू लड़कियाँ सतर्क रहें ! उन्हें पता चले कि वे किस खतरे में जी रही हैं ! उन्हें शिकार बनाने के लिए कैसी साजिशें हो रही हैं ! मैं पढ़ी-लिखी होकर भी बेवकूफ बन गई !

आगतं दिवसानि इदृशानि संमुखमागतुं रमन्ति यदा मुस्लिम बालका: स्वपरिचयं गोपित्वा हिंदू बालिका: लक्ष्यम् कुर्वन्ति ! छत्तीसगढ़े ईसाई अपि इदृशम् कुर्वन्ति ! तै: सह सरलता इदृशमपि अस्ति तत धर्म परिवर्तनस्योपरांत बहूनां नाम हिंदवः यथा सन्ति ! तै: अनाधिकृत परिचयं रचस्यावश्यकतां न भवन्ति !

आए दिन ऐसे मामले सामने आते रहते हैं जब मुस्लिम लड़के अपनी पहचान छिपाकर हिंदू लड़कियों को टारगेट करते हैं ! छत्तीसगढ़ में ईसाई भी ऐसा कर रहे हैं ! उनके साथ सहूलियत यह भी है कि धर्म परिवर्तन के बावजूद ज्यादातर के नाम हिंदुओं जैसे हैं ! उन्हें अपनी फर्जी पहचान गढ़ने की जरूरत नहीं होती है !

यथा तताभा ज्ञापयति, सा सौभाग्यशालिमस्ति तत इदृशे काले अपि पितरौ तस्या: सहाय्यं न त्यजितौ ! तु अहम् ज्ञायामि तत इदृशमेव बहवः आभा सन्ति यस्या: कथानकं सूटकेस इत्यां शवस्य रूपे अवरुद्धं लब्धन्ति पुनः वा सा प्रताड़ना: अधो विरुदयन्ति ! ताभिः कदापि स्वरम् न लब्धन्ति ! आभा इच्छति तत तस्या: स्वरम् भवान् एव प्राप्तवान !

जैसा कि आभा बताती है, वह सौभाग्यशाली है कि ऐसे समय में भी माँ-बाप ने उसका साथ नहीं छोड़ा ! लेकिन हम जानते हैं कि ऐसी बहुत सारी आभा हैं जिनकी कहानी किसी सूटकेस में लाश के रूप में बंद मिलती हैं या फिर वह प्रताड़नाओं तले सिसकती रहती हैं ! उन्हें कभी आवाज नहीं मिलती है ! आभा चाहती है कि उसकी आवाज आप तक पहुँचे !

साभार ऑपइंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here