12.1 C
New Delhi

चिनेन भूमिम् अधिगृहीतस्य विरुद्धम् नयपाले जनाः मार्गे अवतरयत्, अकरोत् उद्घोषम् ! चीन द्वारा जमीन हथियाने के खिलाफ नेपाल में लोग सड़क पर उतरे, की नारेबाजी !

Date:

Share post:

कथ्यन्ति तत सर्पस्य कतिमपि दुग्धम् पिब्यते अवसर प्राप्ते तत् दंशयति ! अस्य अर्थम् इयमस्ति तत सर्प स्व व्यवहारम् न त्यक्तति ! नयपाल इति कालम् चिनस्य सखा निर्मित अभवत् ! तु चिन स्वैव सखास्य पृष्ठे चिनम् खंजरं घोंपयति !

कहते हैं कि सांप को कितना भी दूध पिलाओ मौका पाने पर वो डस लेता है ! इसका अर्थ यह है कि सांप अपनी रंगत को नहीं छोड़ता ! नेपाल इस समय चीन का यार बना हुआ है ! लेकिन चीन अपने ही यार की पीठ में चीन छूरा भोंक रहा है !

नयपालस्य भूमे चिन पूर्व लोभयुक्त दृष्टै: पश्यति स्म ! तु सम्प्रति तर्हि इयम् स्थाई प्रासादम् निर्मियित्वा स्व वास्तविक रूपे आगच्छति ! तु चिनस्य इति कार्यवाहिम् विरोधे जनाः कठमांडुस्य मार्गे न केवलं अवतरति अपितु चिनी दूतावासस्य परिबंधम् कृतवान गो चाइना इत्यस्य उद्घोषम् उद्घोषयत् !

नेपाल की जमीन पर चीन पहले ललचाई नजरों से देखता था ! लेकिन अब तो वो स्थाई बिल्डिंग बनाकर अपनी सही रंगत में आ रहा है ! लेकिन चीन की इस कार्रवाई के विरोध में लोग काठमांडू की सड़क पर न केवल उतरे बल्कि चीनी दूतावास का घेराव किया और गो चाइना के नारे लगाए !

नयपालस्य हुमला प्रान्तरे चिनम् तकरीबन ९ प्रासादानि निर्मयते, चिनी दूतावासस्य बाह्य बहु संख्यायाम् प्रदर्शनकारिम् एकत्र भवित्वा गो बैक चाइना इत्यस्य उद्घोषम् उद्घोषयत् ! प्रदर्शनकारीनां हस्तेषू यत् चित्रमसीत्, तस्मिन् चिन पुनरगच्छतस्य उद्घोषम् लिखितवान स्म, येन सहैव विरोधम् कृतानि नयपालस्य भूमे अतिक्रमण निरोधस्य याचनाम् कृतवान !

नेपाल के हुमला इलाके में चीन ने करीब 9 इमारतें बना चुका है, जिसका विरोध नेपाली नागरिक कर रहे हैं ! चीनी दूतावास के बाहर बड़ी संख्‍या में प्रदर्शनकारी जमा होकर गो बैक चाइना के नारे लगाए ! प्रदर्शनकारियों के हाथों में जो बैनर थे उस पर चीन वापस जाओ के नारे लिखे थे, इसके साथ ही विरोध करने वालों ने नेपाल की जमीन पर अतिक्रमण बंद करने की मांग की !

नयपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली: एकम्प्रति चिनेन सह स्व संबंधानि अत्यधिकसख्तम् निर्मितमिच्छति तत्रैव द्वितीयम्प्रति चिनम् नयपालस्य भूमे अधिगृह्यते ! चिनस्य अधिकृत प्रवेशस्य चित्राणि प्रस्सरित भवस्य उपरांत ओली सरकारे भारं बर्धयति इति सम्बन्धे च् चिनी विदेश मंत्रालयम् ज्ञानमपि अददात् !

नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली एक तरफ चीन के साथ अपने रिश्ते को और मजबूत बनाना चाहते हैं वहीं दूसरी तरफ चीन नेपाल की जमीन पर कब्जा कर रहा है ! चीन के घुसपैठ की तस्वीरें वायरल होने के बाद ओली सरकार पर दबाव बढ़ गया है और इस संबंध में चीनी विदेश मंत्रालय को जानकारी भी दी गई है !

एक सूचनास्य अनुरूपम् हुमलास्य सहायक मुख्य जनपद अधिकारिम् स्थानीय मीडिया सूचनां आधारे ३० अगस्त तः ९ सितंम्बर एव हुमलास्य लापचा-लिपू क्षेत्रस्य निरिक्षणम् कृतवान ! इति कालम् सः नयपाली भूमे चिनस्य निर्मितम् ९ प्रासादानि अवलोकयते !

एक रिपोर्ट के मुताबिक हुमला के सहायक मुख्य जिला अधिकारी ने स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के आधार पर 30 अगस्त से 9 सितंबर तक हुमला के लापचा-लिपू क्षेत्र का निरीक्षण किया ! इस दौरान उन्हें नेपाली जमीन पर चीन के बने हुए 9 बिल्डिंग्स दिखाई दिए !

हुमला जनपदस्य लापचा-लिपू क्षेत्र मुख्यालयात् द्रुत भवस्य कारणम् सदैव विकासस्य किरणै: उपेक्षितं भवति ! नयपालं इति क्षेत्रे कश्चितमपि प्रकारस्य बुनियादी ढाँचास्य निर्माणम् न कृतवान ! जनानां आरोपम् अस्ति तत अधिकारिम् इति क्षेत्रस्य कदापि भ्रमणमपि न कुर्वन्ति ! चिनम् इति वार्तास्य ज्ञानम् वर्षेन आसीत् अवसर प्राप्तैव चिनम् नयपाली भूमिम् अधिक्रियते !

हुमला जिले का लापचा-लिपू क्षेत्र मुख्यालय से दूर होने के कारण हमेशा से विकास की किरणों से उपेक्षित रहा है ! नेपाल ने इस क्षेत्र में किसी भी प्रकार के बुनियादी ढांचे का निर्माण नहीं किया है ! लोगों का आरोप है कि अधिकारी इस क्षेत्र का कभी दौरा भी नहीं करते हैं ! चीन को इस बात की जानकारी सालों से थी और मौका पाते ही चीन ने नेपाली जमीन को हथिया लिया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया

मध्यप्रदेशे इस्लामनगरम् ३०८ वर्षाणि अनंतरम् पुनः कथिष्यते जगदीशपुरम् ! मध्यप्रदेश में इस्लाम नगर 308 साल बाद फिर से कहलाएगा जगदीशपुर !

मध्यप्रदेशस्य भोपालतः १४ महानल्वम् अंतरे एकं ग्रामम् इस्लामनगरमधुना जगदीशपुर नाम्ना ज्ञाष्यते ! केंद्र सर्वकार: ग्रामस्य नाम परिवर्तनस्याज्ञा दत्तवान्...