ये स्वयं कांग्रेसस्येति अवस्थायाः जिम्मेवारम् सन्ति तैव कांग्रेसस्येति अवस्थायां दुखिता: सन्ति ! इदमेव वास्तविकतामस्ति कपिल सिब्बल महोदयः ! जो खुद कांग्रेस की इस हालत के जिम्मेदार हैं वही आज कांग्रेस की इस हालत पर दुखी हैं ! यही वास्तविकता है कपिल सिब्बल जी !

0
262

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल: कथित: ततास्माकं दले कश्चिताध्यक्ष: नास्ति अतएव मया न ज्ञातम् ततेमानि निर्णयम् कः नयति ! वयं ज्ञायाम: पुनरपि च् वयं न ज्ञाता: ! एकम् सीमावर्ती राज्यं (पंजाब) यत्त कांग्रेस दलेण सहेदृशं भवति !

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा है कि हमारी पार्टी में कोई अध्यक्ष नहीं है इसलिए हमें नहीं पता कि ये निर्णय कौन ले रहा है ! हम जानते हैं और फिर भी हम नहीं जानते ! एक सीमावर्ती राज्य (पंजाब) जहां कांग्रेस पार्टी के साथ ऐसा हो रहा है !

यस्य किमर्थमस्ति ? इदम् आईएसआई इत्याय पकिस्तानाय चैकम् लाभमस्ति ! वयं पंजाबस्य इतिहासस्य तत्रोग्रवादस्य चोदये ज्ञायाम: ! कांग्रेसम् इदम् सुनिश्चितम् करणीयम् तत तैकात्रितं रमितानि !

इसका क्या मतलब है ? यह ISI और पाकिस्तान के लिए एक फायदा है ! हम पंजाब के इतिहास और वहां उग्रवाद के उदय को जानते हैं ! कांग्रेस को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे एकजुट रहें !

सः कथित: तताहं भवद्भिः (मीडिया) तान् कांग्रेसिन् प्रत्येन बदामि यै: पूर्ववर्षमगस्ते पत्रम् अलिखन् स्म सीडब्ल्यूसी च् निर्वाचनसमित्या केंद्रीयाध्यक्षस्य पदस्य निर्वाचनस्य संबंधे अस्माकं नेतृत्वेण कृता कार्यवाह्या: प्रतीक्षाम् कुर्वन्ति !

उन्होंने कहा कि मैं आपसे (मीडिया) उन कांग्रेसियों की ओर से बोल रहा हूँ जिन्होंने पिछले साल अगस्त में पत्र लिखा था और CWC और चुनाव समिति से केंद्रीय अध्यक्ष के पद के चुनाव के संबंध में हमारे नेतृत्व द्वारा की जाने वाली कार्रवाई की प्रतीक्षा कर रहे हैं !

मम मान्यतमस्ति तत मम एकः वरिष्ठ सहयोगी कांग्रेसाध्यक्षम् त्वरितं कांग्रेस वर्किंग समूहस्य गोष्ठिमाहुतायालिखत् लेखक: अस्ति वा कुत्रचित वार्तालापम् भवितुम् शक्नुत: तत वयं इति स्थित्यां किमस्ति !

मेरा मानना है कि मेरे एक वरिष्ठ सहयोगी ने कांग्रेस अध्यक्ष को तुरंत कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाने के लिए लिखा है या लिखने वाले हैं ताकि बातचीत हो सके कि हम इस स्थिति में क्यों हैं !

सिब्बल: कथित: वयं (जी २३ इतस्य नेता) ते न सन्ति ये दळम् त्यक्त्वान्यत्रम् गमिष्याम: ! इदम् परिहासमस्ति ! ये तं (दलीय नेतृत्व) निकषासीत्, ते गता: यै: च् ते स्वम् निकषा न मानितानि, ते अधुना अपि तेन सह स्थिता: सन्ति !

सिब्बल ने कहा कि हम (जी 23 के नेता) वे नहीं हैं जो पार्टी छोड़कर कहीं और जाएंगे ! यह विडंबना है ! जो उनके (पार्टी नेतृत्व) करीब थे, वे चले गए और जिन्हें वे अपने करीब नहीं मानते, वे अब भी उनके साथ खड़े हैं !

देशस्य प्रत्येक कांग्रेसिम् विचारणीयम् तत दळम् कीदृशं दृढ़ कर्तुम् शक्नुते ! ये गता: ताः पुनरागता: कुत्रचित कांग्रेसमेव इति गणतंत्रं रक्षितुम् शक्नोति ! कांग्रेस नेता कथित; तत वयं जी महोदयः २३ नास्ति ! इदम् बहु स्पष्टमस्ति ! वयं वार्ता कर्तुम् रमिष्याम: ! वयं स्व याचनान् पुनरावृत्ति कर्तुम् धृताष्यामः !

देश के हर कांग्रेसी को सोचना चाहिए कि पार्टी को कैसे मजबूत किया जा सकता है ! जो जा चुके हैं वो वापस आएं क्योंकि कांग्रेस ही इस गणतंत्र को बचा सकती है ! कांग्रेस नेता ने कहा कि हम जी हुजूर 23 नहीं हैं ! यह बहुत स्पष्ट है ! हम बात करते रहेंगे ! हम अपनी मांगों को दोहराना जारी रखेंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here