हिन्दू भावनात् PETA इत्यस्य उपेक्षा कदा पर्यन्तम् ? लेदर फ्री कैंपेन ! हिंदू भावनाओं से PETA का खिलवाड़ कब तक ? लेदर फ्री कैंपेन !

0
278

पशु अधिकारनाम् वार्ता करोतीति अंतरराष्ट्रीय संस्था PETA रक्षाबन्धने विवादित साग्रह प्रार्थना कृतवान ! PETA गो: नाम गृहीत्वा, लेदर फ्री रक्षाबंधन कैंपेन अचालयत् ! एतेषाम् अस्य सम्पूर्ण कैम्पेनसि मंशैव प्रश्नम् उद्तिष्ठत् ! PETA इते हिन्दू भावनानाम् विघट्टनस्य प्रत्यारोप लगति ! सहैव प्रश्नम् इदानिमपि प्रश्नम्यापि उद्तिष्ठत् ! अन्ते गो: रक्षिताति पोस्टरे PETA रक्षाबंधन किं अलिखत् ? इदम् जानीतुमपि रक्षाबन्धन चर्ममस्य च् प्रयोगस्य मध्य अस्य उत्सवे कोपि सम्बंधम् न स्तः ! अपितु PETA इत्यस्य अयम् कैंपेन किं ?

पशु अधिकारों की बात करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था PETA ने रक्षाबंधन पर विवादित अपील की है ! PETA ने गाय का नाम लेकर, लेदर फ्री रक्षाबंधन कैंपेन चलाया है ! ऐसे में इस पूरे कैंपेन की मंशा पर ही सवाल उठ रहे हैं ! PETA पर हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लग रहा है ! वहीं सवाल ये भी पूछे जा रहे हैं कि आखिर गाय को बचाने वाले पोस्टर पर PETA ने रक्षाबंधन क्यों लिखा ? ये जानते हुए भी कि रक्षाबंधन और चमड़े के इस्तेमाल के बीच इस त्योहार में कोई संबंध नहीं है ! फिर भी PETA का ये कैंपेन क्यों ?

अहमदाबाद,भोपाल,चंडीगढ़,पुणेषु पोस्टर इति अलागयत् ! अस्य कैंपेन गृहीत्वा PETA अलोचनापि उपभुजति ! प्रत्येक पेटा भारतेन इदम् प्रश्नम् पृच्छतु,अन्ते रक्षाबन्धने चर्मस्य प्रयोगम् कुत्र भवति ! इसकानपि पेटा इते प्रश्नम् उत्थायत् हिन्दू भावनानाम् विघट्टनस्य प्रत्यारोप अलागयत् च् ! जनाः तर्हि अयमेव अपृच्छतु ईद बकरीदे इदानीं प्रश्न किं न उत्थायतु ?

अहमदाबाद, भोपाल, चंडीगढ़, पुणे में बोर्ड लगाए गए हैं ! इस कैंपेन को लेकर PETA को आलोचना भी झेलनी पड़ रही है ! हर कोई पेटा इंडिया से यही सवाल पूछ रहा है, कि आखिर रक्षाबंधन में लेदर का उपयोग कहां होता है ! इस्कॉन ने भी पेटा पर सवाल उठाए हैं और हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है ! लोगों ने तो यहां तक पूंछ लिया है ईद व बकरीद पर ऐसे प्रश्न क्यों नहीं उठाते ?

PETA किं अस्ति ?

PETA क्या है ?

पीपुल फ़ॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स
PETA एकः अंतरराष्ट्रीय संस्था अस्ति ! अस्य स्थापना 22 मार्च ,1980 अभवत् आसीत् ! अमेरिकास्य वर्जिनिये PETA इत्यस्य मुख्यालयम् अस्ति ! वर्ष 2000 तमे मुम्बईम् PETA भारतस्य स्थापना अभवत् ! अयम् संस्था पशवाः अधिकारेभ्यः कार्यम् करोति ! PETA विश्वानाम् सर्वात् वृहद पशवः अधिकार संगठनम् अस्ति सम्पूर्ण विश्वे अस्य 60 लक्षात् बहु सदस्याणि सन्ति !

पीपुल फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स
PETA एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है ! इसकी स्थापना 22 मार्च, 1980 को हुई थी ! अमेरिका के वर्जीनिया में PETA का मुख्यालय है ! साल 2000 में मुंबई में PETA इंडिया की स्थापना हुई ! ये संस्था पशु अधिकारों के लिए काम करती है ! PETA विश्व का सबसे बड़ा पशु अधिकार संगठन है और पूरी दुनिया में इसके 60 लाख से ज्यादा सदस्य हैं !

किं केवलं हिन्दू भावनानाम् आहत कृतस्य उद्देश्यम् !

क्या केवल हिन्दू भावनाओं को आहत करने का उद्देश्य !

इदानीं कति अवसरम् आगतवान्, यदा अयम् संगठन विवादेषु उपभुजत् तस्य गतिविधिनाम् शंकस्य अक्ष्येण अपश्यत् ! 2015 तमे तमिलनाडे हस्तीनाम् यात्रास्य विरोधम् ! 2017 तमे तमिलनाडुस्य जल्लिकुट्टुस्य विरोधम् ! 2017 तमे धार्मिक कार्येषु हस्तीनाम् प्रयोगस्य विरोधम् ! 2017 तमे नागपंचमे नागानां पूजसि विरोधम् ! निपात तर्हि अभवत् यद् 2018 तमे जन्माष्टमे गो: दुग्धस्य शाकाहारी घृतस्य न खादतस्य साग्रह प्रार्थना कृत्वा बहु वृहद विवाद उत्पन्नम् अकरोत् आसीत् !

ऐसे कई मौके आए हैं, जब यह संगठन विवादों में पड़ा और उसकी गतिविधियों को शक की नजरों से देखा गया है ! 2015 में तमिलनाडु में हाथियों की परेड का विरोध ! 2017 में तमिलनाडु के जल्लीकट्टू का विरोध ! 2017 में धार्मिक कार्यों में हाथियों के इस्तेमाल का विरोध ! 2017 में नागपंचमी पर नागों की पूजा का विरोध ! हद तो तब हो गयी जब 2018 में जन्माष्टमी पर गाय के दूध के शाकाहारी घी को न खाने की अपील करके बहुत बड़ा विवाद पैदा कर दिया था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here