योगी आदित्यनाथस्य नेतृत्वे विकसितम् भवति उत्तर प्रदेशम्, आत्मनिर्भर भारत निर्माणे प्राप्यत् वृहद सफलताम् ! योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में विकसित होता उत्तर प्रदेश, आत्मनिर्भर भारत निर्माण में मिली बड़ी सफलता !

0
190

वाणिज्य उद्योग मंत्रालय वा शानिवासरम् राज्यानाम् संघ शासित प्रदेशानां च् विपणन सरलतां (ईज ऑफ डूइंग) स्तरम् प्रस्तूयते ! इतिदा आंध्र प्रदेशम् एकदा पुनः प्रथम स्थानम् लब्धवान !

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय शनिवार को राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता (ईज ऑफ डूइंग) रैंकिंग जारी कर दी है ! इस बार आंध्र प्रदेश ने एक बार फिर पहला स्थान हासिल किया है !

उत्तर प्रदेश इति अनुक्रमणिके वृहद अक्रुर्दयत्, सरलम् च् द्वादशानि क्रमांकात् द्वयो क्रमांक अप्राप्यत्, अर्थतः सरलम् १० अंकानां अक्रुर्दयत् ! वस्तुतः वर्तमानस्य मासेषु योगी सर्कारम् श्रम विधिभि: गृहित्वा विपणन सम्बन्धितम् विधिषु बहु प्रकारस्य सकारात्मक परिवर्तिते ! तस्य च् प्रभावमस्ति तत यू पी इतिअनुक्रमणिके द्वितीय स्थानम् लब्धवान !

उत्तर प्रदेश इस लिस्ट में बड़ी छलांग लगाई है, और सीधे 12वें नंबर से दूसरा नंबर हासिल किया है, यानि सीधे 10 अंकों की छलांग लगाई है ! दरअसल हाल के महीनों में योगी सरकार ने श्रम कानूनों से लेकर कारोबार संबंधी कानूनों में कई तरह के सकारात्मक बदलाव किए हैं, और उसी का असर है कि यू पी ने इस लिस्ट में दूसरा स्थान हासिल किया है !

वित्त मंत्री अकरोत् राज्यानां प्रशंसाम् !

वित्त मंत्री ने की राज्यों की तारीफ !

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इति अवसरे अकथयत्, केचन राज्याणि कार्ययोजनाम् एकेन सह स्थितं सुधारम् च् सुनिश्चित कृताय असाधारणम् उर्जाम् परिलक्ष्यते ! राज्यानि राज्य विपणन सुधार कार्य योजनास्य पश्चस्य सत भावनाम् गृहीतवान ! वित्त मंत्री अज्ञापयत् तत इयम् स्तरस्य चतुर्थ संस्करणम् अस्ति, येन वर्ष २०१९ इत्याय प्रस्तुतवान, इति अवसरे केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी: वाणिज्य उद्योग मंत्री वा पीयूष गोयल: चापि उपस्थिता: स्म !

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस अवसर पर कहा, कुछ राज्यों ने एक्शन प्लान को एक साथ रखने और सुधार सुनिश्चित करने के लिए असाधारण ऊर्जा दिखाई है ! राज्यों ने राज्य व्यापार सुधार कार्य योजना के पीछे की सच्ची भावना को अपनाया है ! वित्त मंत्री ने बताया कि ये रैंकिंग का चौथा संस्करण है, जिसे साल 2019 के लिए जारी किया गया ! इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वाणिज्य व उद्योग मंत्री पीयूष गोयल भी मौजूद थे !

उत्तर प्रदेशस्य मुख्यमंत्री व्यक्तवान प्रसन्नताम् !

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जताई खुशी !

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथः प्रसन्नताम् व्यक्तम् ट्वीत कृत अकथयत्, पी एम श्री नरेंद्र मोदिस्य आत्मनिर्भर भारतस्य संकल्पनाम् साकार कृतं हेतु यू पी सर्कारम् सततं प्रयत्नशीलमस्ति ! उत्तर प्रदेशेन ईज ऑफ डूइंग बिजनेस स्तरे गत वर्षम् द्वादशानि स्थानस्य सापेक्ष, इति वर्षम् द्वितीय स्थानम् प्राप्तकृतं, अस्य प्रत्यक्ष प्रमाणमस्ति ! सर्वाणि प्रदेशवासानि शुभाशयः !

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुशी जताते हुए ट्वीट कर कहा, पी एम श्री नरेंद्र मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना को साकार करने हेतु यू पी सरकार सतत प्रयासरत है ! उत्तर प्रदेश द्वारा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में गत वर्ष 12वें स्थान के सापेक्ष, इस वर्ष द्वितीय स्थान प्राप्त करना, इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है ! सभी प्रदेशवासियों को बधाई !

भाजपा प्रदेश अध्यक्षमपि अददात् शुभाषयानि !

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने भी दी शुभकामनाएं !

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह: ट्वीत कृतं अकथयत् तत ईज ऑफ डूइंग वणिज्यस्य विषये उत्तर प्रदेशस्य दशम् स्थानम् उपरि आगत्वा स्तरम् द्वादशात् द्वये प्राप्तवान माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथस्य नेतृत्वे प्रदेश सरकारेन क्रियते व्यापक प्रयासानां एव परिणाममस्ति ! प्रदेश सरकार सर्वाणि प्रदेशवासानि वा शुभाशयः !

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि ईज ऑफ डूइंग बिज़नेस के विषय में उत्तर प्रदेश का दस स्थान ऊपर आकर रैंक 12 से 2 पर पहुँचना माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा किए गए व्यापक प्रयासों का ही परिणाम है ! प्रदेश सरकार एवं समस्त प्रदेशवासियों को बधाई !

पूर्वदा द्वादशानि क्रमांके स्म यू पी !

पिछली बार 12वें नंबर पर था यू पी !

इति अनुक्रमणिके आंध्र प्रदेश प्रथम स्थाने अस्ति, उत्तर प्रदेश द्वितीय स्थाने अस्ति ! २०१७ – २०१८ तमे उत्तर प्रदेशस्य स्तरम् द्वादशानि आसीत् ! तत्रैव तेलंगाना तृतीय, मध्य प्रदेश चतुर्थ, झारखण्ड पंचम्, छत्तीसगढ़ षष्ठम्, हिमाचल प्रदेश सप्तम् राजस्थान नवम् स्थानेषु सन्ति ! इति सम्पूर्ण प्रक्रियास्य अभिप्राय राज्यानां मध्य प्रतिस्पर्धाम् वृद्ध्यते गृहम् वैश्विक निवेशकानि वा आकर्षणाय विपणन स्थितिम् शुद्धम् कृतमस्ति !

इस लिस्ट में आंध्र प्रदेश पहले स्थान पर है, उत्तर प्रदेश दूसरे नंबर पर है ! 2017-18 में यूपी की रैंकिग 12वीं थी ! वहीं तेलंगाना तीसरे, मध्य प्रदेश चौथे, झारखंड पांचवे, छत्तीसगढ़ छठे, हिमाचल प्रदेश सातवें और राजस्थान 9वें नंबर पर है ! इस पूरी प्रक्रिया का मकसद राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा को बढ़ाना और घरेलू तथा वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कारोबारी माहौल को सुधारना है !

इति आधारे भवन्ति स्तरम् !

इस आधार पर होती है रैंकिग !

राज्यानि स्तरम् बहु मानकानि यथा निर्माण आज्ञाम्, श्रम नियमनम्, पर्यावरण पंजिकरणं, सूचनैव प्राप्तम्, भूमिस्य उपलब्धता एकल वातायनम् प्रण्ल्या: आधारे प्रदत्तयति ! वणिज्य सुधार कार्यवाहि योजनास्य अनुरूपम् उद्योग आंतरिक वाणिज्य संवर्द्धन विभागम् (डी पी आई आई टी) वा सर्वाणि राज्यानि संघ शासित प्रदेशेभ्यः इति प्रक्रियाम् पूर्णम् कुर्वन्ति ! पूर्व स्तरम् जुलाई, २०१८ तमे प्रस्तुतवान !

राज्यों को रैंकिंग कई मानकों मसलन निर्माण परमिट, श्रम नियमन, पर्यावरण पंजीकरण, सूचना तक पहुंच, जमीन की उपलब्धता तथा एकल खिड़की प्रणाली के आधार पर दी जाती है ! कारोबार सुधार कार्रवाई योजना के तहत उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (डी पी आई आई टी) सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के लिए इस प्रकिया को पूरा करता है ! पिछली रैंकिंग जुलाई, 2018 में जारी हुई थी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here