कांग्रेसेन ट्रैक्टर इति दग्धे भयंकरम्, कृषकः तर्हि इदृशं न कृतशक्नोति – राजनाथ सिंह: ! कांग्रेस द्वारा ट्रैक्टर जलाने पर घमासान,किसान तो ऐसा नहीं कर सकता – राजनाथ सिंह !

0
171

देशे मुख्य विपक्षी दलम् कांग्रेसम् इति कालम् केंद्र सरकारे प्रहारकमस्ति ! कांग्रेसस्य पार्श्व कृषि विधेयकम् कारणमस्ति, यस्य विरोधे पंजाबात् प्रत्येक दिवसं चित्राणि आगच्छन्ति ! तु द्वय दीवसम् पूर्वम् इंडिया गेट इत्येन एकम् चित्रम् आगतवान यस्मिन् केचन जनाः ट्रैक्टर इतम् दग्धत: अदर्क्ष्यत् !

देश में मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस इस समय केंद्र सरकार पर हमलावर है ! कांग्रेस के पास किसान बिल वजह है, जिसके विरोध में पंजाब से हर रोज तस्वीरें आती हैं ! लेकिन दो दिन पहले इंडिया गेट से एक तस्वीर आई जिसमें कुछ लोग ट्रैक्टर को जलाते हुए नजर आए !

सम्प्रति तत् ट्रैक्टर राजनीतिस्य केंद्रे ! पीएम मोदी: उत्तराखण्डम् सौगातम् ददाति स्म तर्हि सैनानि सैनेषु कांग्रेसे लक्ष्यम् लक्ष्यत: अकथयत् तत भारतीय संस्कृतियाम् तर्हि कृषकः कृषि उपकरणानां पूजनम् करोति ! न्यूनात्न्यूनम् तम् दग्ध्यति न ! सम्प्रति रक्षामंत्री राजनाथ सिंह: अपि कांग्रेसे लक्ष्यम् लक्ष्यति !

अब वो ट्रैक्टर सियासत के केंद्र में है ! पीएम मोदी जब उत्तराखंड को सौगात दे रहे थे तो इशारों इशारों में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में तो किसान कृषि औजारों की पूजा करते हैं ! कम से कम उसे जलाते नहीं ! अब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कांग्रेस पर निशाना साधा है !

राजनाथ सिंह: कृषि विधेयकम् गृहित्वा दग्ध्यते ट्रैक्टर इति उल्लेखम् कृतः अकथयत् तत येन प्रकारम् एकः सैनिक: स्व अस्त्रणाम् सम्मानम् करोति ! तम् प्रकारम् एकः कृषकः स्व ट्रैक्टर इति कृषि उपकरणस्य च् सम्मानम् करोति !

राजनाथ सिंह ने कृषि कानून को लेकर जलाए गए ट्रैक्टर उल्लेख करते हुए कहा कि जिस तरह एक सैनिक अपने हथियारों का सम्मान करता है ! उसी तरह एक किसान अपने ट्रैक्टर और कृषि उपकरण का सम्मान करता है !

कश्चितापि कृषकः ट्रैक्टर इति दग्धस्य आज्ञाम् न दाष्यति ! इयम् एकम् राजनीतिक दलम् स्व लाभाय अकरोत् ! सः अकथयत् तत लोकतन्त्रे विरोधस्य अधिकारम् प्रत्येकमस्ति तु इयम् तर्हि पश्यष्यति तत विरोधस्य नामे वयं कुत्रैव लक्ष्मण रेखाम् उलंघ्य तर्हि न रहति !

कोई भी किसान ट्रैक्टर जलाने की अनुमति नहीं देगा ! यह एक राजनीतिक दल ने अपने लाभ के लिए किया है ! उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विरोध का अधिकार हर एक को है लेकिन यह तो देखना होगा कि विरोध के नाम पर हम कहीं लक्ष्मण रेखा को लांघ तो नहीं रहे हैं !

का द्वयदा अदग्धते ट्रैक्टर ? इयम् कांग्रेसस्य किं नाटकमस्ति ?

क्या दो बार जलाया गया ट्रैक्टर ? यह कांग्रेस का कौन सा ड्रामा है ?

कृषि विधेयकस्य विरुद्धम् २० सितंम्बर इतम् हरियाणाया: अंबालायाम् कांग्रेसम् प्रदर्शनम् अकरोत् स्म ! तम् कालम् एकम् ट्रैक्टर इतम् अग्निया: असमर्पयते ! तु कांग्रेसस्य विरोधीनां आरोपमस्ति तत तेनैव ट्रैक्टर इतम् हस्तिनापुरम् नीत्वा इंडिया गेट इते अग्निया: असमर्पयते ! आरक्षकम् तम् अभियोगे पंच जनानि बन्दीम् कृतवान स्म !

कृषि कानून के खिलाफ 20 सितंबर को हरियाणा के अंबाला में कांग्रेस ने प्रदर्शन किया था ! उस दौरान एक ट्रैक्टर को विरोध में आग के हवाले किया गया ! लेकिन कांग्रेस के विरोधियों का आरोप है कि उसी ट्रैक्टर को दिल्ली लाकर इंडिया गेट पर आग के हवाले कर दिया गया ! पुलिस ने उस केस में पांच लोगों को गिरफ्तार किया था !

कांग्रेसस्य कथनमस्ति तत कृषि विधेयकै: सर्वात् वॄहद ताडनम् लघु कृषकेषु पतिष्यति ! इयम् एकेन प्रकारेण भारतम् भृत्य निर्माणस्य दिशायाम् एकम् पगमस्ति वस्तुतः यदा कांग्रेसेन प्रश्नम् क्रियते तत का सः स्व राज्येषु कृषि विधेयकेषु परिवर्तनं करिष्यति तर्हि तस्य उत्तरम् स्वच्छम् न भवति !

कांग्रेस का कहना है कि कृषि कानूनों से सबसे बड़ी मार छोटे किसानों पर पड़ेगी ! यह एक तरह से भारत को गुलाम बनाने की दिशा में एक कदम है हालांकि जब कांग्रेस से सवाल किया जाता है कि क्या वो अपने राज्यों में कृषि कानूनों में बदलाव करेगी तो उसका जवाब साफ नहीं होता है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here