32.1 C
New Delhi

अजमेर ९२ चलचित्रतः खिन्न: जात: जमीयत कृतवान् चलचित्रे प्रतिबंधस्य याचना ! अजमेर 92 फिल्म से भड़के जमीयत ने की फिल्म पर बैन की माँग !

Date:

Share post:

सत्य घटनासु आधृतं द कश्मीर द केरला स्टोरी च् चलचित्रयो साफल्यस्यानंतरम् अजमेर ९२ चलचित्रं १४ जुलै, २०२३ तमम् चलचित्रगृहेषु प्रस्तुतं भवितुं गच्छति ! अस्मिन् मध्य जमीयत उलेमा-ए-हिंद अजमेर ९२ चलचित्रे प्रतिबंधस्य याचना कृतरस्ति !

सच्ची घटनाओं पर आधारित द कश्मीर फाइल्स और द केरला स्टोरी फिल्म की सफलता के बाद अजमेर 92 फिल्म 14 जुलाई, 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है ! इस बीच जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने अजमेर 92 फिल्म पर बैन लगाने की माँग की है !

जमीयत उलेमा-ए-हिंदस्यानुसारम्, इदम् चलचित्रं दरगाह अजमेरम् दुर्नामस्योद्देश्येण निर्मितमस्ति, यस्मिन् तत्क्षण प्रतिबंध करणीय: ! जमीयतस्य प्रमुख: महमूद मदनी अकथयत्, आपराधिक घटना: धर्मतः संलग्नस्य अपेक्षा यस्य विरुद्धम् एकत्रितं कार्यवहनस्य आवश्यकतामस्ति !

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अनुसार, यह फिल्म दरगाह अजमेर को बदनाम करने के उद्देश्य से बनाई गई है, इस पर तत्काल प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए ! जमीयत के प्रमुख मौलाना महमूद मदनी ने कहा, आपराधिक घटनाओं को मजहब से जोड़ने की बजाए इसके खिलाफ एकजुट कार्रवाई करने की जरूरत है !

वर्तमानकाले समाजम् विभज्यस्य कारणम् अंवेषयन्ति, इदम् चलचित्रम् समाजे परिखा उत्पादिष्यति ! मदनिण: अनुरूपं, अजमेरे यस्य ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्तिण: दरगाह इत्यास्ति, तेन हिंदू-मुस्लिम एकतायाः प्रतीकं लक्षान् जनान् च् हृदयेषु राजकर्ता शांतिदूत कथ्यते !

वर्तमान समय में समाज को विभाजित के बहाने खोजे जा रहे हैं, यह फिल्म समाज में दरार पैदा करेगी ! मदनी के मुताबिक, अजमेर में जिस ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह है, उसे हिंदू-मुस्लिम एकता का प्रतीक और लाखों लोगों के दिलों पर राज करने वाला शांतिदूत कहा जाता है !

याः तस्य व्यक्तित्वस्यापमानम् कृतवन्तः अपमानितस्य च् प्रयत्न: कृतवन्तः, ते स्वयं अपमानिताः अभवन् ! मौलाना मदनी अकथयत् तत वर्तमानकाले समाजं विभज्यस्य कारणम् अंवेषयन्ति ! आपराधिक घटना: धर्मत: संलग्नाय चलचित्राणि सोशल मीडिया इत्ययो चाश्रये नयत: !

जिन लोगों ने उनके व्यक्तित्व का अपमान किया या अपमानित करने की कोशिश की, वे खुद अपमानित हुए हैं ! मौलाना मदनी ने कहा कि वर्तमान समय में समाज को विभाजित के बहाने खोजे जा रहे हैं ! आपराधिक घटनाओं को मजहब से जोड़ने के लिए फिल्मों और सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है !

यत् निश्चितरूपेण निराशापूर्णमस्ति ! इदम् अस्माकं संयुक्त धरोहरं क्षति दाष्यति ! मौलाना मदनी अग्रमुवाच, अजमेरस्य घटनायाः यत् रूपं ज्ञाप्यते, तत् पूर्ण समाजाय बहु एव पीड़ादायक: अस्ति ! यस्य विरुद्धम् विना कश्चित धर्मस्य संप्रदायस्य सामूहिक कार्यवहनस्यावश्यकता अस्ति !

जो निश्चित रूप से निराशाजनक है ! यह हमारी साझा विरासत नुकसान पहुँचाएगा ! मौलाना मदनी ने आगे कहा, अजमेर की घटना का जो रूप बताया जा रहा है, वह पूरे समाज के लिए बहुत ही पीड़ादायक है ! इसके विरुद्ध बिना किसी धर्म और संप्रदाय के सामूहिक कार्रवाई करने की आवश्यकता है !

तु अस्माकं समाजमस्य दुःखद घटनाम् सांप्रदायिक वर्ण दत्वा यस्य गम्भीर्यताम् न्यूनस्य प्रयास: क्रियते ! अहम् केंद्र सर्वकारतः अस्मिन् चलचित्रे प्रतिबंधस्य याचना कुर्यामि ! ज्ञापयतु तत अजमेर ९२ चलचित्रम् ३० वर्षाणि पूर्वम् राजस्थानस्य अजमेरे भवत् सत्यघटनायां आधृतं अस्ति !

लेकिन हमारे समाज को इस दुखद घटना को सांप्रदायिक रंग देकर इसकी गंभीरता को कम करने का प्रयास किया जा रहा है ! मैं केंद्र सरकार से इस फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की माँग करता हूँ ! बता दें कि अजमेर 92 फिल्म 30 साल पहले राजस्थान के अजमेर में हुई सच्ची घटना पर आधारित है !

तत काळम् शतानां बालिकानां न केवलं नग्न चलचित्राणि निःसृतानि स्म, अपितु तया सह दुष्कर्मापि कृतवान्, यस्यानंतरम् बहवः बालिका: आत्मह्न कृतवंती: स्म ! येषु देशस्य बहूनां प्रसिद्ध: धनिकानां पुत्री: अपि सम्मिलिता: आसन् !

उस वक्त सैकड़ों लड़कियों (100 से भी ज्यादा) की ना सिर्फ न्यूड फोटोज निकाली गई थीं, बल्कि उनके साथ दुष्कर्म भी किया गया, इसके बाद कई लड़कियों ने आत्महत्या कर ली थी ! इनमें देश के कई नामचीन रसूखदारों की बेटियाँ भी शामिल थीं !

पुष्पेंद्र सिंहस्य निर्देशने निर्मितं चलचित्रं अजमेर ९२ इत्यां जरीना वहाब, सयाजी शिंदे, मनोज जोशी राजेश शर्मा च् मुख्य भूमिकायां सन्ति ! अस्य चलचित्रं उमेश तिवारी प्रोड्यूस कृतवान् !

पुष्पेन्द्र सिंह के डायरेक्शन में बनने वाली फिल्म अजमेर 92 में जरीना वहाब, सयाजी शिंदे, मनोज जोशी और राजेश शर्मा मुख्य भूमिका में हैं ! इस फिल्म को उमेश कुमार तिवारी ने प्रोड्यूस किया है !

साभार ऑप इंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रोहिंग्या-मुस्लिम्-जनाः ५००० हिन्दु-बौद्धानां गृहाणि दग्धवन्तः, तेषां दृष्टेः पुरतः सर्वं लुण्ठितवन्तः ! रोहिंग्या मुस्लिमों ने 5000 हिंदुओं-बौद्धों के घर जलाए, आँखों के सामने सब कुछ...

म्यान्मार्-देशस्य राखैन्-राज्ये सैन्य-नेतृत्वस्य जुण्टा-जातीय-विद्रोहि-समूहयोः मध्ये सङ्घर्षाः तीव्रतां प्राप्य साम्प्रदायिक-हिंसा प्रारब्धा। तत्र अस्य तनावस्य कारणात्, रोहिंज्या-जनाः हिन्दूनां बौद्धानां च...

धर्मपरिवर्तनं कारित्वा त्वया एव विवाहं करिष्यामि-मुस्लिम युवकः जुनैद: ! धर्म परिवर्तन कराकर तुमसे ही करेंगे निकाह-मुस्लिम युवक जुनैद !

उत्तरप्रदेशस्य अलीगढ-मण्डले, मुस्लिम्-युवकाः परीक्षार्थं उपस्थितां हिन्दु-बालिकाम् अनुधावन्, तां मार्गे चालयितुं प्रयतन्ते स्म। न केवलं, अभियुक्तः अपि पीडितस्य गृहं...

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...