12.1 C
New Delhi

मन्दिरस्य पूजारीम् जीवितं दग्धस्य प्रयत्नम्, इयमस्ति कांग्रेस सरकारं ! मंदिर के पुजारी को जिंदा जलाने की कोशिश, यह है कांग्रेस सरकार !

Date:

Share post:

साभारम् टाइम्स नाउ :-

कांग्रेस सरकारेन शासितं प्रदेशेषु साधूनां हननम् भवति पुनः च् पुजारीणां ! प्रथम घटनाम् यस्मिन् साधूनां हननम् अभवत् तः मुम्बईस्य पालघरे द्वितीय घटनाम् सम्प्रति राजस्थानस्य करौली इत्येन आगतवान ! अत्रैव केचन बाहुबलनि एकम् मन्दिरस्य पुजारीयाम् पेट्रोल इति प्रक्षालित्वा तानि जीवितं दग्धस्य प्रयत्नम् अकरोत् !

कांग्रेस सरकार द्वारा शासित प्रदेशों में साधुओं की हत्या होती है या फिर पुजारियों की ! पहली घटना जिसमें साधुओं की हत्या हुई वह मुम्बई के पालघर में दूसरी घटना अब राजस्थान के करौली से आया है ! यहां कुछ दबंगों ने एक मंदिर के पुजारी पर पेट्रोल छिड़कर उन्हें जिंदा जलाने की कोशिश की है !

गम्भीर्य रूपेण आहत पुजारीम् चिकित्सालयम् अगृह्यते ! कथ्यति तत भूमिया संलग्नम् एकम् कलहस्य कारणम् ६ जनानि पुजारीम् जीवितं दग्धस्य प्रयत्नम् अकरोत् ! प्रकरण करौलीस्य सपोटरा स्थितं बुकना ग्रामस्य बदनोति !

गंभीर रूप से घायल पुजारी को अस्पताल ले जाया गया जहां से उन्हें जयपुर रिफर कर दिया गया ! कहा जा रहा है कि जमीन से जुड़े एक विवाद के चलते 6 लोगों ने पुजारी को जिंदा जलाने की कोशिश की ! मामला करौली के सपोटरा स्थित बुकना गांव का बताया जा रहा है !

वार्तास्य अनुरूपम् पुजारीम् मन्दिरस्य भूमे अतिक्रमण करोति भूदस्युनां विरोधम् अकरोत् स्म यस्य कारणेन सः जीवितं दग्धस्य प्रयत्नम् अकरोत् ! वस्तुतः आरक्षकम् इति सम्पूर्ण प्रकरणस्य अन्वेषणे असंलग्न्यते ! आरोपीनां च् बन्दीया: प्रयत्नम् क्रियते ! वार्तानां मान्यतु तर्हि एफएसएल इत्यस्य दलम् अवसरे प्राप्त्वा साक्ष्यमपि एकत्रितम् कृतवान !

खबर के मुताबिक पुजारी ने मंदिर की जमीन पर अतिक्रमण कर रहे भूमाफियाओं का विरोध किया था जिसकी वजह से उन्हें जिंदा जलाने की कोशिश की गई ! फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है और आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं ! खबरों की मानें तो एफएसएल की टीम ने मौके पर पहुंचकर साक्ष्य भी एकत्रित किए हैं !

समुदायेन पुजारीम् मन्दिरस्य नामे भूमि दानं कृतवान स्म इत्येव च् भूमे ५० वर्षस्य पुजारी स्व गृहम् निर्मायति स्म ! तु केचन बाहुबलनि अयम् कदापि स्वीकारम् न अभवत् ६ जनानि च् कैरोसीन पेट्रोल इति च् सम्मिलित्वा तेषां प्रक्षालितवान पुनः च् अग्निम् प्रज्जवलयते ! इति घटनायाम् पुजारीम् ५० प्रतिशतम् दग्धम् आघात अभवत् ! इति घटनाया: उपरांत स्वच्छमस्ति तत राजस्थाने विधि-व्यवस्थानां स्थितिम् भंगम् अभवत् !

समुदाय द्वारा पुजारी को मंदिर के नाम पर जमीन दान की गई थी और इसी जमीन पर 50 साल के पुजारी अपना घर बना रहे थे ! लेकिन कुछ दंबगों को यह शायद मंजूर नहीं हुआ और 6 लोगों ने कैरोसीन तथा पेट्रोल मिलाकर उन पर छिड़क दिया और फिर आग लगा दी ! इस घटना में पुजारी को 50 फीसदी बर्न इंजरी हुई है ! इस घटना के बाद साफ है कि राजस्थान में कानून-व्यवस्था के हालात बिगड़े हुए हैं !

मुख्यमंत्री: अशोक गहलोतस्य पार्श्वेव राज्यस्य गृहविभागम् अस्ति तु अस्य उपरांतैव राजस्थानैव अपराधस्य घटनानि सततं वृद्ध्यति यत् विधि व्यवस्थायाम् एकम् प्रश्नचिन्हम् उदतिष्ठयते ! प्रकरणस्य उपरांत बहु कालम् व्यतीतस्य उपरांतमपि करौलिया: आरक्षकम् ६ आरोपिषु एकमपि बन्दीम् न कृतशक्नोति !

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास ही राज्य का गृह विभाग है लेकिन उसके बावजूद भी राजस्थान में अपराध की घटनाएं लगातार बढ़ रही है जो कानून व्यवस्था पर एक सवालिया निशान खड़ा करती हैं ! वारदात के बाद काफी समय बीत जाने के बावजूद भी करौली की पुलिस 6 आरोपियों में एक को भी गिरफ्तार नहीं कर सकी है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया

मध्यप्रदेशे इस्लामनगरम् ३०८ वर्षाणि अनंतरम् पुनः कथिष्यते जगदीशपुरम् ! मध्यप्रदेश में इस्लाम नगर 308 साल बाद फिर से कहलाएगा जगदीशपुर !

मध्यप्रदेशस्य भोपालतः १४ महानल्वम् अंतरे एकं ग्रामम् इस्लामनगरमधुना जगदीशपुर नाम्ना ज्ञाष्यते ! केंद्र सर्वकार: ग्रामस्य नाम परिवर्तनस्याज्ञा दत्तवान्...