बरेल्या: धराया अमित शाह हुंकारित:, सर्वान् ज्ञातम् अस्ति आजमस्य, अतीकस्य, मुख्तार अंसारिण: वासम् कुत्रास्ति ! बरेली की धरती से अमित शाह गरजे, सबको पता है आजम, अतीक और मुख्तार अंसारी का ठिकाना कहां है !

0
176

१० फरवरिम् प्रथमचरणे ५८ आसनेषु मतदानम् संपन्नमभवतधुना च् द्वितीय चरणाय निर्वाचनी प्रचारं तीव्रमभवत् ! बरेल्यां केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह: भाजपा प्रत्याशिनां समर्थने अवतरित: कथित: च् ततोत्तरप्रदेशस्य जनान् निश्चितमस्ति तत २०१७ तः पूर्वक: शासनम् सम्यक् आसीत् तस्यानंतरकः वा शासनम् समीचीनमस्ति !

10 फरवरी को पहले चरण में 58 सीटों पर मतदान संपन्न हुआ और अब दूसरे चरण के लिए चुनावी प्रचार तेज हो गया है ! बरेली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बीजेपी प्रत्याशियों के समर्थन में उतरे और कहा कि यूपी की जनता को तय करना है कि 2017 से पहले वाला शासन सही था या उसके बाद वाला शासन ठीक है !

येनसहैव सः कथित: ततसमाजवादीदलस्य राज्यस्य अर्थमेव गुंडक: राज्यमस्ति ! २०१७ तः पूर्वम् तस्य अनंतरस्य चुत्तर प्रदेशे अंतरम् स्पष्टरूपे दर्शितुं अनुभूतुं च् शक्नोति ! उत्तर प्रदेशे त्रयाणि वृहत् नामानि आसीत् येषुतः एकः आसीत् आजम खान: !

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के राज का मतलब ही गुंडाराज है ! 2017 से पहले और उसके बाद के उत्तर प्रदेश में फर्क स्पष्ट तौर पर देखा और महसूस किया जा सकता है ! उत्तर प्रदेश में तीन बड़े नाम थे उनमें से एक थे आजम खान !

बदतु अद्य सः कुत्रास्ति ? द्वितीय क्रमांके आसीत् अतीक अहमद: ! कुत्र सः अधुनास्ति ? तृतीयासीत् मुख्तार अंसारिन् ! सः अद्य कुत्रास्ति ? अखिलेश: मतम् याच्यति, केचन ळब्धकं नास्ति ! तु यदि सपा सत्तायां आगतं तर्हि काः इमे त्रया: कारागारे इव रमिष्यन्ति !

बताओ आज वह कहाँ है ? दूसरे नंबर पर थे अतीक अहमद ! कहाँ वह अब है ? तीसरे थे मुख्तार अंसारी ! वह आज कहाँ है ? अखिलेश वोट मांग रहे हैं, कुछ मिलने वाला नहीं है ! लेकिन अगर सपा सत्ता में आई तो क्या ये तीनों जेल में ही रहेंगे ?

केवलं भाजपामिव दस्युम् शलाकानां पश्च क्षिपति ! कश्चितान्येदृशं कर्तुं न शक्नुतं ! इदम् परिवर्तनम् सपाया-बसपायानितुं न शक्नुत: कुत्रचित् दस्युम् संरक्षणम् प्रदत्तम् जातिवादिन् दलानां विवशतास्ति !

अकेले बीजेपी ही माफिया को सलाखों के पीछे डालती है ! कोई और ऐसा नहीं कर सकता ! यह परिवर्तन सपा-बसपा द्वारा नहीं लाया जा सकता है क्योंकि माफिया को संरक्षण प्रदान करना जातिवादी दलों की मजबूरी है !

भाजपा जातिवादिन् नास्ति ! भाजपा एकं इदृशं दलमस्ति यत् पीएम मोदिण: सर्वानां सहाय्यस्य, सर्वानां विकासस्य मंत्रे चरति ! सः कथित: तत भवन्तः दर्शिता: तत केन प्रकारेण बसपायाः सपायाः च् शासनकाले कार्यम् भवति स्म ! एते द्वे दलाभ्यां कुटुंबमिव सर्वाणि भवति स्म !

भाजपा जातिवादी नहीं है ! बीजेपी एक ऐसी पार्टी है जो पीएम मोदी के सबका साथ, सबका विकास के मंत्र पर चलती है ! उन्होंने कहा कि आप सबने देखा है कि किस तरह से बीएसपी और एसपी के शासनकाल में काम होता था ! इन दोनों दलों के लिए परिवार ही सब कुछ होता था !

स्व कुटुंबवादम् सम्यक् सिद्धाय समाजवादस्याश्रयं नयति स्म ! स्वाल्पता गोपनाय यदा यस्य पार्श्व कश्चितान्य मार्गम् नावशेषति तर्हि इमे जनाः विक्टिम कार्ड इति क्रीडन्ति ! भ्रष्टाचारस्य सागरे इमे जनाः आकंठम् निर्मज्जिताः ! यदि येषां जनानां हस्ते सत्तां आगताः तर्हि यूपी विकासस्य मार्गतः अवतरिष्यति !

अपने परिवारवाद को सही साबित करने के लिए समाजवाद का सहारा लेता थे ! अपनी कमियों को छिपाने के लिए जब इनके पास कोई और रास्ता नहीं बचता है तो ये लोग विक्टिम कार्ड खेलते हैं ! भ्रष्टाचार के सागर में यह लोग आकंठ डूबे हुए हैं ! अगर इन लोगों के हाथ में सत्ता आई तो यूपी विकास की पटरी से उतर जाएगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here