25.7 C
New Delhi

दंडघातम् करोतु, हन्तु, वयं न गमिष्यामः, भवान् गुलिका चालयतु, यदा मुलायम: रामभक्तेषु अचलयत् सततं गुलिका:, चलचित्रे दर्शयतु दृश्यं ! लाठीचार्ज कीजिए, मार डालिए, हम नहीं जाएँगे, आप गोली चलाइए, जब मुलायम ने रामभक्तों पर चलवाई थी अंधाधुंध गोलियाँ, वीडियो में देखें मंजर !

Date:

Share post:

तत २ नवंबरस्यैव दिवसमासीत्, यदायोध्यायां कार सेवकेषु गुलिका: अचलयत् ! तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादवस्य नेतृत्वकः सर्वकारः राम भक्तेषु गुलिका: चालयस्यादेशम् दत्तवान ! इति प्रकारमधुना इति क्रूरघटनाम् ३२ वर्षाणि पूर्णितं !

वह 2 नवंबर का ही दिन था, जब अयोध्या में कारसेवकों पर गोलियाँ चली थीं ! तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व वाली सरकार ने रामभक्तों पर गोलियाँ चलाने का आदेश दिए थे ! इस तरह अब इस क्रूर घटना को 32 साल पूरे हो गए हैं !

https://www.facebook.com/prasant.singh.7771/videos/522511996374760/?app=fbl

इस लिंक से पूर्ण वीडियो देखें !

अयोध्यायां एकत्रिताः एतेषां कारसेवकानां बलिदानस्यैव परिणाम: तताद्य वयं तत्र बाबरी करंकस्य स्थानम् भगवतः श्रीरामस्य भव्यमंदिरम् रचन् दर्शयन्ति ! तत कार्तिक पूर्णिमायाः दिवसं आसीत्, यदा मुलायम सर्वकारः शांतिपूर्णरूपेण प्रदर्शनम् करोति रामभक्तान् हतवान !

अयोध्या में जुटे इन कारसेवकों के बलिदान का ही परिणाम है कि आज हम वहाँ बाबरी ढाँचे की जगह भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनते हुए देख रहे हैं ! वो कार्तिक पूर्णिमा का दिन था, जब मुलायम सरकार ने शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे रामभक्तों को मरवाया !

तदा मोबाइल फोन अन्तर्जालस्य च् काळम् नासीत्, तु छायाग्रहिकाभिः संचितं इति घटनायाः केचन चलचित्राणि यदा-कदा सोशलमीडिया इत्यां संमुखम् आगतुं रमन्ति ! इदृशमेवैकं चलचित्रम् फेसबुक इत्यां उपस्थितमस्ति, यस्मिन् आरक्षकस्य क्रूरता रामभक्तानां निष्ठा:, द्वयो एकेण सह दर्शितुं शक्नोति !

तब मोबाइल फोन और इंटरनेट का जमाना नहीं थे, लेकिन कैमरों से रिकॉर्ड किए गए इस घटना के कुछ वीडियो यदा-कदा सोशल मीडिया पर सामने आते रहते हैं ! ऐसा ही एक वीडियो फेसबुक पर मौजूद है, जिसमें पुलिस की क्रूरता और रामभक्तों की निष्ठा, दोनों एक साथ देखी जा सकती है !

Bharat

चलचित्रस्यारंभे दर्शितुं शक्नोति तत एके साधौ आरक्षकः रणति ! एकं रामभक्तं आरक्षकः नयते, यस्मिन् एकः जनः कथ्यति, तत द्रष्टु, नयतु ! इति चलचित्रे आरक्षकम् साधु-संतेषु दंड चालयन् बंदूकतः च् गुलिका: चालयन् अपि दर्शितुं शक्नोति !

वीडियो की शुरुआत में देखा जा सकता है कि एक साधु पर पुलिस लड़ रही है ! एक रामभक्त को पुलिस ले जाती है, जिस पर एक व्यक्ति कहता है, वो देखो, ले गए ! इस वीडियो में पुलिस को साधु-संतों पर लाठियाँ चलाते हुए और बंदूक से गोलियाँ चलाते हुए भी देखा जा सकता है !

एकं रामभक्तं इदम् कथ्यन् शृणुतुं शक्नोति, आयतु, दंडघातम् करोतु, हन्तु ! वयं न गमिष्यामः, भवान् गुलिका चालयतु ! चलचित्रे स्थानम्-स्थानम् अग्नि दहन जनान् च् प्रस्तरम् एकत्रित कृतनपि द्रष्टुम् शक्नोति ! जनाः जय श्रीरामस्य उद्घोषमपि कुर्वन्ति ! बहूनि स्थानानि अचेताः जनाः भूम्यां पतिता: सन्ति !

एक रामभक्त को ये कहते हुए सुना जा सकता है, आइए, लाठीचार्ज कीजिए, मार डालिए ! हम नहीं जाएँगे, आप गोली चलाइए ! वीडियो में जगह-जगह आगजनी और लोगों को पत्थर इकट्ठा करते हुए भी देखा जा सकता है ! लोग जय श्री राम का नारा भी लगा रहे हैं ! कई जगह बेसुध लोग जमीन पर पड़े हुए हैं !

बहूनि स्थानानि आरक्षककर्मी: रामभक्तान् मार्गे घृष्टनपि इति चलचित्रे द्रष्टुम् शक्नोति ! दंडघाते वृद्धानपि न मुक्ता तै: चपि ताडिता: ! इति दिवसं कारसेवकेषु अभवन् सततं गुलिकाघाते ४० राम भक्ता: हतवान ! एतेषु नाम आगच्छति कोठारी बन्धुनां !

कई जगह पुलिसकर्मियों को रामभक्तों को सड़क पर घसीटते हुए भी इस वीडियो में देखा जा सकता है ! लाठीचार्ज में बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा गया और उन्हें भी पीटा गया ! इस दिन कारसेवकों पर हुई अंधाधुंध फायरिंग में 40 रामभक्त मारे गए थे ! इन्हीं में नाम आता है कोठारी बंधुओं का !

याभ्यां हनुमानगढ़ी इत्यां आरक्षकः हतवन्तौ, आरक्षकी क्रूरताया सरयू सेतौ द्रव: भूतेणापि बहूनां रामभक्तानां निधनमभवत् ! तत्र उपस्थित: एकः वार्ताकरः मृतकानां संख्या ४५ ज्ञाप्तवान ! इति घटनायां ६० जनाः बहु आहत: अपि अभवन् ! सत्यतायां आहतानां गणना नासीत् ! श्रद्धालवः न केवलं हतवान !

जिन्हें हनुमानगढ़ी में पुलिस ने मार डाला, पुलिसिया क्रूरता से सरयू पुल पर भगदड़ मचने से भी कई रामभक्तों की मौत हुई ! वहाँ मौजूद एक पत्रकार ने मृतकों की संख्या 45 बताई थी ! इस घटना में 60 लोग बुरी तरह घायल भी हुए थे ! असल में घायलों का कोई हिसाब ही नहीं था ! श्रद्धालुओं को न सिर्फ मार डाला गया था !

अपितु हिंदू प्रथानां अनुसारम् तेषां अंतिम संस्कार: एव न भवितुं दत्तवान ! तै: अनिखन् ! एकमन्य दुर्लभ चलचित्रे जनाः कथितुं दृश्यन्ते स्म तत आरक्षकः कारसेवकानां गृहेषु प्रवेशित्वा-प्रवेशित्वा तै: गृहीताः तै: सह च् क्रूरता कृतवान ! एकः साधु इति चलचित्रे इदम् कथितुं दृश्यते तत यूपी आरक्षकस्य गुलिका घाते अधुनैव १०० तः अधिकं जनाः अहन् !

बल्कि हिन्दू रीति-रिवाजों के अनुसार उनका अंतिम संस्कार तक नहीं होने दिया गया था ! उन्हें दफना दिया गया था ! एक अन्य दुर्लभ वीडियो में लोग कहते दिख रहे थे कि पुलिस ने कारसेवकों के घरों में घुस-घुस कर उन्हें पकड़ा और उनके साथ क्रूरता की ! एक साधु इस वीडियो में ये कहता दिख रहा है कि यूपी पुलिस की फायरिंग में अब तक 100 से भी अधिक लोग मर चुके हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...