21.8 C
New Delhi

यदा मुलायम सिंह यादवस्य भाषणस्यानंतरं बिजनौरे उत्पादितानि आसन् कलहानि, राम मंदिराय यात्रा निस्सरेत् हिंदू महिला: अपि लक्ष्यमभवन्, विंशतितः अधिकं निधनानां सर्वकारी आंकड़ाम् ! जब मुलायम सिंह यादव के भाषण के बाद बिजनौर में भड़के थे दंगे, राम मंदिर के लिए यात्रा निकाल रही हिन्दू महिलाएँ भी बनीं निशाना, 20+ मौतों का सरकारी आँकड़ा !

Date:

Share post:

उत्तर प्रदेशस्य पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव: श्व (१० अक्टूबर २०२२) गुरुग्रामस्य मेदांता चिकित्सालये अंतिम श्वांस नयेत् ! तस्य पुत्राखिलेश यादव: ट्वीट कृत्वा तस्य निधनम् प्रति ज्ञाप्तवान ! मुलायम सिंहस्य निधनस्यानंतरम् जनाः तस्य भाषणं तस्मात् संयुक्त: घटनान् च् स्मरन्ति !

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने कल (10 अक्टूबर 2022) गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में अंतिम साँस ली ! उनके बेटे अखिलेश यादव ने ट्वीट कर उनके निधन के बारे में बताया ! मुलायम सिंह के निधन के बाद लोग उनके भाषण और उनसे जुड़ी घटनाओं को याद कर रहे हैं !

यस्मिन् क्रमे तस्य १९९० तमे बिजनौरे दत्तं भाषणं अपि चर्चायां अस्ति ! यस्यानंतरम् बिजनौरे उत्पातं उत्पादितं आसीत् ! अत्र कर्फ्यू इति कृतवान ! कलहे विंशतितः अधिकं जनाः स्व प्राणाहुति दत्तवान स्म ! वाहनान् दग्धवान ! बहूनि आपणानि दग्धवान ! एकेण सप्ताहतः अधिकस्य कर्फ्यू इति रमिताः !

इस क्रम में उनका 1990 में बिजनौर में दिया गया भाषण भी चर्चा में है ! इसके बाद बिजनौर में दंगा भड़क गया था ! यहाँ कर्फ्यू लगा दिया गया ! दंगे में 20 से अधिक लोगों ने अपनी जान गँवा दी थी ! वाहनों को फूँक डाला गया ! कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया ! एक सप्ताह से ज्यादा का कर्फ्यू लगा रहा !

लेखक: दिव्य कुमार सोती सपा नेतु: निधने ट्विटरे अलिखत्, नेतामहोदयः माययी भाषणं ददाति स्म ! ३० अक्टूबर १९९० तमम् बिजनौरे भाषणं दत्तवान ! सीएम नेता महोदयस्य उदग्रयानोड्डीत: सभाया च् उत्साहितं भूत्वा पुनः आगच्छत् समुदाय विशेषस्य सम्मर्द: पूर्ण जनपदे घातम् कृतवान !

लेखक दिव्य कुमार सोती ने सपा नेता के निधन पर ट्विटर पर लिखा, नेताजी चमत्कारी भाषण देते थे ! 30 अक्टूबर 1990 को बिजनौर में भाषण दिया ! सीएम नेताजी का हेलीकाप्टर उड़ा और रैली से उत्साहित होकर लौटी समुदाय विशेष की भीड़ ने पूरे जिले पर हमला कर दिया !

राम मंदिरम् गृहीत्वा यात्राम् निस्सरेत् महिला: अपहृतवान ! सर्वकारी आंकड़ा २० निधनानां अस्ति, तादृशं २०० तः अधिकं ! नमन ! येन सहैव सः अमर उजालायां प्रकाशितं बिजनौरोत्पातानां तत सूचनायाः स्क्रीनशॉट अपि प्रस्तुत: अस्ति, इदम् सूचना अगस्त २०२० तमे प्रकाशितं कृतमासीत् !

राम मंदिर को लेकर यात्रा निकाल रही महिलाएँ उठा ली गईं ! सरकारी आँकड़ा 20 मौतों का है, वैसे 200 प्लस ! नमन ! इसके साथ ही उन्होंने अमर उजाला में प्रकाशित बिजनौर दंगों की उस रिपोर्ट का स्क्रीनशॉट भी साझा किया है, यह रिपोर्ट अगस्त 2020 में प्रकाशित की गई थी !

वस्तुतः ३२ वर्षम् (९ अक्टूबर, १९९०) पूर्वम् बिजनौरस्य प्रदर्शनी क्षेत्रे उत्तर प्रदेशस्य पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंहस्य सभायाः आयोजनम् कृतवान स्म ! मुलायम सिंहस्य सभायां ट्रकयानानां अतिरिक्त अन्य वाहनेषु आसीनं भूत्वा एकस्य सम्प्रदायस्य जनाः आगतवान स्म !

दरअसल 32 साल (9 अक्टूबर, 1990) पहले बिजनौर के प्रदर्शनी मैदान में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह की सभा का आयोजन किया गया था ! मुलायम सिंह की सभा में ट्रकों के अलावा अन्य वाहनों में लदकर एक संप्रदाय के लोग आए थे !

मुख्यमंत्री सभायाः काळम् भाषणं दत्तवान स्म तत अयोध्यायां तस्य रमतेव खग: अपि न आगतुं शक्नोति ! सः पूर्ण अयोध्यायाः किलेबंदी इति कृतवान स्म ! तत काळम् राम मंदिरम् गृहीत्वा पूर्वेण इव स्थितिमुग्रमासीत् ! इदृशे मुलायमस्य उदग्रयानतः उड्डीतेव बिजनौरे उग्रता व्याप्तं अभवत् !

मुख्यमंत्री ने सभा के दौरान भाषण दिया था कि अयोध्या में उनके रहते परिंदा भी पर नहीं मार सकता है ! उन्होंने पूरी अयोध्या की किलेबंदी कर दी थी ! उस वक्त राम मंदिर को लेकर पहले से ही माहौल गरम था ! ऐसे में मुलायम के हेलीकॉप्टर से उड़ते ही बिजनौर में तनाव व्याप्त हो गया !

सभायाः अनंतरम् द्वयो सम्प्रदाययो जनाः बहुषु स्थानेषु संमुखमागतवन्तः स्म ! सभातः पुनः आगच्छन् तत्र बहु प्रस्तरप्रहारमभवत् ! इदम् कलहम् बहूनि दिवसानि एव चरितुं रमितं ! ३० अक्टूबर १९९० तमम् वृहत् संख्यायां जनाः बिजनौरस्य एके विद्यालये राम मंदिर आंदोलनस्य प्रकरणं गृहीत्वा एकत्रिताः अभवन् स्म !

सभा के बाद दोनों संप्रदाय के लोग कई जगहों पर आमने-सामने आ गए थे ! सभा से लौटते हुए वहाँ जमकर पथराव हुआ ! यह तनाव कई दिनों तक चलता रहा ! 30 अक्टूबर 1990 को बड़ी तादाद में लोग बिजनौर के एक स्कूल में राम मंदिर आंदोलन के मुद्दे को लेकर इकट्ठा हुए थे !

तस्यानंतरम् कलेक्ट्रेट इत्यां ज्ञापनं दत्तुं निःसृता: आसन् ! यथैव जनाः आपणे प्रवेशिता: तेषु प्रस्तर प्रहारम् गुलिकाघातम् चारंभितं ! बिजनौरे उत्पातं उद्दताः अभवत् ! ज्ञापिते तत यस्मिन् २० तः अधिकं जनानां निधनमभवन् स्म ! यं उत्पातं स्मरित्वाद्यापि जनाः सम्प्रकम्पयन्ति !

उसके बाद कलक्ट्रेट में ज्ञापन देने के लिए निकले थे ! जैसे ही लोग बाजार में घुसे उन पर पथराव और गोलीबारी शुरू हो गई ! बिजनौर में दंगा भड़क गया ! बताया जाता है कि इसमें 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी ! इस दंगे को याद करके आज भी लोग सिहर उठते हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...