12.1 C
New Delhi

योगी सरकार करिष्यति शक्तिशालीम् बलस्य गठनम्, यत् माधिपत्र कश्चितमपि करिष्यति अवरूध्दम् ! योगी सरकार करेगी पावरफुल फोर्स का गठन, जो वारंट के बिना किसी को भी करेगी गिरफ्तार !

Date:

Share post:

उत्तर प्रदेशस्य योगी आदित्यनाथ सर्कारम् उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा शक्तिस्य (UPSSF) गठनाय अधिसूचनाम् प्रस्तुत क्रियते ! इति बलम् कश्चितस्य अवरुद्धाय अधिपत्रस्य अवश्यक्ताम् न भविष्यति !

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने उत्तर प्रदेश स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स (UPSSF) के गठन के लिए अधिसूचना जारी कर दी है ! इस फोर्स को किसी की गिरफ्तारी के लिए वारंट की आवश्यकता नहीं होगी !

गृह विभागस्य अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी: अकथयत् तत बलस्य कश्चित सदस्य कश्चित न्यायाधीशस्य कश्चित माज्ञास्य तथा कश्चित माधिपत्रस्य कश्चित व्यक्तिम् अवरुद्धम् कृतशक्नोति !

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि बल का कोई सदस्य किसी मजिस्ट्रेट के किसी आदेश के बिना तथा किसी वारंट के बिना किसी व्यक्ति को गिरफ्तार कर सकता है !

माधिपत्रस्य अन्वेषणस्य शक्तिमपि इति बलस्य  पार्श्व भविष्यति ! सः अकथयत् तत राज्य सरकार इति अधिनियमस्य उपबंधानि क्रियान्विताय अधिसूचनेन नियम निर्मयते !

वारण्ट के बिना तलाशी लेने की शक्ति भी इस फोर्स के पास होगी ! उन्होंने बताया कि राज्य सरकार इस अधिनियम के उपबन्धों को क्रियान्वित करने के लिए अधिसूचना द्वारा नियम बना सकती है ! 

अवनीश कुमार अवस्थी: अकथयत् राज्ये उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल अधिनियम २०२० तमम् प्रारम्भयते ! डीजीपी उत्तर प्रदेशम् इति अधिनियमस्य प्रति ११ सितंम्बर २०२० तमम् प्रेषयत: इति बलस्य प्रभावी क्रियान्वयन कृतस्य निर्देशम् दत्तवान ! इयम् बल (UPSSF) मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ महोदयस्य स्वप्निय परियोजनाम् भविष्यति !

अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा राज्य में उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल अधिनियम 2020 को लागू किया गया है ! डीजीपी यूपी को इस अधिनियम की प्रति 11 सितंबर 2020 को भेजते हुए इस बल के प्रभावी क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए गए हैं ! यह बल (UPSSF) मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी का ड्रीम प्रोजेक्ट होगा !

सः अकथयत् तत यूपीएसएसएफ इत्यस्य गठने आरक्षक डीजीपी उत्तर प्रदेशेन स्व सहमतिम् प्रदत्तवान ! इयम् बलम् उत्तर प्रदेशे उच्च न्यायालय, जनपद न्यायालयानि, प्रशासनिक कार्यालयानि परिसरानि च् तीर्थ स्थलानि वा, मेट्रो रेल, हवाई अड्डा, बैंक अन्य वित्तीय, शैक्षिक संस्थानम्,औद्योगिक संस्थानम् इत्यादयस्य सुरक्षा व्यवस्थाम् करिष्यति !

उन्होंने कहा कि UPSSF के गठन पर पुलिस डीजीपी यूपी द्वारा अपनी सहमति प्रदान की गई है ! यह फोर्स उत्तर प्रदेश में हाई कोर्ट, जिला न्यायालयों, प्रशासनिक कार्यालयों और परिसरों व तीर्थ स्थलों, मेट्रो रेल, हवाई अड्डा, बैंक अन्य वित्तीय, शैक्षिक संस्थान, औद्योगिक संस्थान आदि की सुरक्षा व्यवस्था करेगी !

बलस्य अधीनस्थ अधिकार्य: तथा सदस्यानां प्रवेशम् उत्तर प्रदेश आरक्षक भर्ती तथा प्रोन्नति परिषदेन करिष्यते यत् राज्य सर्कारस्य कार्मिक विभागेन निर्मयते सामान्य नियमवलिस्य अनुरूपम् भविष्यति ! महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानानां सुरक्षाहेतु वर्तमाने ९९१९ कर्मी कार्यरत भविष्यन्ति !

बल के अधीनस्थ अधिकारियों तथा सदस्यों की भर्ती उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती तथा प्रोन्नति बोर्ड द्वारा की जायेगी जो राज्य सरकार के कार्मिक विभाग द्वारा बनायी गई सामान्य नियमावली के अनुसार होगी ! महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा हेतु वर्तमान में 9,919 कर्मी कार्यरत होंगे !

विशेष सुरक्षा बलस्य रूपे प्रथम चरणे ५ टुकड़ीस्य गठन कृतं प्रस्तावितमस्ति ! अस्य टुकड़ीनाम् गठनहेतु सम्पूर्ण १९१३ नव पदानां सृजनम् करिष्यते ! इति प्रकारम् ५ टुकड़ीस्य गठने सम्पूर्ण व्यय भारम् १७४७.०६ कोटि रूपकणि अनुमानितमस्ति येषु वेतन भत्तानि अन्य व्यावस्थानि वा सम्मिलितम् सन्ति !

विशेष सुरक्षा बल के रूप में प्रथम चरण में 5 बटालियन का गठन किया जाना प्रस्तावित है ! इन बटालियनों के गठन हेतु कुल 1,913 नए पदों का सृजन किया जाएगा ! इस प्रकार 05 बटालियन के गठन पर कुल व्यय भार 1747.06 करोड़ रुपए अनुमानित है जिसमें वेतन भत्ते व अन्य व्यवस्थाएं भी सम्मिलित हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया

मध्यप्रदेशे इस्लामनगरम् ३०८ वर्षाणि अनंतरम् पुनः कथिष्यते जगदीशपुरम् ! मध्यप्रदेश में इस्लाम नगर 308 साल बाद फिर से कहलाएगा जगदीशपुर !

मध्यप्रदेशस्य भोपालतः १४ महानल्वम् अंतरे एकं ग्रामम् इस्लामनगरमधुना जगदीशपुर नाम्ना ज्ञाष्यते ! केंद्र सर्वकार: ग्रामस्य नाम परिवर्तनस्याज्ञा दत्तवान्...