निर्मित अभवत् भव्य कैलाश मानसरोवर भवनम्, सी एम योगिस्य महत्वाकांक्षी परियोजनाम् ! निर्मित हो गया भव्य कैलाश मानसरोवर भवन, सी एम योगी का ड्रीम प्रोजेक्ट !

0
397

गाजियाबादे उत्तर प्रदेशस्य मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथस्य महत्वाकांक्षी परियोजनाम् कैलाश मानसरोवर भवनस्य निर्माण कार्यम् सम्पूर्णयत्, इति भवनम् राज्यस्य धर्मार्थ कार्य विभागम् अनिर्मयत्, इति निर्माण कर्याय गजियाबाद विकास प्राधिकरणम् धर्मार्थ विभागस्य च् मध्य अनुबंधम् अभवत् स्म !

गाजियाबाद में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट कैलाश मानसरोवर भवन का निर्माण कार्य पूरा हो गया है, इस भवन को राज्य के धर्मार्थ कार्य विभाग ने तैयार किया है, इस निर्माण कार्य के लिए गाजियाबाद विकास प्राधिकरण और धर्मार्थ विभाग के बीच एग्रीमेंट हुआ था !

कैलाश मानसरोवर भवन गाजियाबादस्य इंदिरा पुरमस्य शक्ति खंड-चतुर्थे निर्मितास्ति, गाजियाबादे पूर्व वर्षम् ३१ अगस्तम् प्रदेशस्य मुख्यमंत्रीम् कैलाश मानसरोवर भवनस्य मंत्रोच्चारणेन सह शिलान्यासम् अकरोत् स्म येन सहैव सः इति भवनम् एक वर्षस्य अभ्यांतरम्पूर्ण कृतस्य उद्घोषम् अकरोत् स्म यत् वर्षांन्तरे पूर्णम् अभवत् !

कैलाश मानसरोवर भवन गाजियाबाद के इंदिरा पुरम के शक्ति खंड-4 में बना है, गाजियाबाद में पिछले साल 31 अगस्त को प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कैलाश मानसरोवर भवन का मंत्रोच्चारण के साथ शिलान्यास किया था इसके साथ ही उन्होंने इस भवन को एक साल के अंदर तैयार करने की घोषणा की थी जो साल भर में पूरा हो गया है !

इति भवनाय भूमि उपलब्ध कृते जीडीए महत्वपूर्ण भूमिकाम् अनिर्वहत् स्म ज्ञापयन्ति तत एकरात्रे भूमि अन्वेषणस्य कार्य पूर्ण कृत्ये स्म, अस्य निर्माणम् अर्थले प्रस्तावितमासीत् तु भूमे: कलहस्य कारणम् इदम् इंदिरापुरमे स्थानन्तरितम् कृत्ये स्म !

इस भवन के लिए जमीन उपलब्ध कराने में जीडीए ने खासा रोल निभाया था और बताते हैं कि एक रात में जमीन तलाशने का काम पूरा कर लिया गया था, इसका निर्माण अर्थला में प्रस्तावित था लेकिन जमीन के विवाद के चलते यह इंदिरापुरम में शिफ्ट कर दिया गया था !

मध्ये कोरोना पीड़ाम् कारणम् लॉक डाउन च् प्रारम्भ भवस्य कारणम् कैलाश भवनस्य निर्माण स्थगित कृतवान स्म तु उपरांते स्थितानि समान्यम् भवे अस्य भवन निर्माणम् गतिम् अमिलत् इदम् च् सम्प्रति अनिर्मयत् !

बीच में कोरोना संकट के चलते और लॉक डाउन लागू होने के कारण कैलाश भवन का निर्माण रोक दिया गया था लेकिन बाद में स्थितियां सामान्य होने पर इसके भवन निर्माण को गति मिली और ये अब बन गया है !

भवनस्य नव अभिकल्पस्य अनुरूपम् भूगृहस्य अतिरिक्त उद्घाटित पड़ावस्यपि सुविधाम् अस्ति तत्र अस्य अतिरिक्तम् ४,२ वा शय्याकक्षम् कक्षानि अस्य अभ्यांतरम् निर्मितमस्ति, कथ्यते तत इति भवने एकेन सह २८० जनानि स्थाष्यन्ति, इदम् उत्तर प्रदेशस्य सी एम योगी आदित्यनाथस्य महत्वाकांक्षी परियोजनाम् अस्ति !

भवन के नए डिजाइन के तहत बेसमेंट के अलावा ओपन पार्किंग की भी सुविधा है वहीं इसके अलावा 4 व 2 बेडरूम वाले कमरे इसके अंदर बने हैं, कहा जा रहा है कि इस भवन में एक साथ 280 लोग रुक सकेंगे, ये उत्तर प्रदेश के सी एम योगी आदित्यनाथ का ड्रीम प्रोजेक्ट है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here