आजम खानम् त्रयाणां वर्षाणां दंडम्, गतवान एमएलए इत्या: आसनम्, निर्वाचने हेट स्पीच इति प्रकरणे न्यायालयस्यादेशम्, २००० रूप्यकाणि अर्थदंडमपि ! आजम खान को 3 साल की सजा, गई MLA की कुर्सी, चुनाव में हेट स्‍पीच मामले में कोर्ट का आदेश, 2000 रुपए फाइन भी !

0
99

समाजवादी दलस्य वरिष्ठ नेताजम खानम् रामपुर न्यायालय: हेट स्पीच इति प्रकरणे दोषिन् कथवान ! न्यायालय: इति प्रकरणे तेन त्रयाणां वर्षाणां दंडमपि प्रदत्तवान ! दंडतः इदम् निश्चितं अभवत् तत आजम खान: सम्प्रति विधायक: भवितुं न रमिष्यति !

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान को रामपुर कोर्ट ने हेट स्पीच मामले में दोषी करार दिया है ! कोर्ट ने इस मामले में उन्हें 3 साल की सजा भी सुनाई है ! सजा से यह तय हो गया कि आजम खान अब विधायक नहीं बने रहेंगे !

आजम खानम् एतेषां धारानां अनुरूपम् दोषिन् कथवान, तस्मिन् त्रयाणि वर्षाणि एवस्याधिकतम् दंडस्य प्रावधानमस्ति ! हेट स्पीच इत्या: इदं प्रकरणं २०१९ तमस्य निर्वाचनेण संलग्नमस्ति !

आजम खान को जिन धाराओं के तहत दोषी करार द‍िया गया है, उसमें तीन साल तक की अधिकतम सजा का प्रावधान है ! हेट स्पीच का यह मामला 2019 के चुनाव से जुड़ा है !

आजम खान: रामपुरस्य मिलक विधानसभायां एकं निर्वाचनी भाषणस्य काळमापत्तिपूर्णमुद्दतकं च् टिप्पणिका: कृतः आसीत् ! यस्यापवादम् भाजपा नेता आकाश सक्सेना कृतः आसीत् !

आजम खान ने रामपुर की मिलक विधानसभा में एक चुनावी भाषण के दौरान आपत्तिजनक और भड़काऊ टिप्पणियां की थीं ! इसकी शिकायत भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने की थी !

अस्यैव प्रकरणे रामपुरस्य एमपी-एमएलए न्यायालय: २७ अक्टूबरम् स्वनिर्णयं शृणुन् आजम खानम् दोषिन् कथवान ! आजम खाने अन्य बहवः प्रकरणेषु अपि अपवादानि पंजीकृतानि सन्ति !

इसी मामले में रामपुर की एमपी-एमएलए कोर्ट ने 27 अक्टूबर को अपना फैसला सुनाते हुए आजम खान को दोषी करार द‍िया ! आजम खान पर अन्‍य कई मामलों में भी श‍िकायतें दर्ज हैं !

यस्मात् पूर्वम् भौमवासरम् (२० सितंबर, २०२२) तस्य जौहर विश्वविद्यालये अभवत् खननस्य काळम् ओरिएंटल इंटर कॉलेजतः अचोरयन् पुस्तकानि अळब्ध्यन् स्म ! यस्मात् पूर्वम् सोमवासरम् (१९ सितंबर) यदा विश्वविद्यालये खननम् कृतवान स्म तदा कोटिनां रूप्यकानां ऑटोमैटिक स्वीपिंग मशीन इति ळब्धमासीत् !

इससे पहले मंगलवार (20 सितंबर, 2022) को उनके जौहर यूनिवर्सिटी में हुई खुदाई के दौरान ओरिएंटल इंटर कॉलेज से चोरी हुई पुस्तकें बरामद हुई थी ! इससे पहले सोमवार (19 सितंबर) को जब यूनिवर्सिटी में खुदाई की गई थी तब करोड़ों रुपए की ऑटोमैटिक स्वीपिंग मशीन बरामद की गई थी !

मीडिया सूचनानां अनुसारम्, खननस्य काळम् विश्वविद्यालयस्य लिफ्ट शाफ्ट इत्यां विष्टम्भित्वा धृतन् बहुमूल्य पुस्तकानां भंडारम् ळब्धमस्ति, इमानि पुस्तकानि राजकीय ओरिएंटल कॉलेज इत्या: पुस्तकालयतः चोरयितुं गतवान स्म !

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, खुदाई के दौरान यूनिवर्सिटी के लिफ्ट शॉफ्ट में दबाकर रखी गईं बेहद कीमती पुस्तकों का जखीरा बरामद हुआ है, ये सभी किताबें राजकीय ओरिएंटल कॉलेज के लाइब्रेरी से चोरी की गई थीं !

इति विद्यालयस्य स्थापनावर्षम् १७७४ तमे रामपुरस्य नवाब: कृतः आसीत् ! येन पूर्वं आलिया मदरसायाः नाम्ना ज्ञायते स्म ! क्षौरस्य इति प्रकरणे, वर्षम् २०१९ तमे प्राथमिकी पंजीकृतमासीत् !

इस कॉलेज की स्थापना साल 1774 में रामपुर के नवाब ने की थी ! जिसे पहले आलिया मदरसा के नाम से जाना जाता था ! चोरी के इस मामले में, साल 2019 में एफआईआर की गई थी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here