25.7 C
New Delhi

विधायकी रमेत् गच्छेत् वा, धर्मस्य विरुद्धमेकं शब्दम् श्रुणुतुं न शक्नोमि-सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह: ! विधायकी रहे या जाए, धर्म के खिलाफ एक शब्द नहीं सुन सकता हूँ-सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह !

Date:

Share post:

समाजवादी दलस्य महासचिव: स्वामी प्रसाद मौर्येण रामचरितमानसस्य सततं क्रियते अपमानस्यानंतरमधुना तस्यैव दले रणम् उत्पादितवान् ! अमेठ्याः गौरीगंजतः समाज वादी दलीय विधायक: राकेश प्रताप सिंह: खिन्नता व्यक्तन् स्वामी प्रसादम् विक्षिप्त प्राणी एव कथवान् !

समाजवादी पार्टी के महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा रामचरितमानस के लगातार किए जा रहे अपमान के बाद अब उनकी ही पार्टी में घमासान मच गया है ! अमेठी के गौरीगंज से समाजवादी पार्टी विधायक राकेश प्रताप सिंह ने मोर्चा खोलते हुए स्वामी प्रसाद को विक्षिप्त प्राणी तक कह डाला !

भगवतः रामेण श्रीकृष्णेन च् स्वामी प्रसाद मौर्याय सदबुद्धि इत्या: याचना कृतन् राकेश प्रताप सिंह: शनिवासरम् (११ फरवरी २०२३) तेन मंचतः एव बहु आक्रुष्यवान् ! सः अकथयत् तत तः विधायक: रमेत् न रमेत् वा, तु धर्मस्य वार्ता आगतवान् तर्हि सः मूकः न तिष्ठक: सन्ति !

भगवान राम और श्रीकृष्ण से स्वामी प्रसाद मौर्य के लिए सदबुद्धि की माँग करते हुए राकेश प्रताप सिंह ने शनिवार (11 फरवरी 2023) को उन्हें मंच से ही खूब खरी-खोटी सुनाई ! उन्होंने कहा कि वो विधायक रहें या ना रहें, पर धर्म की बात आई तो वे चुप नहीं बैठने वाले हैं !

प्रसृतं चलचित्रे राकेश प्रताप सिंह: अकथयत्, यदा तं नेतु: मुखतः निःसृत: वार्ता मम हृदयं पिड्यस्यामि, मया पीड़ा दास्यामि तर्हि सर्वात् प्रथमोत्तर प्रदेशे स्थित्वाहम् मीडिया इत्या: माध्यमेणायम् कथनस्य शौर्य: संचितवान् तत राजनीति रमेत् न रमेत् वा !

वायरल हो रहे वीडियो में राकेश प्रताप सिंह ने कहा, जब उस नेता के मुँह से निकली बात मेरे हृदय को कचोटने लगी, मुझे पीड़ा देने लगी तो सबसे पहले उत्तर प्रदेश में खड़े होकर मैंने मीडिया के माध्यम से ये कहने का साहस जुटाया कि राजनीति रहे या न रहे !

विधायक: रमानि न रमानि वा, अग्रम् निर्वाचन पत्रम् रमेत् न रमेत्, तु धर्मम् रक्षणाय भवान् भ्रात:, भवान् पुत्र, भवान् सेवक: स्थितुं रमिष्यति ! सपा विधायक: राकेश प्रताप सिंह: अस्मिन्नेव कथने अग्रमकथयत्, अहम् पूर्वम् अकथयम् ततास्य प्रकारस्य कथनम् दाता: न तर्हि सनातनी भवितुं शक्नोन्ति, न ताः समाजवादी भवितुं शक्नोन्ति !

विधायक रहूँ या न रहूँ, आगे टिकट रहे या न रहे, लेकिन धर्म को बचाने के लिए आपका भाई, आपका बेटा, आपका सेवक खड़ा रहेगा ! सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह ने इसी बयान में आगे कहा, मैंने पहले कहा है कि इस प्रकार का बयान देने वाले न तो सनातनी हो सकते हैं, न वो समाजवादी हो सकते हैं !

भवितुं शक्नोति तर्हि केवलं एकः विक्षिप्त: प्राणी भवितुं शक्नोति ! मीडिया सूचनापत्राणां अनुरूपम् राकेश प्रताप सिंह: उद्घोषम् कृतवान् तत तः तेषां प्रतिजनानां विरोधम् करिष्यति, याः भगवतः रामस्य कृष्णस्य वा विरुद्धम् टिप्पणिका करिष्यन्ति !

हो सकता है तो सिर्फ एक विक्षिप्त प्राणी हो सकता है ! मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राकेश प्रताप सिंह ने एलान किया कि वो हर उस व्यक्ति का विरोध करेंगे, जो भगवान राम या कृष्ण के खिलाफ टिप्पणी करेगा !

अंते सः देवताभिः स्वामी प्रसाद मौर्याय सद्बुद्ध्या: अपि प्रार्थनाम् कृतवान् ! दृष्टिगतम् अस्ति तत रामचरितमानसस्य विरुद्धम् स्वामी प्रसाद मौर्यस्य टिप्पणिकायाः अनंतरं अखिलेश यादव: तेन समाजवादी दलस्य महासचिव: अरचयत् स्म् !

अंत में उन्होंने देवताओं से स्वामी प्रसाद मौर्य के लिए सदबुद्धि की भी प्रार्थना की ! गौरतलब है कि रामचरितमानस के खिलाफ स्वामी प्रसाद मौर्य की टिप्पणी के बाद अखिलेश यादव ने उन्हें समाजवादी पार्टी का महासचिव बना दिया था !

इति मध्य मौर्यस्य समर्थकै: लक्ष्मणनगरे रामचरितमानस दग्धस्यारोपे प्राथमिकी अपि पंजीकृतमासीत्, यस्मिन् सलीम सहितं एके अन्यारोपिने एनएसए इत्या: अनुरूपम् कार्यवहनम् कृतवान् !

इस बीच मौर्य के समर्थकों द्वारा लखनऊ में रामचरितमानस जलाए जाने के आरोप में FIR भी दर्ज हुई थी, जिसमें सलीम सहित एक अन्य आरोपित पर NSA के तहत कार्रवाई की गई है !

स्वामी प्रसादस्यास्य कथनस्यानंतरम् सपायां विरोधस्य स्वरम् सततं उत्थिन्ति ! यत्र नोएडायां सपा नेता नवीन दुबे दलम् त्यजस्योद्घोषम् कृतवान् स्म् ! तत्रैव, एकान्य महिला नेत्री रोली तिवारी स्पष्टम् स्वामी प्रसादस्यालोचनाम् कृतवती !

स्वामी प्रसाद के इस बयान के बाद सपा में विरोध के स्वर लगातार उठ रहे हैं ! जहाँ नोएडा में सपा नेता नवीन दुबे ने पार्टी छोड़ने का एलान किया था ! वहीं, एक अन्य महिला नेत्री रोली तिवारी ने खुलेआम स्वामी प्रसाद की आलोचना की है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

कन्हैया लाल तेली इत्यस्य किं ?:-सर्वोच्च न्यायालयम् ! कन्हैया लाल तेली का क्या ?:-सर्वोच्च न्यायालय !

भवतम् जून २०२२ तमस्य घटना स्मरणम् भविष्यति, यदा राजस्थानस्योदयपुरे इस्लामी कट्टरपंथिनः सौचिक: कन्हैया लाल तेली इत्यस्य शिरोच्छेदमकुर्वन् !...

१५ वर्षीया दलित अवयस्काया सह त्रीणि दिवसानि एवाकरोत् सामूहिक दुष्कर्म, पुनः इस्लामे धर्मांतरणम् बलात् च् पाणिग्रहण ! 15 साल की दलित नाबालिग के साथ...

उत्तर प्रदेशस्य ब्रह्मऋषि नगरे मुस्लिम समुदायस्य केचन युवका: एकायाः अवयस्का बालिकाया: अपहरणम् कृत्वा तया बंधने अकरोत् त्रीणि दिवसानि...

यै: मया मातु: अंतिम संस्कारे गन्तुं न अददु:, तै: अस्माभिः निरंकुश: कथयन्ति-राजनाथ सिंह: ! जिन्होंने मुझे माँ के अंतिम संस्कार में जाने नहीं दिया,...

रक्षामंत्री राजनाथ सिंहस्य मातु: निधन ब्रेन हेमरेजतः अभवत् स्म, तु तेन अंतिम संस्कारे गमनस्याज्ञा नाददात् स्म ! यस्योल्लेख...

धर्मनगरी अयोध्यायां मादकपदार्थस्य वाणिज्यस्य कुचक्रम् ! धर्मनगरी अयोध्या में नशे के कारोबार की साजिश !

उत्तरप्रदेशस्यायोध्यायां आरक्षकः मद्यपदार्थस्य वाणिज्यकृतस्यारोपे एकाम् मुस्लिम महिलाम् बंधनमकरोत् ! आरोप्या: महिलायाः नाम परवीन बानो या बुर्का धारित्वा स्मैक...