36 C
New Delhi
Wednesday, May 12, 2021

कोरोना इति कारणम् कालात् पूर्व सम्पादिष्यते कुंभमेलकम् ! कोरोना के कारण समय से पहले समाप्त हो जाएगा कुंभ मेला !

Must read

कुंभ मेलके कोरोना महामार्या: प्रभाव द्रक्ष्यते ! मेलके वृहद संख्यायाम् श्रद्धालुणाम् एवं यतीनां पॉजिटिव मेलनस्यानंतरमधुनाखाड़ा: इति आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक आयोजनेण द्रुतम् निर्मितुमारंभिताः !

कुंभ मेले पर कोरोना महामारी का असर दिखने लगा है ! मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं एवं साधुओं के पॉजिटिव मिलने के बाद अब अखाड़ों ने इस आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक आयोजन से दूरी बनानी शूरू कर दी है !

कुंभ मेलके कोरोना महामार्या: संकटम् दृश्यमानः प्रमुख १३ अखाड़ेषु तः द्वय निरंजनी अखाड़ा तपोनिधि श्री आनंद अखाड़ा यस्मात् निर्वर्तस्य निर्णयम् कृतवंत: !

कुंभ मेले में कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए प्रमुख 13 अखाड़ों में से दो निरंजनी अखाड़ा और तपो निधि श्री आनंद अखाड़ा ने इससे हटने का फैसला किया है !

द्वयो आखड़यो अत्रात् गमनस्य पश्च मेलके कोरोना इति अनियंत्रित स्थितं कारणम् बद्यते ! द्वयो आखड़यो १७ अप्रैल इतम् कुंभ मेलकम् गमनम् करिष्यन्ते !

दोनों अखाड़ों ने यहां से जाने के पीछे मेले में कोरोना की बिगड़ते हालात को कारण बताया है ! दोनों अखाड़े 17 अप्रैल को कुंभ मेले को अलविदा कह देंगे !

निरंजनी अखाड़ायाः सचिवः रवींद्र पूरी: स्व एके ट्वीते कथितः तत कुंभ मेलके कोविड-१९ इत्यस्य अनियंत्रित स्थितिम् पश्यमानः अस्मै इत्यायोजनस्य समापनम् भवितः !

निरंजनी अखाड़े के सचिव रवींद्र पुरी ने अपने एक ट्वीट में कहा कि कुंभ मेले में कोविड-19 की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए हमारे लिए इस आयोजन का समापन हो गया है !

सः कथितः, मुख्य शाही स्नानम् सम्पन्नम् भवितः अस्माकं च् अखाड़ायाः बहु जनेषु कोरोनायाः लक्षणम् परिलक्ष्यन्ति ! मेलके बहु यति कोरोना पॉजिटिव लब्धिताः !

उन्होंने कहा, मुख्य शाही स्नान संपन्न हो गया है और हमारे अखाड़े के कई लोगों में कोरोना के लक्षण दिखाई दे रहे हैं ! मेले में कई साधु कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं !

बद्यतैति तत अखिल भारतीय अखाड़ा परिषदस्याध्यक्ष: नरेंद्र गिरिण: सुश्रुषा ऋषिकेश एम्स इत्ये चरति यद्यपि महा निर्वाणी अखाड़ायाः महामंडलेश्वर: स्वामी कपिलदेवस्य सुश्रुषा एके स्वायत्त चिकित्सालये भवति !

बताया जा रहा है कि अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि का इलाज ऋषिकेष एम्स में चल रहा है जबकि महा निरवाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर स्वामी कपिल देव का इलाज एक निजी अस्पताल में हो रहा है !

गुरूवासरम् उत्तराखंडे २२२० नव रुग्णा: लब्धिता: ! राज्ये इदम् एकस्य दिवसस्य सर्वाधिकाकड़ामस्ति ! कोरोना संकटम् पश्यमानः अस्यदा कुंभ मेलकस्य काले न्यूनता अक्रियते !

गुरुवार को उत्तराखंड में कोरोना के 2,220 नए केस मिले ! राज्य में यह एक दिन का सर्वाधिक आंकड़ा है ! कोरोना संकट को देखते हुए इस बार कुंभ मेले के आयोजन के समय में कटौती की गई है !

अस्यदा मेलकस्यायोजनम् एकेन अप्रैल इत्येन ३० अप्रैल इत्यस्य मध्य भवति ! सामान्य परिस्थितिषु १२ वर्षाणां अंतराले आयोजित: कुंभ मेलकम् लगभगम् चत्वारः मासैव चरति !

इस बार मेले का आयोजन एक अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच हो रहा है ! सामान्य परिस्थितियों में 12 वर्षों के अंतराल पर आयोजित होने वाला कुंभ मेला करीब चार महीने तक चलता है !

हरिद्वारे कुंभ मेलकः क्षेत्रे १० तः १४ अप्रैल इत्यस्य मध्य १७०० तः अधिकम् संक्रमित: लब्धानि ! आशंकामस्ति तत विश्वस्य सर्वात् वृहद धार्मिक सम्मर्द: कोविड-१९ इत्यस्य प्रकरणेषु आगच्छति !

हरिद्वार कुंभ मेला क्षेत्र में 10 से 14 अप्रैल के बीच 1700 से अधिक लोगों के कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए हैं ! आशंका है कि विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक जमावड़ा कोविड-19 के मामलों में आ रहे है !

स्वास्थ्यकर्मिकाः मेलकम् क्षेत्रे एतेषु पंचेषु दिवसेषु २३६७५१ कोविड अनुसंधानानि कृतानि, येषु तः १७०१ जनानां सूचनापत्राणि तस्य महामारिभिः ग्रस्तस्य पुष्टिम् अभवन् !

स्वास्थ्यकर्मियों ने मेला क्षेत्र में इन पांच दिनों में 2,36,751 कोविड जांच कीं, जिनमें से 1701 लोगों की रिपोर्ट में उनके महामारी से ग्रस्त होने की पुष्टि हुई !

हरिद्वारस्य मुख्य चिकित्साधिकारी शंभु कुमार झा: कथितः तत अस्य संख्याषु श्रद्धालुणानां विभिन्न अखाड़ानां च् साधुनां-यतीनां हरिद्वारेण गृहित्वा देवप्रयागैव संपूर्ण मेलकम् क्षेत्रेषु पंचेषु दिवसेषु अक्रियते आरटी-पीसीआर रैपिड एंटीजन अनुसंधानम् च् द्वयो आंकड़यो सम्मिलिते स्तः !

हरिद्वार के मुख्य चिकित्साधिकारी शंभु कुमार झा ने कहा कि इस संख्या में श्रद्धालुओं और विभिन्न अखाड़ों के साधु-संतों की हरिद्वार से लेकर देवप्रयाग तक पूरे मेला क्षेत्र में पांच दिनों में की गई आरटी-पीसीआर और रैपिड एंटीजन जांच दोनों के आंकड़े शामिल हैं !

Disclaimer The author is solely responsible for the views expressed in this article. The author carry the responsibility for citing and/or licensing of images utilized within the text. The opinions, facts and any media content in them are presented solely by the authors, and neither Trunicle.com nor its partners assume any responsibility for them. Please contact us in case of abuse at Trunicle[At]gmail.com

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article