34.1 C
New Delhi

मतदाता सूच्यां स्वनाम पंजीकारयन्तु बांग्लादेशिन: अनाधिकृत प्रवेशका: ! मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराएँ बांग्लादेशी घुसपैठिए !

Date:

Share post:

भारते आगत लोकसभा निर्वाचनतः पूर्वम् तृणमूल कांग्रेसस्यैकस्य नेतु: कथनम् कलहम् उत्पादयत् ! टीएमसी नेता रत्ना बिस्वास पश्चिम बंगस्य उत्तर २४ परगना जनपदस्य मतदाता सूच्यां बांग्लादेशिनः संयुक्तस्य वार्ताकथयत् ! यस्य चलचित्रम् सोशल मीडिया इत्यां प्रसरति !

भारत में आगामी लोकसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस के एक नेता के बयान ने विवाद पैदा कर दिया है ! टीएमसी नेता रत्ना बिस्वास ने पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की मतदाता सूची में बांग्लादेशियों को शामिल करने की बात कही है ! इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है !

चलचित्रे टीएमसी नेता एवं पूर्व पंचायत प्रधान रत्ना कथ्यति, अस्मिन् क्षेत्रे बहवः बांग्लादेशिन: वसन्ति ! याः बांग्लादेशतः अत्रागतवन्तः तै: च् मतदाता सूच्यां स्वनाम पंजीकरणे संकटम् आगच्छति तु तै: जाकिर भ्राततः संपर्क करणीयाः ! इमान् येन कार्यालयेण संपर्क: करणीयाः ! इदम् कार्यम् तीव्रताया करणीयं !

वीडियो में टीएमसी नेता एवं पूर्व पंचायत प्रधान रत्ना कह रही हैं, इस क्षेत्र में कई बांग्लादेशी रहते हैं ! जो लोग बांग्लादेश से यहाँ आए हैं और उन्हें मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराने में दिक्कत आती है तो उन्हें जाकिर भाई से संपर्क करना चाहिए ! ऐसे सभी लोगों को इस कार्यालय से संपर्क करना चाहिए ! यह काम तेजी से किया जाना चाहिए !

इदम् चलचित्रं प्रसरणस्यानंतरम् कलहम् उत्पादयत् ! कलहस्यानंतरम् स्थानीय पंचायत समित्या: पूर्वाध्यक्ष: जाकिर हुसैन: दृढ़कथनम् कृतवान्, रत्ना बिस्वास्या: इयमर्थ: नासीत् ! मयि क्षेत्रे वासिन: अधिकांशतः जनाः १९६०-६५ तमतः पूर्वमत्र आगतवन्तः स्म ! १९९० तमस्यानंतरम् बहून् जनान् मतदाता सूचीतः निर्वर्तयत् !

यह वीडियो वायरल होने के बाद विवाद हो गया है ! विवाद के बाद स्थानीय पंचायत समिति के पूर्व अध्यक्ष जाकिर हुसैन ने दावा किया, रत्ना बिस्वास का यह मतलब नहीं था ! मेरे क्षेत्र में रहने वाले अधिकांश लोग 1960-65 से पहले यहाँ आए थे ! 1990 के बाद कई लोगों को मतदाता सूची से हटा दिया गया है !

येषां नाम पूर्वमतदाता सूच्यां आसन् ! जाकिर हुसैन: अग्रमकथयत्, वस्तुतः सा (रत्ना बिस्वास) येषां जनानां सहाय्यस्य वार्ताकथयत् ! अहम् निश्चितरूपेण साधारणजनान् मतदाता सूच्यां संशोधनसेवा: निःशुल्क प्रददान्ति इमानि च् विध्या: अनुसारम् क्रियते ! सा असाधु रूपेण तान् बांग्लादेशिन: ज्ञाप्तवती !

इनके नाम पहले मतदाता सूची में थे ! जाकिर हुसैन ने आगे कहा, दरअसल उन्होंने (रत्ना बिस्वास ने) इन्हीं लोगों की मदद करने की बात कही है ! हम निश्चित रूप से आम लोगों को मतदाता सूची में सुधार सहित सेवाएँ निःशुल्क प्रदान करते हैं और यह सब कानून के अनुसार किया जाता है ! उन्होंने गलत तरीके से उन सभी को बांग्लादेशी बताया है !

मतदाता सूच्यां बांग्लादेशीनां नाम संयुक्तस्य प्रयत्ने भाजपा तृणमूल कांग्रेसे प्रहारमवदत् ! भाजपायाः प्रदेशाध्यक्ष: सुकांत मजूमदार: अकथयत्, सत्तारूढ़ दलम् तृणमूल कांग्रेसम् पूर्वतः एव मतदाता परिचय पत्रम् निर्माणस्य कार्यम् करोति ! अनाधिकृतप्रवेशकानां नाम मतदाता सूच्यां संलग्नयन्ति ! सः अस्य प्रकरणस्यानुसन्धानस्य याचना कृतरस्ति !

मतदाता सूची में बांग्लादेशियों के नाम जोड़ने की कोशिश पर भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस पर हमला बोला है ! भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा, सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पहले से ही ऐसे मतदाता पहचान पत्र बनाने का काम कर रही है ! घुसपैठियों के नाम मतदाता सूची में जोड़े जाते हैं ! उन्होंने इस मामले की जाँच की माँग की है !

ज्ञापयतु तत पूर्व वर्षम् मई इत्यां ज्ञातं अभवत् तत बनगांव दक्षिण निर्वाचन क्षेत्रतः तृणमूल कांग्रेसस्य सांसद: अलो रानी सरकार बांग्लादेशस्य वासिना ! इदम् रहस्योद्घाटन तदा अभवत् यदा सा निर्वाचन परिणामे उक्त क्षेत्रतः च् भाजपा नेता स्वपन मजूमदारस्य जयम् कोलकाता उच्चन्यायालये आह्वेयता दत्तवती !

बता दें कि पिछले साल मई में पता चला कि बनगाँव दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र से तृणमूल कांग्रेस की सांसद अलो रानी सरकार बांग्लादेश की नागरिक हैं ! यह खुलासे तब हुए जब उन्होंने चुनाव परिणाम और उक्त निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा नेता स्वपन मजूमदार की जीत को कलकत्ता उच्च न्यायालय में चुनौती दी !

याचिकायां न्यायमूर्ति बिबेक चौधरिन् शृणुनम् कृतवान् ! यस्मिन् न्यायालयं अकथयत् स्म तत नामांकन पंजीकृतस्य दिनांके, निर्वाचनस्य दिनांके परिणामस्य च् घोषणायाः दिनांके अलो रानी सरकार बांग्लादेशस्य वासिनासीत् ! न्यायालयं अग्रमकथयत्, याचिकाकर्तु: स्वस्य अभिलेखम् दर्शनेण ज्ञातम् भवति तत याचिकाकर्तारम् २०२१ तमस्य विधानसभा निर्वाचनम् रणस्य कश्चित अधिकारम् नासीत् !

याचिका पर न्यायमूर्ति बिबेक चौधरी ने सुनवाई की ! इस पर कोर्ट ने कहा था कि नामांकन दाखिल करने की तारीख, चुनाव की तारीख और परिणाम की घोषणा की तारीख पर अलो रानी सरकार बांग्लादेश की नागरिक थीं ! कोर्ट ने आगे कहा, याचिकाकर्ता के स्वयं के दस्तावेज को देखने से पता चलता है कि याचिकाकर्ता को 2021 का विधानसभा चुनाव लड़ने का कोई अधिकार नहीं था !

प्रकरणस्य शृणुन् कोलकाता उच्च न्यायालयं अकथयत् स्म, कदाचित् सा भारतस्य नागरिक नास्ति, अतएव सा लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, १९५० इत्या: धारा १६ इत्या सह पठितं संविधानस्यानुच्छेद १७३ इत्या: संदर्भे कस्यैव राज्यस्य विधायिकायां निर्वाचनस्य योग्य न भविष्यति !

मामले की सुनवाई करते हुए कलकत्ता उच्च न्यायालय ने कहा था, चूँकि वह भारत की नागरिक नहीं हैं, इसलिए वह लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1950 की धारा 16 के साथ पढ़े गए संविधान के अनुच्छेद 173 के संदर्भ में किसी राज्य की विधायिका में चुने जाने के योग्य नहीं होगी !

अलो रानी दृढ़कथनम् कृतवती स्म तत बांग्लादेश्यां तस्य भर्तु: पैतृक स्थानस्य मतदाता सूच्यां असाधु प्रकारेण तस्या: नाम सम्मेलयत् स्म ! कोलकाता उच्चन्यायालयं अकथयत् स्म तत टीएमसी नेता अलो रानी सर्वकार्या: पाणिग्रहण १९८० तमस्य दशके बांग्लादेशस्य नागरिक: हरेंद्र नाथ सरकारतः अभवत् स्म, यस्यानंतरम् ता केचन कालाय बांग्लादेशम् गतवती स्म !

अलो रानी ने दावा किया था कि बांग्लादेश में उनके पति के पैतृक स्थान के वोटर लिस्ट में गलत तरीके से उनका नाम शामिल हो गया था ! कलकत्ता हाई कोर्ट ने कहा था कि टीएमसी नेता अलो रानी सरकार की शादी 1980 के दशक में बांग्लादेश के नागरिक हरेंद्र नाथ सरकार से हुई थी, जिसके बाद वो कुछ वक्त के लिए बांग्लादेश गई थीं !

यद्यपि, यदा भर्तातः निर्वहनम् नभवत् तु पुनः भारत आगतवती ! स्वकथने अलो रानी ५ नवंबर २०२० तमम् मतदाता सूच्या बांग्लादेशस्य राष्ट्रीय परिचय पत्रतः (एनआईसी) स्वनाम निरस्तकर्तुं आवेदनम् कृतवती स्म ! २९ जून २०२१ तमम् वरिष्ठ जनपद निर्वाचन अधिकारिन् (बरिसाल) बांग्लादेशस्य मतदाता सूचीतः तस्या: नाम निर्वर्तस्य संस्तुति कृतासीत् !

हालाँकि, जब पति से नहीं बनी तो वो फिर से भारत चली आईं ! अपने हलफनामे में अलो रानी ने 5 नवंबर 2020 को वोटर लिस्ट और बांग्लादेश के राष्ट्रीय पहचान पत्र (एनआईसी) से अपना नाम कैंसिल कराने के लिए अप्लाई किया था ! 29 जून 2021 को वरिष्ठ जिला चुनाव अधिकारी (बरिसाल) ने बांग्लादेश की वोटर लिस्ट से उनका नाम हटाने की सिफारिश की थी !

उल्लेखनियमस्ति तत अलो रानी सरकार ३१ मार्च २०२१ तमम् बनगांव दक्षिण निर्वाचन क्षेत्रस्य स्वनामांकनावेदिता स्म ! यस्मै मतदान २२ अप्रैल २०२१ तममभवत् स्म २ मई च् यस्य परिणामागतवत् ! निर्वाचनस्य काळम् टीएमसी इत्या: नेता बांग्लादेशी नागरिकासीत् ! भारते द्वितीय नागरिकता युक्त जनः निर्वाचनम् रणितुं न शक्नोति !

उल्लेखनीय है कि अलो रानी सरकार ने 31 मार्च 2021 को बनगाँव दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र से अपना नामांकन दाखिल किया था ! इसके लिए मतदान 22 अप्रैल 2021 को हुआ था और 2 मई को इसके रिजल्ट आए ! चुनाव के दौरान टीएमसी की नेता बांग्लादेशी नागरिक थीं ! भारत में दोहरी नागरिकता वाले लोग चुनाव नहीं लड़ सकते हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

फैजान:, जिशानः, फिरोज: च् एकः वृद्ध आरएसएस कार्यकर्तारं अघ्नन् ! फैजान, जीशान और फिरोज ने बुजुर्ग RSS कार्यकर्ता को मार डाला !

राजस्थानस्य देवालयं प्रति गच्छन् एकः 65 वर्षीयः वृद्धस्य वध: अकरोत् । पूर्वं मृत्युः रोगेण अभवत् इति मन्यन्ते स्म,...

हिंदू बालिका मुस्लिम बालकः च् विवाहः अवैधः मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयः ! हिंदू लड़की और मुस्लिम लड़का शादी वैध नहीं-मध्यप्रदेश हाईकोर्ट !

मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयेन उक्तम् अस्ति यत् मुस्लिम्-बालकस्य हिन्दु-बालिकायाः च विवाहः मुस्लिम्-विधिना वैधविवाहः नास्ति इति। न्यायालयेन विशेषविवाह-अधिनियमेन अन्तर्धार्मिकविवाहेभ्यः आरक्षकाणां संरक्षणस्य...

भारतं अस्माकं भ्राता अस्ति, पाकिस्तानः अस्माकं शत्रुः अस्ति-अफगानी वृद्ध: ! भारत हमारा भाई, पाकिस्तान दुश्मन-अफगानी बुजुर्ग !

सहवासिन् पाकिस्तान-देशः न केवलं भारतस्य, अपितु अफ्गानिस्तान्-देशस्य च प्रतिवेशिनी अस्ति। अफ़्घानिस्तानस्य जनाः पाकिस्तानं न रोचन्ते। अफ्गानिस्तान्-देशे भयोत्पादनस्य प्रसारकानां...

बृजभूषण शरण सिंहस्य पुत्रस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 2 बालकाः मृताः। बृजभूषण शरण सिंह के बेटे के काफिले में शामिल फॉर्च्यूनर से कुचल कर 2...

उत्तरप्रदेशस्य कैसरगञ्ज्-नगरे भाजप-अभ्यर्थी करणभूषणसिङ्घस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 3 बालकाः धाविताः। अस्मिन् दुर्घटनायां 2 जनाः तत्स्थाने एव मृताः, अन्ये...