34.1 C
New Delhi

इदं लघु-पाकिस्तानदेशः अस्ति, अत्र हिन्दूनां आगमनम् निषेध: ! ये मिनी पाकिस्तान है, यहाँ हिंदुओं का आना मना है ?

Date:

Share post:

२०२४ मे ६ दिनाङ्के छत्तीसगढस्य बिलासपुरे अर्षद्, नफीस्, शोयब्, राजा खान् अथवा सज्जद् अली इत्येतैः जीवन्दीप् सिङ्घ् नामकः सिक्ख्-युवकः आक्रमितः। जीवनदीपस्य कण्ठं परितः तुलसीमालां दृष्ट्वा, आक्रमणकारिणः तं हिन्दु इति अमन्यन्त, तं क्रूरतया प्रहारयन्, तस्य कार्-यानम् अपि भङ्गम् अकुर्वन्!

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में 6 मई 2024 को जीवनदीप सिंह नाम के सिख युवक पर अरशद, नफीस, शोएब और राजा खान उर्फ सज्जाद अली ने हमला कर दिया ! जीवनदीप के गले में तुलसी की माला देखकर हमलावरों ने उसे हिन्दू समझा और बेरहमी से पीटा और उनकी गाड़ी भी तोड़ दी !

यस्मिन् क्षेत्रे इदम् घातम् अभवत्, तेन स्थानीय जनाः लघु पकिस्तानम् कथयन्ति ! सम्प्रति सर्वे अभियुक्ताः बन्धनमुक्ताः सन्ति। प्रसारमाध्यमानां प्रतिवेदनायाः अनुगुणं तालपारा-क्षेत्रे एषा घटना अभवत्। 30 वर्षीयः जीवनदीपः बिलासपुरे यात्रा-प्रतिनिधिरूपेण कार्यं करोति।

जिस इलाके में यह हमला हुआ था, उसे स्थानीय लोग मिनी पाकिस्तान कहते हैं ! फिलहाल सभी आरोपित जमानत पर हैं ! मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह घटना तालापारा इलाके की है ! 30 वर्षीय जीवनदीप बिलासपुर में ट्रेवेल एजेंट के तौर पर काम करते हैं !

मे ६ दिनाङ्के मम कन्यायाः जन्मदिवसः आसीत्! अस्मिन् जन्मदिने, सः स्वमित्रान् अपि आमन्त्रयत्, यत्र आरिफ् नामकः एकः पुरुषः अपि आसीत्! आरिफः बिलासपुरस्य मुस्लिम्-बहुलस्य तलापर्-प्रदेशस्य निवासी अस्ति, यत् स्थानीयाः मिनी-पाकिस्तान् इति आह्वयन्ति। रात्रौ जीवनदीपः आरिफ़् इत्यस्य गृहं गत्वा तं त्यक्तवान् आसीत्।

6 मई को उनकी बेटी का जन्मदिन था ! इस जन्मदिन पर उन्होंने अपने तमाम दोस्तों को भी बुलाया था, जिनमें आरिफ नाम का शख्स भी था ! आरिफ बिलासपुर के उस मुस्लिम बहुल तालापार इलाके का रहने वाला है, जिसे स्थानीय लोग मिनी पाकिस्तान कहते हैं ! रात को जीवनदीप आरिफ को छोड़ने के लिए उसके घर गया था !

प्रत्यागमनसमये जीवनदीपः स्वकारवाहनं प्रारब्धवान्, तत्र स्थिताः केचन जनाः तस्य नेत्रेषु हेडलाइट् इत्यस्य प्रकाशः पतितः इति तर्कं कर्तुम् आरभन्त। सज्जद् अली, सबीर्, मोहम्मद् फैज़ान्, शोयब् खान् च जीवनदीपं दूषितुम् कुवचा: दत्तुम् आरब्धवन्तः इति आरोपः अस्ति।

वापसी के दौरान जीवनदीप ने अपनी कार स्टार्ट की तो वहाँ खड़े कुछ लोगों ने हेडलाइट की रौशनी आँखों में पड़ने की बात कहकर झगड़ा करने लगे ! आरोप है कि सज्जाद अली, साबिर, मोहम्मद फैज़ान और शोएब खान ने जीवनदीप को गंदी-गंदी गालियाँ देनी शुरू कर दी !

यदा जीवनदीपः विरोधं कृतवान् तदा सः कार्-यानात् निष्कासितः। पीडितस्य कण्ठं परितः तुलसीमालां दृष्ट्वा आक्रमणकारिणः तं हिन्दु इति आह्वयन्ति स्म, तं कठोरं प्रहारितुम् आरभन्ते स्म। जीवन्दीपे लाठयः, दण्डाः च प्रहारैः, मुष्ट्या च वर्षिताः आसन्! तस्य कार्-यानम् अपि भग्नम् अभवत्। सः तस्य जीवनं रक्षितवान्!

जीवनदीप ने विरोध किया तो उन्हें कार से बाहर खींच लिया गया ! पीड़ित के गले में तुलसी की माला देखकर हमलावरों ने उन्हें हिन्दू कहकर बुरी तरह पीटने लगे ! लात-घूँसों के साथ जीवनदीप पर लाठी-डंडे भी बरसाए गए ! उनकी कार भी तोड़ डाली गई ! जैसे-तैसे जीवनदीप ने अपनी जान बचाई !

तदनन्तरं सः आरक्षकस्थानकं गत्वा परिवादं दत्तवान्। आरक्षकैः आई. पी. सी. इत्यस्य धारा ३२३,४२७,२९४,३४,५०६ इत्येतयोः अन्तर्गतं प्रकरणं पञ्जीकृतम् अस्ति। आर्गनैसर् इत्यस्य प्रतिवेदनस्य अनुसारं, जीवनदीपसिङ्घः मूलतः दुर्गमण्डलस्य भिलायनगरे वासिन् अस्ति।

इसके बाद थाने में जाकर उन्होंने शिकायत दर्ज कराई ! पुलिस ने इस सभी आरोपितों के खिलाफ IPC की धारा 323, 427, 294, 34 और 506 के तहत FIR दर्ज की ! ऑर्गनाइजर की रिपोर्ट के मुताबिक, जीवनदीप सिंह मूलतः दुर्ग जिले के भिलाई शहर के रहने वाले हैं !

अनुमानतः 3 वर्षेभ्यः पूर्वं, सः स्वपरिवारेण सह बिलासपुरं प्रति स्थानान्तरितः आसीत्! जीवनदीपसिङ्घः द्वयोः पुत्रयोः पिता अस्ति। तस्य पुत्री केवलं एकमासवयस्का अस्ति! आक्रमणकारिणः तं इनोवा-कार्-यानात् अपाकृत्य पृच्छुम् आरभन्त इति आरोपः अस्ति।

लगभग 3 साल पहले वो बिलासपुर में परिवार सहित शिफ्ट हुए थे ! जीवनदीप सिंह 2 बच्चियों के पिता हैं ! उनकी छोटी बेटी महज एक माह की है ! आरोप है कि हमलावरों ने उन्हें उनकी इनोवा कार से बाहर निकाला और पूछताछ करने लगे !

अत्रान्तरे आक्रमणकारिषु एकः जीवन्दीप् सिङ्घ् इत्यस्मै उक्तवान्, “त्वं हिन्दुः! पाकिस्तानदेशे किं करोति? अत्र हिन्दूनां अनुमतिः नास्ति। अस्य प्रश्नस्य उत्तरस्य च मध्ये प्रायः इतोऽपि 10 जनाः समागताः। तेषां सर्वेषाम् हस्तेषु छुरिकाः खड्गानि च आसन् इति आरोपः अस्ति।

इसी दौरान उनमें से एक हमलावर ने जीवनदीप सिंह से कहा, तुम हिन्दू हो ! मिनी पाकिस्तान में क्या कर रहे हो ? यहाँ हिन्दुओं का आना मना है ! इसी सवाल-जवाब के बीच लगभग 10 और लोग वहाँ जमा हो गए ! आरोप है कि इन सभी के हाथों में चाकू और तलवार भी थे !

ते आगत्य एव जीवनदीपसिङ्घं आक्रान्तवन्तः। बन्धनात् परं, सर्वे चत्वारः अभियुक्ताः अधुना प्रतिभूताः इति कथ्यते! अधुना सर्वे अभियुक्ताः जीवनदीपं धमयन्ति इति आरोपः अस्ति। जीवन्दीप् सिङ्घ् इत्यपि प्रकरणं प्रत्याहरन्तुं पीडितः अस्ति!

उन्होंने आते ही जीवनदीप सिंह पर हमला कर दिया ! बताया जा रहा है कि गिरफ्तारी के बाद अब सभी चारों आरोपित जमानत पा चुके हैं ! आरोप है कि अब सभी आरोपित जीवनदीप को धमकी दे रहे हैं ! जीवनदीप सिंह पर केस को वापस लेने का भी दबाव बनाया जा रहा है !

यथा शीघ्रं सः प्रतिभूतेन मुक्तः अभवत्, सज्जद् अली स्वसहयोगीभिः सह पुनः स्वक्षेत्रे, समीपस्थेषु क्षेत्रेषु च आतङ्कं जनयितुं आरब्धवान्। सज्जद् इत्येषः खड्गं स्वीकृत्य स्थानीयनिवासिनः तथा भाजपा-नेता धनञ्जयगिरि गोस्वामी इत्येतं दूषयत्। धनञ्जयगिरिः आरक्षकालये परिवादं दातुं जीवनदीपसिङ्घस्य साहाय्यं कृतवान् आसीत्।

जमानत पर छूटते ही सज्जाद अली ने साथियों सहित अपने मोहल्ले और आसपास के इलाकों में फिर से दहशत बनानी शुरू कर दी ! सज्जाद ने तलवार निकाल कर स्थानीय निवासी और भाजपा नेता धनंजय गिरी गोस्वामी को गंदी-गंदी गालियाँ दीं ! धनंजय गिरी ने थाने में शिकायत देने में जीवनदीप सिंह की मदद की थी !

अनेन आक्रमणकारिणः तेषाम् उपरि क्रुद्धाः भवन्ति! सज्जद् अली, शोयब् खान्, मोहम्मद् फैज़ान्, सबीर् इत्येतैः सह धनञ्जयस्य खण्डान् कर्तुम् अशङ्कयत् इति आरोपः अस्ति। आक्रमणकारिणः धनञ्जयगिरिं प्रति सन्नी पाण्डे, नवीन महादेव, ईश्वर बत्रा इत्येतयोः उदाहरणानि दत्तवन्तः।

इसके कारण हमलावर उनसे नाराज हैं ! आरोप है कि सज्जाद अली ने शोएब खान, मोहम्मद फैजान और साबिर के साथ मिलकर धनंजय को टुकड़ों में काट डालने की धमकी दी! हमलावरों ने धनंजय गिरी को सनी पांडेय, नवीन महादेवा और ईश्वर बत्रा के उदाहरण दिए !

एते सर्वे हिन्दुजनाः मुस्लिम्-आक्रमकैः विभिन्नेषु प्रकरणेषु मारिताः सन्ति! धनञ्जय-वर्यं कार्यालयम् अगृह्य धमयतां चतुर्णां अभियुक्तेषु द्वौ मुख्य-अभियुक्तेन वसीम् इत्यनेन सह २०२२ फेब्रुवरी २५ दिनाङ्के नवीन-महादेवस्य हत्यायां संलग्नाः इति कथ्यते।

इन सभी हिन्दुओं की अलग-अलग मामलों में मुस्लिम हमलावर हत्या कर चुके हैं ! धनंजय को उनके ऑफिस तक जाकर धमकाने वाले चारों आरोपितों में से 2 लोग 25 फरवरी 2022 को हुए नवीन महादेवा की हत्या में मुख्य आरोपित वसीम के साथ शामिल बताए जा रहे हैं !

आरक्षकाः पुनः २६ वर्षीयं सज्जद् अली अथवा राजा इत्येनं तस्य सहचरैः सह शस्त्र अधिनियमेन गृहीतवन्तः। सज्जद्-वर्यः यत्र गुण्डागिरिं करोति स्म तस्मिन् एव क्षेत्रे एव तस्य परेड् अभवत्! आरक्षकाः तं स्वसहयोगीभिः सह न्यायालयं नीतवन्तः।

पुलिस ने 26 वर्षीय सज्जाद अली उर्फ राजा को उसके साथियों सहित फिर से आर्म्स एक्ट में गिरफ्तार कर लिया है ! सज्जाद को उसी मोहल्ले में पैदल घुमाया गया, जहाँ वो गुंडागर्दी करता था ! पुलिस उसको उसके साथियों सहित पैदल ही अदालत तक भी ले गई !

साभार-ऑपइंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रोहिंग्या-मुस्लिम्-जनाः ५००० हिन्दु-बौद्धानां गृहाणि दग्धवन्तः, तेषां दृष्टेः पुरतः सर्वं लुण्ठितवन्तः ! रोहिंग्या मुस्लिमों ने 5000 हिंदुओं-बौद्धों के घर जलाए, आँखों के सामने सब कुछ...

म्यान्मार्-देशस्य राखैन्-राज्ये सैन्य-नेतृत्वस्य जुण्टा-जातीय-विद्रोहि-समूहयोः मध्ये सङ्घर्षाः तीव्रतां प्राप्य साम्प्रदायिक-हिंसा प्रारब्धा। तत्र अस्य तनावस्य कारणात्, रोहिंज्या-जनाः हिन्दूनां बौद्धानां च...

धर्मपरिवर्तनं कारित्वा त्वया एव विवाहं करिष्यामि-मुस्लिम युवकः जुनैद: ! धर्म परिवर्तन कराकर तुमसे ही करेंगे निकाह-मुस्लिम युवक जुनैद !

उत्तरप्रदेशस्य अलीगढ-मण्डले, मुस्लिम्-युवकाः परीक्षार्थं उपस्थितां हिन्दु-बालिकाम् अनुधावन्, तां मार्गे चालयितुं प्रयतन्ते स्म। न केवलं, अभियुक्तः अपि पीडितस्य गृहं...

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...