32.1 C
New Delhi

हाथरस कांड: सीबीआई के सामने होंगी कई चुनौतियां, सच बाहर आने की उम्मीद

Date:

Share post:

उत्तर प्रदेश में हाथरस कांड की जांच कर रही सीबीआई को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। जिसमें सबसे बड़ी चुनौती होगी शुरुआत में पीड़िता के शरीर और कपड़ों से सही तरीके से सैंपल का न लिया जाना। पुलिस की यह बड़ी लापरवाही सीबीआई जांच में अड़चनें पैदा करेगी।

11 दिन बाद लिए गए थे पीड़िता के सैंपल

बता दें कि, सीबीआई से पहले यूपी सरकार द्वारा गठित एसआईटी की एक टीम इस मामले की जांच कर रही थी। जिसके बाद अब सीबीआई ने मामले को अपने हाथ में ले लिया है। सीबीआई को अगर पीड़िता के शव की जांच करने को मिलती तो कई बड़े खुलासे हो सकते थे। वहीं, हाथरस पुलिस द्वारा गैंगरेप की जांच के लिए पीड़िता के शरीर से 11 दिन बाद सैंपल लिए गए थे। फॉरेंसिक एक्सपर्ट के मुताबिक अगर तय समय सीमा के अंदर पीड़िता के सैंपल नहीं लिए गए होंगे तो रेप की पु्ष्टि मुश्किल है। यह भी पक्का नहीं है कि पुलिस ने वारदात के दौरान पीड़िता द्वारा पहने कपड़ों को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा है या नहीं। एक्सपर्ट के मुताबिक अगर वारदात के एक सप्ताह के बाद वजाइनल स्वॉव जांच के लिए लिया जाता है तो उस पर सीमेन डीएनए मिलना मुश्किल होता है, क्योंकि शरीर में बनने वाले फ्यूयड के चलते ये धुल जाते हैं।

14 की सुबह क्या हुआ था?

सीबीआई के लिए सबसे बड़ी और अहम चुनौती होगी कि 14 सितंबर की सुबह क्या हुआ। क्योंकि पीड़ित पक्ष की तरफ से तीन बार अलग-अलग बयान दिए गए हैं। वहीं मामले को लेकर ग्रामीण कुछ और ही बयान दे रहे हैं। कुछ दिन पहले मामले में आरोपियों ने हाथरस एसपी को एक चिठ्ठी लिखकर खुद को निर्दोष बताया था और पीड़ित परिजनों पर गंभीर आरोप लगाए थे। वहीं, बिना किसी तटस्थ प्रत्यक्षदर्शी की गवाही के दोनों पक्षों में से सच कौन बोल रहा है, यह पता लगाना काफी मुश्किल होगा। फिलहाल सीबीआई की एक टीम हाथरस पहुंच कर मामले की जांच में जुट गई है। उम्मीद लगाई जा रही है कि सीबीआई जांच से मामले में सच बाहर आ सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

फैजान:, जिशानः, फिरोज: च् एकः वृद्ध आरएसएस कार्यकर्तारं अघ्नन् ! फैजान, जीशान और फिरोज ने बुजुर्ग RSS कार्यकर्ता को मार डाला !

राजस्थानस्य देवालयं प्रति गच्छन् एकः 65 वर्षीयः वृद्धस्य वध: अकरोत् । पूर्वं मृत्युः रोगेण अभवत् इति मन्यन्ते स्म,...

हिंदू बालिका मुस्लिम बालकः च् विवाहः अवैधः मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयः ! हिंदू लड़की और मुस्लिम लड़का शादी वैध नहीं-मध्यप्रदेश हाईकोर्ट !

मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयेन उक्तम् अस्ति यत् मुस्लिम्-बालकस्य हिन्दु-बालिकायाः च विवाहः मुस्लिम्-विधिना वैधविवाहः नास्ति इति। न्यायालयेन विशेषविवाह-अधिनियमेन अन्तर्धार्मिकविवाहेभ्यः आरक्षकाणां संरक्षणस्य...

भारतं अस्माकं भ्राता अस्ति, पाकिस्तानः अस्माकं शत्रुः अस्ति-अफगानी वृद्ध: ! भारत हमारा भाई, पाकिस्तान दुश्मन-अफगानी बुजुर्ग !

सहवासिन् पाकिस्तान-देशः न केवलं भारतस्य, अपितु अफ्गानिस्तान्-देशस्य च प्रतिवेशिनी अस्ति। अफ़्घानिस्तानस्य जनाः पाकिस्तानं न रोचन्ते। अफ्गानिस्तान्-देशे भयोत्पादनस्य प्रसारकानां...

बृजभूषण शरण सिंहस्य पुत्रस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 2 बालकाः मृताः। बृजभूषण शरण सिंह के बेटे के काफिले में शामिल फॉर्च्यूनर से कुचल कर 2...

उत्तरप्रदेशस्य कैसरगञ्ज्-नगरे भाजप-अभ्यर्थी करणभूषणसिङ्घस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 3 बालकाः धाविताः। अस्मिन् दुर्घटनायां 2 जनाः तत्स्थाने एव मृताः, अन्ये...