17.9 C
New Delhi

“कवच” भारतीय रेल का नया सुरक्षा सिस्टम। रेल दुर्घटना रोकने में मददगार साबित होगा।

Date:

Share post:

भारतीय रेलवे ने शुक्रवार 4 मार्च को रेलवे से जुड़ी टेक्नोलॉजी कवच का रेल मंत्री अश्विनी अश्विनी वैष्णव की मौजूदगी में ट्रायल किया।


यह सफल परीक्षण ट्रायल लिंगमपल्ली विकाराबाद सेक्शन दक्षिण मध्य रेलवे पर किया गया


क्या आप इस कवच के बारे में जानते हैं?


कवच दरअसल भारत में डिवेलप किया गया ऑटोमेटिक ट्रेन प्रोटेक्शन सिस्टम है। रेलवे ने इसे भारत में बनाया है। इसका मकसद ट्रेनों की टक्कर को रोकना है, ताकि दुर्घटनाएं ना हो और लोगों की जान ना जाए।


अगर एक ही ट्रैक पर दो ट्रेनें आमने सामने हो तो कवच टेक्नोलॉजी ट्रेन की स्पीड कम कर इंजन में ब्रेक लगाती है।
इससे दोनों ट्रेनें आपस में टकराने से बच जाएंगी, रेल मंत्री ने कहा कि कवच टेक्नोलॉजी को इस साल 2000 किलोमीटर रेल नेटवर्क पर इस्तेमाल में लाया जाएगा।


इसके बाद हर साल 4000 से 5000 किलोमीटर नेटवर्क जुड़ते जाएंगे ।
कवच टेक्नोलॉजी को देश के तीन वेंडर्स के साथ मिलकर आरडीओ रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड्स फॉर ऑर्गेनाइजेशन एंड डिवेलप किया है ।


भारतीय रेल ने यह कवच टेक्नोलॉजी खुद डिवेलप किया है, ताकि पटरी पर दौड़ती ट्रेनों की सेफ्टी सुनिश्चित की जा सके और एसडीओ ने इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल के लिए ट्रेन की स्पीड लिमिट 160 किलोमीटर प्रति घंटा रखी है।


कवच को साल 2020 में नेशनल ऑटोमेटिक ट्रेन प्रोटेक्शन सिस्टम के तौर पर अपनाया गया था कवच एक S4 प्रमाणित टेक्नोलॉजी है


यह सेफ्टी का हाईएस्ट लेवल है, कवच को दिल्ली मुंबई, दिल्ली हावड़ा स्वर्णिम चतुर्भुज और स्वर्ण विकर्ण रोड पर इस्तेमाल पहले किया जाएगा।


कवच सिस्टम ब्रेक के ऑटोमेटिक एप्लीकेशन के द्वारा ट्रेन की स्पीड को कंट्रोल करता है। जब लोको पायलट ऐसा करने में असफल रहता है।


रेलवे के मुताबिक यह सिस्टम ज्यादा फ्रिकवेंसी के रेडियो कम्युनिकेशन का इस्तेमाल करके लगातार मूवमेंट करने के सिद्धांत पर काम करता है।


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की सरकार की यह सबसे बड़ी उपलब्धि मानी जाएगी। रेलवे में यह बहुत बड़ी समस्या थी ट्रेन दुर्घटना की, लेकिन कवच के आने के बाद इस पर काफी हद नियंत्रण पा लिया जाएगा।

https://twitter.com/AshwiniVaishnaw/status/1499678972581650433?t=FWldxPYi8Lf4y56QVPj0yA&s=19

https://www.tv9hindi.com/utility-news/indian-railways-new-kavach-protection-system-introduced-explained-in-hindi-1094201.html

https://www.zeebiz.com/hindi/railways/indian-railways-kavach-indigenously-developed-automatic-train-protection-system-works-and-other-details-here-75915

https://www.abplive.com/states/delhi-ncr/watch-indian-railways-kavach-stopped-train-from-160-km-speed-ashwini-vaishnaw-tested-train-protection-technology-ann-2074462

Raunak Nagar
Raunak Nagar
हिन्दू हूं मुझे इसी बात पर गर्व है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

अवयस्का हिंदू बालिकामताडयत्, अलिहत् स्व ष्ठीव्, मोहम्मद मुश्ताक: बंधनम् ! नाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार !

बिहारस्य पूर्णियायां एकावयस्का हिंदू बालिकां ष्ठीव् लिहस्य प्रकरणम् संमुखमगच्छत् ! आरोपं अस्ति तत बालिकया: स्तंम्भे निबध्य ताडनमपि अकरोत्...

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...