33.1 C
New Delhi

‘द कश्मीर फाइल्स’ ने मचाई जिहादियों में खलबली, फिल्म के कलाकार सौरव वर्मा को भद्दी गालियां और धमकियाँ दी

Date:

Share post:

जब से ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म रिलीज हुई है, ऐसा लग रहा है कि जैसे सेकुलरो, लिबरलों और जिहादियों की बाम्बी में किसी ने पिघला हुआ सीसा डाल दिया हो। रोजाना कोई ना कोई नेता, अभिनेता, पत्रकार या सेलेब्रिटी इस फिल्म के मुद्दे पर अपनी फजीहत करवा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ एक धर्मांध लोगो का समूह है, जिसे इस फिल्म के बहाने एक बार फिर से समाज में नफरत फैलाने का मौका मिल गया है।

‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म में एक किरदार है आतंकवादी का, जो बिट्टा कराटे के साथ घूमता है, उस किरदार को निभाया है सौरव वर्मा ने, जो एक बेहतरीन कलाकार हैं, और इस किरदार द्वारा उन्होंने असरदार अभिनय कि छाप छोड़ी है। सौरव अपने ट्विटर अकाउंट पर इस फिल्म से जुड़े किस्से शेयर करते रहते हैं । फिल्म में दिखाए अपने किरदार के एकदम विपरीत सौरव वर्मा एक बेहद ही विनम्र और देशभक्त इंसान हैं, और शायद यही उनका दोष है कुछ लोगो की नज़रो में।

सौरव ने अपने एक ट्वीट में, इन ख़ास लोगो के बेहद शर्मनाक व्यवहार का उदाहरण लोगो के सामने प्रस्तुत किया है । सौरव के इस ट्वीट में कश्मीर के एक जिहादी वहीद वानी ने उन्हें बेहूदा गालिया बकी हैं और धमकिया भी दी हैं। हमे ये सब यहाँ शेयर करते हुए भी बहुत बुरा लग रहा है, लेकिन इस ख़ास वर्ग की असलियत सबके सामने लाना ही हमारा ध्येय है।

कमाल की बात है कि इन बातो पर किसी भी बॉलीवुड वाले कलाकार ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। कहने को ये लोग ‘अभिव्यक्ति की आजादी’ का राग अलापते हैं, लेकिन कोई भी इनके विचारो के विपरीत फिल्म या कार्यक्रम बनाये, तो इन्हे बहुत ईर्ष्या होती है, और ये कभी उनका सहयोग नहीं करते।

वहीं जिहादियों की बात की जाए तो ये लोग अपने बेहद खौफनाक विचारो को सामने लाने का कोई भी मौका नहीं छोड़ते। ये वही लोग हैं जो भारतीय सैनिको की मौत पर हँसते हैं, भारत के बड़े नायको की मृत्यु पर हँसते हैं, भारत की प्रगति की खबरों का मखौल उड़ाते हैं। ‘द कश्मीर फाइल्स ‘ ने इन जिहादी तत्वों की सच्चाई दुनिया के सामने रख दी है, और इस वजह से ये लोग तिलमिलाए हुए हैं, लेकिन अब कर ही क्या कर सकते हैं, जनता को इनका सच पता लग गया है, और कहीं ना कहीं फिल्म अपने ध्येय में सफल हुई है।

वहीं हम सौरव वर्मा का भरपूर समर्थन करते हैं, हम एक कलाकार की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का समर्थन करते हैं, और सरकार से विनती करते हैं कि ऐसे जिहादी तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

पञ्जाबे सर्वाः जी मीडिया चैनल प्रतिबन्धिताः, एषा पत्रिका-स्वातन्त्र्यस्य उपरि आक्रमणं नास्ति वा ? पंजाब में जी मीडिया के सभी चैनल बैन, क्या यह प्रेस...

पञ्जाबे सर्वाः जी न्यूज चैनल प्रतिबन्धिताः सन्ति। चैनल तस्य घोषणा कृता अस्ति ! पञ्जाबे जी-मीडिया इत्यस्य सर्वाः चैनल...

६ जैन साध्व्यः मार्गेण गच्छन्तः आसन्, अल्ताफ् हुसैन् शेखः प्रथमं तान् अनुधावन् ततः पट्ट्या प्रहारं कृतवान् ! सड़क से गुजर रहीं थी 6 जैन...

गुजरातस्य भरूच्-नगरे, अल्ताफ् हुसैन् शेख् नामकः एकः पुरुषः मार्गे गच्छतां जैन साध्वीं आक्रान्तवान्। जैनः साध्वीं आक्रमनात् पूर्वं दीर्घकालं...

फतेहपुरस्य शिव-कवितायो: पुनः गृहागमनस्य कथा ! फतेहपुर के शिव-कविता की घरवापसी की कहानी !

उत्तरप्रदेशस्य फ़तेह्पुर्-नामकस्य उजाड़ेग्रामे, २० वर्षेभ्यः पूर्वं इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य वञ्चितः एकः हिन्दु-दम्पती इदानीं हिन्दु-मतं प्रति प्रत्यागतः अस्ति! शिवप्रसादलोधिः, कविता...

वाहिद कुरैशी इत्यनेन मथुरायाः पञ्जाबी बाजार इत्यस्य नाम इस्लामिक बाजार इति परिवर्तितम् ! मथुरा की पंजाबी बाजार के नाम को वाहिद कुरैशी ने बदलकर...

उत्तरप्रदेशस्य मथुरा-जनपदस्य कोसिकलां ग्रामे एकः मुस्लिम्-दुकानदारः विपण्याः नाम परिवर्तितवान्। सः स्वस्य स्थानात् प्रदत्तानां वस्तूनां प्रचारसामग्रीनां च सञ्चिकासु पञ्जाबी-बजार्...