बीजेपी लीडर मंगल प्रभात लोढ़ा का बहुत बड़ा खुलासा – ‘मालवणी पैटर्न’, एक साजिश हिन्दुओ को भगा कर बांग्लादेशी और रोहिंग्या को बसाने की

0
1009
Picture Credit - Maharashtra Assembly

कहने तो तो हम एक सेक्युलर देश में रहते हैं, लेकिन हमारे देश के सेकुलरिज्म का मतलब होता है एकतरफा धर्म का अनुपालन करना , जहाँ बहुसंख्या हिन्दुओ के लिए कोई जगह नहीं। अब तो बाकायदा हिन्दुओ को ही देश में ही रिफ्यूजी बनाने और भगाने के प्रयत्न हो रहे है।

इस मामले में बीजेपी के नेता मंगल प्रभात लोढ़ा जी ने एक बड़ा ही खौफनाक खुलासा किया है , उन्होंने ‘मालवणी पैटर्न’ की बात की है , जिसका प्रयोग मुस्लिम समाज कर रहा है हिन्दुओ को उन्ही के इलाको से भगाने के लिए, जैसे कश्मीरी पंडितो को भगाया था।

क्या है मालवणी पैटर्न ?

ये एक जिहादी तरीका है, जिसका प्रयोग करके किसी भी इलाके के हिन्दुओ को डराया जाता है, मारा जाता है, हत्याएं की जाती हैं, ताकि वो लोग डॉ के मारे वहां से भाग जाएँ । इनका एक मात्र ध्येय होता है हिन्दुओ की प्रॉपर्टी पर कब्ज़ा करना, उन्हें उन्ही के इलाको में अकेला करना, असुरक्षति करना, उन इलाको में डेमोग्राफिक बदलाव लाया जाता है, और फिर एक दिन हिन्दू वहां अपना घर बार बेच क्र भाग जाता है, इसके उदहारण है कश्मीर, कैराना , मेवात , मालदा, और आसाम के कुछ इलाके।

एक ताज़ा घटना हुई है महाराष्ट्र के मालवणी में, जहां मालवणी में रहने वाले 2 युवाओं को, वहां के कुछ मुस्लिम गुंडों ने बर्बरता से पीटा। चारकोप पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।

इस मामले पर बीजेपी नेता लोढ़ा ने महाराष्ट्र विधानसभा में भी काफी तथ्य दिए थे। उन्होंने बताया था की मलाड-मालवणी इलाके में हिन्दू वोटर्स की संख्या 15000 कम हो गयी वहीं मुस्लिमो की संख्या 12000 बढ़ गयी है।

हम इन बातो से सहमत हैं, ये एक बहुत ही बड़ी साजिश है हिन्दुओ के खिलाफ, उनका संहार करने की, उन्हें उन्ही के इलाको से भगाने के लिए मुसलमानो ने मालवणी पैटर्न का इस्तेमाल करने का सोच लिया है, ऐसे में हिन्दुओ को भी तैयारी करनी ही पड़ेग। हम हिंसा का समर्थन नहीं करते, लेकिन आत्मरक्षा तो करनी ही पड़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here