42.9 C
New Delhi

मिशनरी-विद्यालये बालस्य शिखा अपहृतः, तस्य नाम कर्तुम् अशङ्कयत्, तिलकं प्रयुज्यत इति निन्दितः? मिशनरी स्कूल में काट ली बच्चे की शिखा, नाम काटने की धमकी, तिलक लगाने पर भी डाँटा ?

Date:

Share post:

उत्तर्प्रदेश्-राज्यस्य बलिया-नगरस्य एका निजीविद्यालये एकस्मिन् हिन्दुछात्रस्य वेणी कटा जाता। पीडितस्य छात्रस्य व्याक्क्सीन् अपि आक्षेपितः आसीत्! सेण्ट्-मेरीस् इति नाम्नः मिशनरी-विद्यालयात् एषा घटना घोषिता अस्ति। यदा पीडितायाः माता एतस्मिन् विषये आक्षेपं कर्तुम् आगतवती तदा सा अपि शोषिता अभवत्!

उत्तर प्रदेश के बलिया में एक निजी स्कूल में हिन्दू छात्र की चोटी काटे जाने का मामला सामने आया है ! पीड़ित छात्र के टीके पर भी आपत्ति जताई गई ! घटना एक मिशनरी स्कूल की बताई जा रही है जिसका नाम सेंट मेरीज है ! जब पीड़ित की माँ इसकी शिकायत करने पहुँची तो उनके साथ भी अभद्रता की गई !

घटना गुरुवासरस्य (मे २, २०२४) अस्ति। अस्मिन् प्रकरणे बालकस्य पितरौ विद्यालयस्य मुख्याध्यापकं प्रति, आरक्षकान् प्रति च परिवादं कृतवन्तः। विद्यालयस्य मुख्याध्यापिकायाः नाम सिस्टर् मर्सी दास् इति अस्ति। परिवादे, विद्यालयस्य अन्तः धर्मान्तरणं इत्यादीनि षड्यन्त्रानि कल्प्यन्ते इति शङ्कितम् अस्ति।

घटना गुरुवार (2 मई, 2024) की है ! इस मामले में छात्र के पिता ने स्कूल की एक टीचर और प्रिंसिपल के खिलाफ पुलिस में तहरीर दी है ! स्कूल की प्रिंसिपल का नाम सिस्टर मर्सी दास है ! शिकायत में स्कूल के अंदर धर्म-परिवर्तन जैसी साजिशें रची जाने की आशंका जताई गई है !

आरक्षकैः एफ्. ऐ. आर्. पञ्जीकृतं, अन्वेषणं च आरब्धम्। एषा घटना बालानगर आरक्षक क्षेत्रक्षेत्रे अभवत्। अत्र मरियम्पुर्-राघोपुर्-क्षेत्रे एकं सेण्ट्-मेरीस्-विद्यालयम् अस्ति यत् क्रिश्चियन्-धर्मप्रचारकैः सञ्चाल्यते इति कथ्यते! विवेकानन्दसिङ्घस्य पुत्रः प्रभाकरः तस्मिन् एव विद्यालये चतुर्थवर्गस्य छात्रः अस्ति।

पुलिस ने FIR दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है ! यह मामला बलिया के थाना क्षेत्र रसड़ा का है ! यहाँ के मरियमपुर राघोपुर इलाके में सेंट मेरीज स्कूल है जो कि ईसाई मिशनरियों द्वारा संचालित बताया जा रहा है ! विवेकानंद सिंह का बेटा प्रभाकर इसी स्कूल में कक्षा 4 का छात्र है !

सः सनातनपरम्पराम् अनुसृत्य शिखरं धारयति! प्रभाकरस्य माता स्वपुत्रं कपाले तिलकेन सह विद्यालयं प्रेषयति! मे-मासस्य 2 दिनाङ्के प्रभाकरः प्रतिदिनम् इव विद्यालयं गतवान्! ततः तत्र शिक्षकाः आसन्! प्रभाकरसिङ्घस्य शिखरं दृष्ट्वा ते स्तब्धाः अभवन्!

वह सनातन परम्परा का पालन करते हुए चोटी रखता है ! प्रभाकर की माँ अपने बेटे के माथे पर तिलक लगा कर स्कूल भेजती हैं ! 2 मई को प्रभाकर हर दिन की तरह स्कूल गया ! तब यहाँ क्लास टीचर बच्चों की हाजिरी लगा रहे थे ! वो प्रभाकर सिंह की चोटी देख कर भड़क गए !

विवेकानन्दः आरोपं कृतवान् यत् तस्य वर्गशिक्षकः स्वपुत्रं वेणीरूपेण रक्षितवान् इति तं दूषयत् इति। सः अवदत्, “त्वं अत्र आगतवान् वा? चणकस्य उत्पादनं कृत्वा व्याक्क्सिनेषन् कृत्वा अत्र आगन्तुं कठोरतया निषिद्धम् अस्ति! तदनन्तरं वर्गशिक्षकः प्रभाकरस्य वेणी कात्रीभिः कर्तितवान् इति आरोपः अस्ति।

विवेकानंद का आरोप है कि क्लास टीचर ने उनके बच्चे को चोटी रखने पर डाँटा ! उन्होंने कहा, चुटिया बढ़ा कर आए हो यहाँ पर ? चुटिया बढ़ा कर और टीका लगा कर यहाँ आना सख्त मना है ! आरोप है कि इसके बाद क्लास टीचर ने कैंची से प्रभाकर की चोटी काट दी !

यदा बालकस्य माता एतत् जानाति स्म, सा अभियोगं कर्तुं विद्यालयं गतवती! बालस्य माता न केवलं वर्गशिक्षकेन अपितु मुख्याध्यापकेन अपि शोषिता इति आरोपः अस्ति। कथितं यत् तौ उभौ उक्तवन्तौ, यत् कर्तव्यं तत् करोतु! ऑप इण्डिया इत्यस्य समीपे आक्षेपस्य प्रतिलिपिः अस्ति!

जब बच्चे की माँ को इसकी जानकारी हुई तो वो शिकायत करने स्कूल गईं ! आरोप है कि तब बच्चे की माँ से क्लास टीचर ही नहीं बल्कि प्रिंसिपल ने भी अभद्रता की ! आरोप है कि इन दोनों ने कहा, जो करना है कर लो ! ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है !

परिवादे पीडितः इतोऽपि अलिखत् यत् सोमवासरे यदा बालकः विद्यालयं आगतः तदा मुख्याध्यापकः वर्गशिक्षकः च तं द्रष्टुं धमयन् इति। पीडितस्य पिता विवेकानन्दः, सेण्ट्-मेरीस्-विद्यालये हिन्दुधर्मस्य अपमानः कृतः इति आरोपं कृतवान्।

शिकायत में पीड़ित ने आगे लिखा है कि प्रिंसिपल और क्लास टीचर द्वारा सोमवार को बच्चे के स्कूल आने पर उसे देख लेने की भी धमकी दी गई थी ! पीड़ित के पिता विवेकानंद ने सेंट मेरीज स्कूल में हिन्दू धर्म के अपमान का आरोप लगाया है !

ते अत्र छात्रान् बलात् धर्मान्तरणं कर्तुम् अशङ्काः अपि दत्तवन्तः! शनिवासरे (मे ४, २०२४) आरक्षकैः अस्मिन् प्रकरणे मुख्याध्यापकस्य वर्गशिक्षकस्य च विरुद्धं प्राथमिकी पञ्जीकृतम् अस्ति! द्वौ अपि आई. पी. सी. इत्यस्य २९५-ए, ५०४ तथा ५०६ धाराभिः पञ्जीकृताः सन्ति।

उन्होंने यहाँ छात्रों को धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर करने की भी आशंका जताई है ! शनिवार (4 मई, 2024) को पुलिस ने इस मामले में प्रिंसिपल और क्लास टीचर के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है ! इन दोनों पर IPC की धारा 295- A, 504 और 506 के तहत कार्रवाई की गई है !

आरक्षकाः प्रकरणस्य अन्वेषणं प्रारभन्त। वैरल् इत्यस्मिन् दृश्यचित्रे बालकः अवदत् यत् सः वेणी विना विद्यालयं आगन्तुं आदिष्टः इति। सः बालकः अपि अवदत् यत् तस्य नाम अपि अभियुक्तेन शङ्कितम् आसीत् इति।

बलिया पुलिस ने मामले की जाँच शुरू कर दी है ! वायरल हो रहे एक वीडियो में बच्चे ने बताया कि उनको स्कूल में बिना चोटी के आने के लिए कहा गया ! बच्चे ने यह भी बताया कि उसका नाम भी काटने की धमकी आरोपितों द्वारा दी गई !

साभार-ऑपइंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...

यूरोपीय मीडिया भारतस्य विषये मिथ्या-वार्ताः प्रदर्शयन्ति-ब्रिटिश वार्ताहर: ! यूरोपीय मीडिया भारत के बारे में दिखाता है झूठी खबरें-ब्रिटिश पत्रकार !

पाश्चात्य मीडिया भारतं प्रति पक्षपाती सन्ति। सा केवलं तेभ्यः एव भारतस्य वार्ताभ्यः महत्त्वं ददति ये किंवदन्तीषु विश्वसन्ति! परन्तु,...

गुजरात सर्वकारस्यादेशानुसारं मदरसा भ्रमणार्थं शिक्षिकोपरि आक्रमणं जातम् ! गुजरात सरकार के आदेश पर मदरसे का सर्वे करने पहुँचे शिक्षक पर हमला !

गुजरात्-सर्वकारस्य आदेशात् परं अद्यात् (१८ मे २०२४) सम्पूर्णे राज्ये मद्रासा-सर्वेः आरब्धाः सन्ति। अत्रान्तरे अहमदाबाद्-नगरे मदरसा सर्वेक्षणस्य समये एकः...