21.8 C
New Delhi

कश्मीरम् गाजा नास्ति, सम्यक् स्थित्या: श्रेय पीएम मोदिम् अमित शाहम् च्-शेहला रशीद: ! कश्मीर गाजा नहीं है, बेहतर हालात का श्रेय PM मोदी और अमित शाह को-शेहला रशीद !

Date:

Share post:

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालयस्य पूर्व छात्र नेता शेहला रशीद: पीएम मोदिण: प्रशंसक भवितुं गच्छते ! अधुनापि एकं मासमपि न विगत सा द्वितीयदा च् तस्य प्रशंसा कृतवती ! वस्तुतः, वार्ता संस्थान एएनआई इत्या भौमवासरम् (१४ नवंबर, २०२३) साकथयत् तत ता कश्मीरे वर्तमान स्थित्यै पीएम मोदिण: कृतज्ञ: सन्ति !

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) की पूर्व छात्र नेता शेहला रशीद ने पीएम मोदी की मुरीद हुई जा रही है ! अभी एक महीना भी नहीं बीता और उन्होंने दूसरी बार उनकी तारीफ के पुल बाँधे हैं ! दरअसल, न्यूज एजेंसी ANI से मंगलवार (14 नवंबर, 2023) को उन्होंने कहा कि वो कश्मीर में मौजूदा हालात के लिए पीएम मोदी की आभारी हैं !

तस्या: यदा इदमपृच्छत् तत ता प्रथम प्रस्तर प्रहारकै: संवेदनाम् धरोति तु शेहला उत्तरम् दत्तवती तताम् ता २०१० तमे तस्मै संवेदना धरोति स्म ! साग्रमकथयत्, तु अद्य, यदाहम् येन पश्यामि, तु अहमद्यस्य स्थित्यै बहु अधिकं कृतज्ञ: अस्मि !

उनसे जब ये पूछा गया कि वो पहले पत्थरबाजों से सहानुभूति रखती है तो शेहला ने जवाब दिया कि हाँ वो 2010 में उनके लिए सहानुभूति रखती थी ! उन्होंने आगे कहा, लेकिन आज, जब मैं इसे देखती हूँ, तो मैं आज के हालात के लिए बहुत अधिक आभारी हूँ !

कश्मीर गाजा नास्ति ! इदम् स्पष्टमभवत् तत कश्मीर गाजा नास्ति, कदाचित् कश्मीरे केवलं यदा-कदा भवकानि विरोध प्रदर्शनानि सहितं उग्रवादस्यानाधिकृतविशस्य च् किंचित घटना: अभवन् ! शेहला रशीद जम्मू-कश्मीरे परिवर्तनेभ्यः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदिण: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाहस्य च् नीती: क्रेडिट इति दत्तवती !

कश्मीर गाजा नहीं है ! यह साफ हो गया है कि कश्मीर गाजा नहीं है, क्योंकि कश्मीर में महज गाहे-बगाहे होने वाले विरोध प्रदर्शनों सहित उग्रवाद और घुसपैठ की छिटपुट वारदातें हुई हैं ! शेहला रशीद ने जम्मू-कश्मीर में बदलावों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की नीतियों को क्रेडिट दिया !

साकथयत्, एतेभ्यः वस्तुभ्यः, कश्चित जनान् विश्रामः सांत्वना च् दत्तस्यावश्यकतासीत् यस्मै चहम् वर्तमान सर्वकारम् श्रेयदत्तुमिच्छामि ! विशेषतः प्रधानमंत्री गृहमंत्री महोदयौ ! इदम् प्रथमदा नासीत् यदा शेहला रशीद जम्मू-कश्मीरस्य स्थित्या: संपादनस्य प्रशंसा कृतवती !

उन्होंने कहा, इन सभी चीजों के लिए, किसी को लोगों को राहत और सांत्वना देने की जरूरत थी और इसके लिए मैं मौजूदा सरकार को श्रेय देना चाहूँगी ! खासकर प्रधानमंत्री और गृह मंत्री जी को ! यह पहली बार नहीं था जब शेहला रशीद ने जम्मू-कश्मीर के हालात के सुधरने की तारीफ की !

दृष्टिगतमस्ति तत जेएनयू इत्या: पूर्वनेता रमति रशीद ५ अगस्त, २०१९ तमम् जम्मू-कश्मीरे स्वायत्त स्थितिम् निरस्तकं अनुच्छेद ३७० इतम् निर्वर्तकं द्वे केंद्र शासित प्रदेशे विभक्तकृते मोदी सर्वकारस्य निर्णयस्य विशेषालोचना कृतवती !

गौरतलब है कि जेएनयू की पूर्व लीडर रही रशीद 5 अगस्त, 2019 को जम्मू और कश्मीर में स्वायत्त स्थिति को रद्द करने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने वाले और दो केंद्र शासित प्रदेशों को अलग-अलग करने पर मोदी सरकार के फैसले की खासी आलोचना कर चुकी हैं !

तु अस्य वर्षस्य अक्टूबरमासस्यारभे एव सा केंद्रे पीएम मोदिण: नेतृत्वक: सर्वकारस्य जम्मू-कश्मीरस्य च् उपराज्यपालस्य घाट्यां मानवाधिकारस्य स्थित्यां संशोधनस्य प्रयत्नेभ्यः प्रशंसन्ती तेन धन्यवाद: इति अकथयत् स्म !

लेकिन इस साल अक्टूबर की शुरुआत में ही उन्होंने केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के घाटी में मानवाधिकार की स्थिति में सुधार की कोशिशों के लिए तारीफ करते हुए उन्हें धन्यवाद कहा था !

यस्यानंतरम् जम्मू-कश्मीरस्य एक्टिविस्ट रशीद एकं मासम् पूर्वमेव १४ अक्टूबर, २०२३ तमम् इजरायल-हमास युद्धे गृहीत्वा मोदी सर्वकारस्य भारतीय सैन्यस्य च् प्रशंसा कृतासीत् ! सा ट्वीत कृत्वाकथयत्, मध्यपूर्वयो चलत: स्थिती: द्रष्टु तु अद्य मया यस्यानुभवमभवत् तत वयं भारतीयः कति भाग्यशालिनः सन्ति !

इसके बाद जम्मू-कश्मीर की एक्टिविस्ट रशीद एक महीने पहले ही 14 अक्टूबर, 2023 को इजरायल-हमास युद्ध को लेकर मोदी सरकार और भारतीय सेना की तारीफ की थी ! उन्होंने ट्वीट कर कहा, मध्य-पूर्व में चल रहे हालातों को देखें तो आज मुझे इसका एहसास हुआ है कि हम भारतीय कितने किस्मत वाले हैं !

रशीद अग्रमकथयत् स्म, भारतीय सैन्य सुरक्षा बलान् वास्माकं सुरक्षायै स्वसर्वम् बलिदानम् कृतवन्तः ! यत्र भवतु, तत्र श्रेय: दानीय: ! जम्मू कश्मीरे शांति नयतुं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदिण:, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाहस्य जम्मू-कश्मीरस्य उपराज्यपाल मनोज सिन्हायाः, भारतीय सैन्यस्य भारतीय सैन्यस्य चिनार कार्प्स इत्या: धन्यवाद: !

रशीद ने आगे कहा था, भारतीय सेना व सुरक्षा बलों ने हमारी सुरक्षा के लिए अपना सब कुछ बलिदान कर दिया है ! जहाँ बनता हो, वहाँ श्रेय दिया जाना चाहिए ! जम्मू कश्मीर में शांति लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, भारतीय सेना और भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्स का धन्यवाद !

यं काळम् रशीद जेएनयू इत्या यापत् स्व दिवसानि प्रति अपि ज्ञाप्तवती ! तस्या: तत्र वासस्य काळम् पूर्व रिसर्च स्कॉलर उमर खालिदम् तत्कालीन जेएनयू छात्र संघाध्यक्षम्, कन्हैया कुमारम् उत्तर-पूर्वी देहली उत्पातानां क्रमे देशद्रोहे आपराधिक कुचक्रस्यारोपे च् बंधनम् कृतवान् स्म !

इस दौरान रशीद ने जेएनयू में बिताए अपने दिनों के बारे में भी बताया ! उनके वहाँ रहने के दौरान पूर्व रिसर्च स्कॉलर उमर खालिद और तत्कालीन जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष, कन्हैया कुमार को उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों के सिलसिले में देशद्रोह और आपराधिक साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया था !

शेहला रशीद अकथयत्, इदम् केवलं अस्माभिः त्रिभिः जीवनम् परिवर्तकमेव नासीत्, अपितु पूर्ण विश्वविद्यालयस्य जीवनम्, पूर्ण विश्वविद्यालयम् तस्य घटनायाः परिणाम सह्यतुं अभवन्, कदाचित् जेएनयूतः संबंधितं कश्चित अपि वस्तुनां विरुद्धम् बहु अधिकं प्रतिक्रियाम् अभवन् स्म !

शेहला रशीद ने कहा, यह महज हम तीनों के लिए जीवन बदलने वाला ही नहीं था, बल्कि पूरे विश्वविद्यालय के जीवन को, पूरे विश्वविद्यालय को उस घटना के नतीजे भुगतने पड़े, क्योंकि जेएनयू से संबंधित किसी भी चीज के खिलाफ बहुत अधिक प्रतिक्रिया हुई थी !

साग्रमकथयत्, यावत् रात्रि जेएनयू एकं अभिशापमभवत्, इदम् अनुमानतः एकस्य अभद्र वचनमिवासीत् ! यद्यपि रशीद इयमपि अकथयत्, जेएनयू इत्यां भारत तेरे टुकड़े होंगे, लाल सलाम, यथैव उद्घोषाणि कदापि न उद्घोषयन् !

उन्होंने आगे कहा, रातों-रात जेएनयू एक कलंक बन गया, यह लगभग एक अपशब्द की तरह था ! हालाँकि रशीद ने ये भी कहा, जेएनयू में भारत तेरे टुकड़े होंगे, लाल सलाम, जैसे नारे कभी नहीं लगाए गए !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...

हल्द्वान्यां आहतानां सुश्रुषायै अग्रमागतवत् बजरंग दलम् ! हल्द्वानी में घायलों की सेवा के लिए आगे आया बजरंग दल !

हल्द्वान्यां अवैध मदरसा-मस्जिदम् न्यायालयस्य आज्ञायाः अनंतरम् प्रशासनम् धराभीम गृहीत्वा ध्वस्तकर्तुं प्राप्तवत् तु सम्मर्द: उग्राभवन् ! प्रस्तर घातमकुर्वन्, गुलिकाघातमकुर्वन्,...