20.1 C
New Delhi

कश्मीरस्य स्थितिमपि गाजामिव भविष्यति-फारूक अब्दुल्ला ! कश्मीर का हश्र भी गाजा की तरह होगा-फारुक अब्दुल्ला !

Date:

Share post:

नेशनल कॉन्फ्रेंसस्य प्रमुख: जम्मू-कश्मीरस्य पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला भौमवासरम् (२६ दिसंबर २०२३) कश्मीरम् प्रति आशंका व्यक्तरस्ति ! सः अकथयत् तत यदि भारतम् पकिस्तानम् च् वार्तालापेण स्वकलहम् सम्पद्यत: तु कश्मीरस्यापि स्थितिम् गाजा एवं फिलिस्तीन यथा भविष्यति !

नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने मंगलवार (26 दिसंबर 2023) को कश्मीर को लेकर आशंका जाहिर की है ! उन्होंने कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान बातचीत के जरिए अपने विवादों को खत्म नहीं करते हैं तो कश्मीर का भी हश्र गाजा एवं फिलिस्तीन जैसा होगा !

पूर्व मुख्यमंत्री अकथयत्, यदि वयं वार्तालापेण हलमन्वेषयति तु अस्माकमपि गाजा फिलिस्तीन च् यथैव स्थितिम् भविष्यति, यस्मिनद्यत्वे इजरायल बमघातम् करोति ! सः अयम् टिप्पणिका पुँछे आतंकिन् घाते सैन्यस्य ५ युवानां निधनम् अग्रिम दिवसं त्रयाणां नागरिकानां निधनस्यानंतरमागतवत् !

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, अगर हम बातचीत के जरिए समाधान नहीं खोजते हैं तो हमारा भी गाजा और फिलिस्तीन जैसा ही हश्र होगा, जिस पर आजकल इजरायल बमबारी कर रहा है ! उन्होंने यह टिप्पणी पुंछ में आतंकवादी हमले में सेना के 5 जवानों के मारे जाने और अगले दिन तीन नागरिकों की मौत के बाद आई है !

फारूक अब्दुल्लाकथयत्, अटल बिहारी वाजपेई अकथयत् स्म तत वयं स्वमित्रम् परिवर्तितुं शक्नुम:, तु स्वसहवासिन् न ! यदि वयं स्ववासिभिः सह मित्रवत् रमिष्यति तु द्वौ प्रगति करिष्यत: ! पीएम मोदिनयमपि अकथयत् तत युद्धमधुना कश्चित विकल्प: न ! अतएव प्रकरणानि वार्तालापेण सिद्धम् कारणीयं !

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, अटल बिहारी वाजपेई ने कहा था कि हम अपने दोस्त बदल सकते हैं, लेकिन अपने पड़ोसी नहीं ! यदि हम अपने पड़ोसियों के साथ मित्रवत रहेंगे तो दोनों प्रगति करेंगे ! पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि युद्ध अब कोई विकल्प नहीं है ! इसलिए मामलों को बातचीत के जरिए सुलझाया जाना चाहिए !

फारूक: अपृच्छत्, वार्तालापम् कुत्र ? इमरान खानम् त्यजतु, अधुना नवाज शरीफ: पकिस्तानस्य प्रधानमंत्री भवक: ते च् कथयन्ति तत ते भारतेण सह वार्तालाप कर्तुं तत्परः ! तु, वयं वार्ता कर्तुं तत्परः किं न सन्ति ? यदि वयं कश्चित हल: न निःसरामः !

फारूक ने पूछा, बातचीत कहाँ है ? इमरान खान को छोड़ दीजिए, अब नवाज शरीफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने वाले हैं और वे कह रहे हैं कि वे भारत के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं ! लेकिन, हम बात करने के लिए तैयार क्यों नहीं हैं ? अगर हम कोई समाधान नहीं निकालते हैं !

तु अस्माकमपि तैव स्थितिम् भविष्यति, यत् गाजायाः फिलिस्तीनस्य च् भवत: ! सः अवदत्, केचनापि भवितुं शक्नोति ! अल्लाह एव ज्ञायतु अस्माकं किं स्थितिम् भविष्यति ! अल्लाह दया कुरु ! सः अकथयत् तत सहवासिनौ भूतस्य कारणम् द्वे देशे वार्तालापम् कृत्वास्य प्रकरणस्य हल: अन्वेषणीयौ !

तो हमारा भी वही हश्र होगा, जो गाजा और फिलिस्तीन का हो रहा है ! उन्होंने कहा, कुछ भी हो सकता है ! अल्लाह ही जाने हमारा क्या हाल होगा ! अल्लाह रहम करे ! उन्होंने कहा कि पड़ोसी होने के नाते दोनों देशों को बातचीत करके इस मुद्दे का समाधान खोजना चाहिए !

यस्मात् द्वे देशे उत्थानौ करिष्यत: द्वे देशे च् हर्षं आगमिष्यत: ! तत्रैव, भाजपा नेता हिना शफी भट फारूक अब्दुल्लायाः कथनस्य आलोचनाम् कृतास्ति ! सा अकथयत्, इदम् खेदपूर्णम् तत जम्मू-कश्मीरस्य एकः वरिष्ठ नेताधुनापि पकिस्तानतः वार्तालापस्य वार्ता कथ्यति !

इससे दोनों देश तरक्की करेंगे और दोनों देशों में खुशहाली आएगी ! वहीं, भाजपा नेता हिना शफी भट ने फारूक अब्दुल्ला के बयान की आलोचना की है ! उन्होंने कहा, यह अफसोसजनक है कि जम्मू-कश्मीर के एक वरिष्ठ नेता अभी भी पाकिस्तान से बातचीत करने की बात कह रहे हैं !

फारूक अब्दुल्लामधुना शिक्षा नयनीय: ! इदम् पकिस्तानस्य संमुखम् नतस्य काळम् न ! वयं बहुधा वार्तालापम् कृतस्य प्रयत्न: कृतास्ति, तु तत सदैव विश्वासघात: कृतवत् !

फारूक अब्दुल्ला को अब सीख लेनी चाहिए ! यह पाकिस्तान के सामने झुकने का समय नहीं है ! हमने कई बार बातचीत करने की कोशिश की है, लेकिन उन्होंने हर बार हमारी पीठ में छुरा घोंपा है !

ज्ञापयतु तत फारूक अब्दुल्लायाः कथन, पूर्वे एके सप्ताहे जम्मू-कश्मीरे अभवन् बहूनां आतंकी घटनानां अनंतरमागतवत् ! आतंकिन: पुंछे घात कृत्वा सैन्यस्य युवासु घातम् कृतवन्तः स्म, यस्मिन् पंच युवा: बलिदान: अभवत् ! तत्रैव बारामूला मस्जिदस्याभ्यांतरम् एकस्य सेवानिवृत्त एसएसपी शफी मीरस्य आतंकिन: गुलिकाघात कृत्वा वध: कृतवन्तः !

बता दे कि फारूक अब्दुल्ला का कथन, पिछले एक सप्ताह में जम्मू-कश्मीर में हुए कई आतंकी घटनाओं के बाद आई है ! आतंकियों ने पुंछ में घात लगाकर सेना के जवानों पर हमला किया था, जिसमें पाँच जवान बलिदान हो गए ! वहीं, बारामूला मस्जिद के अंदर एक रिटायर SSP शफी मीर की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

अवयस्का हिंदू बालिकामताडयत्, अलिहत् स्व ष्ठीव्, मोहम्मद मुश्ताक: बंधनम् ! नाबालिग हिन्दू बच्ची को मारा, चटवाया अपना थूक, मोहम्मद मुश्ताक गिरफ्तार !

बिहारस्य पूर्णियायां एकावयस्का हिंदू बालिकां ष्ठीव् लिहस्य प्रकरणम् संमुखमगच्छत् ! आरोपं अस्ति तत बालिकया: स्तंम्भे निबध्य ताडनमपि अकरोत्...

जोधपुरस्य सर्वकारी विद्यालये हिजाब धारणे संलग्ना: छात्रा: ! जोधपुर के सरकारी स्कूल में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राएँ !

राजस्थानस्य जोधपुरे हिजाब इतम् गृहीत्वा प्रश्नं अभवत् ! सर्वकारी विद्यालये छात्रा: हिजाब धारणे गृहीत्वा संलग्नवत्य:, तु तेषां परिजना:...

मेलकम् दर्शनमगच्छन् हिंदू महिला: शमीम: सदरुद्दीन: चताडताम्, उदरे अकुर्वताम् पादघातम् ! मेला देखने गईं हिन्दू महिलाओं को शमीम और सदरुद्दीन ने पीटा, पेट पर...

उत्तरप्रदेशस्य फर्रुखाबाद जनपदे एकः हिंदू युवके, तस्य मातरि भगिन्यां च् घातस्य वार्ता अस्ति ! घातस्यारोपम् शमीमेण सदरुद्दीनेण च्...

हल्द्वानी हिंसायां आहूय-आहूय हिंदू वार्ताहरेषु अभवन् घातम् ! ऑपइंडिया इत्यस्य ग्राउंड सूचनायां रहस्योद्घाटनम् ! हल्द्वानी हिंसा में चुन-चुन कर हिंदू पत्रकारों पर हुआ हमला...

उत्तराखंडस्य हल्द्वानी हिंसायां उत्पातकाः आरक्षक प्रशासनस्यातिरिक्तं घटनायाः रिपोर्टिंग कुर्वन्ति हिंदू वार्ताहरानपि स्वलक्ष्यमकुर्वन् स्म ! ते आहूय-आहूय वार्ताहरेषु घातमकुर्वन्...