34.1 C
New Delhi

काङ्ग्रेस्-पक्षस्य निष्ठावान् वार्ताहर: राहुलस्य राजनैतिकस्थितिं उद्घाटितवान्। कांग्रेस के वफादार पत्रकार ने खोल दी राहुल की राजनीतिक शर्त की पोल !

Date:

Share post:

२०२४ तमे वर्षे लोकसभानिर्वाचने राहुलगान्धी २ आसनेषु स्पर्धते। सः केरलस्य वायनाड् क्षेत्रात् पुनः स्पर्धते, यत्र सः लोकसभायाः सदस्यः अस्ति, अपरं स्थानं रायबरेली अस्ति। सोनिया गान्धी रायबरेली-मण्डलात् स्पर्धते।

लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गाँधी 2 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं ! वो केरल के वायनाड से दोबारा चुनावी मैदान में हैं, जहाँ से वो मौजूदा लोकसभा सांसद हैं, तो दूसरी सीट है रायबरेली ! रायबरेली सीट पर अब तक सोनिया गाँधी चुनाव लड़ती रही हैं !

अस्मिन् समये राहुलगान्धी रायबरेली-मण्डलात् स्पर्धते, इदानीं यत् सूचना प्रकाश्यते तत् यदि रायबरेली-मण्डलस्य जनाः राहुलगान्धी-वर्यं निर्वाचयन्ति, तथापि सः रायबरेली-मण्डलस्य जनानां न भविष्यति, यतः मुस्लिम्-मतानां विवशता कारणात् सः वायनाड्-मण्डलस्य सांसदः भवितुम् इच्छति!

इस बार राहुल गाँधी रायबरेली से चुनाव मैदान में हैं और अब जो जानकारी सामने आ रही है, वो ये है कि रायबरेली की जनता ने अगर राहुल गाँधी को चुन भी लिया, तो वो रायबरेली की जनता के नहीं होंगे, क्योंकि मुस्लिम वोटों की मजबूरी में वो वायनाड के ही सांसद बने रहना पसंद करेंगे !

भवन्तं कथयामः यत् वायनाड्-नगरे मतदानानन्तरं, सः यू. पी. मध्ये बी. जे. पी.-पक्षस्य विरुद्धं यु. पी.-तः स्पर्धयितुं बाध्यः भवति। अमेठीतः गतलोकसभा-निर्वाचने पराजितः राहुलगान्धी रायबरेलीतः स्पर्धां करिष्यति इति अघोषयत्।

बता दें कि वायनाड में वोटिंग के बाद यूपी में बीजेपी को टक्कर देने की मजबूरी में उन्हें यूपी से चुनाव लड़ना पड़ रहा है ! हालाँकि अपनी परंपरागत सीट अमेठी से पिछला चुनाव हार चुके राहुल गाँधी दोबारा वहाँ से चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं जुटा सके, ऐसे में उन्होंने रायबरेली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा की !

एतादृशे स्थितौ सर्वस्य एव एकः एव प्रश्नः आसीत् यत् यदि राहुलगान्धी वयनाड, रायबरेली-स्थानयोः विजयी भवति तर्हि सः कस्मात् स्थानात् त्यागपत्रं ददति इति। सम्भवतः एव उत्तरम्! पत्रकारः आदेश् रावल्, यः काङ्ग्रेस्-पक्षस्य निष्ठावान् गण्यते, सः ज्ञातं वा अज्ञातं वा एतत् प्रकटितवान्!

ऐसे में सभी लोगों का एक ही सवाल था कि अगर राहुल गाँधी वायनाड और रायबरेली दोनों ही जगह से चुनाव जीतते हैं, तो फिर वो किस सीट से इस्तीफा देंगे ! शायद इस सवाल का जवाब आ चुका है ! कांग्रेस के वफादारों में गिने जाने वाले पत्रकार आदेश रावल ने जाने-अनजाने इसका खुलासा कर दिया है !

लल्लान्टाप् इत्यनेन सह वार्तालापं कुर्वन् आदेश् रावल् इत्ययम् अकथयत्, “राहुलगान्धी रायबरेलीतः स्पर्धां कर्तुं शर्तम् अस्थापयत्! यतो हि खर्गे साहेबः उक्तवान् यत् यदि वयं उत्तरप्रदेशस्य स्थानानि त्यक्तवन्तः, तर्हि कुत्सितः सन्देशः भविष्यति, यतः पञ्च चरणानां मतदानं इतोऽपि अवशिष्टम् अस्ति!

लल्लनटॉप से बातचीत में आदेश रावल ने अंदर की बात बताई और कहा, राहुल गाँधी ने रायबरेली में चुनाव लड़ने के लिए शर्त रखी थी ! क्योंकि खड़गे साहब ने कहा कि अगर हमने उत्तर प्रदेश की सीटें छोड़ दी तो खराब मैसेज जाएगा, क्योंकि पाँच चरणों के मतदान अभी बाकी है !

प्रत्युत्तरे, राहुलगान्धी अवदत् यत्, “यदि अहं उभयोः क्षेत्रेषु विजयी अभवताम्, तर्हि अहं वायनाड्-प्रदेशं न वदामि। निर्वाचनस्य समये, यदि प्रसारमाध्यमाः पृच्छन्ति यत् अहं कस्मात् स्थानात् तिष्ठामि इति, अहं मिथ्यं वक्तुं न शक्नोमि, तदा अहं वदामि यत् अहं रायबरेली इत्यतः निर्गमिष्यामि इति! एतस्मात् सम्मत्याः अनन्तरं एव सः रायबरेली-क्षेत्रात् स्पर्धां कर्तुं अङ्गीकृतवान्!

इसके जवाब में राहुल गाँधी ने कहा कि अगर मैं दोनों सीट जीत जाता हूँ, तो मैं वायनाड नहीं छोड़ूँगा ! चुनाव के दौरान अगर मीडिया ने मुझसे पूछा कि मैं किस सीट से बना रहूँगा, तो मैं झूठ नहीं बोल पाऊँगा, तो मैं कह दूँगा कि मैं रायबरेली छोड़ दूँगा ! इस बात पर सहमति बनने के बाद ही उन्होंने रायबरेली से चुनाव लड़ने के लिए हामी भरी !

२०२४ तमस्य वर्षस्य लोकसभा-निर्वाचने काङ्ग्रेस्-पक्षस्य आन्तरिक-सर्वेक्षणेन उक्तम् आसीत् यत् राहुलगान्धी अमेठ्यां स्मृति इरानी इत्यनया पराजयिष्यति इति, तदनन्तरं काङ्ग्रेस्-पक्षः सुरक्षितं स्थानं अन्विष्यत् इति। तदा काङ्ग्रेस्-पक्षः राहुलगान्धी इत्यस्य कृते मुस्लिमप्रधानं वायनाड्-मण्डलं चितवान् आसीत्।

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2024 के दौरान कांग्रेस के आंतरिक सर्वे में बताया गया था कि राहुल गाँधी अमेठी में स्मृति ईरानी से हार जाएँगे, इसके बाद कांग्रेस एक सुरक्षित सीट की तलाश कर रही थी ! तब कांग्रेस पार्टी की ओर से राहुल गाँधी के लिए मुस्लिम बहुल वायनाड सीट को चुना गया था !

टाइम्स नाउ इत्यस्य प्रतिवेदने एकम् स्टिङ्ग् आपरेशन् दर्शितम् यस्मिन् काङ्ग्रेस्-पक्षस्य एकः वरिष्ठः नेता उक्तवान् यत् राहुलगान्धी, यः तदा अमेठ्यां काङ्ग्रेस्-पक्षस्य वरिष्ठतमः नेता आसीत्, सः अमेठ्यां सम्मर्दं सम्मुखीकरोति इति। एतादृशे स्थितौ काङ्ग्रेस्-पक्षः सुरक्षितं स्थानं अन्वेष्टुम् अर्हति!

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट में एक स्टिंग ऑपरेशन दिखाया गया था, जिसमें कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि अमेठी में उस समय कांग्रेस के सबसे बड़े नेता रहे राहुल गाँधी को अमेठी में प्रेशर झेलना पड़ रहा है ! ऐसे में कांग्रेस को सुरक्षित सीट ढूँढने की जरूरत है !

अस्य अर्थः आसीत् यत् राहुलगान्धी-वर्यः वायनाड्-क्षेत्रात् स्पर्धयेत् इति, यतः अत्र हिन्दु-अल्पसङ्ख्यकाः मुस्लिम्-बहुसङ्ख्यकाः च सन्ति, येन राहुलगान्धी-वर्यस्य विजयः सुलभः भविष्यति! अस्मिन् समये राहुलगान्धी निर्वाचने न भागं ग्रहीतः।

इसका मतलब ये था कि राहुल गाँधी को वायनाड से चुनाव लड़ना चाहिए, क्योंकि इस सीट पर हिंदू अल्पसंख्यक और मुस्लिम बहुसंख्यक हैं, जिससे राहुल गाँधी के लिए जीतना आसान हो जाएगा ! इस बार राहुल गाँधी उत्तर भारत से चुनाव नहीं लड़ रहे थे !

तस्मिन् एव समये, सोनिया गान्धी राज्यसभां गन्तुं निश्चितवती आसीत्, यदा प्रियङ्का गान्धी इत्यस्याः निर्वाचनस्य विषये उत्कण्ठा आसीत्। एतादृशे स्थितौ, अमेठि-रायबरेलीतः गान्धीपरिवारस्य कस्यापि अनुपस्थितिः पक्षस्य हानिं जनयति स्म! अतः काङ्ग्रेस्-पक्षस्य शीर्षनेतृत्वेन निर्णयः कृतः यत् राहुलगान्धी रायबरेली-क्षेत्रात् स्पर्धयेत् इति, यतः तत् सुरक्षितं आसनम् अस्ति!

वहीं, सोनिया गाँधी ने राज्यसभा जाने का फैसला कर लिया था, जबकि प्रियंका गाँधी के चुनाव लड़ने पर सस्पेंस बना हुआ था ! ऐसे में अमेठी-रायबरेली से गाँधी परिवार से किसी का न होना पार्टी को नुकसान पहुँचा रहा था ! यही वजह है कि कांग्रेस की टॉप लीडरशिप ने तय किया कि राहुल गाँधी को रायबरेली से चुनाव लड़ना ही पड़ेगा, क्योंकि वही सुरक्षित सीट है !

एतादृशे स्थितौ, नामाङ्कनपत्रस्य अन्तिमदिनस्य पूर्वदिनम् काङ्ग्रेस्-पक्षेन राहुलगान्धी-वर्यस्य नामकरणं कृतम्, तथा च मे-मासस्य 3 दिनाङ्के सः नामाङ्कनं कृतवान्! मे-मासस्य 3 दिनाङ्के नामाङ्कनं दत्तम्! बि. जे. पि. पक्षः पूर्वमेव उत्तरप्रदेशस्य मन्त्रिणं दिनेशप्रतापसिङ्घं स्थानात् निरमात्।

ऐसे में राहुल गाँधी को नामांकन दाखिल करने के आखिरी दिन से एक दिन पहले कांग्रेस की ओर से तैयार किया गया और तीन 3 मई को उन्होंने नामिनेशन दाखिल किया ! 3 मई को नामांकन दाखिल कराया गया ! इस सीट से बीजेपी ने उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री दिनेश प्रताप सिंह को मैदान में पहले ही उतार दिया था !

परन्तु आदेश् रावल् इत्यस्य प्रकटीकरणात् परं स्पष्टम् अभवत् यत् यदि रायबरेली-नगरस्य जनाः राहुलगान्धी-वर्यं भूलेन चिन्वन्ति, तर्हि सः तत्क्षणमेव पुनः लोकसभानिर्वाचनं सम्मुखीकर्तव्यं भविष्यति, तथैव काङ्ग्रेस् पक्षस्य अन्यः अपि अभ्यर्थी भविष्यति, यतः राहुलगान्धी अल्पसङ्ख्यक प्रधानस्थानस्य वायनाड्-इत्यस्य स्थाने रायबरेली-क्षेत्रात् राजिनामा करिष्यति!

हालाँकि आदेश रावल के खुलासे के बाद साफ हो गया है कि रायबरेली की जनता ने अगर गलती से राहुल गाँधी को चुन लिया, तो उसे तुरंत ही फिर से लोकसभा चुनाव झेलना पड़ेगा, साथ ही कांग्रेस के किसी दूसरे प्रत्याशी को भी, क्योंकि राहुल गाँधी अल्पसंख्यक बहुल सीट वायनाड की जगह रायबरेली सीट से इस्तीफा दे देंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रोहिंग्या-मुस्लिम्-जनाः ५००० हिन्दु-बौद्धानां गृहाणि दग्धवन्तः, तेषां दृष्टेः पुरतः सर्वं लुण्ठितवन्तः ! रोहिंग्या मुस्लिमों ने 5000 हिंदुओं-बौद्धों के घर जलाए, आँखों के सामने सब कुछ...

म्यान्मार्-देशस्य राखैन्-राज्ये सैन्य-नेतृत्वस्य जुण्टा-जातीय-विद्रोहि-समूहयोः मध्ये सङ्घर्षाः तीव्रतां प्राप्य साम्प्रदायिक-हिंसा प्रारब्धा। तत्र अस्य तनावस्य कारणात्, रोहिंज्या-जनाः हिन्दूनां बौद्धानां च...

धर्मपरिवर्तनं कारित्वा त्वया एव विवाहं करिष्यामि-मुस्लिम युवकः जुनैद: ! धर्म परिवर्तन कराकर तुमसे ही करेंगे निकाह-मुस्लिम युवक जुनैद !

उत्तरप्रदेशस्य अलीगढ-मण्डले, मुस्लिम्-युवकाः परीक्षार्थं उपस्थितां हिन्दु-बालिकाम् अनुधावन्, तां मार्गे चालयितुं प्रयतन्ते स्म। न केवलं, अभियुक्तः अपि पीडितस्य गृहं...

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...