31.8 C
New Delhi

Balbir Punj

Balbir Punj is a journalist & former Rajyasabha Member

Exclusive Content

spot_img

काल्पनिक नहीं है ‘लव-जिहाद’ का मुद्दा

स्पष्ट है कि इस तरह के तथाकथित प्रेम-प्रसंग, विशुद्ध प्रेम की भावना से प्रेरित नहीं होते। इसमें संभवत: मजहबी कारण भी है। ऐसे मामलों में 'प्रेम' गौण और इस्लाम के प्रति जिहादी दायित्व की पूर्ति का भाव कहीं अधिक होता है। इसमें 'प्रेम' केवल माध्यम, तो उसकी मंजिल 'जिहाद' और उसके द्वारा प्राप्त होने वाला 'सवाब' है।

देश में सबसे अधिक हिंदू असुरक्षित

आखिर स्वतंत्र भारत में सबसे अधिक असुरक्षित कौन है? क्या इस प्रश्न का उत्तर देश के हालिया घटनाक्रम और उसके पीछे की विषाक्त मानसिकता...

कांग्रेस का क्षरण क्यों?

आखिर देश के सबसे पुराने दल- कांग्रेस की दुर्गति का जिम्मेदार कौन है? कई विशेषज्ञों ने और अब स्वयं पार्टी के भीतर- विशेषकर जी-23...

बाबर अली की मॉब लिंचिंग पर अब भारत ‘असहिष्णु’ का नारा क्यों नहीं लग रहा ?

हां! भारत 'असहिष्णु' है। इतना ही नहीं, देश में 'संवेदनहीनता' भी बढ़ गई है। अभी उत्तरप्रदेश में भाजपा कार्यकर्ता बाबर अली की हिंसक भीड़...

भारत-इज़राइल संबंध: वोटबैंक की राजनीति से मुक्त

इज़राइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट 2 अप्रैल को चार दिवसीय भारत यात्रा पर होंगे। यह भारत में उनका पहला आधिकारिक दौरा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र...

वैश्विक हिंदूफोबिया का सूत्रधार कौन?

'हिंदूफोबिया' स्थापित सत्य है। हाल की घटनाओं ने इसके फिर से वैश्विक होने का खुलासा किया है। इसमें एक मामला तो कनाडा में हिंदुओं...