33.1 C
New Delhi

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में शामिल हुईं खुशबू सुंदर

Date:

Share post:

दक्षिण भारत मे कांग्रेस पार्टी का चर्चित चेहरा रहीं खुशबू सुंदर ने पार्टी से इस्तीफा देने के कुछ ही घंटों के भीतर सोमवार को नई दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। पार्टी में शामिल होने के बाद उन्होंने दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से मुलाकात की। इससे पहले सोमवार को कांग्रेस ने भी इस बीच दिल्ली में घोषणा की कि खुशबू सुंदर को पार्टी प्रवक्ता के पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

भाजपा में शामिल होने के बाद खुशबू सुंदर ने कहा कि ‘भाजपा से मेरी अपेक्षा यह नहीं है कि वह मेरे लिए क्या करने जा रही है, बल्कि देश की जनता के लिए क्या करने जा रही है। जब 128 करोड़ लोग वास्तव में एक व्यक्ति पर भरोसा करते हैं, जो हमारे प्रधानमंत्री हैं तो मेरा मानना है कि वे कुछ बहुत बेहतर कर रहे हैं। राष्ट्र के तौर पर अगर आगे बढ़ना है तो हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे नेता की जरूरत है जो देश को सही दिशा में ले जा सकें।’ वहीं, तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी ने कहा कि उनके कांग्रेस पार्टी छोड़ने से पार्टी को कोई नुकसान नहीं होगा।

आपको बता दें कि, लोकप्रिय तमिल अभिनेत्री सुंदर 2014 में कांग्रेस में शामिल हुई थीं। उन्होंने 200 से ज्यादा दक्षिण भारतीय और बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है। सुंदर ने अपना इस्तीफा कांग्रेस पार्टी की शीर्ष नेता सोनिया गांधी को भेजा है। कांग्रेस में शामिल होने से पहले वह द्रमुक में थीं।

खुशबू सुंदर ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देते हुए कहा था कि ‘पार्टी के अंदर शीर्ष स्तर पर कुछ लोग हैं जिनका जमीनी स्तर पर कोई संपर्क या सार्वजनिक पहचान नहीं है, वो अपनी बात थोप रहे हैं और मेरे जैसे लोग जो पार्टी के लिए गंभीरता से काम करना चाहते हैं, उन्हें पीछे किया जा रहा है और दबाया जा रहा है।’ उन्होंने कहा कि काफी लंबे समय के विचार-विमर्श के बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी से अपने रिश्ते समाप्त करने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने जब नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी तो कांग्रेस पार्टी ने इस नीति का विरोध किया था। जबकि खुशबू सुंदर ने मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति का स्वागत किया था। जिसके बाद उन्होंने पार्टी लाइन से अलग जाने के लिए राहुल गांधी से ट्वीट कर माफी भी मांगी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

पञ्जाबे सर्वाः जी मीडिया चैनल प्रतिबन्धिताः, एषा पत्रिका-स्वातन्त्र्यस्य उपरि आक्रमणं नास्ति वा ? पंजाब में जी मीडिया के सभी चैनल बैन, क्या यह प्रेस...

पञ्जाबे सर्वाः जी न्यूज चैनल प्रतिबन्धिताः सन्ति। चैनल तस्य घोषणा कृता अस्ति ! पञ्जाबे जी-मीडिया इत्यस्य सर्वाः चैनल...

६ जैन साध्व्यः मार्गेण गच्छन्तः आसन्, अल्ताफ् हुसैन् शेखः प्रथमं तान् अनुधावन् ततः पट्ट्या प्रहारं कृतवान् ! सड़क से गुजर रहीं थी 6 जैन...

गुजरातस्य भरूच्-नगरे, अल्ताफ् हुसैन् शेख् नामकः एकः पुरुषः मार्गे गच्छतां जैन साध्वीं आक्रान्तवान्। जैनः साध्वीं आक्रमनात् पूर्वं दीर्घकालं...

फतेहपुरस्य शिव-कवितायो: पुनः गृहागमनस्य कथा ! फतेहपुर के शिव-कविता की घरवापसी की कहानी !

उत्तरप्रदेशस्य फ़तेह्पुर्-नामकस्य उजाड़ेग्रामे, २० वर्षेभ्यः पूर्वं इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य वञ्चितः एकः हिन्दु-दम्पती इदानीं हिन्दु-मतं प्रति प्रत्यागतः अस्ति! शिवप्रसादलोधिः, कविता...

वाहिद कुरैशी इत्यनेन मथुरायाः पञ्जाबी बाजार इत्यस्य नाम इस्लामिक बाजार इति परिवर्तितम् ! मथुरा की पंजाबी बाजार के नाम को वाहिद कुरैशी ने बदलकर...

उत्तरप्रदेशस्य मथुरा-जनपदस्य कोसिकलां ग्रामे एकः मुस्लिम्-दुकानदारः विपण्याः नाम परिवर्तितवान्। सः स्वस्य स्थानात् प्रदत्तानां वस्तूनां प्रचारसामग्रीनां च सञ्चिकासु पञ्जाबी-बजार्...