33.1 C
New Delhi

आपस्य पूर्व पार्षद: ताहिर हुसैन: समेतं एकादशेषु देहली न्यायालयं कृतवानारोपम् निश्चितं ! AAP के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन समेत 11 पर दिल्ली कोर्ट ने किए आरोप तय !

Date:

Share post:

वर्ष २०२० तमे उत्तर-पूर्वी देहल्यां अभवत् हिंदू विरोधि उत्पातानां काळम् आईबी स्टाफ अंकित शर्मायाः निर्मम हनस्य प्रकरणे आम आदमी दलस्य पूर्व पार्षद: ताहिर हुसैन: समेतं ११ जनानां विरुद्धमद्य (२३ मार्च २०२३) कड़कड़डूबा न्यायालये आरोपम् निश्चितवान् !

साल 2020 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए हिंदू विरोधी दंगों के दौरान आईबी स्टाफ अंकित शर्मा की निर्मम हत्या के मामले में आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन समेत 11 लोगों के खिलाफ आज (23 मार्च 2023) कड़कड़डूबा कोर्ट में आरोप तय हुए !

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश: पुलस्त्य प्रमाचल: अकथयत् तत साक्ष्यकानां कथनै: स्पष्टम् ज्ञातं भवन्ति तत सर्वे आरोपिनः घटनास्थले उपस्थिता: आसन् ! न्यायाधीश: अंकित शर्मा हननाभियोगे आरोपम् निश्चितन् स्वीकृतवान् ! ताहिर: सम्मर्दे निरीक्षणाय तै: च् प्रेरिताय सततं कार्यम् करोति स्म !

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश पुलस्त्य प्रमाचल ने कहा कि गवाहों के बयानों से स्पष्ट पता चलता है कि सभी आरोपित घटनास्थल पर मौजूद थे ! न्यायाधीश ने अंकित शर्मा हत्या केस में आरोप तय करते हुए माना ! ताहिर भीड़ पर निगरानी रखने और उन्हें प्रेरित करने के लिए लगातार काम कर रहा था !

इमानि वस्तुनि हिंदुन् लक्ष्यकर्तुं कृतानि आसन् ! अभिज्ञानस्यानुरूपम्, ताहिर हुसैनस्यान्येषां च् विरुद्धम् आईपीसी इत्या: धारा १४७, १४८, १५३ ए, ३०२, ३६५, १२०बी, १४९, १८८, १५३ ए इत्यानां चनुरूपमारोपम् निश्चितवान् !

ये सभी चीजें हिंदुओं को निशाना बनाने के लिए की गई थीं ! जानकारी के मुताबिक, ताहिर हुसैन और अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 153 ए, 302, 365, 120बी, 149, 188 और 153ए के तहत आरोप तय किए गए हैं !

अन्येषां आरोपिणां नाम, हसीन:, नाजिम:, कासिम:, समीर खान:, अनस फिरोज:, जावेद:, गुलफाम:, शोएब आलम: मुंतजिम: च् सन्ति ! हुसैनस्य विरुद्धम् आईपीसी इत्या: धारा ५०५, १०९, ११४ इत्यानां चनुरूपमपि अभियोगं निश्चितवान् !

अन्य आरोपितों का नाम हसीन, नाजिम, कासिम, समीर खान, अनस फिरोज, जावेद, गुलफाम, शोएब आलम और मुंतजिम है ! हुसैन के खिलाफ आईपीसी की धारा 505, 109 और 114 के तहत भी केस आरोप तय किए गए हैं !

न्यायालयं अकथयत्, सम्मर्दस्य एतै: कृत्यै: इदम् स्पष्टम् भवति तत तेषां उद्देश्यं हिंदुन् तेषां गातम् संपत्तिम् च् अधिकाधिकं क्षतिम् दत्ता: आसन् ! इदमपि स्पष्टरूपेण दृश्यति ततायम् सम्मर्द: ज्ञानयुक्तं भूत्वा हिंदुनपि हन्तुं इच्छन्ति स्म !

अदालत ने कहा, भीड़ के इन कृत्यों से यह स्पष्ट होता है कि उनका उद्देश्य हिंदुओं को उनके शरीर और संपत्ति को अधिक से अधिक नुकसान पहुँचाना था ! यह भी स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि यह भीड़ जानबूझकर हिंदुओं को भी मारना चाहती थी !

अयम् कथितुं न शक्नोति ततास्य सम्मर्दस्य अंशम् भूतस्योपरांत तः इदृशं उद्देश्यतः अज्ञान आसीत् ! स्पष्टरूपे, अयम् एकः अवैधानिक सम्मर्द: आसीत्, यत् तस्मै उद्देश्याय कार्यम् करोति स्म ! यस्मात् पूर्वम् ताहिर हुसैने कड़कड़डूमा न्यायालयं मनी लांड्रिंग प्रकरणे आरोपम् निश्चितवान् स्म ! यस्यातिरिक्तं अयम् अपि अकथयत् स्म तत उत्तरपूर्वी उत्पातेषु तं फंडिंग इति कृतरासीत् !

यह नहीं कहा जा सकता है कि इस भीड़ का हिस्सा होने के बावजूद वो ऐसे उद्देश्य से बेखबर थे ! जाहिर तौर पर, यह एक गैरकानूनी भीड़ थी, जो उस उद्देश्य के लिए काम कर रही थी ! इससे पहले ताहिर हुसैन पर कड़कड़डूमा कोर्ट ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोप तय किए थे ! इसके अलावा ये भी कहा था कि उत्तर पूर्वी दंगों में उसने फंडिंग की थी !

ज्ञापयतु ततारोपिनि यस्मिन् हननाभियोगे आरोपम् निश्चितं अभवत् तत प्रकरण अंकित शर्मा हननस्यास्ति ! अंकितं देहल्या: हिंदू विरोधिन् उत्पातानां काळम् हतवान् स्म ! मृत्यु कारणपरीक्षणे शर्मायाः गाते ५१ आघातानां चिह्नानि ळब्धवान् स्म ! अभियोगपत्रे ताहिर हुसैनस्य नामापि आगतवान् स्म !

बता दें कि आरोपित पर जिस हत्या केस में आरोप तय हुए हैं वो मामला अंकित शर्मा मर्डर का है ! अंकित को दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों के वक्त मारा गया था ! पोस्टमार्टम में शर्मा के शरीर पर 51 चोट के निशान पाए गए थे ! चार्जशीट में ताहिर हुसैन का नाम भी आया था !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

पञ्जाबे सर्वाः जी मीडिया चैनल प्रतिबन्धिताः, एषा पत्रिका-स्वातन्त्र्यस्य उपरि आक्रमणं नास्ति वा ? पंजाब में जी मीडिया के सभी चैनल बैन, क्या यह प्रेस...

पञ्जाबे सर्वाः जी न्यूज चैनल प्रतिबन्धिताः सन्ति। चैनल तस्य घोषणा कृता अस्ति ! पञ्जाबे जी-मीडिया इत्यस्य सर्वाः चैनल...

६ जैन साध्व्यः मार्गेण गच्छन्तः आसन्, अल्ताफ् हुसैन् शेखः प्रथमं तान् अनुधावन् ततः पट्ट्या प्रहारं कृतवान् ! सड़क से गुजर रहीं थी 6 जैन...

गुजरातस्य भरूच्-नगरे, अल्ताफ् हुसैन् शेख् नामकः एकः पुरुषः मार्गे गच्छतां जैन साध्वीं आक्रान्तवान्। जैनः साध्वीं आक्रमनात् पूर्वं दीर्घकालं...

फतेहपुरस्य शिव-कवितायो: पुनः गृहागमनस्य कथा ! फतेहपुर के शिव-कविता की घरवापसी की कहानी !

उत्तरप्रदेशस्य फ़तेह्पुर्-नामकस्य उजाड़ेग्रामे, २० वर्षेभ्यः पूर्वं इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य वञ्चितः एकः हिन्दु-दम्पती इदानीं हिन्दु-मतं प्रति प्रत्यागतः अस्ति! शिवप्रसादलोधिः, कविता...

वाहिद कुरैशी इत्यनेन मथुरायाः पञ्जाबी बाजार इत्यस्य नाम इस्लामिक बाजार इति परिवर्तितम् ! मथुरा की पंजाबी बाजार के नाम को वाहिद कुरैशी ने बदलकर...

उत्तरप्रदेशस्य मथुरा-जनपदस्य कोसिकलां ग्रामे एकः मुस्लिम्-दुकानदारः विपण्याः नाम परिवर्तितवान्। सः स्वस्य स्थानात् प्रदत्तानां वस्तूनां प्रचारसामग्रीनां च सञ्चिकासु पञ्जाबी-बजार्...