21.1 C
New Delhi

आंदोलन के बहाने देश को टुकड़ों में बांटने वाला वामपंथ विचार।

Date:

Share post:

वर्तमान समय में देश के अंदर हम सब यह देख रहे है कि किस तरह मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष, देशद्रोह ताकते  बिकाऊ मीडिया एक तरह का गन्दा षड़यंत्र कर रही है ।

जो भी बिल या कानून सरकार लाती है उसके खिलाफ हंगामा किया जाता है लोगो को झूठी खबरों के माध्यम से उनके अंदर सरकार के प्रति नफरत पैदा की जाती है आंदोलनों के नाम पर सड़क जाम कर दी जाती है शांतिपूर्ण प्रदर्शन के नाम पर हिंसक उपद्रव किया जाता है सरकारी सम्पत्तियों को नुकसान पहुंचाया जाता है।

किस तरह विदेशी संस्थाओ द्वारा देश का अपमान किया जाता है जो भी भारत देश के हित में या मोदी सरकार के पक्ष में बोलता है उसके खिलाफ अपमानजनक बातें की जाती है उसकी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जाता है |

वर्तमान में कृषि कानून बिल हो या समान नागरिकता बिल सभी में एक बात देखने को मिली कि सरकार के खिलाफ सडको पर उतरकर हिंसा का सहारा लेकर एक तरह से लोकतंत्र को नष्ट करने का प्रयास किया जा रहा है

आखिर ऐसे चंद मुट्ठीभर लोग क्या बताना चाहते है ऐसे प्रदर्शन के माध्यम से तो हम आपको विस्तार पूर्वक बताते है इसके पीछे की असलियत

जब से मोदी जी ने दिल्ली में कमान संभाली है तब से श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश को आतंरिक और बाहरी रूप से मजबूत करने का प्रयास शुरू कर दिया है ।

जैसे फर्जी एनजीओ जो भारत में रहकर भारत देश के खिलाफ साजिश रचती थी जिनका एक ही मकसद होता था भारत सरकार के कामो में अड़ंगा डालना ऐसी फर्जी एनजीओ को बंद करवा दिया गया जिसके कारण कई लोगो के पेट पर लात पड़ गई।

सुरक्षा की बात की जाएं तो देश में जहां हर समय बम धमाके होते थे वो पूरी तरह बंद हो गए जिसके कारण देश के अंदर के आतंकियों का काम बिगड़ गया

भारतीय सेना को पूरी छूट दे दी गई दिल्ली से जिसके कारण सीमा पार से घुसपैठ में कमी आई है और सेना ने जम्मू कश्मीर में कई आतंकियों को मार गिराया

जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटने से बरसो से चली आ रही राजनीती की दुकान बंद हो गई महबूबा और अब्दुल्ला परिवारों की जिसके कारण कश्मीर में विकास की कई योजनाए और परियोजनाएं शुरू होने लगी कल तक जहाँ अलगाववादी दिल्ली में आकर सरकार के कामो में दखल देते थे उनको आज उनके घरो में नजरबन्द कर दिया गया और उनको उनकी औकात दिखा दी गई साथ ही जितनी कमाई के जरिये थे इन अलगाववादियों के उनको सरकार ने जब्त कर लिया जिससे उनकी आतंकियों की फंडिंग में कमी आ गई ।

दूसरा सबसे बड़ा कदम था भगवान श्री राम के मन्दिर निर्माण का हल निकालना, इतने सालो से भगवान राम के नाम पर राजनीति चल रही थी, कई गैर हिन्दू संगठनों द्वारा भगवान श्री राम के मन्दिर को लेकर मजाक उड़ाया जाता था हिंदुओ का, और मंदिर निर्माण की घोषणा होते ही ऐसे लोगो की बोलती बन्द हो गई ।

इसके बाद जिस तरह विंग कमांडर अभिनंदन को सकुशल पाकिस्तान से भारत लाया गया उससे भी कई लोगो को बुरा लग गया । पहले जहां सरबजीत को तड़पा तड़पा कर मार डाला गया था पिछली सरकार के समय और अब जिस तरह मोदी जी ने विंग कमांडर अभिनंदन को सकुशल वापस लाए उससे  भारत का मान पूरी दुनिया में बढ़ गया है ।

जहां पहले अमेरिका और अन्य पश्चिमी देश भारत के हर मामले में दखल देते थे और पाकिस्तान का समर्थन करते थे उनकी परवाह किए बगैर यह साहसिक काम किया गया विंग कमांडर अभिनंदन जी को लाने का ।

जिस तरह से भारत देश की छवि बदली है 2014 के बाद से उसके बाद से एक तरह की लॉबी जो भारत देश को तोड़ना चाहती है और ऐसे कई लोग जो देश को अंदर से दीमक की तरह नष्ट कर रहे है ।

ऐसे लोगो की दुकान बंद हों गई है ऐसी लॉबी और ऐसे देश विरोधी लोगो को बुरी तरह लात मारी गई है मोदी जी द्वारा ।

भ्रष्टाचार को भी बुरी तरह से तोड़ा गया है मोदी सरकार द्वारा पहले जहां हर विभाग में भ्रष्टाचार होता था 2जी घोटाला, कोल घोटाला, आदि अन्य घोटालों के बारे में सुनते थे मोदी जी द्वारा सब पर लगाम लगा दी गई है, पारदर्शिता रखी जा रहीं है हर विभाग में, 2014 के बाद से कोई भी ऐसी घोटालों की खबर सुनाई नहीं दी।

पहले जहां दलाल लोगों का दखल होता था हर सरकारी विभाग में ऐसे दलालों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है मोदी जी द्वारा।
तो श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा जिस तरह से तेज़ी से काम चल रहा है उसके कारण देश विरोधी ताकतों को मिर्ची लग गई है जिसके कारण वो ऐसे दंगे जैसे हालात बना रहे है, लेकीन मेरी आप सब से हाथ जोड़ कर विनती है कि ऐसे देश विरोधी लोगो की बातों पर ध्यान ना दे , मोदीजी पर विश्वास रखे और यकीन मानिए कुछ सालो में देश की दशा और दिशा बदल जाएगी ।

Raunak Nagar
Raunak Nagar
हिन्दू हूं मुझे इसी बात पर गर्व है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

[tds_leads input_placeholder="Email address" btn_horiz_align="content-horiz-center" pp_checkbox="yes" pp_msg="SSd2ZSUyMHJlYWQlMjBhbmQlMjBhY2NlcHQlMjB0aGUlMjAlM0NhJTIwaHJlZiUzRCUyMiUyMyUyMiUzRVByaXZhY3klMjBQb2xpY3klM0MlMkZhJTNFLg==" msg_composer="success" display="column" gap="10" input_padd="eyJhbGwiOiIxNXB4IDEwcHgiLCJsYW5kc2NhcGUiOiIxMnB4IDhweCIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCA2cHgifQ==" input_border="1" btn_text="I want in" btn_tdicon="tdc-font-tdmp tdc-font-tdmp-arrow-right" btn_icon_size="eyJhbGwiOiIxOSIsImxhbmRzY2FwZSI6IjE3IiwicG9ydHJhaXQiOiIxNSJ9" btn_icon_space="eyJhbGwiOiI1IiwicG9ydHJhaXQiOiIzIn0=" btn_radius="0" input_radius="0" f_msg_font_family="521" f_msg_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsInBvcnRyYWl0IjoiMTIifQ==" f_msg_font_weight="400" f_msg_font_line_height="1.4" f_input_font_family="521" f_input_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEzIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMiJ9" f_input_font_line_height="1.2" f_btn_font_family="521" f_input_font_weight="500" f_btn_font_size="eyJhbGwiOiIxMyIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_btn_font_line_height="1.2" f_btn_font_weight="600" f_pp_font_family="521" f_pp_font_size="eyJhbGwiOiIxMiIsImxhbmRzY2FwZSI6IjEyIiwicG9ydHJhaXQiOiIxMSJ9" f_pp_font_line_height="1.2" pp_check_color="#000000" pp_check_color_a="#309b65" pp_check_color_a_h="#4cb577" f_btn_font_transform="uppercase" tdc_css="eyJhbGwiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjQwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGUiOnsibWFyZ2luLWJvdHRvbSI6IjMwIiwiZGlzcGxheSI6IiJ9LCJsYW5kc2NhcGVfbWF4X3dpZHRoIjoxMTQwLCJsYW5kc2NhcGVfbWluX3dpZHRoIjoxMDE5LCJwb3J0cmFpdCI6eyJtYXJnaW4tYm90dG9tIjoiMjUiLCJkaXNwbGF5IjoiIn0sInBvcnRyYWl0X21heF93aWR0aCI6MTAxOCwicG9ydHJhaXRfbWluX3dpZHRoIjo3Njh9" msg_succ_radius="0" btn_bg="#309b65" btn_bg_h="#4cb577" title_space="eyJwb3J0cmFpdCI6IjEyIiwibGFuZHNjYXBlIjoiMTQiLCJhbGwiOiIwIn0=" msg_space="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIwIDAgMTJweCJ9" btn_padd="eyJsYW5kc2NhcGUiOiIxMiIsInBvcnRyYWl0IjoiMTBweCJ9" msg_padd="eyJwb3J0cmFpdCI6IjZweCAxMHB4In0=" msg_err_radius="0" f_btn_font_spacing="1"]
spot_img

Related articles

अंकुरस्य प्रीतौ सबाभवत् सोनी ! अंकुर के प्यार में सबा बन गई सोनी !

उत्तर प्रदेशस्य बरेल्यां सबा बी नामक बालिका हिंदू बालक: अंकुर देवलतः पाणिग्रहण कर्तुं पुनः गृहमागतवती ! सम्प्रति सा...

रामचरितमानसस्यानादर:, रिक्तं रमवान् सपायाः हस्तम् ! रामचरितमानस का अपमान, खाली रह गए सपा के हाथ ?

उत्तर प्रदेशे वर्तमानेव भवत् विधान परिषद निर्वाचनस्य परिणाम: आगतवान् ! पूर्ण ५ आसनेभ्यः निर्वाचनमभवन् स्म् ! यत्र ४...

चीन एक ‘अलग-थलग’ और ‘मित्रविहीन’ भारत चाहता है

एक अमेरिकी रिपोर्ट के अनुसार, "पाकिस्तान के बजाय अब चीन, भारतीय परमाणु रणनीति के केंद्र में है।" चीन भी समझता है कि परमाणु संपन्न भारत 1962 की पराजित मानसिकता से मीलों बाहर निकल चुका है।

हमारी न्याय व्यवस्था पर बीबीसी का प्रहार

बीबीसी ने अपनी प्रस्तुति में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों, जिहादियों और इंजीलवादियों के उन्हीं मिथ्या प्रचारों को दोहराया है, जिसे भारतीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने न केवल वर्ष 2012 में सिरे से निरस्त कर दिया