42.9 C
New Delhi

एएमयू इत्ये प्राप्नोति एक भारत श्रेष्ठ भारतस्य ईषद्दर्शनम्-पीएम मोदी: ! एएमयू में मिलती है एक भारत श्रेष्ठ भारत की झलक-पीएम मोदी !

Date:

Share post:

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालयस्य शताब्दी समारोहम् वीडियो कान्फ्रेंसिंग इत्येन संबोधित कृतमानः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: भौमवासरम् अकथयत् तत विश्वविद्यालये लघु भारत इति परिलक्ष्यति !

अलीगढ़ मु्स्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के शताब्दी समारोह को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि विश्वविद्यालय में ‘मिनी इंडिया’ नजर आता है।

एएमयू इत्यस्य योगदनस्य चर्चा कृतमानः पीएम इति अकथयत् तत इति विश्वविद्यालये एक भारत श्रेष्ठ भारतस्य भावनां तीक्ष्ण भव्यते मया येन मेलित्वा अग्रम् बर्धनमस्ति !

एएमयू के योगदान की चर्चा करते हुए पीएम ने कहा कि इस विश्वविद्यालय में एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना मजबूत होती रही है और हमें इसे मिलकर आगे बढ़ाना है।

पीएम इति अकथयत् तत १०० वर्षेषु एएमयू इत्येन माध्यमेन देशस्य सेवक: प्रत्येक अध्यापकस्य प्रवक्तायाः सः अभिनन्दनं कुर्वन्ति ! पीएम इति मुस्लिम बालिकानां ड्राप आउट इत्ये संशोधने एएमयू इति प्रशासनस्य प्रशंसामपि कृतः !

पीएम ने कहा कि 100 वर्षों में एएमयू के माध्यम से देश की सेवा करने वाले प्रत्येक टीचर प्रोफेसर का वह अभिनंदन करते हैं। पीएम ने मुस्लिम लड़कियों के ड्रॉप आउट में सुधार होने पर एएमयू प्रशासन की सराहना भी की।

पीएम इति अकथयत् बहु देशै: सह भारतस्य सम्बंधाणि तीक्ष्ण कृते एएमयू इति योगदानं दत्तवान ! विश्वविद्यालये उर्दू,फारसीयाम् भवतः शोध भारतं सांस्कृतिक उर्जाम् ददाति ! अयम् प्रसन्नतायाः वार्तास्ति ततात्र १००० विदेशी नागरिक इति पाठ्यन्ति !

पीएम ने कहा कि कई देशों के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करने में एएमयू ने योगदान दिया है। विवि में ऊर्दू, फारसी में होने वाले शोध भारत को सांस्कृतिक ऊर्जा देते हैं। यह खुशी की बात है कि यहां 1000 विदेशी नागरिक पढ़ाई करते हैं।

एएमयू इत्यस्य छात्रा: स्व कर्तव्यम् स्मृतिमानः अग्रम् बर्धिष्यन्ति ! स्व संबोधनस्य पूर्व पीएम इति डाकटिकट इत्यापि प्रसृतवान ! इति अवसरे विश्वविद्यालयस्य उपकुलपति एसएम सैफुद्दीन: केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निषंकरपि उपस्थितमासीत् !

एएमयू के छात्र अपने कर्तव्य को याद रखते हुए आगे बढ़ेंगे। अपने संबोधन के पहले पीएम ने डाक टिकट भी जारी किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर एसएम सैफुद्दीन और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी मौजूद थे।

अयम् प्रथमावसरम् भविष्यति यदा पीएम मोदी: एएमयू इत्यस्य कश्चित समारोहे सम्मिलितः ! इति सप्ताहस्य आरम्भे शताब्दी समारोहाय एएमयू इत्यस्य भवनम् प्रकाशेण असज्जयत् !

यह पहला मौका होगा जब पीएम मोदी एएमयू के किसी समारोह में शामिल हुए। इस सप्ताह के शुरुआत में शताब्दी समारोह के लिए एएमयू की इमारत को रोशनी से सजाया गया।

एएमयू इत्यस्य जनसंपर्क अधिकारी उमर सलीम पीरजादा: वार्ता संस्था एएनआई इत्येन सह वार्तायाम् अकथयत् कश्चितापि विश्वविद्यालयस्य इतिहासे शताब्दी समारोहं बहु महत्वं धारयति !

एएमयू के जनसंपर्क अधिकारी उमर सलीम पीरजादा ने समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में कहा किसी भी विश्वविद्यालय के इतिहास में शताब्दी समारोह काफी महत्व रखता है।

वयं कोविड-१९ इत्यस्य सर्वाणि प्रोटोकाल इत्यस्य पालनं कृतमानः समारोहस्य आयोजनं कुर्याम: ! इति अवसरे विश्वविद्यालये वेबिनार, सेमिनार इति अन्यच् कार्यक्रमं भविष्यते !

हम कोविड-19 के सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए समारोह का आयोजन कर रहे हैं। इस अवसर पर विवि में वेबीनार, सेमीनार और अन्य कार्यक्रम होंगे।

ज्ञापयतु तत वर्ष १९२० तमे मेओ कालेज इत्यस्य स्तरम् बर्धित्वा एएमयू इत्यस्य स्थापनां अक्रियते ! मेओ कालेज इत्यस्य स्थापनां सम्वत् १८७७ तमे सर सैयद अहमद खान: कृतरासीत् !

बता दें कि साल 1920 में मेओ कॉलेज का दर्जा बढ़ाकर एएमयू की स्थापना की गई। मेओ कॉलेज की स्थापना सन 1877 में सर सैयद अहमद खान ने की थी।

अलीगढ़े एएमयू विश्वविद्यालयस्य परिसर ४६७.६ हेक्टेयर इत्येनाधिकम् भूमे प्रसारमस्ति ! अस्य त्रय केन्द्रम् मलाप्पुरमे (केरल),मुर्शिदाबाद-जंगीपुरे (पश्चिम बंगाल) किशनगंजे (बिहार) सन्ति !

अलीगढ़ में एएमयू विवि का परिसर 467.6 हेक्टेयर से ज्यादा भूमि में फैला है। इसके तीन केंद्र मलाप्पुरम (केरल), मुर्शिदाबाद-जंगीपुर (पश्चिम बंगाल) और किशनगंज (बिहार) में हैं।

पूर्वदा वर्षम् १९६४ तमे तत्कालीन प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री: विश्वविद्यालयस्य दीक्षांत समारोहे सम्मिलितमागतवान स्म ! अस्य पूर्वम् चर्चामासीत् तत विश्वविद्यालयस्य शताब्दी समारोहे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद: आगमिष्यति !

पिछली बार साल 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री विवि के दीक्षांत समारोह में शरीक होने आए थे। इसके पहले चर्चा थी कि विवि के शताब्दी समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आएंगे।

बद्यते तत सम्प्रति राष्ट्रपति फरवरी इति २०२१ तमे विश्वविद्यालयस्य भ्रमणं करिष्यति ! कोरोना इत्यस्य संकटम् पश्यमानः सर्वाणि कार्यक्रमं ऑनलाइन इति भविष्यते !

बताया जाता है कि अब राष्ट्रपति फरवरी 2021 में विवि का दौरा करेंगे। कोरोना के संकट को देखते हुए सभी कार्यक्रम ऑनलाइन होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

पाणिग्रहणस्य कुचक्रम् दत्वा भोपालतः केरलम् नयवान्, इस्लाम स्वीकरणस्य भारम् कर्तुम् अरभत् ! शादी का झाँसा दे भोपाल से केरल ले गया, इस्लाम कबूलने का...

मध्यप्रदेशस्य राजधानी भोपाल्-नगरस्य एका हिन्दु-बालिका विवाहस्य प्रलोभनेन राजा खान् इत्यनेन केरल-राज्यं नीतवती। कथितरूपेण, इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य कल्मा-ग्रन्थं पठितुं दबावः...

कमल् भूत्वा, कामिल् एकः हिन्दु-बालिकाम् वशीकृतवान्, ततः एकवर्षं यावत् तां ब्ल्याक्मेल् कृत्वा यौनशोषणम् अकरोत्! कमल बनकर कामिल ने हिंदू लड़की को फँसाया, फिर ब्लैकमेल...

उत्तरप्रदेशस्य मुज़फ़्फ़र्नगर्-नगरस्य कामिल् नामकः मुस्लिम्-बालकः स्वस्य नाम मतं च प्रच्छन्नं कृत्वा इन्स्टाग्राम्-इत्यत्र हिन्दु-बालिकया सह मैत्रीम् अकरोत्। ततः सः...

यूरोपीय मीडिया भारतस्य विषये मिथ्या-वार्ताः प्रदर्शयन्ति-ब्रिटिश वार्ताहर: ! यूरोपीय मीडिया भारत के बारे में दिखाता है झूठी खबरें-ब्रिटिश पत्रकार !

पाश्चात्य मीडिया भारतं प्रति पक्षपाती सन्ति। सा केवलं तेभ्यः एव भारतस्य वार्ताभ्यः महत्त्वं ददति ये किंवदन्तीषु विश्वसन्ति! परन्तु,...

गुजरात सर्वकारस्यादेशानुसारं मदरसा भ्रमणार्थं शिक्षिकोपरि आक्रमणं जातम् ! गुजरात सरकार के आदेश पर मदरसे का सर्वे करने पहुँचे शिक्षक पर हमला !

गुजरात्-सर्वकारस्य आदेशात् परं अद्यात् (१८ मे २०२४) सम्पूर्णे राज्ये मद्रासा-सर्वेः आरब्धाः सन्ति। अत्रान्तरे अहमदाबाद्-नगरे मदरसा सर्वेक्षणस्य समये एकः...