34.1 C
New Delhi

अद्य श्वानानां काळमस्ति, श्व अस्माकं आगमिष्यत:-मुफ्ती सलमान: ! आज कुत्तों का वक्त है, कल हमारा आएगा-मुफ्ती सलमान !

Date:

Share post:

ज्ञानवाप्यां पूजनमरभस्यानंतरम् इस्लामी कट्टरपंथिन: गरलोद्वामनमरभन् ! अस्मिनेव क्रमे सलमान अजहरी नाम्नः एकस्य मुफ्ती इत्यस्य भाषण: प्रसरत् ! इदम् भाषण: जूनागढ़स्यैकस्य कार्यक्रमस्य ! चलचित्रे अजहरी कथ्यति !

ज्ञानवापी में पूजा पाठ शुरू होने के बाद इस्लामी कट्टरपंथियों ने जहर उगलना शुरू कर दिया है ! इसी क्रम में सलमान अजहरी नाम के एक मुफ्ती का भाषण वायरल हुआ है ! ये भाषण जूनागढ़ के एक कार्यक्रम का है ! वीडियो में अजहरी कहता है !

अभी तो कर्बला का आखिरी मैदान बाकी है, कुछ देर की खामोशी है, फिर किनारा आएगा, आज कुत्तों का वक्त है, कल हमारा दौर आएगा ! २२ विपलस्येदम् चलचित्रम् सोशल मीडिया इत्यां प्रसरति ! जनः येन शेयर कृत्वा कार्यवहनस्य याचना कुर्वन्ति !

अभी तो कर्बला का आखिरी मैदान बाकी है, कुछ देर की खामोशी है, फिर किनारा आएगा ! आज कुत्तों का वक्त है, कल हमारा दौर आएगा ! 22 सेकेंड का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है ! लोग इसे शेयर करके कार्रवाई की माँग कर रहे हैं !

मीडिया यदास्य चलचित्रस्यानुसंधानमकरोत् तु तै: भाषणस्य ५३ पलस्य पूर्ण चलचित्रमलभत् ! यस्मिन् मुफ्ती बहूनि स्थानानि उद्दतकं वार्ता: अकथत् ! यं चलचित्रम् इस्लामिक चैनल प्रस्तुतं कृतवान् ! यस्मिन् वक्ता रूपे मुफ्ती सलमान अजहरी मंचे अस्ति, यद्यपि स्थानम् जूनागढ़, गुजरातमस्ति !

मीडिया ने जब इस वीडियो की पड़ताल की तो उन्हें भाषण का 53 मिनट का असली वीडियो मिला ! इसमें मुफ्ती ने कई जगह भड़काऊ बातें कही हुई हैं ! इस वीडियो को इस्लामिक चैनल ने पोस्ट किया है ! इसमें वक्ता के तौर पर मुफ्ती सलमान अजहरी मंच पर है, जबकि जगह जूनागढ़, गुजरात है !

कार्यक्रम ३१ जनवरिमभवत् स्म चलचित्रम् च् १ फरवरी २०२४ तमम् प्रस्तुतं कृतवान्, भाषणस्यारभे अजहरी जूनागढ़स्येतिहासस्य उल्लेखितुं कथ्यति, जूनागढ़स्य जनाः शीघ्रम् केषाम् हस्तानि नागच्छन् ! तै: अभ्यांतरमानेतुं बहवः प्रयत्न: कर्तुं अभवन् ! यथैव तदा भवान् शीघ्रमेव केषाम् हस्तानि नागच्छन्तु !

कार्यक्रम 31 जनवरी को हुआ था और वीडियो 1 फरवरी 2024 को अपलोड किया गया, भाषण की शुरुआत में अजहरी जूनागढ़ के इतिहास का जिक्र कर कहता है, जूनागढ़ के लोग जल्दी किसी के हाथ नहीं लगे ! उन्हें अंदर लाने के लिए कई प्रयास करने पड़े ! जैसे तब आप जल्दी ही किसी के हाथ नहीं आए !

अहमिच्छामि तताद्य भवान् कस्यचितन्यस्य पट्टा स्वग्रीवायां न धारयन्तु, मयि तु केवलं ताजदार-दार-ए मदीना इत्यस्यैव गुलामी इति कर्तुंमकथन् ! यस्यानंतरम् कार्यक्रमे “गुलाम हैं गुलाम हैं, रसूल के गुलाम हैं, इत्यस्योद्घोषानि अपि शृणुतुं दत्तवान् ! चलचित्रे तं अकथयत्, मस्जिद में बुत रखने से मस्जिद बुतखाना नहीं बन जाती ! इति !

मैं चाहता हूँ कि आज आप किसी और की पट्टा अपने गले में न पहनें, हमारे में तो सिर्फ ताजदार-ए-मदीना की ही गुलामी करना कहा गया है ! इसके बाद कार्यक्रम में “गुलाम हैं गुलाम हैं, रसूल के गुलाम हैं” के नारे भी सुनाई दिए ! वीडियो में उसने कहा, “मस्जिद में बुत रखने से मस्जिद बुतखाना नहीं बन जाती !

त्वम् एकं धृतवान्, काबायां ३६० धृतवान् स्म, पुनः अपि काबा तु काबा एव रमति, न परिक्रमा विरमत् नैव हज विरमत् ! अग्रम् तं मुस्लिमान् उद्दतुं यहूदी जनस्योद्धरणमददात् ! तं अकथयत् तत काले-काले मुस्लिमेषु अत्याचार: अभवन् तु पुनः ते हरीतिमामिव स्थातुं अभवन् !

तुमने एक रखा है, काबा में 360 रखे थे, फिर भी काबा तो काबा ही रहा, न तवाफ रुका, न हज रुका ! आगे उसने मुसलमानों को भड़काने के लिए यहूदी व्यक्ति का हवाला दिया ! उसने कहा कि समय-समय पर मुसलमानों पर अत्याचार हुए लेकिन फिर वह हरियाली की तरह खड़े हो गए !

तं अकथयत् तत मुस्लिमान् कश्चित नेता एकत्र: न करोति अपितु इमे केवलं मुहम्मदस्य नामनि एकत्र: भवन्ति ! यै: केवलं ताजदार-ए-मदीना एव एकत्रितुं शक्नोति ! अग्रम् सः अयमपि ज्ञापयति तत फिलिस्तीने, ईराने, बर्मायां प्रतिस्थानम् मुस्लिमान् हनन्ते ! तु मुस्लिमान् हते इस्लाम न संपादिष्यते !

उसने कहा कि मुसलमानों को कोई नेता एकजुट नहीं करता बल्कि ये सिर्फ मुहम्मद के नाम पर इकट्ठा होते हैं ! इन्हें सिर्फ ताजदार-ए-मदीना ही इकट्ठा कर सकता है !आगे वह यह भी बताता है कि फिलिस्तीन, ईरान, बर्मा में हर जगह मुस्लिमों को मारा जा रहा है ! लेकिन मुसलमानों के मरने से इस्लाम नहीं खत्म होगा !

स्वे भाषणे तं अकथयत् मुस्लिमान् स्वोत्थितुं भविष्यति कश्चित नेता-विपक्षी दलम् तेभ्यः न आगमिष्यति ! तं अकथयत्, इंकलाब इति भवतः गृहतः भविष्यति ! तेषु मस्जिदानि बुतखाना रचस्य शक्ति नास्ति ! भवान् मस्जिदानि शून्यमत्यजन् अस्माकं चत्र मुहावरा अस्ति तत यदा क्षेत्रम् स्वच्छंदम् भवति तु श्वानानां राज्य भवति !

अपने भाषण में उसने कहा मुसलमानों को खुद उठना होगा कोई नेता-विपक्षी दल उनके लिए नहीं आएगा ! उसने कहा, इंकलाब आपके घर से होगा ! उनमें मस्जिदों को बुतखाना बनाने की हिम्मत नहीं है ! आपने मस्जिदों को वीरान छोड़ दिया है और हमारे यहाँ मुहावरा है कि जब मैदान खुला होता है तो कुत्तों का राज होता है !

यदि त्वम् क्षेत्रे परिभ्रमिष्यति तु कश्चित श्वान न भविष्यति ! भाषणस्यान्ते तमकथयत्, मुस्लिमा: मा विभ्रमन्तु, अभी खुदा की शान बाकी है, अभी इस्लाम इस्लाम जिंदा है, अभी कुरान बाकी है, ऐ जालिम काफिर क्या समझता है, जो रोज हमसे उलझता है, अभी तो कर्बला का आखिरी मैदान बाकी है, कुछ देर की खामोशी है, किनारा आएगा, आज कुत्तों का वक्त है, कल हमारा दौर आएगा ! इति !

यदि तुम मैदान में घूमते रहोगे तो कोई कुत्ते नहीं होंगे ! भाषण के अंत में उसने कहा, मुसलमानों घबराओ मत, अभी खुदा की शान बाकी है, अभी इस्लाम जिंदा है, अभी कुरान बाकी है, ऐ जालिम काफिर क्या समझता है, जो रोज हमसे उलझता है, अभी तो कर्बला का आखिरी मैदान बाकी है, कुछ देर की खामोशी है, किनारा आएगा, आज कुत्तों का वक्त है, कल हमारा दौर आएगा !

यस्यानंतरम् पुनः लब्बैक या रसूल अल्लाह इत्यस्योद्घोषानि उद्घोषन्ते ! ज्ञापयतु तत यं प्रकरणम् गृहीत्वा मीडिया जूनागढ़ आरक्षकेण संपर्क: कृतवान् तु ज्ञातमभवत् तत आरक्षकः चलचित्रे संज्ञान: नयवान् कथनमपि च् निर्गत् करिष्यति ! यद्यपि, अनंतरे पुनः प्रयत्न कृते संबंधम् स्थापितुं नाशक्नोत् !

इसके बाद फिर लब्बैक या रसूल अल्लाह के नारे लगवाए जाते हैं ! बता दें कि इस मामले को लेकर मीडिया ने जूनागढ़ पुलिस से संपर्क किया तो पता चला कि पुलिस ने वीडियो पर संज्ञान ले लिया है और बयान भी जारी करेगी ! हालाँकि, बाद में पुनः प्रयास करने पर कनेक्शन स्थापित नहीं हो सका !

तु, जूनागढ़स्योच्च आरक्षकाधिकारिन् डीएसपी हितेश ढांडालिया दिव्य भास्करतः विशेष वार्तालापे अकथयत्, अहम् पूर्ण भाषण: ळब्धवान् येन च् विधिक विशेषज्ञानां राय इत्यै अप्रेषयत् ! उग्रता प्रदर्शने कार्यवहन करिष्यते !

लेकिन, जूनागढ़ के शीर्ष पुलिस अधिकारी डीएसपी हितेश ढांडालिया ने दिव्य भास्कर से खास बातचीत में कहा, हमने पूरा भाषण प्राप्त कर लिया है और इसे कानूनी विशेषज्ञों की राय के लिए भेज दिया है ! उग्रता दिखाने पर कार्रवाई की जाएगी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

फैजान:, जिशानः, फिरोज: च् एकः वृद्ध आरएसएस कार्यकर्तारं अघ्नन् ! फैजान, जीशान और फिरोज ने बुजुर्ग RSS कार्यकर्ता को मार डाला !

राजस्थानस्य देवालयं प्रति गच्छन् एकः 65 वर्षीयः वृद्धस्य वध: अकरोत् । पूर्वं मृत्युः रोगेण अभवत् इति मन्यन्ते स्म,...

हिंदू बालिका मुस्लिम बालकः च् विवाहः अवैधः मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयः ! हिंदू लड़की और मुस्लिम लड़का शादी वैध नहीं-मध्यप्रदेश हाईकोर्ट !

मध्यप्रदेशस्य उच्चन्यायालयेन उक्तम् अस्ति यत् मुस्लिम्-बालकस्य हिन्दु-बालिकायाः च विवाहः मुस्लिम्-विधिना वैधविवाहः नास्ति इति। न्यायालयेन विशेषविवाह-अधिनियमेन अन्तर्धार्मिकविवाहेभ्यः आरक्षकाणां संरक्षणस्य...

भारतं अस्माकं भ्राता अस्ति, पाकिस्तानः अस्माकं शत्रुः अस्ति-अफगानी वृद्ध: ! भारत हमारा भाई, पाकिस्तान दुश्मन-अफगानी बुजुर्ग !

सहवासिन् पाकिस्तान-देशः न केवलं भारतस्य, अपितु अफ्गानिस्तान्-देशस्य च प्रतिवेशिनी अस्ति। अफ़्घानिस्तानस्य जनाः पाकिस्तानं न रोचन्ते। अफ्गानिस्तान्-देशे भयोत्पादनस्य प्रसारकानां...

बृजभूषण शरण सिंहस्य पुत्रस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 2 बालकाः मृताः। बृजभूषण शरण सिंह के बेटे के काफिले में शामिल फॉर्च्यूनर से कुचल कर 2...

उत्तरप्रदेशस्य कैसरगञ्ज्-नगरे भाजप-अभ्यर्थी करणभूषणसिङ्घस्य यात्रावाहनस्य फार्च्यूनर् इत्यनेन 3 बालकाः धाविताः। अस्मिन् दुर्घटनायां 2 जनाः तत्स्थाने एव मृताः, अन्ये...