किं सम्प्रति बिहार सरकारे मंत्री निर्मिष्यति शाहनवाज हुसैन: ? क्या अब बिहार सरकार में मंत्री बनेंगे शाहनवाज हुसैन ?

0
279

पूर्व केंद्रीय मंत्री भाजपाया: राष्ट्रीय प्रवक्ता च् सैयद शाहनवाज हुसैनम् दल: बिहार विधान परिषदाय भवानि उपनिर्वाचने निर्वाचनक्षेत्रे अवतरोति ! अद्य स्वनामांकन प्रविष्टेन प्रथम सः कथयतु तत सः राज्ये दलहेतु कार्यम् कृतैच्छति !

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन को पार्टी ने बिहार विधान परिषद के लिए होने वाले उपचुनाव में मैदान में उतरा है ! आज अपना नामांकन दाखिल करने से पहले उन्होंने कहा कि वह राज्य में पार्टी के लिए काम करना चाहते हैं !

द्वयदा भागलपुर लोकसभासनात् भाजपा सांसदारमत शाहनवाज हुसैन: अटल सर्कारस्य कालम् केंद्रे मंत्री अप्यरमत ! राजनीतिक क्षेत्रेषु शाहनवाज हुसैनम् विधानपरिषदस्य प्रत्याशी घोषितम् गृहित्वा भिन्न-भिन्नस्य चर्चा: अपि भवन्ति !

दो बार भागलपुर लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद रह चुके हैं शाहनवाज हुसैन अटल सरकार के दौरान केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं ! राजनीतिक हलकों में शाहनवाज हुसैन को विधान परिषद का उम्मीदवार घोषित करने को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं भी हो रही हैं !

केचन जना: येन तस्य उच्चताया बंधित्वा पश्यंति कथ्यन्ति च् तत अयम् शाहनवाज हुसैनस्य उच्चता न्यून कृतस्य प्रयत्नमप्यस्ति ! तु द्वितीयं प्रति बहु जनाः इदृशमपि सन्ति येन अयम् परिलक्ष्यन्ति तत अंततः शाहनवाज हुसैनस्य राजनीतिक वनवास इति समाप्तम् अभव्यते सम्प्रति च् नीतीशस्य मंत्रिपरिषदे तेन वृहद कार्यभार: प्राप्तुम् शक्नोति !

कुछ लोग इसे उनके कद से जोड़कर देख रहे हैं और कह रहे हैं कि ये शाहनवाज हुसैन का कद छोटा करने की कोशिश भी है ! लेकिन दूसरी तरफ कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें यह लगता है कि फाइनली शाहनवाज हुसैन का राजनीतिक वनवास खत्म हो गया है और अब नीतीश कैबिनेट में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है !

बिहार विधानसभा निर्वाचनस्य कालम् भाजपा कश्चित मुस्लिम मुखम् निर्वाचनपत्रम् न दत्त: स्म तर्हि इदृशेषु अयमपि शक्यतास्ति तत भाजपा तेन विधानपरिषदस्य सदस्य निर्मित्वा मुस्लिम मुखस्य रूपे तर्हि प्रस्तुत न करोति !

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने किसी मुस्लिम चेहरे को टिकट नहीं दिया था तो ऐसे में यह भी संभावना है कि बीजेपी उन्हें विधान परिषद का सदस्य बनाकर मुस्लिम चेहरे के रूप में तो पेश नहीं कर रही है !

बिहारे विधानपरिषदस्य द्वये आसने स्तः सम्प्रति दर्शनीय वार्ता इदमस्ति तत भाजपा शाहनवाजं कश्चित आसनेन स्व प्रत्याशी घोषित: ! प्रथम आसनमस्ति विनोद नारायणस्य झायाः यत् मधुबन्याः बेनीपट्टिया विधायकः अनिर्मते विधानपरिषदस्य च् सदस्यस्य रूपे तस्य कार्यकाल सम्प्रति एकार्द्ध वर्षस्यावशेषयत् स्म !

बिहार में विधान परिषद की दो सीटें हैं अब देखने वाली बात ये है कि बीजेपी शाहनवाज को किस सीट से अपना उम्मीदवार घोषित करती है ! पहली सीट है विनोद नारायण झा की जो मधुबनी के बेनीपट्टी से विधायक बन चुके हैं और विधान परिषद के सदस्य के रूप में उनका कार्यकाल अब डेढ़ साल का बचा था !

इदृशेषु इति आसनेन यदि शाहनवाज: रणयन्ति तर्हि तः एकार्द्ध वर्षमेव एमएलसी इति रमष्यते !द्वितीय आसनमस्ति सुशील मोद्याः येन दलम् राज्यसभाप्रेषयत् ! सुशील मोद्याः कार्यकाल २०२४ तमैवस्यास्ति,यदि शाहनवाज: इति आसनेन नामांकनम् कुर्वन्ति तर्हि तः त्रय वर्षमेव एमएलसी इति रमष्यते !

ऐसे में इस सीट से अगर शाहनवाज खड़े होते हैं तो वो डेढ़ साल ही एमएलसी रह पाएंगे ! दूसरी सीट है सुशील मोदी की जिन्हें पार्टी राज्यसभा भेज चुकी है ! सुशील मोदी का कार्यकाल 2024 तक का है,यदि शाहनवाज इस सीट से नामांकन भरते हैं तो वो तीन साल तक एमएलसी रहेंगे !

भाजपा जम्मू-कश्मीरे अभवत् वर्तमाने निकाय निर्वाचनस्य कालम् शाहनवाज हुसैनम् कार्यभार: दत्त: स्म तेन च् घट्याम् अप्रेषयते स्म ! इति कालम् तस्य जनसभाषु बहु सम्मर्द: अपि अप्ययत् स्म !

बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में हुए हालिया निकाय चुनाव के दौरान शाहनवाज हुसैन को बड़ी जिम्मेदारी दी थी और उन्हें घाटी में भेजा था ! इस दौरान उनकी जनसभाओं में खूब भीड़ भी उमड़ी थी !

निर्वाचनस्य परिणाम भाजपाम् प्रशंसकानि आसन् घट्याम् च् प्रथमदा भाजपाया: आसनः अप्राप्तयत् ! सम्प्रति शाहनवाजम् विधान परिषद: प्रेषयित्वा कुत्रैव तेन इदमेव सफलतायाः पारितोषिक: तर्हि न ददाति, अस्यापि चर्चा भवति !

चुनाव के नतीजे बीजेपी को खुश करने वाले थे और घाटी में पहली बार बीजेपी का खाता खुला ! अब शाहनवाज को विधान परिषद भेजकर कहीं उन्हें इसी सफलता का इनाम तो नहीं दे रही है, इसकी भी चर्चा हो रही है !

इंजीनियरिंग इत्ये डिप्लोमा इति कर्ता हुसैन: १९९९ तमे ३१ वर्षस्य उम्रे किशनगंजेन लोकसभायाम् स्व राजनीतिक कार्यकालस्य आरम्भ कृतः स्म ! तेन तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेय्या: अध्यक्षतायाम् मंत्रि परिषदे सम्मिलित: अक्रियते स्म !

इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने वाले हुसैन ने 1999 में 31 साल की उम्र में किशनगंज से लोकसभा में अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत की थी ! उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था !

हुसैन: पीटीआई इत्येन कथयतु शानिवासरम् केंद्रीय नेतृत्वस्य दूरभाषम् आगतः स्म यस्मिन् वयं कथ्यन् तत यदि दल: भागलपुरस्य जनपद अध्यक्षापि निर्मयति तर्हि तेन सहर्ष स्वीकार: करवाणि कार्यकर्तायाः रूपे कार्यम् करवाणि !

हुसैन ने पीटीआई से कहा शनिवार को केंद्रीय नेतृत्व का फोन आया था जिस पर हमने कहा कि अगर पार्टी भागलपुर का जिलाध्यक्ष भी बना देती तो उसे सहर्ष स्वीकार करता और कार्यकर्ता के तौर पर काम करता !

हुसैन: कथयतु तत गत दिवसा गृहमंत्री अमित शाहेन वार्तालापस्य कालमपि सः कथयतु स्म तत यदि दश वर्षमपि कश्चित कार्यम् न दास्यति तदापि सः दलहेतु कार्यम् करिष्यति !

हुसैन ने कहा कि गत दिनों गृह मंत्री अमित शाह से बातचीत के दौरान भी उन्होंने कहा था कि अगर दस साल भी कोई काम नहीं देंगे तो भी वह पार्टी के लिये काम करेंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here