अनुच्छेद ३७० पूर्वस्थितिम् कृतस्य याचनाम् तीव्र, जम्मू-कश्मीरस्य सर्वाणि दलानि अब्दुल्लास्य प्रासादे सभाम् अकुर्वन् ! अनुच्छेद 370 बहाल करने की मांग तेज, जम्मू कश्मीर के सभी दलों ने अब्दुल्ला के आवास पर बैठक की !

0
164

जम्मू-कश्मीरे अनुच्छेद ३७० इत्यस्य पूर्वस्थिति इत्याय जम्मू-कश्मीरस्य क्षेत्रीय दलम् एकम् भवति ! इति सम्बन्धे गुरूवासरम् श्रीनगरे नेशनल कांफ्रेंस इत्यस्य अध्यक्ष: फारूक अब्दुल्लास्य प्रासादे आल पार्टी मीटिंग इति अभवत् ! नेशनल कांफ्रेंस इत्यस्य उपाध्यक्ष: उमर अब्दुल्ला: पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) इति प्रमुखा महबूबा मुफ्ती अपि तत्र उपस्थितम् आसीत् !

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 की बहाली के लिए जम्मू-कश्मीर के क्षेत्रीय दल एक हो रहे हैं ! इस संबंध में गुरुवार को श्रीनगर में नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के आवास पर ऑल पार्टी मीटिंग हुई ! नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) प्रमुख महबूबा मुफ्ती भी यहां मौजूद थीं !

सभायाः उपरांत फारूक अब्दुल्ला: अकथयत् वयं गुपकर घोषणा इत्याय इति गठबंधनम् पीपुल्स अलायंस इत्यस्य नामम् दत्तवान ! अस्माकं युद्धम् एकम् संवैधानिक युद्धमस्ति, अहम् इच्छामि तत भारत सरकार राज्यस्य जनानि तम् अधिकाराणि पुनरददाय यत् तस्य पार्श्व ५ अगस्त २०१९ तमेन पूर्वमासीत् !

बैठक के बाद फारूक अब्दुल्ला ने कहा हमने गुपकर घोषणा के लिए इस गठबंधन को पीपुल्स अलायंस का नाम दिया है ! हमारी लड़ाई एक संवैधानिक लड़ाई है, हम चाहते हैं कि भारत सरकार राज्य के लोगों को उन अधिकारों को लौटाए जो उनके पास 5 अगस्त 2019 से पहले थे !

फारूक अब्दुल्लास्य प्रासादे षड दलानां सभाम् अभवत् ! अबद्यते तत एतस्मिन् गुपकर घोषणा इते हस्ताक्षरम् कृतंशक्नोति ! इति सम्बन्धे बुधवासरम् फारूक अब्दुल्ला: तस्य पुत्र उमर अब्दुल्ला: च् महबूबा मुफ्तिया तस्य प्रासादे मेलनमपि कृतमासीत् !

फारूक अब्दुल्ला के आवास पर छह दलों की बैठक हुई ! बताया गया कि इसमें गुपकर घोषणा पर हस्ताक्षर किए जा सकते हैं ! इस संबंध में बुधवार को फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला ने महबूबा मुफ्ती से उनके आवास पर मुलाकात भी की थी !

अब्दुल्ला: अकथयत् तत गठबंधनम् जम्मू – कश्मीरस्य प्रकरणानां समाधानाय सर्वाणि सम्बंधित पक्षै: वार्तामपि करिष्यति ! आगत काले वयं भवानि भविष्यसि योजनाभिः अवगत करिष्यामि !

अब्दुल्ला ने कहा कि गठबंधन जम्मू-कश्मीर के मुद्दे के समाधान के लिए सभी संबंधित पक्षों से वार्ता भी करेगा ! आने वाले समय में हम आपको भविष्य की योजनाओं से अवगत कराएंगे !

इत्यात् पूर्वम् २२ अगस्त २०२० तमम् जम्मू कश्मीरस्य च् षड राजनीतिक दलानि अनुच्छेद ३७० उन्मूलनस्य विरुद्धम् सामूहिक रूपेण युद्धाय गुपकर घोषणा इति नामक एकम् वक्तव्ये हस्ताक्षरम् कृतवान स्म ! तम् षड राजनीतिक दलेषु नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी, आईएनसी, जम्मू-कश्मीरस्य जनानां सम्मेलन, सीपीआई अवामी नेशनल कांफ्रेंस इति सम्मिलितमासीत् !

इससे पहले 22 अगस्त 2020 को जम्मू और कश्मीर के छह राजनीतिक दलों ने अनुच्छेद 370 के उन्मूलन के खिलाफ सामूहिक रूप से लड़ने के लिए गुपकर घोषणा नामक एक वक्तव्य पर हस्ताक्षर किए थे ! उन छह राजनीतिक दलों में नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी, आईएनसी, जम्मू-कश्मीर के लोगों का सम्मेलन, सीपीआई और अवामी नेशनल कॉन्फ्रेंस शामिल थे !

भाजपाम् त्यक्तवा कश्मीरस्य सर्वाणि वृहद राजनीतिक दलानां पूर्व ४ अगस्त इतम् फारूक अब्दुल्लास्य प्रासादे सभाम् अभवत् स्म ! इयम् सभाम् पूर्ववर्ती राज्ये अनिश्चितता कलहस्य च् मध्य अभवत् स्म !

भाजपा को छोड़कर कश्मीर के सभी बड़े राजनीतिक दलों की पिछले वर्ष चार अगस्त को फारूक अब्दुल्ला के आवास पर बैठक हुई थी ! यह बैठक पूर्ववर्ती राज्य में अनिश्चितता और तनाव के बीच हुई थी !

कुत्रचित केन्द्रम् अतिरिक्त अर्द्धसैन्य बलानि तत्र नियुक्तम् कृतवान स्म अमरनाथस्य च् श्रद्धालुनि सह सर्वाणि पर्यटकानि शीघ्रातिशीघ्र घाटी मुक्ताय अकथ्यते स्म ! स्थितिम् गृहित्वा खेदम् व्यक्तम कृतः राजनीतिक दलानि संयुक्त कथनं निर्गतम् कृतवान स्म येन गुपकर घोषणा इति नामेन विद्यते !

क्योंकि केंद्र ने अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बलों को वहां तैनात किया था और अमरनाथ के श्रद्धालुओं सहित सभी पर्यटकों को जल्द से जल्द घाटी छोड़ने के लिए कहा गया था ! स्थिति को लेकर चिंता जाहिर करते हुए राजनीतिक दलों ने संयुक्त बयान जारी किया था जिसे गुपकर घोषणा के नाम से जाना जाता है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here