39.1 C
New Delhi

त्रिवर्णस्य राष्ट्रगानस्य विरुद्धम् फतवा इति दत्तक: मौलविन् बंधनम् ! तिरंगे और राष्ट्रगान के खिलाफ फतवा देने वाला मौलवी गिरफ्तार !

Date:

Share post:

गुजरातारक्षकः त्रिवर्णम् न नमनीयं राष्ट्रगानम् न गानीयं च् यथा संदेशान् प्रसृतस्यारोपिन् मौलविं बंधनम् कृतवान् ! आरोपिण: परिचयं मौलवी वासिफ रजा इत्यस्य रूपे अभवत् यः पोरबंदरस्य वासिन् !

गुजरात पुलिस ने तिरंगा को सलाम नहीं करना चाहिए और राष्ट्रगान नहीं गाना चाहिए जैसे संदेशों को वायरल करने के आरोपित मौलवी को गिरफ्तार कर लिया है ! आरोपित की पहचान मौलवी वासिफ रजा के तौर पर हुई है जो पोरबंदर का रहने वाला है !

येषां फतवा इत्यानां विरोधकर्तारः ३ मुस्लिम युवकानियत् प्रताड़ितं कृतवन्तः स्म तत तै: फिनायल इति पिबे विवश: भवितुं अभवन् स्म ! मौलविण: बंधनम् शनिवासरम् (१२ अगस्त) अभवत् ! सूचनापत्राणां अनुसारम्, मौलविन् आरक्षकस्याग्रमयम् स्वीकृतवान् तत प्रसृत ध्वनि अंश तस्यैवास्ति !

इन फतवों का विरोध करने वाले 3 मुस्लिम युवकों को इतना प्रताड़ित किया गया था कि उन्हें फिनायल पीने पर मजबूर होना पड़ा था ! मौलवी की गिरफ्तारी शनिवार (12 अगस्त) को हुई है ! रिपोर्ट्स के मुताबिक, मौलवी ने पुलिस के आगे यह कबूल कर लिया है कि वायरल ऑडियो क्लिप उसी की है !

यद्यपि, आरंभे तं यस्मात् न कृतवान् स्म ! आरोपिण: मौलविण: बंधनस्य पुष्टि: कृतन् पोरबंदरस्य आरक्षकप्रमुख: भागीरथ सिंह जडेजा एके प्रेस कांफ्रेंस इत्यां ज्ञाप्तवान् तत मुस्लिम समुदायस्य जनैः बहार-ए-शरीयत नाम्नः व्हाट्सएप समुहम् चालयते स्म !

हालाँकि, शुरू में उसने इससे इनकार किया था ! आरोपित मौलवी की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए पोरबंदर के पुलिस प्रमुख भागीरथ सिंह जडेजा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेस में बताया कि मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा बहार-ए-शरीयत नाम का व्हाट्सएप ग्रुप चलाया जाता था !

अस्मिनेव नगीना मस्जिदस्य मौलविन् वासिफ रजा केचन अन्याः जनाः च् एडमिन इति सन्ति ! अस्मिन् समुहे जनाः वॉइस क्लिप इत्या प्रश्नाणि पृच्छन्ति ! अनंतरे तेषां उत्तरम् मौलविन् ददाति !

इसी में नगीना मस्जिद के मौलवी वासिफ रजा और कुछ अन्य लोग एडमिन हैं ! इस ग्रुप में लोग वॉइस क्लिप से सवाल पूछते हैं ! बाद में उसका जवाब मौलवी देता है !

वस्तुतः शुक्रवासरस्य (अगस्त ११, २०२३) बहु रात्रि पोरबंदरस्य वासिन: शकील कादरी सैयद:, सोहिल इब्राहीम परमार: इम्तियाज हारून सिपाही च् इंस्ट्राग्राम इत्यां एकं चलचित्रं निर्माय फिनाइल इति अपिबन् ! स्थितिम् असाधु भूते तै: चिकित्सालयं नयवान् स्म !

दरअसल शुक्रवार (अगस्त 11, 2023) की देर रात पोरबंदर के रहने वाले शकील कादरी सैयद, सोहिल इब्राहीम परमार और इम्तियाज हारून सिपाही ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो बनाकर फिनाइल पी लिया ! हालात बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया था !

चिकित्सालये तै: ज्ञाप्तवन्तः तत मौलविणा राष्ट्रगानम् न गीयस्य त्रिवर्णम् न नमनस्य ध्वनि अंश प्रसरस्यानंतरं ताः मस्जिदे गतवन्तः ! अत्र ते मौलविण: कथनस्य विरोधम् कृतवन्तः तु तै: सह समाघातमकुर्वन् !

अस्पताल में उन्होंने बताया कि मौलवी द्वारा राष्ट्रगान न गाने और तिरंगे को सलामी न देने की ऑडियो वायरल होने के बाद वो मस्जिद में गए ! यहाँ उन्होंने मौलवी के बयान का विरोध किया तो उनके साथ मारपीट की गई !

त्रै: पीड़ितै: युवकै: समाघातकृतेषु मौलविन् तस्य च् केचन मित्राणि सम्मिलिता: आसन् ! पीड़िता: युवका: अयमपि ज्ञाप्तवन्तः तत ध्वनि अंशे प्रश्नमुत्थायस्य कारणम् न केवलं मौलविणा तै: दुर्नाम: क्रियते अपितु इस्लामतः बहिष्कृतस्य अपि भर्त्सकः ददाते !

तीनों पीड़ित युवकों से मारपीट करने में मौलवी और उसके कुछ साथी शामिल थे ! पीड़ित युवकों ने यह भी बताया कि ऑडियो क्लिप पर सवाल उठाने के चलते न सिर्फ मौलवी द्वारा उन्हें बदनाम किया जा रहा है बल्कि इस्लाम से खारिज करने की भी धमकी दी जा रही है !

मौलविन् विपरीत: त्रयाणां युवकानां विरुद्धमेव आरक्षके अपवादम् पंजीकृतवान् स्म ! येन वार्ताया त्रय: युवका: पीड़िता: आसन् ते च् फिनायल इति पीत्वा आत्महनस्य प्रयत्न: कृतवन्तः ! मौलविन् वासिफस्य ये ध्वनि अंशे इदम् पूर्ण कलहम् स्थितमभवत् तत २९ जनवरी २०२३ तमस्य ज्ञाप्यते !

मौलवी ने उलटे तीनों युवकों के खिलाफ ही पुलिस में शिकायत दर्ज करवा दी थी ! इस बात से तीनों युवक परेशान थे और उन्होंने फिनायल पीकर आत्महत्या की कोशिश की ! मौलवी वासिफ की जिस ऑडियो क्लिप पर यह पूरा विवाद खड़ा हुआ है वो 29 जनवरी 2023 की बताई जा रही है !

साभार-ऑपइंडिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

पञ्जाबे सर्वाः जी मीडिया चैनल प्रतिबन्धिताः, एषा पत्रिका-स्वातन्त्र्यस्य उपरि आक्रमणं नास्ति वा ? पंजाब में जी मीडिया के सभी चैनल बैन, क्या यह प्रेस...

पञ्जाबे सर्वाः जी न्यूज चैनल प्रतिबन्धिताः सन्ति। चैनल तस्य घोषणा कृता अस्ति ! पञ्जाबे जी-मीडिया इत्यस्य सर्वाः चैनल...

६ जैन साध्व्यः मार्गेण गच्छन्तः आसन्, अल्ताफ् हुसैन् शेखः प्रथमं तान् अनुधावन् ततः पट्ट्या प्रहारं कृतवान् ! सड़क से गुजर रहीं थी 6 जैन...

गुजरातस्य भरूच्-नगरे, अल्ताफ् हुसैन् शेख् नामकः एकः पुरुषः मार्गे गच्छतां जैन साध्वीं आक्रान्तवान्। जैनः साध्वीं आक्रमनात् पूर्वं दीर्घकालं...

फतेहपुरस्य शिव-कवितायो: पुनः गृहागमनस्य कथा ! फतेहपुर के शिव-कविता की घरवापसी की कहानी !

उत्तरप्रदेशस्य फ़तेह्पुर्-नामकस्य उजाड़ेग्रामे, २० वर्षेभ्यः पूर्वं इस्लाम्-मतं स्वीकृत्य वञ्चितः एकः हिन्दु-दम्पती इदानीं हिन्दु-मतं प्रति प्रत्यागतः अस्ति! शिवप्रसादलोधिः, कविता...

वाहिद कुरैशी इत्यनेन मथुरायाः पञ्जाबी बाजार इत्यस्य नाम इस्लामिक बाजार इति परिवर्तितम् ! मथुरा की पंजाबी बाजार के नाम को वाहिद कुरैशी ने बदलकर...

उत्तरप्रदेशस्य मथुरा-जनपदस्य कोसिकलां ग्रामे एकः मुस्लिम्-दुकानदारः विपण्याः नाम परिवर्तितवान्। सः स्वस्य स्थानात् प्रदत्तानां वस्तूनां प्रचारसामग्रीनां च सञ्चिकासु पञ्जाबी-बजार्...