कः अलिखत् स्म जो बाइडनस्य भाषणम् यस्य परितः भवति प्रशांसम् ? किसने लिखा था जो बाइडन का भाषण, जिसकी हर तरफ हो रही तारीफ ?

0
319

अमेरिकायाः नव राष्ट्रपत्याः रूपे शपथ ग्रहणस्य अनंतरम् जो बाइडन: स्व तीक्ष्ण भाषणे इति चुनौतीपूर्ण काले लोकतंत्र एकतायाः आशायाः च् महत्वे बलम् दत्त: ! तस्य अयम् भाषण तेलंगानाया संबंध धर्ता भारतीयामेरिकी विनय रेड्डी: अलिखत् स्म,यस्य बहु प्रशंसाम् भवति !

अमेरिका के नए राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ग्रहण करने के बाद जो बाइडन ने अपने दमदार भाषण में इस चुनौतीपूर्ण समय में लोकतंत्र, एकता और उम्मीद के महत्व पर जोर दिया ! उनका यह भाषण तेलंगाना से ताल्लुक रखने वाले भारतीय-अमेरिकी विनय रेड्डी ने लिखा था,जिसकी काफी सराहना हो रही है !

रेड्डी: बाइडनस्य प्रथम् भाषणे तस्य (बाइडन) प्रशासनस्य लक्षयानि रेखांकित: राष्ट्रीय राजनित्याम् वर्तमान संकटम् द्रुतम् कृते बलम् दत्त: ! भाषणे रेड्डे: प्रेरक शब्दानि गृहित्वा तस्य प्रशंसाम् क्रियते !

रेड्डी ने बाइडन के प्रथम भाषण में उनके (बाइडन) प्रशासन के लक्ष्यों को रेखांकित किया और राष्ट्रीय राजनीति में मौजूदा संकट को दूर करने पर जोर दिया ! भाषण में रेड्डी के प्रेरक शब्दों को लेकर उनकी सराहना की जा रही है !

बाइडनस्य भाषणस्य केचन स्मारक: पङ्क्तयः इदृशं सन्ति:-

बाइडन के भाषण की कुछ यादगार पंक्तियां इस प्रकार हैं:-

बाइडन कथयतु अयम् अमेरिकायाः दिवसं अस्ति,अयम् लोकतंत्रस्य दिवसमस्ति, इतिहासस्य आशायाः च् दिवसमस्ति ! अद्य वयं विजयोत्सव: मान्याम:,कश्चित एक: प्रत्याश्याः न,अपितु एकस्य उद्देश्यस्य ! वयं एकदा पुनः अधिगम्यैस्ति तत लोकतंत्रम् बहुमूल्यमस्ति, लोकतंत्रम् कोमलमस्ति !

बाइडन ने कहा यह अमेरिका का दिन है,यह लोकतंत्र का दिन है,इतिहास का और उम्मीद का दिन है ! आज हम जीत का जश्न मना रहे हैं, किसी एक उम्मीदवार का नहीं,बल्कि एक उद्देश्य का ! हमने एक बार फिर से सीखा है कि लोकतंत्र बहुमूल्य है,लोकतंत्र नाजुक है !

सः कथयतु एकतायाः विना शांति भवितुम् न शक्नोति,केवलं कटुतां क्रोधम् च् भविष्यति ! प्रगति न भविष्यति, केवलं अप्रिय घटनानि भविष्यन्ति ! कश्चितापि राष्ट्र न भविष्यति,केवलं अव्यवस्थायाः स्थितिम् भविष्यति,संकटम् चुनौतीपूर्ण काले च् अस्माकं ऐतिहासिक पलमस्ति,एकतां अग्रम् बर्धनस्य मार्गमस्ति !

उन्होंने कहा एकता के बगैर शांति नहीं हो सकती,सिर्फ कड़वाहट और क्रोध होगा ! प्रगति नहीं होगी,सिर्फ अप्रिय घटनाएं होंगी ! कोई भी राष्ट्र नहीं रहेगा,सिर्फ अव्यवस्था की स्थिति होगी,संकट और चुनौतीपूर्ण समय में यह हमारा ऐतिहासिक क्षण है,एकता आगे बढ़ने का रास्ता है !

सः कथयतु अत्र वयं एक हिंसक: सम्मर्दस्य हिंसायाः केचनैव दिवसा: अनंतरम् स्थायै,येन (सम्मर्द:) अयमविचार्यते स्म तत ते जनानि शांत कर्तुम् दाष्यन्ते, अस्माकं लोकतंत्रस्य चक्रिका चरितुम् अवरोधष्यंते ! अस्माभिः इति पवित्र स्थानात् निःसृत्वा बाह्यकरिष्यन्ते !

उन्होंने कहा यहां हम एक दंगाई भीड़ की हिंसा के कुछ ही दिनों बाद खड़े हैं,जिन्होंने (भीड़ ने) यह सोचा था कि वे लोगों को खामोश कर देंगे, हमारे लोकतंत्र का पहिया चलना रोक देंगे,हमें इस पवित्र स्थान से निकाल बाहर कर देंगे !

इदृशं न अभवत् ! अयम् कदा न भविष्यति ! न तर्हि अद्य,नैव श्व कदापि न च् ! बाइडन: कथयतु,जीवनस्य प्रति अत्र केचन वस्तूनि सन्ति ! कदा भवतम् कश्चितस्य सहाय्यस्य आवश्यकतां भविष्यति ! कश्चित दिवसं वयं भवद्भिः सहाय्यस्य हस्त बर्धस्य प्रार्थनाम् करिष्याम: ! केचन इदृशैव भवति ! अयम् वस्तु एकम्-द्वितीयाय कुर्वन्ति !

ऐसा नहीं हुआ ! यह कभी नहीं होगा ! न तो आज,न ही कल और कभी भी नहीं ! बाइडन ने कहा,जीवन के बारे में यहां कुछ चीजें हैं ! कभी आपको किसी के सहारे की जरूरत होगी ! किसी दिन हम आपसे सहयोग का हाथ बढ़ाने की अपील करेंगे ! कुछ ऐसा ही होता है ! यह चीज हम एक-दूसरे के लिए करते हैं !

स्व २१ पलस्य भाषणम् अर्द्ध पूर्णस्यानंतरम् बाइडन: कथयतु वाशिंगटनस्य कार्यस्य प्रति कीदृशं सः राष्ट्रपत्या: कार्यकालस्य कालम् कार्यं कृतस्य कल्पनाम् कुर्वन्ति,तम्प्रति केचन महत्वपूर्णम् वार्तानि सन्ति !

अपने 21 मिनट के भाषण को आधा पूरा करने के बाद बाइडन ने कहा वाशिंगटन के कामकाज के बारे में किस तरह वह राष्ट्रपति के कार्यकाल के दौरान काम करने की कल्पना करते हैं,उस बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं !

सः कथयतु राजनीति अयम् नास्ति तत अग्निम् प्रज्जवलित्वा स्व मार्गे आगन्तुक: प्रत्येक वस्तुम् नष्टुम् दत्त: ! प्रत्येकम् असहमतिम् एकम् पूर्ण युद्धस्य कारणम् न निर्मतम् ! सः कथयतु सर्वाणि अमेरिका वासिनां राष्ट्रपति: अस्मि ! अस्माभिः इति असभ्य युद्धम् अवश्यम् कर्तुम् भविष्यति,येन एकस्य दलस्य समर्थकम् द्वितीय दलस्य समर्थकस्य विरुद्धम् स्थातुम् दत्तम् !

उन्होंने कहा राजनीति यह नहीं है कि आग लगा कर अपने रास्ते में आने वाली हर चीज नष्ट कर दी जाए ! हर असहमति एक पूर्ण युद्ध का कारण नहीं बने ! उन्होंने कहा सभी अमेरिका वासियों का राष्ट्रपति हूँ ! हमें इस असभ्य युद्ध को अवश्य खत्म करना होगा,जिसने एक पार्टी के समर्थक को दूसरी पार्टी के समर्थक के खिलाफ खड़ा कर दिया है !

राष्ट्रपत्या: कार्यकालस्य प्रति इतिहास लेखक: माइकल बेशलोस: एके ट्वीते बाइडनस्य भाषणम् विनम्रं प्रेरकम् च् बदत: ! तत्रैवान्य विशेषज्ञा: मीडिया इति स्तंभकारा: च् कथ्यन्तु तत राष्ट्रपति: भाषणे तैव केचन कथितः,यस्य इति कालम् आवश्यक्तामासीत् !

राष्ट्रपति के कार्यकाल के बारे में इतिहास लिखने वाले माइकल बेशलोस ने एक ट्वीट में बाइडन के भाषण को विनम्र और प्रेरक बताया ! वहीं अन्य विशेषज्ञों और मीडिया स्तंभकारों ने कहा कि राष्ट्रपति ने भाषण में वही कुछ कहा, जिसकी इस वक्त दरकार थी !

पत्रकार मैट फुलर: कथयतु तत बाइडनस्य भाषण इतिहास,आस्था,गरिमा,सम्मान,एकतायाः प्रार्थनाम् करोति ! अयम् पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्पस्य प्रथम भाषणस्य विपरीतमस्ति ! टाइम पत्रिकायाः स्तंभकार डेविड फ्रेंच: ट्वित कृतः,जो बाइडन: तः भाषणं दत्त:,यस्य इति कालम् आवश्यक्तामासीत् ! बहु उत्तमम् !

पत्रकार मैट फुलर ने कहा कि बाइडन का भाषण इतिहास,आस्था,गरिमा,सम्मान,एकता की अपील करता है ! यह पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रथम भाषण के ठीक उलट है ! टाइम पत्रिका के स्तंभकार डेविड फ्रेंच ने ट्वीट किया,जो बाइडन ने वह भाषण दिया,जिसकी इस वक्त दरकार थी ! बहुत बढ़िया !

उल्लेखनीयमस्ति तत रेड्डी: बाइडन:,कमला हैरिसम् सत्ताहस्तांतरणस्य कालम् भाषण लेखकस्य रूपे सेवां दत्त: सः च् बाइडन:, हैरिसस्य निर्वाचन सम्पर्क अभियानस्य कालम् वरिष्ठ सलाहकार: भाषण लेखक: वा रमत: !

उल्लेखनीय है कि रेड्डी ने बाइडन,कमला हैरिस को सत्ता हस्तांतरण के दौरान भाषण लेखक के रूप में सेवा दी है और वह बाइडन हैरिस के चुनाव प्रचार अभियान के दौरान वरिष्ठ सलाहकार एवं भाषण लेखक रह चुके हैं !

इत्यात् पूर्व सः ओबामा:,बाइडन: (बाइडनस्य उपराष्ट्रपति कालम्) प्रशासनस्य कालम् अमेरिकी पर्यावरण संरक्षण संस्थायापि भाषणं लिखता: ! रेड्डी: ओहायोस्य डेयटने परिपोषित: सन्ति ! सः न्यूयार्के स्व भार्याया द्वयाभ्यां पुत्रीभ्याम् सह न्यवसन्ति !

इससे पहले वह ओबामा,बाइडन (बाइडन के उपराष्ट्रपति रहने) प्रशासन के दौरान अमेरिकी पर्यावरण संरक्षण एजेंसी के लिए भी भाषण लिख चुके हैं ! रेड्डी ओहायो के डेयटन में पले-बढ़े हैं ! वह अभी न्यूयार्क में अपनी पत्नी और दो बेटियों के साथ रहते हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here