22.1 C
New Delhi

शाहरुखस्य प्रज्ज्वलिते अनले, लेपणं झारखंडस्य चिकित्सालये लेप: अपि न सूचनाया रहस्योद्घाटनं, दुमकायाः हिंदू बालिकायाः २८ घटकानि अनंतरम् कृतमासीत् प्रतिसारणं ! शाहरुख की लगाई आग पर, लगाने को झारखंड के अस्पताल में मरहम भी नहीं, रिपोर्ट से खुलासा, दुमका की हिंदू लड़की का 28 घंटे बाद किया गया था ड्रेसिंग !

Date:

Share post:

झारखंडस्य दुमकायां याम् हिंदू बालिकाम् दग्धित्वा हत: आसीत्, तस्या: उपचारे बहूपेक्षणं संमुखमागतं अस्ति ! बालिकायाः व्रणेषु लेपणाय दुमका जनपदस्य सर्वात् वृहत् सर्वकारी चिकित्सालये लेप: एव नासीत् ! तस्या: प्राथमिक प्रतिसारणमपि २८ घटकानि अनंतरमभवत् !

झारखंड के दुमका में जिस हिंदू लड़की को जलाकर मार डाला गया था, उसके उपचार में घोर लापरवाही सामने आई है ! लड़की के घावों पर लगाने के लिए दुमका जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में मरहम तक नहीं था ! उसकी पहली ड्रेसिंग भी 28 घंटे बाद हुई !

दुमका राज्यस्य मुख्यमंत्री हेमंत सोरेनस्य गृह जनपदमस्ति ! यदा मुख्यमंत्रिण: गृहजनपदस्य चिकित्सालयाणां स्थितिमिदृशमसि तर्हि भवानन्य अंशेषु स्वास्थ्य सौविध्याणां आकलन कर्तुं शक्नोति ! दैनिक भास्कर इति बालिकामनळं प्रज्ज्वलनस्य अनंतरम् ळब्धोपचारे एकं सूचनां प्रकाशितमस्ति !

दुमका राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का गृह जिला है ! जब सीएम के गृह जिले के अस्पतालों का हाल ऐसा हो तो आप अन्य हिस्सों में स्वास्थ्य सुविधाओं का अंदाजा लगा सकते हैं ! दैनिक भास्कर ने इस लड़की को आग लगाए जाने के बाद मिले उपचार पर एक रिपोर्ट प्रकाशित की है !

मृतका बालिकायाः आवुत्तेण ज्ञापित: अस्ति तत यदि चिकित्सालये काळतः उपचारं ळब्धुं भवति तर्हि बालिकायाः प्राणरक्षणं भवितुं शक्नोति स्म ! बालिकाम् सर्वात् प्रथम दुमका नगर चिकित्सालयं नीतमासीत् ! आवुत्तस्यानुरूपमापातकालीन कक्षतः तया बर्न कक्षे नीतमासीत् !

मृतक लड़की के जीजा के हवाले से बताया है कि यदि अस्पताल में समय से उपचार मिला होता तो लड़की की जान बच सकती थी ! लड़की को सबसे पहले दुमका सदर अस्पताल ले जाया गया था ! जीजा के मुताबिक इमरजेंसी वार्ड से उसे बर्न वार्ड में ले जाया गया था !

बर्न कक्षे सौविध्यानां नामनि केवलं बेड पंखा च् आसीत् ! यत् शीतयंत्रम् स्थापितमासीत्, तत कार्यम् न करोति स्म ! चिकित्सालये बालिकायाः व्रणेषु लेपणाय लेप: एव नासीत् ! प्रथम दिवसं व्रणम् उद्घाटितं धृतवान स्म ! पट्टी एव न बद्धवान !

बर्न वार्ड में सुविधाओं के नाम पर सिर्फ बेड और पंखा था ! जो एसी लगा था, वह काम नहीं कर रहा था ! अस्पताल में लड़की के घावों पर लगाने के लिए मरहम तक नहीं था ! पहले दिन घाव को खुला रखा गया था ! पट्टी तक नहीं बाँधी गई !

चिकित्सालये सलाइन इत्या: अतिरिक्तमन्य केचन अपि नासीत् ! चिकित्सायाः सौविध्यानां न्युनतायाः कारणमनंतरे बालिकाम् रांची प्रेषितवान दैनिक भास्कर सूचनायां ज्ञापितमस्ति तत येषां दृढ़कथनानां अन्वेषणाय तं तत कक्षस्य भ्रमणम् कृतवान यत्र बालिकाम् सुश्रुषा हेतु प्रेषितवान स्म !

अस्पताल में सलाइन के अलावा और कुछ भी नहीं था ! इलाज की सुविधाओं की कमी के चलते बाद में लड़की को राँची रेफर कर दिया गया ! दैनिक भास्कर ने रिपोर्ट में बताया है कि इन दावों की पड़ताल के लिए उसने उस वार्ड का दौरा किया जहाँ लड़की को भर्ती किया गया था !

इति काळम् तेन एसी चरितुं लब्धवान ! चिकित्सा कारितुं रुग्णा: ज्ञापितवान तत इति बालिकायाः अभियोगम् चर्चितस्यानंतरम् चिकित्सालय प्रशासनं येन सम्यक् कृतवान ! चिकित्सापि अद्यपि सम्यक् रूपेण भवति !

इस दौरान उन्हें एसी चलता मिला ! इलाज करा रहे मरीजों ने बताया कि इस लड़की का केस चर्चित होने के बाद अस्पताल प्रशासन ने इसे ठीक करवाया है ! इलाज भी अभी तरीके से हो रहा है !

बालिकायाः प्राथमिक उपचारकर्ता दुमकायाः सर्जन चिकित्सक शशि कुमार: दैनिक भास्करम् ज्ञापित: अस्ति, यदा तयानीतासीत्, सा ९० प्रतिशतम् दग्धा आसीत् ! वयं स्वक्षमतायाः प्रोटोकॉल इत्या: च् अनुसारेण चिकित्सा कृतवान ! अनंतरे परिजनान् ज्ञापित: टफ चिकित्सायै रांची नेतुम् भविष्यति !

लड़की का शुरुआत इलाज करने वाले दुमका के सर्जन डॉक्टर शशि कुमार ने दैनिक भास्कर को बताया है, जब उसे लाया गया था, वह 90 प्रतिशत जली हुई थी ! हमने अपनी क्षमता और प्रोटोकॉल के हिसाब से इलाज किया ! बाद में परिजनों को बता दिया कि इलाज के लिए राँची ले जाना होगा !

आर्थिक कारणानां कुटुंब बालिकायाः चिकित्सा स्वायत्त चिकित्सालये कारिते सक्षम: नासीत् ! येन कारणम् सर्वकारी चिकित्सालयमेव तस्याश्रयं आसीत् ! तु दुमकाया प्रेषणस्यानंतरम् रुग्णवाहनम् एवस्य व्यवस्थाम् न कृतवान ! यद्यपीदृशेषु प्रकरणेषु चिकित्सालयमिव रुग्णवाहनस्य व्यवस्थाम् करोति !

आर्थिक वजहों से परिवार लड़की का इलाज प्राइवेट अस्पताल में करवाने में सक्षम नहीं था ! लिहाजा सरकारी अस्पताल ही उनका सहारा था ! लेकिन दुमका से रेफर किए जाने के बाद एंबुलेंस तक का इंतजाम नहीं किया गया ! जबकि ऐसे मामलों में अस्पताल ही एंबुलेस का इंतजाम करता है !

विवशताया पीड़ित कुटुंबम् न कश्चित प्रकारं पणानां व्यवस्थाम् कृतवान पुनः च् रुग्णवाहनस्य व्यवस्थाम् कृत्वा बालिकाम् रांची नीतवान ! तदैव तयानल प्रज्ववलनस्य घटनाम् २४ घटकानितः अधिकं अभवत् स्म ! घटनायाः लगभगम् २८ घटकानि अनंतरम् रांच्या: रिम्से प्रथमदा तस्या: प्रतिसारणम् अभवत् ! आवश्यक औषधी: दत्तवान !

मजबूरन पीड़ित परिवार ने किसी तरह पैसों की व्यवस्था की और फिर एंबुलेंस का इंतजाम कर लड़की को राँची ले गए ! तब तक उसे आग लगाए जाने की घटना को 24 घंटे से ज्यादा हो चुके थे !घटना के करीब 28 घंटे बाद राँची के रिम्स में पहली बार उसकी ड्रेसिंग हुई ! जरूरी दवाएँ दी गईं !

बालिकायाः कुटुंबस्यानुरूपम्, रिम्सस्य बर्न कक्षे बहु उष्णतासीत् ! बालिकाम् बहु जलन इति भवति स्म ! तेनापणात् टेबल फैन इति क्रीत्वानीतुं अभवत् ! यत् प्रसृत चलचित्रे बालिका शाहरुखम् प्रति ज्ञापयति तत २४ अगस्तं तस्या: प्रथम प्रतिसारणस्यानंतरस्य अस्ति !

लड़की के परिवार के मुताबिक, रिम्स के बर्न वार्ड में काफी गर्मी थी ! लड़की को बहुत जलन हो रही थी ! उन्हें बाजार से टेबल फैन खरीद कर लाना पड़ा ! जिस वायरल वीडियो में लड़की शाहरुख के बारे में बता रही है वह 24 अगस्त को उसकी पहली ड्रेसिंग के बाद की है !

ज्ञापयतु तत दग्धन् चिकित्साम् यदा चिकित्सालयं आनीते, तर्हि सर्वात् प्रथम वाशिंग क्लीनिंग इत्यो च् क्रियते ! यस्यानंतरम् त्वरित तस्य प्रतिसारणं क्रियते, कुत्रचित् शीघ्र व्रण: शुष्कभवितुं आरंभितमसि जलन इति च् न्यूनमसि ! तु दुमकायाः चिकित्सालये इदृशं केचन न कृतवान !

बता दें कि जले हुए मरीज को जब हॉस्पिटल लाया जाता है, तो सबसे पहले वॉशिंग और क्लीनिंग की जाती है ! इसके बाद फौरन उसकी ड्रेसिंग की जाती है, ताकि जल्द घाव भरना शुरू हो और जलन कम हो ! लेकिन दुमका के हॉस्पिटल में ऐसा कुछ नहीं किया गया !

दृष्टिगतमस्ति तत शाहरुख हुसैन: २३ अगस्त २०२२ तमस्य रात्रि गृहे प्रवेशित्वा सुप्ता हिंदू अवयस्का बालिकायां पेट्रोल इति क्षिपित्वानल प्रज्वल्लित: आसीत् ! २७ अगस्तं बालिकायाः चिकित्सायाः काळम् निधनम् अभवत् स्म !

गौरतलब है कि शाहरुख हुसैन ने 23 अगस्त 2022 की रात घर में घुसकर सोई हुई हिंदू नाबालिग लड़की पर पेट्रोल उड़ेल आग लगा दी थी ! 27 अगस्त को लड़की की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

सबरीमाला मंदिरम् गन्तुकान् तीर्थयात्रिनः शौचालयस्य जले पचितं भोजनम् परिवेषते स्म अब्दुल: ! सबरीमाला मंदिर जाने वाले तीर्थयात्रियों को शौचालय के पानी में पका खाना...

केरले सत्ताधारिन् सीपीआईएम इत्या: यूथ विंग इत्यस्य नेता अब्दुल शमीमे सबरीमाला मंदिरम् गन्तुकान् तीर्थयात्रिनः शौचालयस्य जले पचत् भोजनम्...

पुनः गृहागमनकृत्वा आफरीन अभवत् निशा ! घर-वापसी कर आफरीन बनीं निशा !

उत्तर प्रदेशस्य सीतापुर जनपदे एका मुस्लिम बालिका गृहागमनम् कृतास्ति ! गृहागमन कर्ता बालिकायाः नाम आफरीन याधुना निशा नाम्ना...

१५ दिवसानां अभ्यांतरम् हलाल माल इत्या: पूर्ण स्टॉक निर्वर्तु, योगी सर्वकारस्य निर्देश: ! 15 दिन के भीतर हलाल माल का सारा स्टॉक हटाओ, योगी...

उत्तर प्रदेशे हलाल प्रोडक्ट प्रतिबंधस्यानंतरम् तत्रस्य योगी सर्वकारः राज्यस्य सर्वे थोक फुटकर च् विक्रेता: अदिशत् तत ताः १५...

मतदाता सूच्यां स्वनाम पंजीकारयन्तु बांग्लादेशिन: अनाधिकृत प्रवेशका: ! मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराएँ बांग्लादेशी घुसपैठिए !

भारते आगत लोकसभा निर्वाचनतः पूर्वम् तृणमूल कांग्रेसस्यैकस्य नेतु: कथनम् कलहम् उत्पादयत् ! टीएमसी नेता रत्ना बिस्वास पश्चिम बंगस्य...